बाजरे की रोटी के फायदे (Benefits Of Bajra (Millet) Ki Roti In Hindi)

बाजरे की रोटी के फायदे (Benefits Of Bajra (Millet) Ki Roti In Hindi)

bajre ki roti ke fayde

बाजरे की रोटी के फायदे (Benefits Of Bajra (Millet) Ki Roti In Hindi)

बाजरे के फायदे (Bajre Ke Fayde) गर्मियों में बाजरा की लस्सी, राबड़ी बनाकर ले सकते हैं। वहीं सर्दियों में बाजरे की रोटी के फायदे (Bajra Ke Fayde) ले सकते हैं।

बाजरे का नाम सुनते ही सर्दियों के मौसम की तस्वीर मन में आ जाती है। लेकिन क्या आपको पता है कि बाजरे के फायदे (bajre ke fayde) गर्मियों में भी लिए जा सकते हैं। बाजरे की लस्सी के तौर पर बाजरे के फायदे लिए जा सकते हैं। बाजरे की लस्सी पीने से गर्मी सहन की क्षमता बढ़ जाती है। बाजरे की फसल को उगने के लिए बहुत गर्म मौसम चाहिए होता है इसलिए बाजरे को सबसे ज्यादा राजस्थान और गुजरात में उगाया जाता है। लेकिन बाजरे के फायदे (bajre ke fayde) पूरे देश में लिए जाते हैं लेकिन खासतौर पर बाजरे के फायदे उत्तर भारत में लिए जाते हैं। इसके साथ ही बाजरे की रोटी के फायदे (bajre ki roti ke fayde) भी कई सारे हैं। यहां से आप बाजरे के फायदे के साथ- साथ बाजरे की रोटी (bajre ki roti) बनाने के तरीके के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

 

बाजरे के फायदे (bajre ke fayde) गर्मी- सर्दी दोनों में लें।
इमेज क्रेडिट- commons.wikimedia.org

 

विषय सूची

बाजरे के पौष्टिक तत्व (Bajra Nutritional Value In Hindi)

बाजरे में कई सारे पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जिस कारण से बाजरे की रोटी के फायदे (bajre ki roti ke fayde) बढ़ जाते हैं। बाजरे को गेंहू, चावल जैसे अनाज की जगह इस्तेमाल किया जाता है। बाजरे के पौष्टिक तत्व से जुड़ी जानकारी आप नीचे दि गई टेबल से ले सकते हैं (1)।

 

पोषण मात्रा – 174 ग्राम
कैलोरी 207
प्रोटीन 6 ग्राम
फैट 1.7 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट 41 ग्राम
डाइटरी फाइबर 2.2 ग्राम
फास्फोरस 25% डेली वैल्यू
मैग्नीशियम 19% डेली वैल्यू
फोलेट 8% डेली वैल्यू
आयरन 6% डेली वैल्यू

Buy Bajra Ka Atta Online

बाजरे/ बाजरे की रोटी के फायदे (Benefits Of Bajra (Millet)/ Bajre ki Roti In Hindi)

बाजरे के फायदे (bajre ke fayde) लेने के लिए आप इस अपनी गर्मी और सर्दी, दोनों डाइट में शामिल कर सकते हैं। गर्मियों में बाजरे की लस्सी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। वहीं सर्दियों में बाजरे की रोटी (bajre ki roti) डाइट में शामिल कर सकते हैं। बाजरे का सेवन करने से आपको कई सारे फायदे मिलते हैं जिससे जुड़ी जानकारी आप यहां से ले सकते हैं।

 

1) बाजरे के फायदे एनर्जी से भरपूर होते हैं (Benefits Of Bajra Gives Energy In Hindi)

भाग- दौड़ भरे दिन में एनर्जी से भरपूर रहना बेहद जरुरी होता है। खासकर गर्मियों में एनर्जी जल्दी इस्तेमाल हो जाती है और इसी एनर्जी को बरकरार रखने के लिए डाइट में एनर्जी देने वाले पदार्थ शामिल करना जरुरी है। बाजरा डाइट में शामिल करना एक बहुत अच्छा ऑप्शन है। बाजरा एनर्जी देने में मदद करता है। गर्मियों में आप बाजरे की लस्सी पी सकते हैं जिससे तुरंत एनर्जी मिलने में मदद मिलती है। इसके साथ ही बाजरा वजन कम करने में भी मदद करता है।

 

बाजरे के फायदे (bajre ke fayde) एनर्जी देने में मदद करते हैं।

 

2) बाजरा के फायदे वजन कम करने के लिए (Benefits Of Millet For Weight Loss In Hindi)

क्या आपको पता है बाजरा वजन कम करने के लिए भी जाना जाता है। बाजरा फाइबर से भरपूर होता है। फाइबर को पचने में समय लगता है जिस कारण फाइबर खाने से भूख कम लगती है जिससे आप बार- बार खाना नहीं खाते हैं और वजन कम होने में मदद मिलती है। गर्मियों में बाजरे की लस्सी के फायदे ले सकते हैं वहीं सर्दियों में बाजरे की रोटी के फायदे (bajre ki roti ke fayde) आसानी से लिए जा सकते हैं।

Buy Bajra Online

3) बाजरे के फायदे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं (Benefits Of Bajra Are Full Of Antioxidants In Hindi)

बाजरा में फेनोलिक कंपाउंड भरपूर मात्रा में पाया जाता है। खासतौर पर फेरुलिक एसिड और कैटेचिन पाए जाते हैं। यह दोनों एंटीऑक्सीडेंट ती तरह काम करते हैं और शरीर को बीमारियों से बचाकर रखने में मदद करते हैं (2) (3) (4) (5) (6)। फ्री रेडिकल ऐसे बाहरी रोगजनक होते हैं जो शरीर में बीमारी पैदा करने के मुख्य कारण होते हैं। यह शरीर के स्वस्थ सेल के साथ मिलकर इनको खराब कर देते हैं। यहां पर एंटीऑक्सीडेंट अपना काम करते हैं। एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल के साथ मिलकर इनको खत्म करने में मदद करते हैं। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर डाइट होने के कारण फ्री रेडिकल का खतरा कम हो जाता है।

 

बाजरा एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है।

 

4) बाजरा के फायदे ब्लड शुगर लेवल सामान्य रखने के लिए (Benefits Of Millet May Help Managing Blood Sugar Level In Hindi)

बाजरा दो तरह के कार्ब से भरपूर होता है जो जल्दी से पचते नहीं हैं- फाइबर और नॉन- स्टार्ची पॉलीसेकेराइड। यह दोनों ब्लड शुगर लेवल सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं। (7) (8)। बाजरे का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है जिस कारण से यह अचानक से ब्लड शुगर लेवल बढ़ने नहीं देता है। इसलिए डायबिटीज से गुजर रहे लोगों को बाजरा डाइट में शामिल करने की सलाह दी जाती है। लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

 

5) बाजरे के फायदे सेहतमंद दिल के लिए (Benefits Of Bajra For Healthy Heart In Hindi)

बाजरा को कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने के लिए भी जाना जाता है। बाजरा डाइट में शामिल करने से कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है जिससे दिल की सेहत अच्छी बनी रहती है। इसके अलावा बाजरे में मैग्नीशियम और पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं। सामान्य ब्लड प्रेशर भी सेहतमंद दिल से जुड़ा हुआ है। दिल स्वस्थ रखने के लिए जरुर है कि डाइट में सेहतमंद आहार शामिल करें।

 

बाजरा के फायदे (bajra ke fayde) सेहतमंद दिल के लिए।

 

6) बाजरा के फायदे स्वस्थ पेट के लिए (Benefits Of Millet For Healthy Stomach In Hindi)

पेट अस्वस्थ है तो किसी भी काम में मन नहीं लगता है। इसलिए पेट का ध्यान रखना जरुरी है। अगर आपको कब्ज जैसी दिक्कत है तो अपनी डाइट में फाइबर शामिल करें। फाइबर जल्दी से पचता नहीं है जिससे पेट को फाइबर पचाने के लिए ज्यादा मेहनत और एनर्जी लगती है। ऐसा करने से समय- समय से पेट साफ होता रहता है जिससे पेट स्वस्थ रहने में मदद मिलती है। इसके लिए बाजरा डाइट में शामिल करना लाभदायक हो सकता है।

 

7) बाजरा एक ग्लूटेन फ्री अनाज है (Millet Is A Gluten Free Grain)

ग्लूटेन एक तरह का प्रोटीन जो गेंहू में पाया जाता है। कुछ लोगों को इस प्रोटीन से एलर्जी होती और इसको पचाना मुश्किल हो जाता है जिस कारण से पेट में दर्द जैसी दिक्कत हो जाती है। जिन लोगों को इस प्रोटीन से एलर्जी होती है वो लोग ग्लूटेन फ्री अनाज का सेवन करना शुरु कर देते हैं। बाजरा ग्लूटेन फ्री अनाज होता है जिसका सेवन ग्लूटेन से गुजर रहे लोगों के द्वारा किया जा सकता है।

 

बाजरा ग्लूटेन फ्री होता है।

 

8) बाजरा के फायदे अच्छी नींद के लिए (Benefits Of Bajra For Good Sleep In Hindi)

बाजरा के फायदे (bajra ke fayde) अच्छी नींद के लिए भी जाने जाते हैं। बाजरे में ट्रिप्टोफेन पाया जाता है जो सेरोटोनिन प्रोड्यूज करता है। सेरोटोनिन खुशी वाले होर्मोन होते हैं जो टेंशन कम करने में मदद करते हैं। तनाव कम होने के कारण अच्छी नींद आने में मदद मिलती है।

 

9) बाजरे के फायदे सेहतमंद त्वचा के लिए (Benefits Of Millet For Glowing Skin In Hindi)

बाजरा के फायदे (bajra ke fayde) त्वचा के लिए भी कई सारे हैं। बाजरा में एंटीऑक्सीडेंट, सेलेनियम, विटामिन सी, विटामिन ई पाए जाते हैं जो त्वचा को सेहतमंद बनाने में मदद करते हैं। आपको बता दें कि एंटीऑक्सीडेंट त्वचा का फ्री रेडिकल से बचाव करते हैं। फ्री रेडिकल त्वचा को खराब कर सकते हैं। विटामिन सी और विटामिन सी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाकर रखने में मदद करते हैं। विटामिन से भरपूर होने के त्वचा में निखार आने के साथ- साथ त्वचा साफ भी हो जाती है।

 

बाजरे से बनने वाली डिश (Dishes To Make With Bajra (Millet))

बाजरा के फायदे (bajra ke fayde) लेने के लिए जरुरी है कि आप इसे अपनी डाइट में शामिल करें। बाजरा को सही तरीके से डाइट में शामिल करना बहुत जरुरी है। बाजरे से कई सारी स्वादिष्ट डिश बनाई जा सकती है। बाजरा से बनने वाली डिश की जानकारी नीचे से ले सकते हैं।

 

1) बाजरे की रोटी (Bajre Ki Roti)

बाजरे की रोटी खाने के फायदे कई सारे हैं। सर्दियों में बाजरे की रोटी (bajre ki roti) खाने से पेट लंबे समय के लिए भरा रहता है। बाजरे की रोटी शुरुआत में बनाने में थोड़ी दिक्कत हो सकती है लेकिन एक बार एक्सपर्ट होने के बाद बाजरे की रोटी बनानी बेहद आसान है।

बाजरे की रोटी बनाने की विधि

 

  • बाजरे की रोटी बनाने के लिए सबसे पहले बाजरे का आटा लें।
  • अगर आपको सोफ्ट बाजरे की रोटी तुरंत खानी है तो हर एक रोटी के लिए तुरंत आटा लगाएं।
  • बर्तन में बाजरे का आटा लें और थोड़ा- थोड़ा पानी लें और आटा लगाएं।
  • अगर आपने बाजरे की रोटी अच्छे से नहीं बन रही है तो इसमें गेंहू का आटा भी थोड़ा सा मिला सकते हैं।
  • लेकिन अगर आपको ग्लूटेन फ्री रोटी खानी है तो एक रोटी जितना आटा लें और आटा लगाएं।
  • आटा लगाने के बाद रोटी गोल आकार में बनाने की कोशिश करें। और हल्का हल्का पानी का इस्तेमाल करें।
  • बाजरे की रोटी को गर्म तवे पर डालें।
  • दोनों तरफ से अच्छे से सेकें।
  • बाजरे की रोटी (bajre ki roti) चटनी या फिर साग के साथ खा सकते हैं।

 

बाजरे की रोटी (bajre ki roti) घर में बनाएं।
इमेज क्रेडिट- commons.wikimedia.org

 

2) बाजरे की लस्सी (Bajare Ki Lassi)

गर्मियों में बाजरे के फायदे (bajre ke fayde) बाजरे की लस्सी पीकर ले सकते हैं। बाजरे की लस्सी पीने से पेट लंबे समय के लिए भर जाता है और एनर्जी भी मिलती है। बाजरे की लस्सी घर में आसानी से बनाई जा सकती है।

बाजरे की लस्सी बनाने की विधि

 

  • लस्सी, पानी, नमक और बाजरे का आटा मिक्स करें और 1 घंटा धूप में रखें।
  • अब ऊपर वाला पानी निकालें और इस पानी को उबालें।
  • पानी उबलने के बाद इसमें ऊपर दिए गए मिश्रण को डालें और पकाएं।
  • अब लस्सी में प्याज काटकर डालें और सेवन करें।

 

3) बाजरे की खिचड़ी (Bajre Ki Khichdi)

वैसे तो बाजरे की खिचड़ी बनाने के तरीके कई सारे हैं। अगर आपको शुद्ध देसी तरीके से बाजरे की खिचड़ी बनाने है तो नीचे से जानकारी ले सकते हैं।

बाजरे की खिचड़ी बनाने की विधि

 

  • बाजरे को 5 मिनट के लिए भिगाएं।
  • भिगाए गए बाजरे को ओखल मूसल में पीस लें।
  • अब बाजरा छान लें जिसके बाद आपके पास सिर्फ साफ बाजरा रहेगा।
  • साफ बाजरे को 5 मिनट भिगाएं और फिर से ओखल मूसल में पीसें।
  • अब बर्तन में चने की दाल लें और पानी डालें और उबलने दें।
  • 5 मिनट बाद बाजरा डालें और मिक्स करें।
  • अब नमक डालें।
  • बाजरे की खिचड़ी पकने दें और बाजरे के अनुसार पानी डालें।
  • धीमी गैस पर पकाएं।
  • बाजरे की खिचड़ी के साथ दही, अचार, बटर खा सकते हैं।

 

4) बाजरे का हलवा (Bajre ka Halwa)

अगर आपको बाजरे बनी स्वीट डिश खानी है तो आप बाजरे का हलवा खा सकते हैं। बाजरे का हलवा बनाने की विधि बेहद सिंपल है।

बाजरे का हलवा बनाने की विधि

 

  • बाजरे का हलवा बनाने के लिए सबसे पहले बर्तन में घी डालें और गर्म करें।
  • अब बाजरे का आटा डालें और पकने दें।
  • बाजरे के आटे का रंग बदलने के बाद इसमें इलायची पाउडर, केसर, अपनी पसंद के ड्राई फ्रूट डालें और अच्छे से मिक्स करें।
  • अब इसमें स्वाद के अनुसार चीनी डालें और मिक्स करें।
  • अब इसमें बाजरे के आटे के अनुसार पानी डालें और पकने दें।
  • बाजरे का हलवा तब तक पकाएं जब तक पानी सूख ना जाए।
  • सारा पानी सूखने के बाद आपका हलवा तैयार है।

 

5) बाजरे की खीर (Bajre Ki Kheer)

बाजरे से आप एक और स्वीट डिश बना सकते हैं वो है बाजरे की खीर। बाजरे के फायदे (bajre ke fayde) लेने के लिए यह एक बहुत अच्छा ऑप्शन है।

बाजरे की खीर बनाने की विधि

 

  • बाजरे की खीर बनाने के लिए सबसे बाजरा पानी में भिगाकर रखें।
  • बाजरे को पानी में लगभाग 2 से 3 घंटा भिगाकर रख सकते हैं।
  • अब बाजरे को मिक्सर में पीस लें लेकिन बिल्कुल पाउडर ना बनाएं।
  • अब एक बर्तन में दूध अच्छे से उबालें।
  • दूध अच्छे से उबलने के बाद इसमें पिसा हुआ बाजरा डालें।
  • अब दूध को 20-25 मिनट के लिए उबलने दें।
  • इसमें आप अपनी पसंद के ड्राई फ्रूट्स डालें।
  • बाजरे को गलने दें।
  • अच्छे से पकने के बाद आपकी बाजरे की खीर तैयार है।

 

बाजरे/ बाजरे की रोटी के नुकसान (Side Effects Of Bajra/ Bajra Roti In Hindi)

बाजरे की रोटी के फायदे (bajre ki roti ke fayde) के साथ- साथ बाजरे के नुकसान भी होते हैं। यह नुकसान आपको तब देखने पड़ सकते हैं जब आप बाजरे का सेवन सही तरीके से और सही समय पर नहीं करते हैं। बाजरे के नुकसान आप नीचे से जान सकते हैं।

 

  • बाजरा सख्त होता है इसलिए इसका सेवन बाजरा भिगाने के बाद ही करें।
  • बाजरा में ऐसे एंटीन्यूट्रीयंट्स होते हैं जो बाकी आहार को अब्जॉर्ब नहीं होने देते हैं। इसलिए बाजरे का सेवन सही मात्रा में ही करें।
  • अधिक मात्रा में बाजरे का सेवन करने से थाइरोइड होने के आसार बढ़ जाते हैं।

 

आखिर में

बाजरे के फायदे (bajre ke fayde) लेने के लिए जरुरी है कि आप इसका सेवन सही मात्रा में ही करें। बाजरा सख्त होता है इसलिए बाजरा पानी में भिगाकर ही खाएं। बाजरा के फायदे (bajra ke fayde) इसके ग्लूटेन फ्री होने के कारण सबसे ज्यादा जाने जाते हैं। जिन लोगों को ग्लूटेन की दिक्कत होती है उन लोगों के लिए बाजरा एक बहुत अच्छा ऑप्शन है। गर्मियों में बाजरे की लस्सी और रबड़ी पीने से गर्मी सहन करने की क्षमता मिलती है। और सर्दियों में बाजरे की रोटी (bajre ki roti) खाने के फायदे बढ़ जाते हैं। इसलिए बाजरे को अपनी डाइट में शामिल करना लाभदायक हो सकता है।

 

FAQs

 

  1. क्या बाजरा रोजाना खाया जा सकता है? (Can millet be eaten everyday?)

    जो लोग अपनी डाइट का खास ध्यान रखते हैं वो बाजरे को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। बाजरा फाइबर से भरपूर होता है जो वजन कम करने में मदद करता है। इसके साथ ही बाजरा आसानी से पच जाता है।

  2. क्या बाजरा वजन कम करने के लिए अच्छा है? (Is bajra good for weight loss?)

    बाजरा के फायदे (bajra ke fayde) वजन कम करने के लिए जाने जाते हैं क्योंकि बाजरे में पाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है। फाइबर का सेवन करने से लंबे समय के लिए भूख नहीं लगती है जिससे वजन कम होने में मदद मिलती है। इसके साथ ही बैलेंस डाइट और कसरत को भी शामिल करें।

  3. क्या ज्यादा बेहतर है- बाजरा या ज्वार? (Which is better jowar or bajra?)

    सामान्य आटे के मुकाबले दोनों ही सेहतमंद है। इन दोनों को डाइट में शामिल करना एक अच्छा ऑप्शन है।

  4. बाजरे की तासीर गर्म है या ठंडी? (Is bajra hot or cold for body?)

    बाजरा आपके शरीर के लिए गर्म होता है क्योंकि इसमें स्टार्च होता है। बाजरे का सेवन करने से शरीर का तापमान बढ़ जाता है।

 

लेखक के बारे में

सुरभि शर्मा मिश्री में हिंदी लेखिका हैं। इ्न्हें सवाल पूछना बहुत पसंद है शायद इसी कारण से इनके आर्टिकल आपको विस्तार जानकारी के साथ मिलेंगे। इनका कहना है कि अपने शौक को करियर में बदलने से अच्छा और क्या हो सकता है। लिखने के साथ- साथ और भी कई शोक रहे हैं लेकिन अब इन्हें लगता है कि यह अपना पसंदीदा काम कर रही हैं। 

इस लेखक द्वारा अधिक लेख

 

सुरभि शर्मा

मेरा नाम सुरभि शर्मा है। मिश्री में मैं हिंदी लेखक के तौर पर काम करती हूं। मुझे दो काम बहुत पसंद हैं- लिखना और खाना और ताजुब की बात है कि मेरा काम भी इसी से जुड़ा हुआ है। खाने से जुड़ी सही और सटीक जानकारी लोगों को देने मैं अपनी जिम्मेदारी समझती हूं जिससे लोगों को हमेशा बेस्ट के बारे में पता चले। मेरी कोशिश हमेशा अपने रीडर्स को सही जानकारी देने की रहेगी।

Leave a Reply on बाजरे की रोटी के फायदे (Benefits Of Bajra (Millet) Ki Roti In Hindi)

Your email address will not be published. Required fields are marked *