सब्जियों के इंग्लिश और हिन्दी नाम (Vegetables Name In English And Hindi)
Vegetables Name In English And Hindi

सब्जियों के इंग्लिश और हिन्दी नाम (Vegetables Name In English And Hindi)

सब्जियों से सबसे ज्यादा पौष्टिक आहार प्राप्त किए जा सकते हैं। इसलिए इनके बारे में जानना जरुरी है। सब्जियों के इंग्लिश और हिन्दी नाम (Vegetables Name In English And Hindi) की जानकारी यहां से ले सकते हैं।

सब्जियां प्रकृति की अनमोल देन है जिसका उपयोग हम सदियों से करते आ रहे हैं। सब्जियां इंसान की महत्त्वपूर्ण जरुरत है जिसकी मदद से हम स्वस्थ रह पाते हैं। इसलिए आपको सब्जियों के बारे में पता होना चाहिए। जब भी सब्जियों के फायदे की बात होती है तो सबसे पहले दिमाग में हरी सब्जियां आती हैं जिन्हें हम बचपन में नज़रअंदाज करते हैं लेकिन बाद में इनके फायदे पता चलते हैं। हरी सब्जियों में शरीर की जरुरत के अनुसार पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो बेहद जरुरी होते हैं। इस आर्टिकल की मदद से आप हरी सब्जियों के नाम इंग्लिश और हिन्दी में जान सकते हैं। इसके साथ ही इस सब्जियों में खास बात क्या है के बारे में भी जान सकते हैं। यहां से आप फोटो के साथ सब्जियों के नाम इंग्लिश और हिन्दी में जानकारी ले सकते हैं।

सब्जियों के नाम इंग्लिश और हिन्दी में

सब्जियों के इंग्लिश और हिन्दी नाम (Vegetables Name In Hindi)

अगर आपकी डाइट में हरी सब्जियां शामिल नहीं हैं तो आपको बता दें कि आपकी डाइट में बहुत महत्त्वपूर्ण चीज नहीं है। हरी सब्जियां हर किसी की डाइट में किसी ना किसी रूप से जरुर शामिल होनी चाहिए। यहां से आप हरी सब्जियों के कई और सब्जियों के बारे में भी जानकारी ले सकते हैं।

पालक (Spinach)

पालक अमरनाथ परिवार से तालुक रखती है जिसका जन्म परशिया में हुआ था। आपको बता दें कि 100 ग्राम पालक में 91% पानी, 3.6 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 2.9 ग्राम प्रोटीन और 2.2 ग्राम फाइबर पाया जाता है। पालक में बहुत थोड़ी मात्रा में फैट और शुगर होता है। इसके अलावा पालक के फायदे विटामिन और मिनरल्स से भी भरपूर होते हैं। इसके साथ ही पालक एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है जो फ्री रेडिकल के खतरे को कम करने में मदद करती है। इसलिए पालक को डाइट में जरुर शामिल करना चाहिए।

पालक से कई शानदार और स्वादिष्ट डिश बना सकते हैं जैसे कि पालक- पनीर, साग, पालक भुजी, पालक- आलू, पालक के पराठे आदि।

पालक में फैट और शुगर कम मात्रा में होता है।

मटर (Green Peas)

सर्दियों में मटर ताज़ा आती हैं। मटर के फायदे कई सारे हैं जैसी की फाइबर और विटामिन से भरपूर। इसके साथ ही यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती हैं जिस कारण से इन्हें डाइट में शामिल करना जरुरी हो जाता है। मटर के फायदे वेट लॉस में भी मदद करते हैं। मटर का सेवन करने से पेट लंबे समय के लिए भरा रहता है जिससे आप बार- बार खाना नहीं खाते हैं और वजन कम करने में मदद मिलती है। मटर की मदद से ब्लड शुगर भी सामान्य रहता है।

मटर अपने फायदे और फ्लेवर के कारण जानी जाती है। मटर की मदद से कई स्वादिष्ट डिश बनाई जा सकती हैं जैसे कि मटर- पनीर, आलू- मटर, मटर पुलाव, मेथी- मलाई- मटर आदि।

हरी मटर विटामिन के से भपपूर होती है।

पत्ता गोभी (Cabbage)

पत्ता गोभी दिखने के साथ- साथ खाने में भी अच्छी लगती है। पत्ता गोभी के फायदे पोषण से भरपूर होते हैं। पत्ता गोभी विटामिन सी से भरपूर होने के साथ- साथ सामान्य ब्लड प्रेशर, स्वस्थ डाइजेशन, लो केलोस्ट्रॉल, सूजन कम करने में मदद करती है। इसके साथ ही पत्ता गोभी विटामिन के से भरपूर होती है। पत्ता गोभी की सब्जी बहुत स्वादिष्ट बनती है और इसके अलावा पत्ता गोभी का इस्तेमाल सलाद में सोते कर भी खा सकते हैं।

पत्ता गोभी विटामिन सी भरपूर होती है।

फूल गोभी (Cauliflower)

पत्ता गोभी की तरह ही फूल गोभी के फायदे भी कई सारे होते हैं। फूल गोभी फाइबर से भरपूर होती है जो वेट लॉस में मदद कर सकती है। इसके साथ ही यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है और इसे डाइट में शामिल करना बेहद आसान है।

फूल गोभी की सब्जी तो स्वादिष्ट बनती ही है इसके साथ ही फूल गोभी के पराठे लाजवाब होते हैं। सर्दियों में फूल गोभी ताज़ा मिलती है जिसको मटर, आलू, गाजर आदि के साथ सब्जी बना सकते हैं।

फूल गोभी से स्वादिष्ट डिश बनाएं।

भिंडी (Lady Finger)

भिंडी के फायदे कई सारे हैं जैसे कि वेट लॉस, स्वस्थ डाइजेशन, स्वस्थ आंखें, सामान्य ब्लड शुगर रखने में मदद करती है। यह विटामिन ए से भरपूर होती है जो आंखों को स्वस्थ रखने में मदद करती है। जिन लोगों की आंखें कमज़ोर होती हैं उन लोगों को अपनी डाइट में भिंडी को जरुर शामिल करना चाहिए। भिंडी का इस्तेमला डेंड्रफ कम करने के लिए भी किया जा सकता है। बालों के लिए सबसे पहले भिंडी को उबालें और इसमें नींबू डालें और पानी ठंडा होने के बाद बाल धो लें।

भिंडी के फायदे जरुर लें।

ब्रोकली (Broccoli)

ब्रोकली में भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो पूरे दिन की विटामिन सी की जरुरत को पूरा करने में मदद कर सकता है। एक कप कच्ची ब्रोकली में पूरे दिन का 135 विटामिन सी और विटामिन के प्राप्त होता है। ब्रोकली एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है जो खराब सेल को सही करने में मदद करती है। यह ब्लड शुगर लेवल भी सामान्य बनाए रखने में मदद करती है।

ब्रोकली के फायदे लेने के लिए इसे भाप और थोड़े तेल में पकाएं।

ब्रोकली के फायदे अवश्य शामिल करें।

मेथी (Fenugreek Leaves)

कड़वी- मीठे स्वाद वाली मेथी के पत्तों के फायदे कई सारे हैं। मेथी के पत्तों का सेवन सही मात्रा में कई फायदे मिल सकते हैं जैसे कि सामान्य ब्लड शुगर लेवल, सामान्य कोलेस्ट्रॉल, स्वस्थ पाचन शक्ति, सेहतमंद दिल, वेट लॉस में मदद, सेहतमंद त्वचा आदि। अधिक मात्रा में मेथी का सेवन करने से नुकसान भी हो सकते हैं जैसे कि वजन बढ़ना, खून पतला होना और किसी- किसी को एलर्जी की संभावना भी हो सकती है।

सर्दियों में मेथी के पराठे लाजवाब लगते हैं। मेथी के पराठे ठंडी- ठंडी दही के साथ शानदार लगते हैं।

मेथी के फायदे डाइट में शामिल करें।

बीन्स (Beans)

बीन्स के फायदे शरीर को खराब होने पर सही रखने में मदद करते हैं। बीन्स में अमीनो एसिड भारी मात्रा में पाया जाता है जो एक तरह का प्रोटीन है और शरीर को सुधारने में मदद करता है। इसके अलावा बीन्स एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं जो फ्री रेडिकल से बचाव करने में मदद करते हैं। फ्री रेडिकल अच्छे सेल को खराब कर देते हैं जिसे बीमारी होने के आसार ज्यादा हो जाते हैं। लेकिन एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल को खत्म करने में करते हैं।

बीन्स को कई स्वादिष्ट तरीके से बनाया जा सकता है जैसे कि आलू-बीन्स, सैंडविच, चने- बीन्स आदि।

बीन्स डाइट में शामिल करें।

पुदीना (Mint)

पुदीने की खुशबू जितनी अच्छी लगती है उतने ही अच्छे इसके फायदे भी हैं। पुदीने के फायदे सारे हैं जैसे कि स्वस्थ पेच, स्वस्थ डाइजेशन, निखरती त्वचा, मजबूत बाल, जुकाम में लाभदायक, सर दर्द में आराम, वेट लॉस में मदद, अस्थमा में लाभदायक, स्वस्थ मुंह आदि।

पुदीने से कई लाजवाब डिश भी तैयार की जा सकती है जैसे कि पुदीने का शरबत, पुदीने की चटनी, पुदीना राइस, पुदीने का रायता आदि।

पुदीने से शरबत, चटनी, रायता आदि बनाएं।

करी पत्ता (Curry Leaves)

किसी भी डिश में करी पत्ता शामिल करने से उस डिश में लाजवाब फ्लेवर आ जाता है। करी पत्ते के फायदे कई सारे हैं जैसे कि आयरन की कमी से होने वाली बीमारी से दूर, वजन कम करने में मदद, स्वस्थ आंत, सामान्य कोलेस्ट्रॉल, सामान्य ब्लड शुगर लेवल, स्ट्रोंग इम्यूनिटी, स्वस्थ आंखें, सेहतमंद लिवर, स्ट्रेस से राहत, सेहतमंद बाल, स्वस्थ त्वचा आदि।

करी पत्ते का फ्लेवर डिश में शामिल करें।

धनिया (Coriander Leaves)

किसी भी डिश के आखिर में धनिया के पत्ते डालने के बाद ही डिश पूरी होती है। ताज़ा धनिया की खुशबू लाजवाब होती है जिससे कोई भी डिश फ्लेवर से भरपूर बन जाती है। आपको बता दें कि धनिया के पत्तों के फायदे कई सारे हैं जैसे कि सेहतमंद आंखें, डायबिटीज में लाभदायक, स्वस्थ लिवर, हड्डियां मबूत बनाए रखने में मदद, पेट से जुड़ी परेशानियों से राहत दिलाने में लाभदायक आदि।

धनिया से डिश स्वादिष्ट बनाएं।

सरसों (Mustard)

सरसों, पालक, बथुआ और मेथी- यह सारी हरी पत्तेदार सब्जियां बहुत ही ज्यादा सेहतमंद होती है। इस सभी का डाइट में शामिल होना बेहद जरुरी है। आपको बता दें कि हरी सब्जियों में सबसे ज्यादा पोषण होता है। सरसों में कैलोरी और फैट बहुत कम मात्रा में होता है जिससे यह वेट लॉस के लिए अच्छा ऑप्शन बन जाते हैं। इसके साथ ही इसमें अच्छी मात्रा में फाइबर भी पाया जाता है जो डाइजेशन को स्वस्थ तरीके से होने में मदद करता है। सरसों में विटामिन के भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

सरसों के फायदे डाइट में जरुर शामिल करें।

बथुआ (Wild Spinach)

ताज़ा बथुआ सर्दियों में पाया जाता है। सर्दियों में ठंड के कारण कई पुरानी बीमारियां वापस आ जाती हैं। और इनसे बचने के लिए हरी सब्जियां खानी जरुरी हो जाती है। सर्दियों में बथुआ जरुर खाना चाहिए क्योंकि बथुआ के फायदे कई सारे हैं जैसे कि जोड़ों के दर्द में आराम, स्वस्थ पेट, पथरी से बचाव, कब्ज में लाभदायक, स्वस्थ आंखें आदि।

करेला (Bitter melon)

करेले के फायदे जानने के बाद आप इसे डाइट में शामिल करना चाहेंगे। करेले के फायदे कई सारे हैं जैसे कि वजन कम करने में मदद, सामान्य ब्लड शुगर, स्वस्थ लिवर, स्ट्रोंग इम्यूनिटी, घाव जल्दी भरने में मदद और त्वचा से जुड़ी परेशानी से राहत दिलाने में लाभदायक।

करेले को कई तरीके से बनाया जाता है जैसे कि भरवा करेला, अचार की तरह करेला। इसके साथ ही सेहतमंद रहने के लिए कई लोग करेले के जूस का सेवन भी करते हैं।

करेले के फायदे कई सारे हैं।

घीया (Bottle Gourd)

घीया के फायदे कई सारे हैं जिन्हें डाइट में आसानी से शामिल किया जा सकता है। घीया के फायदे पानी से भरपूर होते हैं जिससे शरीर को ठंडा रखने में मिलती है। इसके अलावा घीटे के लाभ वजन कम करने में मदद करते हैं, सेहतमंद दिल, चिंता से राहत आदि।

घीया से कोफते, घीय-दाल बनाए जा सकते हैं। घीया का जूस कसरत के बाद पीना एक सेहतमंद ऑप्शन है।

घीया का जूस डाइट में शामिल कर सकते हैं।

टिंडा (Apple Gourd/ Round Gourd)

टिंडा ज्यादतर लोगों को पसंद नहीं आता है लेकिन टिंडा के फायदे जानने के बाद यह आपकी पसंद बन सकता है। टिंडा पानी से भरपूर होता है जिससे किडनी स्वस्थ रहती है। टिंडा में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिसकी मदद से स्वस्थ डाइजेशन में मदद मिलती है। इसके साथ ही टिंडा की मदद से पेट से जुड़ी परेशानियां जैसे कि कब्ज से राहत मिलने में मदद मिल सकती है।

टिंडा फाइबर से भरपूर होते हैं।
इमेज क्रेडिट – commons.wikimedia.org

तोरी (Sponge Gourd/ Ridge Gourd)

तोरी के फायदे जानने के बाद इसे खाना शुरु जरुर कर देंगे। आपको बता दें कि तोरी में फैट और कैलोरी, दोनों ही कम मात्रा में होती हैं। इसके अलावा तोरी में फाइबर, विटामिन सी, आयरन, मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसके साथ ही तोरी को खून साफ करने के लिए खासतौर पर जाना जाता है। पीलिया बीमारी में तोरी लाभदायक होती है।

तोरी आयरन से भरपूर होती है।

पेठा (Pumpkin)

पेठ का इस्तेमाल कई तरह से किया जा सकता है जैसे कि सब्जी, मिठाई, जूस, स्मूदी आदि। पेठे के फायदे कई सारे हैं जैसे कि खांसी में लाभदायक, स्वस्थ डाइजेशन, वजन कम करने में मदद, छालों से राहत, सेहतमंद दिल, स्वस्थ आंखें, स्वस्थ लिवर के लिए आदि।

पेठे से सब्जी, मिठाई, जूस बनाएं।

शिमला मिर्च (Capsicum)

शिमला मिर्च कई रंग में आती है हरी, लाल, पीली जिन्हें अलग- अलग डिश में फ्लेवर और स्वाद के लिए इस्तेमाल किया जाता है। लाल शिमला मिर्च में विटामिन ए भरपूर मात्रा में पाया जाता है। स्वस्थ आंखों के लिए लाल शिमला मिर्च का सेवन किया जा सकता है। शिमला मिर्च में प्राकृतिक मिठास होती है। लाल शिमला मिर्च के मुकाबले हरी शिमला मिर्च में कम मात्रा में मिठास होती है।

अलग- अलग स्वाद वाली शिमला मिर्च का उपयोग करें।

हरी मिर्च (Green Chilli)

हरी मिर्च का स्वाद तीखा होता है जिससे किसी भी डिश में तीखा स्वाद आसानी से लाया जा सकता है। हरी मिर्च फाइबर से भरपूर होती है जिस कारण से इसे स्वस्थ डाइजेशन के लिए जाना जाता है। क्या आपको पता है कि हरी मिर्च के फायदे सेहतमंद त्वचा के लिए भी जाने जाते हैं। हरी मिर्च में विटामिन सी और विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो त्वचा को सेहतमंद बनाए रखने में मदद करते हैं।

हरी मिर्च का इस्तेमाल सब्जी बनाने के लिए तड़के में किया जाता है और इसके साथ ही कई लोग कच्ची हरी मिर्च खाना भी पसंद करते हैं। कच्ची हरी मिर्च खाना लाभदायक माना जाता है। इसके अलावा हरी मिर्च का अचार, चटनी आदि भी बनाए जाते हैं।

हरी मिर्च का तीखा स्वाद डिश में शामिल करें।

आखिर में

सब्जियां सेहतमंद डाइट का बहुत महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। आपको बता दें कि जितने पौष्टिक तत्व सब्जियों में पाए जाते हैं उतने किसी में भी नहीं पाए जाते हैं। खासकर बढ़ते बच्चों की डाइट में हरी सब्जियां जरुर शामिल करनी चाहिए। बच्चों को हरी सब्जियां देखने में अच्छी नहीं लगती हैं इसलिए इनसे कुछ दिलचस्प डिश बनाकर बच्चों को खिलाई जा सकती है। इसके अलावा अधिकतर हरी सब्जियों के जूस भी बनाए जा सकते हैं। इसलिए डाइट में हरी सब्जियां जरुर शामिल करें।

FAQs

  1. सबसे सेहतमंद हरी सब्जियां क्या हैं? (Which are the healthiest green vegetables?)

    हरी सब्जियां बेहद सेहतमंद होती हैं जैसे कि पालक, ब्रोकली, केल, हरी मटर, बीन्स आदि।

  2. किन हरी सब्जियों से वेट लॉस में मदद मिलती है? (What green vegetables help you lose weight?)

    हरी सब्जियां वेट लॉस में लाभदायक हो सकती हैं जैसे कि केल, पालक, बथुआ आदि। पत्तेदार हरी सब्जियों में कैलोरी की मात्रा कम होती है और फाइबर से भरपूर होती हैं जिससे वेट लॉस में मदद मिल सकती है।

  3. हरी सब्जियों के फायदे क्या हैं? (What are the benefits of green vegetables?)

    डाइट में हरी सब्जियों का होना बेहद जरुरी है क्योंकि हरी सब्जियों के फायदे बहुत सारे होते हैं। जैसे कि विटामिन, मिनरल्स से भरपूर, लो कैलोरी, वेट लॉस में मदद, सेहतमंद दिल, सामान्य ब्लड प्रेशर आदि।

  4. क्या रोजाना हरी सब्जियां खा सकते हैं? (Can we eat green vegetables daily?)

    रोजाना सही मात्रा में हरी सब्जियां खा सकते हैं। रोजाना हरी सब्जियों खाने हड्डियां मजबूत रहती हैं, स्वस्थ आंखें, कब्ज से राहत, सेहतमंद पेट, शरीर अंदर से साफ रहता है आदि।

  5. एक दिन में कितनी मात्रा में हरी सब्जियां खानी चाहिए? (How much green vegetables should you eat in a day?)

    एक दिन में 1 कप से 2 कप तक हरी सब्जियां रोजाना खा सकते हैं। हरी सब्जियों के फायदे लेने के लिए इनका सेवन सही मात्रा में ही करें।

लेखक के बारे में

सुरभि शर्मा मिश्री में हिंदी लेखिका हैं। इ्न्हें सवाल पूछना बहुत पसंद है शायद इसी कारण से इनके आर्टिकल आपको विस्तार जानकारी के साथ मिलेंगे। इनका कहना है कि अपने शौक को करियर में बदलने से अच्छा और क्या हो सकता है। लिखने के साथ- साथ और भी कई शोक रहे हैं लेकिन अब इन्हें लगता है कि यह अपना पसंदीदा काम कर रही हैं। 

इस लेखक द्वारा अधिक लेख

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments