पुदीने के फायदे (Benefits Of Mint Leaves In Hindi)

पुदीने (Mint Leaves) को जिस भी डिश में शामिल किया जाता है उसका स्वाद दोगुना हो जाता है। वैसे ही पुदीने के फायदे (Benefits Of Mint) डाइट में शामिल करने से कई लाभ मिलते हैं जैसे कि स्वस्थ डाइजेशन, ताज़ा मुंह, मजबूत बाल आदि।

पुदीने के पत्तों (mint leaves) का नाम लेते ही पुदीने की सुंदर खुशबू याद आ जाती है। क्या आपको पता है पुदीने के पत्तों (mint leaves) की खुशबू के भी कई सारे फायदे हैं। इसके अलावा पुदीने के फायदे (benefits of mint) सेहत से भी जुड़े हुए हैं जैसे कि सेहतमंद पेट, स्वस्थ डाइजेशन, निखरती त्वचा और मजबूत बाल। जब हम पुदीने का नाम लेते हैं तो इसमें कई प्रकार के पुदीने शामिल होते हैं जैसे कि मेन्थॉल मिंट, पेपर मिंट, बर्गमोट मिंट आदि। पुदीने का इस्तेमाल कई समय से औषधि के रूप में भी किया जाता आ रहा है जैसे कि सर दर्द होने पर पुदीने की चाय पीने की सलाह दी जाती है। पुदीने का इस्तेमाल कई डिश में भी किया जाता है जिससे खाने का स्वाद लाजवाब हो जाता है। पुदीने के फायदे (benefits of mint) से जुड़ी विस्तार से जानकारी आप इस आर्टिकल से प्राप्त कर सकते हैं।

पुदीने के फायदे (benefits of mint) डाइट में अवश्य शामिल करें।
विषय सूची

पुदीने के पौष्टिक तत्व (Mint Leaves Nutritional Value In Hindi)

पुदीने के फायदे (benefits of mint) इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व के कारण हैं। पुदीने के पत्ते (mint leaves) के फायदे सेहत, त्वचा और बालों के लिए जाने जाते हैं। पुदीने में मौजूद पौष्टिक तत्व की जानकारी आप नीचे दी गई टेबल से ले सकते हैं।

पोषणमात्रा – 14 ग्राम
कैलोरी6
आयरन9% (रेफ्रेंस डेली इनटेक (आरडीआई))
मैंगनीज8% (रेफ्रेंस डेली इनटेक (आरडीआई))
फोलेट4% (रेफ्रेंस डेली इनटेक (आरडीआई))
फाइबर1 ग्राम
विटामिन ए12% (रेफ्रेंस डेली इनटेक (आरडीआई))

पुदीने के फायदे (Mint Leaves Benefits Of In Hindi)

पुदीने के पत्तों (mint leaves) के बारे में यह बात कही जा सकती है कि छोटा पैकेट बड़ा धमाका क्योंकि यह आकार में छोटे हैं लेकिन इनसे होने वाले फायदे बहुत बड़े हैं। जैसा कि आपको बताया है कि पुदीने के फायदे (benefits of mint) पुराने ज़माने से औषधि के रूप में लिए जा रहे हैं और आज भी पुदीना के गुण (benefits of pudina) कई तरह से लिए जा रहे हैं। पुदीने के फायदे (benefits of mint) से जुड़ी सारी जानकारी आप यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1) पुदीने के फायदे स्वस्थ डाइजेशन के लिए (Mint Leaves Benefits For Healthy Digestion)

पुदीने के फायदे (benefits of mint) स्वस्थ डाइजेशन के लिए खासतौर पर जाने जाते हैं। अपच की बीमारी सुनने में आम लगती है लेकिन अगर कब्ज की समस्या लंबे समय तक के लिए रह जाए तो बड़ी परेशानी बन सकती है। कब्ज होने पर पुदीने की चाय पीने की सलाह दी जाती है। कई अध्ययनों में भी यह पाया गया है कि खाने के साथ पुदीने के तेल का सेवन करने से अपच के लक्षण कम होने में मदद मिलती है (1) (2)। इसके अलावा कई अध्ययनों में यह पाया गया है कि पुदीना अपच से राहत पाने में मदद करता है।

स्वस्थ डाइजेशन के लिए पुदीने की चाय पी सकते हैं।

2) पुदीना के पत्ते के फायदे सेहतमंद पेट के लिए (Benefits Of Mint For Healthy Stomach)

अगर आपको पेट दर्द, गैस, पेट में जकड़न की परेशानी है तो पुदीने के फायदे (benefits of mint) आपके काम आ सकते हैं। एक अध्ययन में बताया गया है कि जब 75% लोगों ने 4 हफ्तों तक पुदीने के तेल का सेवन किया है तब उन लोगों में पेट की समस्या 38% तक कम हुई है (3)। कई अध्ययनों में यह भी पाया गया है कि पेट की परेशानी होने पर पेपर मिंट ऑयल कैप्सूल लेने पर लक्षणों से राहत मिलने में मदद मिलती है।

3) पुदीना के गुण जुकाम में लाभदायक (Benefits Of Pudina In Cold)

सर्दी- जुकाम कभी भी हो सकता है और इसके लिए हर घर में घरेलू उपाय तैयार रहते हैं। पुदीने के फायदे (benefits of mint) सर्दी के लिए भी जाने जाते हैं। रिसर्च में यह दिखाया गया है कि मेन्थॉल के इस्तेमाल से सर्दी लगने से सांस लेने में हो रही परेशानी से राहत मिलने में मदद मिल सकती है (4) (5)। मेन्थॉल से पूरी राहत तो नहीं लेकिन थोड़ी राहत जरुर मिलती है।

पुदीने का इस्तेमाल जुकाम में करें।

4) पुदीना के लाभ अच्छी सांस के लिए (Pudina Leaves Benefits For Good Breath)

आपने यह जरुर देख होगा कि मार्किट में मिलने वाले अधिकतर माउथ फ्रेशनर पुदीना फ्लेवर के आते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि पुदीने के फायदे (benefits of mint) बदबूदार सांस को रोकने में मदद करते हैं। लेकिन एक्सपर्ट के द्वारा यह भी कहा गया है कि इन प्रोडक्ट की मदद से कुछ समय के लिए बदबू को रोका जा सकता है लेकिन बैक्टीरिया को खत्म नहीं किया जाता है (6) (7)।

5) पुदीने के फायदे अस्थमा के लिए (Mint Leaves Benefits For Asthma)

पुदीना के पत्ते के फायदे अस्थमा से गुजर रहे लोगों के लिए बहुत लाभदायक होते हैं। पुदीने में एंटी- इंफ्लामेट्री गुण होते हैं जिससे छाती में रुकावट, सांस लेने में परेशानी जैसी परेशानी से दूर रखने में मदद करते हैं। पुदीने के पत्तों (mint leaves) में ठंडक पहुंचाने के भी गुण होते हैं जिस कारण से गले, छाती और नाक में हो रही परेशानी से राहत मिलने में मदद मिलती है। पुदीने का सेवन अधिक मात्रा में करने से इसका उलटा भी हो सकता है जैसे कि गले, नाक में जलन आदि।

पुदीना के पत्ते के फायदे अस्थमा में लाभदायक होते हैं।

6) पुदीना के पत्ते के फायदे वजन कम करने के लिए (Benefits Of Mint For Weight Loss)

पुदीने के फायदे (benefits of mint) वजन कम करने के लिए भी जाने जाते हैं। पुदीने में कैलोरी की मात्रा कम होती है और इसमें फाइबर भी होता है। आपको बता दें कि यह दोनों पौष्टिक तत्व वजन कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा पुदीने की खुशबू भी वजन कम करने में मदद करती है। पुदीने की पत्तियों (mint leaves) से डाइजेस्टिव एंजाइम प्रोड्यूज होता है जो डाइजेशन को स्वस्थ तरीके से करने में मदद करता है। डाइजेशन अच्छे से होता है तो मेटाबोलिज्म बढ़ता है जिससे कैलोरी बर्न होती है और वजन कम होने में मदद मिलती है। वजन कम करने के लिए आप अपनी डाइट में पुदीने की चाय को शामिल कर सकते हैं।

7) पुदीना के गुण सर दर्द में सहायक (Benefits Of Pudina For Relief In Headache)

जैसे कि आपको आर्टिकल के शुरुआत में बताया है कि पुदीने के फायदे (benefits of mint) औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। आयुर्वेद में पुदीन के पत्तों का इस्तेमाल सर दर्द ठीक करने के लिए किया जाता आ रहा है। पुदीने के पत्तों (mint leaves) की ताज़ा और स्ट्रोंग खुशबू होने के कारण इसको कई तरह की बाम बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

पुदीना के पत्ते के फायदे सर दर्द में आराम देते हैं।

8) पुदीना के लाभ स्वस्थ मुंह के लिए (Pudina Leaves Benefits For Fresh Mouth)

क्या आपके टूथपेस्ट में पुदीना है? जी हां, पुदीने के फायदे (benefits of mint) मुंह को ताज़ा और स्वस्थ रखने के लिए भी जाने जाते हैं। पुदीने की खुशबू के कारण मुंह से बदबू ना आने में मदद मिलती है। इसी कारण से अधिकतर टूथपेस्ट, चुइंग गम, माउथ फ्रेशनर में पुदीने का फ्लेवर इस्तेमाल किया जाता है। अगर खाने में आपने लहसुन, प्याज या कुछ महक वाली चीज़ का सेवन किया है तो यहां पर पुदीने के पत्ते (mint leaves) आपके काम आ सकते हैं।

9) पुदीने के फायदे निखतरी त्वचा के लिए (Mint leaves Benefits For Fresh Skin)

पुदीने के फायदे (benefits of pudina) जितने सेहत के लिए हैं उतने ही त्वचा के लिए भी हैं। पुदीने की ठंडक, एंटी- बैक्टीरियल गुण त्वचा के लिए लाभदायक होते हैं। पुदीने के इस्तेमाल त्वचा को सेहतमंद बनाया जा सकता है। त्वचा में जलन होने पर पुदीन का इस्तेमाल किया जा सकता है। पुदीने के पत्तों (mint leaves) में एंटी- बैक्टीरियल, एंटी- फंगल और एंटी- इंफ्लामेट्री गुण होते हैं जो त्वचा में से गंदगी निकालने में मदद करते हैं। पुदीने में विटामिन सी भी पाया जाता है जो त्वचा को फ्री रेडिकल के खतरे से बचाता है। इसके अलावा पुदीने में पाया जाने वाला विटामिन ए त्वचा में नमी बनए रखने में मदद करता है।

पुदीने का अर्क त्वचा पर लगाने से त्वचा से गंदगी निकालने में मदद मिलती है। पुदीने का अर्क त्वचा पर 15 से 20 मिनट के लिए लगाएं और फिर पानी से धो लें।

पुदीने के फायदे (benefits of pudina) त्वचा के लिए उपयोग करें।

10) पुदीना के पत्ते के फायदे मजबूत बालों के लिए (Benefits Of Mint For Strong Hair)

पुदीने के फायदे (benefits of pudina) मजबूत बाल बनाने में मदद करते हैं। पुदीने में कैराटीन और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो बालों को मजबूत करने में मदद करते हैं। इन दोनों तत्व के कारण बालों की जड़ें मजबूत बनने में मदद मिलती है। इसके अलावा पुदीने की मदद से डैंड्रफ से राहत पाने में भी मदद मिलती है। बालों के पुदीने इस्तेमाल करने से गंदगी निकली है और नए बालों को उगने में सहायता मिलती है।

पुदीने से बनने वाली डिश (Dishes To Make With Mint Leaves In Hindi)

यह बात सच है कि पुदीने का इस्तेमाल खाने में मुख्य सामग्री के तौर पर नहीं किया जाता है लेकिन पुदीने के इस्तेमाल से डिश में अलग ही स्वादिष्ट स्वाद आ जाता है। पुदीने का इस्तेमाल कई तरह से किया जा सकता है। इसकी मदद से कई सारी डिश का स्वाद बदला जा सकता है। पुदीने से बनने वाली डिश से जुड़ी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

1) पुदीने का शरबत (Pudina Sharbat)

अगर आप वजन कम करना चाहते हैं या फिर सेहतमंद ड्रिंक डाइट में शामिल करना चाहते हैं तो पुदीने का जूस डाइट में शामिल कर सकते हैं। पुदीने का जूस घर में भी आसानी से बनाया जा सकता है।

पुदीने का जूस बनाने की विधि

  • पुदीने का जूस बनाने के लिए पुदीने के पत्तों (mint leaves) से तना निकाल लें और अच्छे से धो लें।
  • ब्लैंडर में पुदीने के पत्ते (mint leaves), चीनी, काला नमक, नमक, नींबू का रस और पानी डालें।
  • अब अच्छे ले ब्लैंड करें।
  • ब्लैंड किए गए मिश्रण को छलनी से छान लें।
  • गिलास में ब्लैंड किया गया शरबत डालें।
  • अब गिलास में पानी डालें और पुदीने का शरबत तैयार है।
पुदीने का शरबत डाइट में शामिल करें।

2) पुदीने की चटनी (Pudina Chutney)

पराठे, रोटी और सब्जी के चटनी शामिल होने से खाना पूरा हो जाता है। खाने में सेहत के साथ- साथ स्वाद भी शामिल करना जरुरी है और इसके लिए पुदीने की चटनी परफेक्ट है।

पुदीने की चटनी बनाने की विधि

  • पुदीने की चटनी सबसे सिंपल तरीके से बनाने के लिए ब्लैंडर में पुदीना, हरा धनिया, हरी मिर्च, जीरा, नमक, लहसुन, लाल मिर्च और थोड़ा सा पानी डालें।
  • अब सभी सामग्री को अच्छे से ब्लैंड करें।
  • ब्लैंड करने के बाद आपकी पुदीने की चटनी तैयार है।
घर में स्वादिष्ट पुदीना चटनी बनाएं।
इमेज क्रेडिट- commons.wikimedia.org

3) पुदीना राइस (Pudina Rice)

बच्चों के लिए स्वादिष्ट और अलग स्वाद के चावल बनाने के लिए पुदीने का इस्तेमाल कर सकते हैं।

पुदीना चावल बनाने की विधि

  • पुदीना चावल बनाने के लिए सबसे पहले ब्लैंडर पुदीना, हरी मिर्च, लहसुन, नमक को ब्लैंड कर लें और पेस्ट बना लें।
  • अब एक पैन में तेल डालें और तेल में जीरा, लाल मिर्च, प्याज डालें।
  • प्याज को गोल्डन होने तक पकाएं।
  • अब इसमें पुदीने का पेस्ट डालें।
  • अच्छे से पानी सूखने दें।
  • अब इसमें उबले हुए चावल डालें और अच्छे से मिक्स करें।
  • चावल को पकने दें।
  • पुदीने वाले चावल तैयार हैं।
स्वादिष्ट पुदीना चावल घर में बनाएं।
इमेज क्रेडिट- commons.wikimedia.org

4) पुदीने का रायता (Pudine Ka Raita)

गर्मियों में पुदीने का रायता और भी स्वादिष्ट लगता है। पुदीने का रायता बनाने की विधि बेहद आसान है।

पुदीने का रायता बनाने की विधि

  • पुदीने का रायता बनाने के लिए ब्लैंडर में पुदीना, हरी मिर्च, नमक और दही डालें।
  • अच्छे से ब्लैंड करें।
  • अब दूसरी तरफ दही अच्छे से फैंट लें।
  • दही में भुना हुआ जीरा, काला नमक और ब्लैंड किया हुआ पुदीना डालें।
  • अच्छे से मिक्स करें और आपका पुदीने का रायता तैयार है।
ठंडा- ठंडा पुदीने का रायता गर्मी में बनाएं।
इमेज क्रेटिड- commons.wikimedia.org

पुदीने के नुकसान (Side Effects Of Mint Leaves In Hindi)

पुदीने के फायदे (benefits of pudina) कई सारे हैं लेकिन आपको पुदीने के नुकसान के बारे में भी जानना जरुरी है। पुदीने का सेवन सही मात्रा में करना चाहिए जिससे आपको पुदीने के फायदे (benefits of pudina) मिलें। अगर पुदीने का सेवन अधिक मात्रा में कर लिया जाए तो आपको नीचे दिए गए नुकसान हो सकते हैं।

  • अधिक मात्रा में पुदीने का इस्तेमाल करने से गैस की परेशानी हो सकती है।
  • डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही पेपरमिंट ऑयल या कैप्सूल का उपयोग करें।
  • मिंट ऑयल का इस्तेमाल डायरेक्ट त्वचा पर ना करें। ऐसा करने से जलन हो सकती है।

आखिर में

पुदीने को किसी भी डिश में शामिल करने से उस डिश का स्वाद और भी अच्छा हो जाता है। पुदीने को डाइट में शामिल करना गलत फैसला नहीं हो सकता है। पुदीने के फायदे (benefits of pudina) आसानी से डाइट में शामिल कर सकते हैं। पुदीने का सेवन कई तरह से किया जाता है। आपको बता दें कि पुदीने का सेवन सही मात्रा में ही करना चाहिए तभी आपको पुदीने के गुण (benefits of pudina) प्राप्त होंगे।

  1. पुदीने के पत्तों (mint leaves) से क्या नुकसान हो सकते हैं? (What are the side effects of mint leaves?)

    अधिक मात्रा में पुदीने का सेवन करने से गैस, उलटी, सूखा मुंह आदि हो सकता है।

  2. पुदीने के पत्तों (mint leaves) को पानी में डालने से क्या लाभ मिलते हैं? (What are the benefits of mint leaves in water?)

    पुदीने का पानी पीने से मुंह स्वस्थ रहता है, सांस में बदबू नहीं आती है, दांत मजबूत बनते हैं।

  3. क्या पुदीने से डाइजेशन में मदद मिलती है? (Does pudina help in Digestion?)

    पुदीने के फायदे (benefits of pudina) डाइजेशन के लिए खासतौर पर जाने जाते हैं। अपच होने पर पुदीने की चाय पीने, पुदीने का पानी आदि से अपच से राहत मिलने में मदद मिलती है।

  4. क्या पुदीना वजन कम करने में मदद करता है? (Is mint good for weight loss?)

    पुदीने में कैलोरी की मात्रा कम होती है और फाइबर भी पाया जाता है जो वजन कम करने में मदद करते हैं। पुदीने का सेवन करने से मेटाबोलिज्म बढ़ता है जिससे फैट बर्न होने में मदद मिलती है।

  5. क्या रोजाना पुदीने का पानी पीना सेहतमंद है? (Can we drink mint water daily?)

    पुदीने का पानी पीने से शरीर साफ होने में मदद मिलती है। रोजाना पुदीने का पानी पीने से वजन कम होने में भी मदद मिलती है।

लेखक के बारे में

सुरभि शर्मा मिश्री में हिंदी लेखिका हैं। इ्न्हें सवाल पूछना बहुत पसंद है शायद इसी कारण से इनके आर्टिकल आपको विस्तार जानकारी के साथ मिलेंगे। इनका कहना है कि अपने शौक को करियर में बदलने से अच्छा और क्या हो सकता है। लिखने के साथ- साथ और भी कई शोक रहे हैं लेकिन अब इन्हें लगता है कि यह अपना पसंदीदा काम कर रही हैं। 

इस लेखक द्वारा अधिक लेख

Leave a Reply on पुदीने के फायदे (Benefits Of Mint Leaves In Hindi)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*