सरसों के तेल के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान - मिश्री
सरसों के तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान

सरसों के तेल के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान

सरसों के तेल के फायदे सदियों से इस्तेमाल किए जा रहे हैं। सरसों का तेल डाइट में आसानी से शामिल किया जा सकता है। सरसों के तेल का उपयोग कैसे करें, यहां से जानें।

सरसों का तेल लगभग हर हिंदुस्तानी डिश में इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि सरसों के तेल के फायदे कई सारे हैं। सरसों का तेल सरसों के बीज से निकाला जाता है और कई सालों से इसका उपयोग इलाज के लिए किया जा रहा है। सरसों के तेल का उपयोग कढ़ी, दाल, नॉन-वेज डिश में इस्तेमाल किया जाता है।

बंगाली खाना सरसों के तेल के बिना सोचा भी नहीं सकते हैं। असम और ओडिशा में भी भारी मात्रा में सरसों के तेल को उपयोग किया जाता है। क्या आपको पता है जिन लोगों को दिल की बीमारी होती है उन्हें सरसों के तेल का सेवन करने की सलाह दी जाती है। लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर से सलाह जरूर लें। इसमें मोनो-सैचुरेटेड फैट, पॉली-सैचुरेटेड फैट और सैचुरेडेट फैट पाएं जाते हैं जो शरीर के लिए अच्छे होते हैं क्योंकि यह पेट में जमा नहीं होते हैं।

इस आर्टिकल से आप सरसों के तेल के फायदे से जुड़ी जानकारी विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं।

सरसों का तेल इस्तेमाल करने से पहले इसमें क्या पाया जाता है के बारे में जानना बेहद जरूरी है। आपको बता दें कि सरसों के तेल के फायदे इसमें मौजूद मोनो-सैचुरेटेड फैट, पॉली-सैचुरेटेड फैट और सैचुरेडेट फैट के कारण जाने जाते हैं जो शरीर के लिए लाभदायक हैं क्योंकि यह पेट में जमा नहीं होते हैं।

सरसों के तेल में एलिल आइसोथियोसाइनेट नाम का केमिकल पाया जाता है। अधिक मात्रा में सरसों के तेल का सेवन करने से फेफड़ों में जलन हो सकती है। इसके अलावा यह अंतड़ी में भी परेशानी दे सकता है। इसलिए यह जानना बेहद जरूरी है कि सरसों के तेल का सेवन कितनी मात्रा में करना सेहतमंद होता है।

सरसों के तेल के फायदे

सरसों के तेल के फायदे लेने के लिए जरूरी है कि आप सरसों का तेल डाइट में सही तरीके से शामिल करें। सरसों तेल के फायदे कई सदियों से लिए जा रहे हैं और इन्हीं फायदो के कारण यह आज भी बेहद पॉपुलर है। सरसों तेल के फायदे लेने के लिए सबसे जरूरी है कि बेस्ट सरसों तेल का इस्तेमाल करें। अगर इसे अपनी डाइट में शामिल करते हैं तो कई सारे फायदे मिल सकते हैं जिससे जुड़ी जानकारी आप नीचे से विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं।

1.  स्वस्थ पाचन शक्ति

एक चम्मच सरसों का तेल खाने से एनर्जी मिलती है। यह खाना पचाने में मदद करता है। यह शुगर के टुकड़े करने में मदद करता है जिससे शरीर को जरूरी आहार मिलते हैं और सभी आहार का बैलेंस बना रहता है। स्वस्थ पाचन शक्ति के लिए सरसों का तेल एक अच्छा ऑप्शन बन सकता है।

2. सूजन

सरसों के तेल में सेलेनियम पाया जाता है जिस कारण यह एंटी इंफ्लामेट्री होता है। सरसों के तेल से शरीर पर मालिश की जाए तो यह आपके शरीर को दर्द, सूजन से बचाकर रखता है। जिन लोगों को गठिया की बीमारी है उन लोगों को सरसों के तेल से मालिश करने की सलाह दी जाती है।

संबंधित आर्टिकल: सरसों के बीज के लाजवाब फायदे

तेल की बोतल
सरसों तेल के फायदे सूजन कम करने के लिए

3. सामान्य कोलेस्ट्रॉल

सही मात्रा में सरसों के तेल का सेवन करने से आप स्वस्थ रहते हैं। सरसों का तेल खाने से हमारे शरीर को जरुरी डाइजेस्टिव जूस मिलता है। इस जूस को पित्त रस (Bile Juice) कहते हैं जो पीले रंग का होता है। यह खाने के टुकड़े करने में मदद करता है और एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रॉल) और ट्राइग्लिसराइड्स कम करने में मदद करता है।

4. सेहतमंद दिल

अगर आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल सही है तो दिल भी स्वस्थ रहेगा, वो कैसे? हमारे शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स ब्लड वेसल्स से जुड़ जाते हैं और खून का बहाव रोकते हैं, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। खून का बहाव सही मात्रा में ना होने से दिल पर बुरा असर पड़ता है। जैसा कि हमने पहले भी बताया है कि सरसों का तेल खाने से खराब कोलेस्ट्रॉल पेट में जमा नहीं होता है जिससे खून का बहाव सही मात्रा में बना रहता है और दिल सेहतमंद रहने में मदद मिलती है।

संबंधित आर्टिकल: दी एममसाला बॉक्स कोल्ड प्रेस्ड मस्टर्ड ऑयल

Buy Mustard Oil Online

5. सांस की बीमारी

सरसों के तेल में एंटी- इंफ्लामेट्री गुण होते हैं जिस कारण यह गठिया की बीमारी में होने वाले दर्द से आराम देता है। इसके अलावा सरसों का तेल पीने के फायदे भी मिल सकते हैं। सरसों का तेल पीने से सांस की बीमारी होने के आसार कम हो जाते हैं। फेफड़ों में हवा का बहाव सही बना रहेगा। जो अस्थमा या फिर सांस की बीमारी से गुजर रहे हैं, उन लोगों को सरसों के तेल का सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद कर ही करें।

6. स्वस्थ दिमाग

सरसों के तेल का सेवन रोजाना करने से दिमाग स्वस्थ रहता है और अच्छे से काम भी करता है। सरसों के तेल में फैटी एसिड पाया जाता है और यह दिमाग में मौजूद सेल मेमरेन को जरूरी आहार देते हैं। फैटी एसिड की मात्रा सही रहने से दिमाग अच्छे से काम करता है और साथ ही दिमाग की बीमारी होने के आसार भी कम हो जाते हैं।

More Options Of Mustard Oil To Buy

7. सेहतमंद त्वचा

सरसों के तेल के फायदे शरीर के साथ- साथ त्वचा से भी जुड़े हुए हैं। सरसों का तेल चेहरे के लिए बहुत लाभदायक होता है। त्वचा पर सरसों का तेल लगाने से डेड सेल निकल जाते हैं और यह स्किन स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। बच्चों और बूढ़े की सरसों के तेल की मालिश कर सकते हैं।

8. प्राकृतिक सनस्क्रीन

सरसों का तेल त्वचा पर लगाकर थोड़ी देर मालिश करें। तेल लगाने के बाद एक मोटी परत बन जाती है जो सूरज की हानिकारक किरणों से त्वचा को नुकसान नहीं होता है। सरसों के तेल में विटामिन ई होता है जो सूरज की किरणों से त्वचा का बचाव करता है।

कांच की बोतल में तेल
सरसों के तेल के फायदे प्राकृतिक सनस्क्रीन की तरह

9. मालिश

सरसों का तेल लगाने के कई फायदे हैं। यह एंटी- इंफ्लामेट्री होने के साथ- साथ एंटी- बैक्टीरियल गुणों से भी भरपूर है। डेड सेल और सूखेपन के कारण फंगी पैदा होने लगता है, लेकिन सरसों के तेल से यह नहीं होगा। त्वचा पर सरसों का तेल लगाने से त्वचा में नमी बनी रहती है।

10. मजबूत बाल

सरसों के तेल में फैटी एसिड और विटामिन सी पाया जाता है। सरसों के तेल के फायदे बालों के लिए कई सारे हैं। अगर आप इसका फायदा लेना चाहते हैं तो अपने बालों की जड़ों में सरसों का तेल लगाएं। इसको लगाने से आपके बाल मजबूत रहेंगे और जरूरी आहार भी मिलेगा। और यह बालों में से डेड सेल को निकालेगा और जिसके बाद जरुरी पोषण मिलेगा।

सरसों के तेल के फायदे दांतों के लिए

11. सफेद बाल

सरसों का तेल बालों में लागने से लंबे समय के लिए बाल काले रहते हैं। सरसों के तेल में विटामिन सी और मिनरल्स होने से बाल जल्दी सफेद नहीं होते हैं और बालों को जरूरी पोषण भी देता है। बालों की जड़े भी मजबूत बनती है जिससे बालों का झड़ना भी कम होता है।

12. मजबूत दांत

सरसों का तेल दातों को भी स्वस्थ रखने में मदद करता है। दांतों का पीलापन कैसे दूर करें? सरसों के तेल के साथ हल्दी मिलकार दातों पर मालिश करने से प्लेग नहीं लगता है। दांतों को चमकाने के उपाय में से यह एक है। साथ ही यह मजूड़ों की सूजन से भी बचाकर रखता है। इसके अलावा सरसों का तेल पीने के फायदे भी आप प्राप्त कर सकते हैं।

सरसों के तेल का उपयोग

सरसों के तेल के फायदे जानने के बाद आप इसे डाइट में शामिल करना चाहेंगे। सरसों का तेल डाइट में आसानी से शामिल किया जा सकता है। इसके साथ ही सरसों के तेल के उपयोग कई सारे हैं। आप कई तरह से सरसों के तेल का उपयोग कर सकते हैं। इससे जुड़ी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

1. खाना बनाना के लिए

अधिकतर हिंदुस्तानी घर में सरसों के तेल में खाना बनता है। खाना बनाने के लिए अच्छी क्वालिटी का सरसों के तेल का उपयोग करना चाहिए।

संबंधित आर्टिकल: भारत में बेस्ट अमेरिकन मस्टर्ड ब्रांड

2. मालिश

सरसों का तेल मालिश करने के लिए भी उपयोग किया जाता है। सरसों के तेल से रोजाना मालिश करने से नसों और मांसपेशियों को आराम मिलता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड होने के कारण गठिया में होने वाले दर्द में राहत मिलने में मदद मिलती है। सरसों के तेल से जोड़ों की मालिश करने से दर्द में काफी हद तक आराम मिल सकता है।

3. त्वचा की मालिश

सरसों के तेल का उपयोग चेहरे के लिए भी किया जा सकता है। सरसों के तेल से मालिश करने से कई फायदे मिलते हैं क्योंकि इसमें विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है। और विटामिन ई त्वचा के लिए बेहद लाभदायक होता है। लेकिन अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो सरसों तेल का उपयोग करने से पहले एक्सपर्ट की सलाह ले सकते हैं।

हाथ की मालिश
सरसों के तेल का उपयोग त्वचा की मालिश के लिए

4. इंफेक्शन

सरसों के तेल का उपयोग इंफेक्शन के लिए भी किया जा सकता है। सरसों के तेल में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं जो इंफेक्शन से लड़ने में मदद कर सकते हैं। पेट में या फिर त्वचा पर इंफेक्शन होने पर सरसों के तेल का उपयोग किया जा सकता है। लेकिन आपको बता दें कि ज्यादा इंफेक्शन होने पर डॉक्टर की सलाह लें।

सरसों तेल के नुकसान

सरसों के तेल के फायदे के साथ सरसों के तेल के नुकसान के बारे में भी जानना जरूरी है। जी हां, सरसों के तेल के नुकसान भी हैं। इसलिए जरूरी है कि सरसों के तेल का सेवन सही मात्रा में ही करें। नीचे से आप सरसों तेल के नुकसान से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

1. एलर्जी

किसी भी चीज के सिर्फ फायदे जानना सबसे बड़ा नुकसान होता है। अगर सरसों के तेल का सेवन करने से

2. टॉक्सिक एसिड

सरसों के तेल की खराब बात यह है कि इसमें इरूसिक एसिड टोक्सिटी भारी मात्रा में पाया जाता है। इसको फैटी एसिड का कंपाउड माना जाता है। अधिक मात्रा में सरसों के तेल का सेवन करने से यह नुकसान दे सकता है।

सरसों के तेल में ग्लूकोसाइनोलेट्स नाम का कंपाउंड पाया जाता है जिस कारण सरसों का तेल एंटी- बैक्टीरियल एजेंट की तरह काम करता है। सरसों के तेल का सेवन करने से, त्वचा पर लगाने से और पीने से यह हमारे शरीर को बीमारी से बचाकर रखता है।

3. दिल की बीमारी

हमने इससे पहले आपको बताया कि सरसों के तेल का सेवन करने से दिल सवस्थ रहता है। लेकिन ऐसा सिर्फ तभी होता है जब सरसों के तेल का सेवन सही मात्रा में किया जाता है। अधिक मात्रा में सेवन करने से इरूसिक एसिड टोक्सिटी की मात्रा बढ़ जाती है जो दिल को नुकसान दे सकता है।

सरसों के तेल के नुकसान काफी बड़े हैं लेकिन सही मात्रा में सेवन करने से इसके फायदे ही फायदे हैं। आइए अब इससे जुड़े जरुरी आहार के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।

आखिर में

आखिर में यही कहा जा सकता है कि सही मात्रा में सरसों के तेल का सेवन करने से कई सारे फायदे मिल सकते हैं। यह आपके शरीर, त्वचा, दातों, बालों के लिए लाभदायक साबित हो सकता है।

हालांकि, सरसों के तेल में कई केमिकल भी पाए जाते हैं जो इसके फायदो को कम कर देते है। लेकिन सबसे जरूरी बात यह है कि आप सरसों के तेल का इस्तेमाल कैसे करते हैं जिससे आपकी सेहत अच्छी बनी रहे।

आप किस तरह से सरसों के तेल का उपयोग करते हैं? हमें कमेंट में जरूर बताएं।

FAQs

सरसों के तेल से जुड़े दिलचस्प सवालों का जवाब यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. क्या सरसों का तेल चेहरे पर लगा सकते हैं?

धाग- धब्बे हल्के करने के लिए सरसों के तेल की एक- दो बूंद लें और चेहरे पर हल्के हाथ से मालिश करें। सरसों के तेल के फायदे त्वचा स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

2. क्या सरसों के तेल से दर्द कम होता है?

सरसों के तेल में ओमेगा- 3 फैटी एसिड पाया जाता है जो जोड़ों के दर्द में आराम देने में मदद कर सकता है। रोजाना सरसों के तेल से जोड़ों की मालिश करने से दर्द में आराम मिल सकता है।

3. क्या सरसों का तेल वेट लॉस के लिए अच्छा है?

सरसों के तेल का सेवन डाइट में शामिल किया जा सकता है। डाइट में सरसों का तेल होने से मेटाबोलिज्म बढ़ाने में मदद मिलती है जिससे वजन कम होने में मदद मिल सकती है।

4. सरसों के तेल के फायदे क्या हैं?

सरसों के तेल के फायदे सेहत के साथ- साथ त्वचा और बालों के लिए खासतौर पर जुड़े हुए हैं जैसे कि सामान्य कोलेस्ट्रॉल, सेहतमंद दिल, स्वस्थ दांत, निखरती त्वचा, मजबूत बाल आदि।

5. सरसों के तेल के नुकसान क्या हैं?

अधिक मात्रा में सरसों का तेल खाने या लगाने से जलन हो सकती है। त्वचा पर सरसों का तेल लगाने से पहले थोड़े तेल का इस्तेमाल करें, एलर्जी होने पर डॉक्टर से सलाह लें।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments