पुदीने के 10 जबरदस्त फायदे, विधि और नुकसान - मिश्री
पुदीने के जबरदस्त फायदे, विधि और नुकसान

पुदीने के 10 जबरदस्त फायदे, विधि और नुकसान

पुदीने को जिस भी डिश में शामिल किया जाता है उसका स्वाद दोगुना हो जाता है। वैसे ही पुदीने के फायदे डाइट में शामिल करने से कई लाभ मिलते हैं जैसे कि स्वस्थ डाइजेशन, ताज़ा मुंह, मजबूत बाल आदि।

यह हरे पत्ते खुशबूदार होते हैं और इन्हें स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। क्या आप पहचान सकते हैं?

पुदीने के पत्तों का नाम लेते ही पुदीने की सुंदर खुशबू याद आ जाती है। क्या आपको पता है पुदीने के पत्तों की खुशबू के कई सारे फायदे हैं। इसके अलावा पुदीने के फायदे सेहत से भी जुड़े हुए हैं जैसे कि सेहतमंद पेट, स्वस्थ डाइजेशन, निखरती त्वचा और मजबूत बाल। जब पुदीने का नाम लेते हैं तो इसमें कई प्रकार के पुदीने शामिल हैं जैसे कि मेन्थॉल मिंट, पेपर मिंट, बर्गमोट मिंट आदि।

पुदीने का इस्तेमाल कई समय से औषधि के रूप में भी किया जा रहा है जैसे कि सर दर्द होने पर पुदीने की चाय पीने की सलाह दी जाती है। पुदीने का इस्तेमाल कई डिश में भी किया जाता है जिससे खाने का स्वाद लाजवाब हो जाता है। पुदीने के फायदे से जुड़ी विस्तार से जानकारी आप इस आर्टिकल से प्राप्त कर सकते हैं।

पुदीने के फायदे इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व के कारण हैं। पुदीने के पत्ते के फायदे सेहत, त्वचा और बालों के लिए जाने जाते हैं। पुदीने में मौजूद पौष्टिक तत्व की जानकारी आप नीचे दी गई टेबल से ले सकते हैं।

पोषण मात्रा – 14 ग्राम
कैलोरी 6
आयरन 9% (रेफ्रेंस डेली इनटेक (आरडीआई)
मैंगनीज 8% (रेफ्रेंस डेली इनटेक (आरडीआई)
फोलेट 4% (रेफ्रेंस डेली इनटेक (आरडीआई)
फाइबर 1 ग्राम
विटामिन ए 12% (रेफ्रेंस डेली इनटेक (आरडीआई)

पुदीने के फायदे

पुदीने के पत्तों के बारे में यह बात कही जा सकती है कि छोटा पैक बड़ा धमाका क्योंकि यह आकार में छोटे हैं लेकिन इनसे होने वाले फायदे बहुत बड़े हैं। जैसा कि आपको बताया है कि पुदीने के फायदे कई समय से औषधि के रूप में लिए जा रहे हैं और आज भी पुदीना के गुण कई तरह से लिए जा रहे हैं। पुदीने के फायदे से जुड़ी सारी जानकारी आप यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1) स्वस्थ डाइजेशन

पुदीने के फायदे स्वस्थ डाइजेशन के लिए खासतौर पर जाने जाते हैं। अपच की दिक्कत सुनने में आम लगती है लेकिन अगर कब्ज की समस्या लंबे समय के लिए है तो बड़ी परेशानी बन सकती है। कब्ज होने पर पुदीने की चाय पीने पी सकते है। कई अध्ययनों में यह पाया गया है कि खाने के साथ पुदीने के तेल का सेवन करने से अपच के लक्षण कम होने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा कई अध्ययनों में यह बताया गया है कि पुदीना अपच से राहत पाने में मदद करता है।

2) सेहतमंद पेट

अगर पेट दर्द, गैस, पेट में जकड़न की परेशानी है तो पुदीने के फायदे आपके काम आ सकते हैं। एक अध्ययन में बताया गया है कि जब 75% लोगों ने 4 हफ्तों तक पुदीने के तेल का सेवन किया है तब उन लोगों में पेट की समस्या 38% तक कम हुई। कई अध्ययनों में यह भी पाया गया है कि पेट की परेशानी होने पर पेपर मिंट ऑयल कैप्सूल लेने पर लक्षणों से राहत मिलने में मदद मिलती है। लेकिन इनका सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करें।

संबंधित आर्टिकल: धनिया के बीज के लाजवाब फायदे

हरा पुदीना
पुदीना के पत्ते के फायदे सेहतमंद पेट के लिए

3) जुकाम

सर्दी- जुकाम कभी भी हो सकता है और इसके लिए हर घर में घरेलू उपाय तैयार रहते हैं। पुदीने के फायदे सर्दी- जुकाम के लिए भी जाने जाते हैं। रिसर्च में यह दिखाया गया है कि मेन्थॉल के इस्तेमाल से सर्दी लगने से सांस लेने में हो रही परेशानी से राहत मिलने में मदद मिल सकती है। मेन्थॉल से पूरी राहत तो नहीं मिलेगी लेकिन थोड़ी राहत जरूर मिल सकती है। ज्यादा परेशानी होने पर डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

4) माउथ फ्रेशनर

आपने यह जरूर देखा होगा कि मार्केट में मिलने वाले अधिकतर माउथ फ्रेशनर में पुदीना फ्लेवर होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि पुदीने के फायदे बदबूदार सांस रोकने में मदद करते हैं। लेकिन एक्सपर्ट के द्वारा यह भी कहा गया है कि इन प्रोडक्ट की मदद से कुछ समय के लिए बदबू रोक सकते हैं लेकिन बैक्टीरिया खत्म नहीं किया जाता है। ऐसे में आप ताज़ा पुदीने का उपयोग माउथ फ्रेशनर की तरह कर सकते हैं।

पुदीने के पत्ते
पुदीना के लाभ अच्छी सांस के लिए

5) अस्थमा

पुदीना के पत्ते के फायदे अस्थमा के लिए बहुत लाभदायक हो सकते हैं। पुदीने में एंटी- इंफ्लामेट्री गुण होते है जिससे छाती में रुकावट, सांस लेने में परेशानी जैसी परेशानी दूर रखने में मदद करते हैं। पुदीने के पत्तों में ठंडक पहुंचाने वाले गुण होते हैं जिस कारण से गले, छाती और नाक में हो रही परेशानी से राहत मिलने में मदद मिल सकती है। पुदीने का सेवन अधिक मात्रा में करने से परेशानी भी हो सकती है जैसे कि गले, नाक में जलन आदि। इसलिए इसका सेवन नियमित रूप से करें।

6) वेट लॉस

पुदीने के फायदे वजन कम करने के लिए भी जाने जाते हैं। पुदीने में कैलोरी की मात्रा कम होती है और इसमें फाइबर होता है। आपको बता दें कि यह दोनों पौष्टिक तत्व वजन कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा पुदीने की खुशबू भी वजन कम करने में मदद कर सकती है। पुदीने की पत्तियों से डाइजेस्टिव एंजाइम प्रोड्यूज होता है जो डाइजेशन स्वस्थ तरीके से करने में मदद करता है। डाइजेशन अच्छे से होता है तो मेटाबोलिज्म बढ़ता है जिससे कैलोरी बर्न होती है और वजन कम होने में मदद मिलती है। वेट लॉस के लिए डाइट में पुदीने की चाय शामिल कर सकते हैं।

पुदीने की पत्ती की चाय
पुदीना के पत्ते के फायदे वजन कम करने के लिए

7) सर दर्द

जैसे कि आपको आर्टिकल के शुरूआत में बताया है कि पुदीने के फायदे औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। आयुर्वेद में पुदीन के पत्तों का इस्तेमाल सर दर्द ठीक करने के लिए किया जाता है। पुदीने के पत्तों की ताज़ा और स्ट्रांग खुशबू होने के कारण इसे कई तरह की बाम बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इन बाम के इस्तेमाल से सर दर्द से राहत मिल सकती है।

8) स्वस्थ मुंह

क्या आपके टूथपेस्ट में पुदीना है? जी हां, पुदीने के फायदे मुंह ताज़ा और स्वस्थ रखने के लिए भी जाने जाते हैं। पुदीने की खुशबू के कारण मुंह से बदबू ना आने में मदद मिलती है। इसी कारण से अधिकतर टूथपेस्ट, चुइंग गम, माउथ फ्रेशनर में पुदीने का फ्लेवर इस्तेमाल किया जाता है। अगर खाने में लहसुन, प्याज या कुछ महक वाली चीज़ का सेवन किया है तो यहां पर पुदीने के पत्ते आपके काम आ सकते हैं।

पुदीने की पत्तियां
पुदीना के लाभ स्वस्थ मुंह के लिए

9) निखरती त्वचा

पुदीने के फायदे जितने सेहत के लिए है उतने ही त्वचा के लिए भी हैं। पुदीने की ठंडक, एंटी- बैक्टीरियल गुण त्वचा के लिए लाभदायक होते हैं। पुदीने का इस्तेमाल त्वचा को सेहतमंद बना सकता है। त्वचा में जलन होने से पुदीने का इस्तेमाल किया जा सकता है। पुदीने के पत्तों में एंटी- बैक्टीरियल, एंटी- फंगल और एंटी- इंफ्लामेट्री गुण होते हैं जो त्वचा में से गंदगी निकालने में मदद करते हैं। पुदीने में विटामिन सी भी पाया जाता है जो त्वचा को फ्री रेडिकल के खतरे से बचाता है। इसके अलावा पुदीने में पाया जाने वाला विटामिन ए त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद करता है।

पुदीने का अर्क त्वचा पर लगाने से त्वचा से गंदगी निकालने में मदद मिलती है। पुदीने का अर्क त्वचा पर 15 से 20 मिनट के लिए लगाएं और फिर पानी से धो लें।

10) मजबूत बाल

पुदीने के फायदे मजबूत बाल बनाने में मदद करते हैं। पुदीने में कैराटीन और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो बालों को मजबूत करने में मदद करते हैं। इन दोनों तत्व के कारण बालों की जड़ें मजबूत बनने में मदद मिलती है। इसके अलावा पुदीने की मदद से डैंड्रफ से राहत पाने में भी मदद मिलती है। बालों के पुदीने इस्तेमाल करने से गंदगी निकली है और नए बालों को उगने में सहायता मिलती है।

संबंधित आर्टिकल: करी पत्ता के बेहतरीन फायदे

पुदीने से बनने वाली डिश

यह बात सच है कि पुदीने का इस्तेमाल खाने में मुख्य सामग्री के तौर पर नहीं किया जाता है लेकिन पुदीने के इस्तेमाल से डिश में अलग ही स्वाद आ जाता है। पुदीने का इस्तेमाल कई तरह से किया जा सकता है। इसकी मदद से कई सारी डिश का स्वाद बदला जा सकता है। इससे बनने वाली डिश से जुड़ी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

1. पुदीने का शरबत

अगर आप वजन कम करना चाहते हैं या फिर सेहतमंद ड्रिंक डाइट में शामिल करना चाहते हैं तो पुदीने का जूस डाइट में शामिल कर सकते हैं। पुदीने का जूस घर में भी आसानी से बनाया जा सकता है।

पुदीने का जूस बनाने की विधि

  • पुदीने का जूस बनाने के लिए पुदीने के पत्तों से तना निकाल लें और अच्छे से धो लें।
  • ब्लैंडर में पुदीने के पत्ते, चीनी, काला नमक, नमक, नींबू का रस और पानी डालें।
  • अब अच्छे से ब्लैंड करें।
  • ब्लैंड किए गए मिश्रण को छान लें।
  • गिलास में ब्लैंड किया गया शरबत डालें।
  • अब गिलास में पानी डालें और पुदीने का शरबत तैयार है।
शरबत
शरबत घर में बनाएं

2. पुदीने की चटनी

पराठा, रोटी और सब्जी के साथ चटनी होने से खाना पूरा लगता है। खाने में सेहत के साथ- साथ स्वाद भी शामिल करना जरूरी है और इसके लिए पुदीने की चटनी परफेक्ट है।

पुदीने की चटनी बनाने की विधि

  • सबसे सिंपल तरीके से पुदीने की चटनी बनाने के लिए ब्लैंडर में पुदीना, हरा धनिया, हरी मिर्च, जीरा, नमक, लहसुन, लाल मिर्च और थोड़ा सा पानी डालें।
  • अब सभी सामग्री को अच्छे से ब्लैंड करें।
  • ब्लैंड करने के बाद पुदीने की चटनी तैयार है।
घर में स्वादिष्ट पुदीना चटनी बनाएं। इमेज क्रेडिट- commons.wikimedia.org

3. पुदीना राइस

बच्चों के लिए स्वादिष्ट और अलग स्वाद के चावल बनाने के लिए पुदीने का इस्तेमाल कर सकते हैं।

पुदीना चावल बनाने की विधि

  • पुदीना चावल बनाने के लिए सबसे पहले ब्लैंडर में पुदीना, हरी मिर्च, लहसुन, नमक ब्लैंड करें और पेस्ट बना लें।
  • अब एक पैन में तेल, जीरा, लाल मिर्च, प्याज डालें।
  • प्याज गोल्डन होने तक पकाएं।
  • अब इसमें पुदीने का पेस्ट डालें।
  • अच्छे से पानी सूखने दें।
  • अब इसमें उबले हुए चावल डालें और अच्छे से मिक्स करें।
  • चावल पकने दें।
  • पुदीना राइस तैयार है।

संबंधित आर्टिकल: अमरूद के पत्तों के फायदे

पुदीना राइस
स्वादिष्ट पुदीना चावल घर में बनाएं। इमेज क्रेडिट- commons.wikimedia.org

4. पुदीने का रायता

गर्मियों में पुदीने का रायता और भी स्वादिष्ट लगता है। पुदीने का रायता बनाने की विधि बेहद आसान है।

पुदीने का रायता बनाने की विधि

  • पुदीने का रायता बनाने के लिए ब्लैंडर में पुदीना, हरी मिर्च, नमक और दही डालें।
  • अच्छे से ब्लैंड करें।
  • अब दूसरी तरफ दही अच्छे से फैंट लें।
  • दही में भुना हुआ जीरा, काला नमक और ब्लैंड किया हुआ पुदीना डालें।
  • अच्छे से मिक्स करें और पुदीने का रायता तैयार है।
ठंडा- ठंडा पुदीने का रायता गर्मी में बनाएं। इमेज क्रेटिड- commons.wikimedia.org

पुदीने के नुकसान

पुदीने के फायदे कई सारे हैं लेकिन पुदीने के नुकसान के बारे में भी जानना जरूरी है। पुदीने का सेवन सही मात्रा में करना चाहिए जिससे पुदीने के फायदे मिल सकें। अगर पुदीने का सेवन अधिक मात्रा में कर लिया जाए तो आपको नीचे दिए गए नुकसान हो सकते हैं।

  • अधिक मात्रा में पुदीने का इस्तेमाल करने से गैस की परेशानी हो सकती है।
  • डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही पेपरमिंट ऑयल या कैप्सूल का उपयोग करें।
  • मिंट ऑयल का इस्तेमाल डायरेक्ट त्वचा पर ना करें। ऐसा करने से जलन हो सकती है।

आखिर में

पुदीने का इस्तेमाल करने से किसी भी डिश का स्वाद और भी अच्छा हो जाता है। इसे डाइट में शामिल करना गलत फैसला नहीं हो सकता है। पुदीने के फायदे आसानी से डाइट में शामिल कर सकते हैं। पुदीने का सेवन कई तरह से किया जाता है।

आपको बता दें कि पुदीने का सेवन सही मात्रा में ही करना चाहिए तभी आपको पुदीने के गुण प्राप्त होंगे।

आप किस तरह से पुदीना इस्तेमाल करना पसंद करते हैं? हमें कमेंट में जरूर बताएं।

FAQs

अधिक मात्रा में पुदीने का सेवन करने से गैस, उलटी, सूखा मुंह आदि हो सकता है।

पुदीने का पानी पीने से मुंह स्वस्थ रहता है, सांस में बदबू नहीं आती है, दांत मजबूत बनते हैं।

पुदीने के फायदे डाइजेशन के लिए खासतौर पर जाने जाते हैं। अपच होने पर पुदीने की चाय पीने, पुदीने का पानी आदि से अपच से राहत मिलने में मदद मिलती है।

पुदीने में कैलोरी की मात्रा कम होती है और फाइबर भी पाया जाता है जो वजन कम करने में मदद करते हैं। पुदीने का सेवन करने से मेटाबोलिज्म बढ़ता है जिससे फैट बर्न होने में मदद मिलती है।

पुदीने का पानी पीने से शरीर साफ होने में मदद मिलती है। रोजाना पुदीने का पानी पीने से वजन कम होने में भी मदद मिलती है।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments