6 करेले के फायदे (6 Popular Reasons To Add Bitter Melon (Karela) To Your Diet| Things To Note)
bitter-melon-mishry

6 करेले के फायदे (6 Popular Reasons To Add Bitter Melon (Karela) To Your Diet| Things To Note)

करेला कड़वा जरुर होता है लेकिन इसके फायदो को आप नज़रअंदाज नहीं कर सकते हैं। आप इससे होने वाले फायदो के बारे में जानकर हैरान हो जाएंगे। डायबटीज की बीमारी से लेकर इम्यूनिटी स्ट्रोंग करने तक के फायदे आपको मिल सकते हैं। करेले के फायदे इन हिंदी में यहां से पढ़ सकते हैं।

आज हम जिसके फायदो के बारे में बात करने जा रहे हैं वो भारत के साउथ हिस्से में उगाया जाता है। हम बात कर रहे हैं करेले की, जी हां करेले का नाम सुनते ही सबके अजीब मुंह बन जाते हैं। लेकिन आज इस आर्टिकल से आपको पता चलेगा कि जिसको आप हमेशा से नज़रअंदाज करते आए हैं उस करेले के पोषक तत्व क्या हैं। इन फायदो के बारे में पढ़ने के बाद आप करेले को नज़रअंदाज नहीं कर पाएंगे। करेला एशियाई क्षेत्र- चीन, मध्य-पूर्व और भारतीय उपमहाद्वीप में पॉपुलर है। आइए करेले के फायदे इन हिंदी में जानते हैं।

करेले से जुड़े स्वास्थ्य फायदे

1. वजन घटाने में मदद और मजबूत पाचन शक्ति

अगर आप वजन घटाने के बारे में सोच रहें हैं और ऐसा कुछ खाने के लिए ढूंढ रहे हैं जिससे आपका वजन कम हो जाएगा, तो आपको बता दें कि करेला खाने से आपका वजन कम हो सकता है। करेले में कैलोरी कम होती है और इसमें डायट्री फाइबर पाए जाते हैं। फाइबर बिना पचा हुआ खाना होता है जो पाचन शक्ति को काम करने के लिए मजबूर करता है। इस प्रोसेस में जितनी कैलोरी आपने खाई होती है उससे कई ज्यादा कैलोरी डायजेशन के प्रोसेस में इस्तेमाल हो जाती है। इससे आपके शरीर में कैलोरी की मात्रा कम हो रहती है।

2. ब्लड शुगर को सामान्य बनाएं रखने में मदद

आयुर्वेद में करेले को दवाई माना जाता है और इससे टाइप- 2 डायबिटीज का इलाज किया जाता है। करेला के औषधीय गुण कई सारे हैं। इसमें चारैन्टिन, स्टेरॉयडल सैपोनिन और एल्कलॉइड होता है और यह हाइपोग्लाइकेमिक प्रभावों में बहुत योगदान करता है। करेले में कैलोरी कम होती है और इसमें डायट्री फाइबर पाए जाते हैं। यह शरीर की पाचन शक्ति को सही से काम करने में मदद करता है।

3. लिवर को डिटॉक्सीफाई करता है

करेला लिवर के लिए प्राकृतिक टॉनिक है। इसमें मिनरल्स होते हैं जो लिवर को नुकसान पहुंचाने वाले कणों से बचाकर रखते हैं। करेले का जूस पीने से शरीर में एंटी- ऑक्सीडेंट एंजाइम एक्टिव हो जाते हैं जो लिवर को मुक्त कणों से बचाकर रखता है। मुक्त कण हेल्दी सेल के साथ मिलकर उनको नुकसान पहुंचाने की कोशिश करते हैं। लेकिन एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण नुकसान नहीं हो पाता है।

करेला लिवर के लिए प्राकृतिक टॉनिक है।

4. स्ट्रोंग इम्यूनिटी

100 ग्राम करेला खाने से 80 एमजी विटामिन सी मिलता है। यह एंटी- ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जो हमारी इम्यूनिटी को स्ट्रोंग बनाएं रखने में मदद करता है। करेले का सेवन करने से हम बीमारी से बचे रहते हैं और साथ ही यह शरीर में सफेद ब्लड सेल का लेवल बढ़ाने में मदद करता है।

5. घाव जल्दी भरते हैं

विटामिन सी के साथ- साथ करेले में विटामिन के भी भारी मात्रा में पाया जाता है। विटामिन के ब्लड क्लॉटिंग में मदद करता है। डाइट में विटामिन के होने से ब्लड क्लॉटिंग जल्दी हो जाती है और ब्लड में प्लेटलेट की मात्रा बढ़ाने में भी मदद करता है। इसके अलावा यह हड्डियों को मजबूत करने में भी मदद करता है। करेला के औषधीय गुण होने से इसको पुराने समय से दवाई की तरह इस्तेमाल किया जाता है।

6. स्किन परेशानी से दूर

शरीर के साथ- साथ करेला हमारी त्वचा के लिए भी लाभदायक है। करेला एंटी- ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जिस कारण यह हमारी स्किन को बाहर से होने वाले नुकसान से बचाता है। इसके साथ ही यह बढ़ती उम्र के लक्षण जल्दी से नहीं दिखाता है जैसे कि झुर्रियाँ, काले धब्बे आदि।

आखिर में

करेले को पसंद न करने का कारण उसके कड़वे होने से है। और इस कड़वाहट की वजह से लोग करेले को खाना पसंद नहीं करते हैं। लेकिन ऐसा हमेशा नहीं होता है कि जो चीज़ खाने में कड़वी होती है उसके फायदे नहीं होते हैं। शरीर और त्वचा से जुड़े करेले के फायदो को पढ़कर आपको यह पता चल गया होगा। इसके बुरे असर असामान्य मात्रा में सेवन करने से होते हैं।

जो महिलाएं गर्भवति हैं उन महिलाओं को करेला खाने की सलाह नहीं दी जाती है क्योंकि यह माहवारी को बढ़ाता है और गर्भपात भी हो सकता है। करेला बच्चों को नुकसान दे सकता है क्योंकि इसका जो लाल रंग का हिस्सा है उसको खाने से उलटी और जी मिचलाना हो सकता है।

करेले के सभी फायदे और नुकसान जानने के बाद अब फैसला आपके ऊपर है कि क्या आपको करेले को अपने डाइट में शामिल करना है? क्या करेला वो चीज़ है जिसको आप अपनी डाइट में शामिल करने के लिए ढूंढ रहे हैं।

FAQs

  1. करेला खाने के नुकसान क्या हैं? (What are the side effects of bitter gourd?)

    अधिक मात्रा में करेले का सेवन करने से पेट से दर्द होने के साथ-साथ दस्त भी हो सकते हैं। करेले के बीज का सेवन अधिक मात्रा में करने से सिरदर्द, बुखार हो सकता है साथ ही ब्लड शुगर बहुत ज्यादा कम भी हो सकता है।

  2. क्या करेला रोजाना खाया जा सकता है? (Can I eat bitter gourd daily?)

    करेले का सेवन सही मात्रा में रोजाना किया जा सकता है। आपको बता दें कि करेले में कई सारे पोष्टिक आहार पाए जाते हैं जो शरीर के लिए बहुत जरुरी होते हैं।

  3. करेला का जूस पीने के फायदे क्या हैं? (What happens if we drink bitter gourd juice?)

    करेले के जूस का सेवन अधिक मात्रा में करने से सबसे पहले पेट में परेशानी होगी। पेट में दर्द, दस्त, पेट खराब जैसी परेशानियां हो सकती हैं।

  4. करेले को कितने तरीके से खाया जा सकता है? (In how many ways bitter gourd can be eaten?)

    क्या आपको पता है करेले को कच्चा भी खाया जा सकता है। आमतौर पर करेले को पका कर सब्जी की तरह खाया जाता है। इसके अलावा करेले को फ्राई, स्टीम, बेक्ड या फिर फिलिंग के साथ भी खा सकते हैं।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments