अनाज के नाम हिंदी और इंग्लिश में
अनाज के नाम हिंदी और इंग्लिश में

अनाज के नाम हिंदी और इंग्लिश में

इस आर्टिकल से आप पॉपुलर अनाज के नाम हिंदी में और अनाज के नाम इंग्लिश में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

आप ब्रेकफास्ट में क्या खाना पसंद करते हैं – ओट्स, म्यूसली, पैनकेक, टोस्ट, आलू के पराठे?

सेहतमंद ब्रेकफास्ट करना एक अच्छी आदत है जिससे पूरे दिन शरीर में एनर्जी बनी रहती है। पौष्टिक और सेहतमंद ब्रेकफास्ट के कई ऑप्शन हैं जिस वजह से सुबह के नाश्ते में विभिन्नता लाई जा सकती है। मार्केट में कई तरह के अनाज उपलब्ध हैं जिन्हें डाइट में शामिल किया जा सकता है।

कई बार हमें अनाज का सही नाम (cereals name in hindi) नहीं पता होता है क्योंकि ज्यादातर अनाज लगभग एक ही परिवार से आते हैं। 

अनाज के नाम हिंदी में (anaj ke naam hindi mein) और अनाज के नाम इंग्लिश में (anaj ke naam english mein) से जुड़ी जानकारी इस आर्टिकल से प्राप्त कर सकते हैं।

हिंदी और इंग्लिश में जानिए अनाज के नाम

ब्रेकफास्ट के लिए हर किसी की पसंद अलग होती है। अगर आप सेहत के प्रति जागरूक हैं और डाइट में सेहतमंद अनाज शामिल करना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए हैं। आमतौर पर उपयोग में लिए जाने वाले अनाज के नाम हिंदी में (anaj ke naam hindi mein) और अनाज के नाम इंग्लिश में (anaj ke naam english mein) से जुड़ी जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. गेहूं = Wheat

गेहूं
गेहूं

वीट प्रोडक्शन में भारत दूसरे नंबर पर आता है। गेहूं मूल अनाज है। इसमें भरपूर मात्रा में पौष्टिक आहार पाए जाते हैं। 100 ग्राम होल वीट आटा में 340 किलो कैलोरी, 13.2 ग्राम प्रोटीन, 11% पानी, 72 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 0.4 ग्राम शुगर, 10.7 ग्राम फाइबर, 2.5 ग्राम फैट पाया जाता है। गेहूं के आटे से कई डिश बनाई जा सकती हैं जैसे कि रोटी, पराठे, वीट पिज़्ज़ा, आटा डोसा, चॉकलेट केक, समोसा, होल वीट मोमोज आदि। अन्य अनाज के नाम हिंदी में (cereals name in hindi) की अधिक जानकारी के लिए आर्टिकल पूरा पढ़ सकते हैं।  

2. बाजरा = Pearl Millet

बाजरा
बाजरा

भारत में आमतौर पर बाजरा का सेवन सर्दियों में किया जाता है क्योंकि इससे शरीर का तापमान बढ़ता है ठंड से राहत मिलती है। लेकिन कई जगह पर बाजरा का सेवन ठंडी ड्रिंक के रूप में गर्मियों में भी किया जाता है। 100 ग्राम बाजरा में 373 कैलोरी, कुल फैट 4 ग्राम, कार्बोहाइड्रेट 24%, डाइटरी फाइबर 3.5 ग्राम, शुगर 2 ग्राम, प्रोटीन 11 ग्राम, कैल्शियम 1%, आयरन 22%। बाजरा से कई डिश बनाई जा सकती हैं जैसे कि बाजरे की रोटी, बाजरे की खिचड़ी, बाजरे का हलवा, बाजरा वडी, बाजरा चकली।

3. मक्का/मकई/भुट्टा = Corn/ Maize

मक्का
मक्का

पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा कॉर्न प्रोडक्शन वाले देश में भारत छठे नंबर पर आता है और नंबर वन पर अमेरिका आता है। 100 ग्राम के अनुसार मक्का के पोषण तत्व कुछ इस प्रकार हैं – 86 कैलोरी, 1.35 ग्राम फैट, 18.7 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 3.3 ग्राम प्रोटीन। मक्का को डाइट में सेहतमंद तरीके से शामिल किया जा सकता है जैसे कि कॉर्न सूप, कॉर्न पुलाव, मक्का की रोटी, स्वीट कॉर्न, कॉर्न चीज़ बॉल्स, कॉर्न चाट, भुट्टा, कॉर्न पकोड़ा, कॉर्न सलाद आदि।   

4. जई = Oats

ओट्स
ओट्स

सेहतमंद ब्रेकफास्ट लिस्ट में आपने ओट्स का नाम सबसे ज्यादा सुना होगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि ओट्स के फायदे कई सारे हैं जैसे कि सामान्य ब्लड शुगर लेवल, एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर, स्वस्थ आंत, सामान्य वजन बनाए रखने में लाभदायक, कब्ज से राहत आदि। 100 ग्राम ओट्स में पौष्टिक तत्व कुछ इस प्रकार है – कैलोरी 389, पानी 8%, प्रोटीन 16.9 ग्राम, कार्ब्स 66.3 ग्राम, शुगर 0 ग्राम, फाइबर 10.6 ग्राम, फैट 6.9 ग्राम। ओट्स कई तरह से खा सकते हैं जैसे कि ओट्स-दूध-फल, ओटमील उपमा, ओट्स उत्तपम, ओट्स पैनकेक, ओट्स खिचड़ी, ओट्स इडली, ओटमील सूप आदि।

5. मंड़ुआ, नचनी, बावटो, रागी = Ragi

दक्षिण भारत में रागी मूल अनाज है। रागी ग्लूटेन फ्री अनाज है। यह पोषण से भरपूर है जिस वजह से इसे सुपरफूड कहा जाता है। रागी में 15-20% डाइटरी फाइबर होता है। इसके साथ ही इसमें 5-8% प्रोटीन, 65-75% कार्बोहाइड्रेट और 2.5-3.5% मिनरल्स होते हैं। रोजाना रागी खाने के फायदे कई सारे हैं जैसे कि सामान्य ब्लड शुगर, प्रोटीन का आधार आदि। रागी से कई स्वादिष्ट बनाई जा सकती हैं जैसे कि रोगी रोटी, एप्पल हलवा, उपमा, लड्डू, बिस्किट, इडली, बच्चों के लिए रागी खिचड़ी, रागी आलू पराठा, डोसा आदि।

6. क्विनोआ अनाज = Quinoa

क्विनोआ
क्विनोआ

ब्रेकफास्ट में ओट्स के अलावा क्विनोआ भी पॉपुलर अनाज है। क्विनोआ फाइबर से भरपूर होता है जिस वजह से यह स्वस्थ डाइजेशन में मदद करता है जिससे कब्ज से राहत मिलती है। इसका सेवन आमतौर पर वेट लॉस के लिए भी किया जाता है। आधा कप पके हुए क्विनोआ का पोषण कुछ इस प्रकार है – कैलोरी 111, प्रोटीन 4 ग्राम, फैट 2 ग्राम, कार्बोहाइड्रेट 20 ग्राम, फाइबर 3 ग्राम, शुगर 1 ग्राम। हार्वर्ड पब्लिक स्कूल ऑफ हेल्थ के एक अध्ययन में बताया गया है कि रोजाना क्विनोआ खाने से दिल की बीमारी, सांस की बीमारी, डायबिटीज और अन्य गंभीर बीमारी होने के आसार 17% तक खत्म हो सकते हैं। प्लेन ओट्स, सब्जियों के साथ, किसी दूसरे अनाज के साथ, सलाद, दूध या पानी के साथ ओट्स खा सकते हैं।    

7. सूजी = Semolina

कटोरी में सूजी
सूजी

सूजी का नाम आमतौर पर व्रत के समय लिया जाता है लेकिन इसे डाइट में भी शामिल किया जा सकता है। बिना पकी हुई 56 ग्राम सूजी में कैलोरी 198, कार्ब्स 40 ग्राम, प्रोटीन 7 ग्राम, फैट 1 ग्राम से कम, फाइबर 7%, फोलेट 36, राइबोफ्लेविन 29, आयरन 13 और मैग्नीशियम की रोजाना की जरूरत पूरी करता है। सूजी से कई स्वादिष्ट डिश बनाई जा सकती हैं जैसे कि सूजी का हलवा, उपमा, इडली, उत्तपम, चीला, ढोकला, डोसा, टोस्ट आदि।       

8. चावल = Rice

चावल
चावल

करीब 8000 साल से चावल की खेती की जा रही है। चावल के प्रकार में सफेद और ब्राउन राइस सबसे ज्यादा पॉपुलर और आसानी से उपलब्ध हैं। इसके अलावा चावल कई रंग के होते हैं जैसे कि लाल, काले, बैंगनी। सफेद चावल ब्राउन राइस से ही निकलते हैं। ब्राउन हस्क हटाने के बाद सफेद चावल मिलते हैं। ब्राउन राइस में सफेद चावल के मुकाबले फाइबर, मैग्नीशियम की मात्रा ज्यादा होती है। वहीं सफेद चावल फोलेट का अच्छा स्रोत है। चावल से कई स्वादिष्ट डिश बना सकते हैं जैसे कि फ्राइड राइस, राइस पुडिंग, फ्रेंच अनियन राइस, लेमन राइस आदि।   

9. जौ = Barley

जौ
जौ

क्या आप जानते हैं? जौ, एक ऐसा अनाज है जो यूरेशिया में सबसे पहला उगाए जाने वाला अनाज है, लगभग 10,000 साल पहले। जौ फाइबर, विटामिन और मिनरल्स का अच्छा स्रोत है। जौ का सेवन करने से दिल की बीमारी, स्ट्रोक से बचाव मिलता है। 100 ग्राम बिना पके हुए जौ में 354 कैलोरी, 73.5 ग्राम कार्ब्स, 17.3 ग्राम फाइबर होता है। जौ डाइट में स्वादिष्ट तरीके शामिल कर सकते हैं जैसे कि वेजिटेबल सूप, सालद, खिचड़ी, उपमा, जौ और रेड राइस सलाद आदि।     

10. मुरमुरे = Puffed rice

मुरमुरा
मुरमुरा

मुरमुरे चावल से बनाए जाते हैं और इनका सेवन आमतौर पर ब्रेकफास्ट या स्नैक के रूप में किया जाता है। इसमें फाइबर, प्रोटीन और कॉम्प्लेक्स कार्ब्स का अच्छा मिश्रण है। मुरमुरे में कैलोरी की मात्रा कम होती है जिसका सेवन स्नैक के तौर पर किया जा सकता है और यह क्विक एनर्जी के लिए बेहतर ऑप्शन है। 100 ग्राम मुरमुरे के पौष्टिक तत्व कुछ प्रकार हैं – कैलोरी 402, फैट 0.5 ग्राम, सोडियम 3 एमजी, पोटैशियम 113 एमजी, कार्बोहाइड्रेट 90 ग्राम, डाइटरी फाइबर 1.7 ग्राम, प्रोटीन 6 ग्राम। मुरमुरे से कई स्वादिष्ट स्नैक बना सकते हैं जैसे कि भेल पूरी, चिक्की, स्पाइसी चिवड़ा आदि।   

11. ज्वार = Sorghum

ज्वार
ज्वार

पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा उगाए जाने वाले अनाज की लिस्ट ज्वार पांचवे नंबर पर आता है। ज्वार कई प्रकार के होते हैं जिसमें से कुछ जानवरों के खाने के लिए होते हैं वहीं कुछ अनाज मनुष्य के खाने के लिए होते हैं। यह ग्लूटेन फ्री अनाज है। ज्वार के पौष्टिक तत्व कुछ इस प्रकार हैं – कैलोरी 329, प्रोटीन 11 ग्राम, फैट 3 ग्राम, कार्बोहाइड्रेट 72 ग्राम, फाइबर 7 ग्राम। ज्वार से कई स्वादिष्ट डिश बनाई जा सकती हैं जैसे कि ज्वार उपमा, पुलाव, डोसा, खिचड़ी, ज्वार- बाजरा रोटी, ज्वार ओट्स पैनकेक, ज्वार- अनियन पूरी, ज्वार और पुदीना की रोटी आदि। 

12. सिंघाड़े का आटा = Water Chestnut Flour

सिंघाड़े पानी में उगते हैं। सिंघाड़े का आटा इसके बीज से बनता है। सूखे सिंघाड़े पीसकर आटा बनाया जाता है। भारत में व्रत के समय सिंघाड़े के आटे का सेवन आमतौर पर किया जाता है। यह पोटैशियम का अच्छा स्रोत है और इसमें सोडियम की मात्रा कम होती है जिससे पानी प्रतिधारण (water retention) में मदद मिलती है। यह कार्बोहाइड्रेट और एनर्जी का अच्छा स्रोत है। व्रत में सिंघाड़े के आटे का सेवन करने से एनर्जी कम होने के आसार कम हो सकते हैं। सिंघाड़े के आटे से कई स्वादिष्ट डिश बना सकते हैं जैसे कि पूरी, चपाती, पैनकेक। इसका उपयोग ब्रेड, केक और कुकीज़ बनाने के लिए भी किया जाता है।    

13. दलिया = Broken Wheat/ Groats

दलिया पोषण से भरपूर अनाज है जिसका सेवन भारत में आमतौर पर दूध के साथ किया जाता है। नमकीन दलिया भी काफी पॉपुलर है। दलिया के फायदे कई हैं जैसे कि कब्ज से राहत, वेट लॉस में मदद, मांसपेशियों का विकास, डायबिटीज में लाभदायक आदि। 100 ग्राम दलिया में 357 कैलोरी, 7.14 ग्राम प्रोटीन, 11.9 ग्राम फाइबर और 1.55 ग्राम फैट होता है। दलिया का सेवन रोजाना ब्रेकफास्ट में किया जा सकता है। अगर आप वेट लॉस करना चाहते हैं तो यह एक अच्छा ऑप्शन है।    

14. सेवियां = Vermicelli

सेवियां से बनने वाली डिश खाने में जितनी स्वादिष्ट होती है उतने ही लाभदायक सेवियां के फायदे हैं। यह कार्बोहाइड्रेट का अच्छा स्रोत है। सेवियां खाने से लंबे समय के लिए पेट भरा रहता है और एनर्जी भी मिलती है। यह कोलेस्ट्रॉल फ्री और फैट फ्री अनाज है। 100 ग्राम सेवई में 331 कैलोरी, 0.1 ग्राम फैट, 82 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 3.9 ग्राम डाइटरी फाइबर, 17 ग्राम शुगर। भारत में सेवई की खीर पॉपुलर है। इसके अलावा सेवई से उपमा, नमकीन सेवई, इडली, फाइड राइस सेवई बना सकते हैं।

15. पोहा/चेवड़ा = Rice Flakes

पोहा, ऐसा अनाज है जिसे स्नैक के तौर पर खाया जाता है। पोहा आयरन से भरपूर होता है जिस वजह से रोजाना पोहा खाने से आयरन की कमी होने के आसार कम हो जाते हैं। इसके अलावा पोहा के फायदे सामान्य ब्लड शुगर लेवल, सेहतमंद कार्बोहाइड्रेट का अच्छा स्रोत, आसानी से पचने वाला, लो कैलोरी। ब्रेकफास्ट के लिए पोहा अच्छा ऑप्शन बन सकता है क्योंकि इसमें लगभग 70% सेहतमंद कार्बोहाइड्रेट और 30% फैट होता है। विभिन्न प्रकार के पोहे बना सकते हैं जैसे कि कांदा पोहा, कॉर्न पोहा, पोहा ढोकला आदि। 

16. कुट्टू = Buckwheat

कुट्टू
कुट्टू

भारत में कुट्टू के आटे का सेवन आमतौर पर व्रत में किया जाता है। कुट्टू के आटे के फायदे कई सारे हैं जैसे कि वेट लॉस, लो ब्लड प्रेशर लेवल, लो ब्लड शुगर लेवल, मजबूत हड्डियां, स्वस्थ त्वचा, लो कोलेस्ट्रॉल लेवल आदि। 100 ग्राम कुट्टू में 343 कैलोरी, 10% पानी, 13.3 ग्राम प्रोटीन, 71.5 ग्राम कार्ब्स, 0 ग्राम शुगर, 10 ग्राम फाइबर, 3.4 ग्राम। कुट्टू से कई डिश बनाई जा सकती हैं जैसे कि कुट्टू की रोटी, डोसा, खिचड़ी, ढोकला, पैनकेक आदि।

17. साबूदाना = Sago

साबूदाना
साबूदाना

सिंघाड़े का आटा और कुट्टू की तरह ही साबूदाना का उपयोग भारत में आमतौर पर व्रत के समय किया जाता है। साबूदाना के फायदे कई सारे हैं जैसे कि सेहतमंद तरीके से वजन बढ़ाना, लो ब्लड प्रेशर, स्वस्थ डाइजेशन, एनर्जी बढ़ाने में लाभदायक, मांसपेशियों का विकास। 100 ग्राम साबूदाना में 332 कैलोरी, 1 ग्राम से कम प्रोटीन, 1 ग्राम से कम फैट, 83 ग्राम कार्ब्स, 1 ग्राम से कम फाइबर और 11% रोजाना की जरूरत का ज़िंक। साबूदाना से कई स्वादिष्ट डिश बनाई जा सकती हैं जैसे कि साबूदाना वडा, खिचड़ी, चिवड़ा, डोसा, खीर, सूप, सांभर आदि।

निष्कर्ष

पूरे दिन में ब्रेकफास्ट सबसे महत्वपूर्ण खाना होता है और सेहतमंद ब्रेकफास्ट करना बेहद जरूरी है। ऊपर दिए गए सभी अनाज ब्रेकफास्ट में शामिल किए जा सकते हैं। अलग- अलग अनाज डाइट में शामिल करने के साथ- साथ अनाज का नाम हिंदी और इंग्लिश (grains name in english and hindi) में जानना जरूरी हो जाता है।

इसके साथ ही आप इस आर्टिकल से अनाज के नाम हिंदी में (anaj ke naam hindi mein) और अनाज के नाम इंग्लिश में (anaj ke naam english mein) से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

आपका पसंदीदा अनाज कौन- सा है? हमें कमेंट में जरूर बताएं।

FAQs

अनाज के नाम हिंदी में (anaj ke naam hindi mein) और अनाज के नाम इंग्लिश में (anaj ke naam english mein) से जुड़े दिलचस्प सवालों के जवाब यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

12 अनाज के नाम कुछ इस प्रकार हैं – चावल, गेहूं, दलिया, पोहा, मुरमुरा, जौ, बाजरा, ज्वार, जई, कुट्टू, रागी, साबूदाना।

पूरी दुनिया में सात प्रकार के अनाज उगाए जाते हैं – गेहूं, मक्क, चावल, जौ, ओट्स, राई और ज्वार।

भारत में अनाज कुछ इस प्रकार हैं – गेहूं, धान, ज्वार, बाजरा, जौ, मक्का।

अनाज का सेवन करने से डाइट पोषण से भरपूर होती है और साथ ही स्वस्थ जीवन में लाभदायक होती है।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments