इमली के 12 गुणकारी फायदे, विधि और नुकसान - मिश्री
इमली के 12 गुणकारी फायदे, विधि और नुकसान

इमली के 12 गुणकारी फायदे, विधि और नुकसान

इमली के फायदे लगभग पूरे शरीर के लिए हैं जैसे कि सेहतमंद दिल, स्वस्थ लिवर, बाल, त्वचा, दांत आदि। इमली का इस्तेमाल कैसे करें, यहां से जानें।

इसे कच्चा भी खा सकते हैं और इससे अचार, चटनी भी बना सकते हैं। यह खट्टी- मिठ्ठी होती है। क्या आप पहचान सकते हैं?

इमली का नाम सुनते ही इसका खट्टा- मीठा स्वाद याद आता है। आपको बता दें कि इमली के फायदे इसके खट्टे- मीठे स्वाद के कारण कई सारे है। इमली एक ट्रॉपिकल फल है जिसे कई देशों के साथ- साथ भारत में भी उगाया जाता है। इमली के फायदे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते है जो सेहतमंद दिल रखने में मदद करते हैं।

इसके अलावा इमली के फायदे मैग्नीशियम से भी भरपूर है जो ब्लड प्रेशर सामान्य बनाने में सहायता करते है। इसके साथ ही इमली का इस्तेमाल खाने में सबसे ज्यादा किया जाता है जिससे खाने का स्वाद खट्टा- मीठा और लाजवाब हो जाता है। इमली के फायदे, इस्तेमाल, नुकसान से जुड़ी जानकारी इस आर्टिकल से प्राप्त कर सकते हैं।

इमली के फायदे इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व के कारण मिलते हैं। इस खट्टी- मीठी इमली के कई फायदे हैं अगर इसका सेवन सही तरह किया जाए। खाने के स्वाद को बढ़ाने वाली इमली के पौष्टिक तत्व से जुड़ी जानकारी नीचे दी गई टेबल से ले सकते हैं।

पोषण मात्रा – 120 ग्राम
मैग्ननीयिम 28% (रेफ्रेंस डेली इनटेक (आरडीआई))
पोटैशियम 22% आरडीआई
आयरन 19% आरडीआई
कैल्शियम 9% आरडीआई
फोस्फॉरस 14% आरडीआई
विटामिन बी1 34% आरडीआई
विटामिन बी2 11% आरडीआई
विटामिन बी3 12% आरडीआई

इमली के फायदे

इमली के फायदे बहुत सारे हैं कि आप इन्हें अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहेंगे। इसके स्वाद के कारण इमली के फायदे अधिकतर लोग आसानी से शामिल करना चाहेंगे। इमली के गुण सेहतमंद दिल से भी जुड़े हुए है। इमली के फायदे से जुड़ी विस्तार से जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. एंटीऑक्सीडेंट

इमले के फायदे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है। एंटीऑक्सीडेंट शरीर को बहारी रोगजनक तत्वों से बचाकर रखने में मदद करते है। बहारी रोगजनक बीमारी पैदा करने का मुख्य कारण हैं। फ्री रेडिकल शरीर के स्वस्थ सेल के साथ मिल जाते है और इन्हें अस्वस्थ बना देते हैं। यहां पर एंटीऑक्सीडेंट अपना काम करते हैं। एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल को स्वस्थ सेल के साथ मिलने से पहले ही खत्म कर देता है। इसलिए शरीर में एंटीऑक्सीडेंट होने बेहद जरूरी है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर रखने के लिए इमली डाइट में शामिल कर सकते हैं।

2. सेहतमंद दिल

इमली के फायदे सेहतमंद दिल के लिए भी जाने जाते हैं। इमली में मौजूद फ्लेवोनॉयड्स कोलेस्ट्रॉल लेवल सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। हाई कोलेस्ट्रॉल वाले हैम्स्टर पर किए गए एक अध्ययन में यह दिखाया गया है कि इमली के अर्क की मदद से कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होने में मदद मिलती है और साथ ही खराब कोलेस्ट्रॉल लेवल भी कम होता है। इमली में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करते हैं जो दिल सेहतमंद बनाए रखने के लिए जरूरी है।

इमली और पत्तियां
इमली के फायदे सेहतमंद दिल के लिए

3. इंफेक्शन

इमली के फायदे कई गुणों से भरपूर हैं जैसे कि एंटी- फंगल, एंटी- वायरल और एंटी- बैक्टीरियल। इमली में प्राकृतिक कंपाउंड होते हैं जिनमें एटी- माइक्रोबियल गुण होते हैं। इमली के फायदे पांरपरिक दवाई के रूप में भी इस्तेमाल किए जाते हैं। इमली का उपयोग मलेरिया होने पर किया जाता है। लेकिन अभी भी इस विषय पर रिसर्च जारी है।

4. कब्ज

इमली के फायदे बहुत लंबे समय से लिए जा रहे है। इमली का इस्तेमाल पारंपरिक दवाई के रूप में भी किया जाता है। आपको बता दें कि इमली का उपयोग दस्त और कब्ज में भी किया जा सकता है।

इसमें मौजूद डाइटरी फाइबर, पोटैशियम आदि के कारण है। यह सभी पौष्टिक तत्व दस्त और कब्ज से राहत देने में मदद करते हैं। दस्त के दौरान इमली की पत्तियों को पानी में मिलाकर दिया जाना चाहिए। लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

5. एंटीसेप्टिक गुण

इमली के गुण बहुत लंबे समय से मनुष्य को पता है। पहले के समय में प्राकृतिक चीजों का उपयोग बीमारी ठीक करने के लिए किया जाता था। आपको बता दें कि इमली के फायदे मलेरिया ठीक करने के लिए इस्तेमाल किए जाते थे। कई अध्ययनों में बताया गया है कि इमली के अर्क में प्राकृतिक कंपाउंड होता है जिसमें एंटी- माइक्रोबियल गुण है। यह गुण मलेरिया ठीक करने के लिए इस्तेमाल किए जा सकते हैं।

6. स्वस्थ लिवर

इमली के फायदे स्वस्थ लिवर के लिए भी जाने जाते हैं। शरीर में जहरीले पदार्थ की मात्रा ज्यादा होने पर इमली लिवर के बचाव में मदद करती है। ज्याद टॉक्सिक पदार्थ का सेवन करने से लिवर में इसकी मात्रा बढ़ सकती है जिससे लिवर सही से काम नहीं कर पाएगा।

इमली
इमली के फायदे स्वस्थ लिवर के लिए

7. गर्भावस्था

इमली के फायदे गर्भवति महिला के लिए खासतौर पर जाने जाते हैं। गर्भवति महिला को मितली होना आम बात है जिसके लिए इमली के फायदे लंबे समय से जाने जाते हैं। इमली खाने से मितली से राहत मिलने में मदद मिलती है। इमली का सेवन सीधा किया जा सकता है लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

8. वेट लॉस

आपको बता दें कि इमली के फायदे वजन कम करने के लिए भी जाने जाते हैं। इमली में हाइड्रॉक्सिल एसिड पाया जाता है जो फैट को बर्न करने में मदद करता है। इमली का सेवन सही मात्रा में करने से वजन कम होने में मदद मिल सकती है। इस बात का ध्यान रखें कि इमली का सेवन वजन कम करने के लिए सही मात्रा में ही करें।

9. स्वस्थ आंखें

इमली के फायदे आंखों के लिए भी मौजूद हैं। आंखों में धूल मिट्टी जाने से आंखों में जलन और यहां तक की सूजन भी हो सकती है। आंखों की जलन दूर करने के लिए इमली के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा करने से आंखों को ठंडक मिल सकती है।

10. सेहतमंद दांत

अगर आपको अपने दांतों स्ट्रांग, स्वस्थ रखना चाहते हैं तो इमली के फायदे आपके काम आ सकती हैं। इमली में कई गुण होते हैं जैसे कि एंटी- बैक्टीरियल, एंटी- माइक्रोबियल जो दांतों की सड़न से लड़ने में मदद करते हैं। इसके साथ दांतों में कीड़े लगने के आसार भी कम हो जाते हैं। दांतों को स्वस्थ रखने के लिए आप इमली के पाउडर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

दो इमली
इमली के फायदे सेहतमंद दांतों के लिए

11. सेहतमंद त्वचा

इमली के फायदे सेहत के साथ- साथ त्वचा के लिए भी मौजूद हैं। मुहांसों के लिए इमली के फायदे बहुत काम आ सकते हैं। इमली में मौजूद गुण त्वचा को साफ करने में मदद कर सकते हैं। इमली का इस्तेमाल त्वचा के लिए बहुत आसानी से किया जा सकता है।

एक कटोरी में इमली का अर्क, दही और हल्दी पाउडर मिक्स करें और पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को त्वचा पर 15- 20 मिनट के लिए लगाकर रखें और फिर पानी से धो लें। ऐसा करने से त्वचा से गंदगी निकल जाती है और त्वता ताज़ा हो जाती है।

12. मजबूत बाल

इमली के फायदे बालों के लिए मौजूद हैं। बदलते मौसम, धूल- मिट्टी, गंदगी, पसीने के कारण बाल कमज़ोर हो जाते हैं और रूसी भी बढ़ जाती है। ऐसा करने बाल झड़ने लग जाते हैं। बाल झड़ने के लिए घरेलू उपाय अपनाने चाहिए। इमली का उपयोग स्वस्थ बालों के लिए कर सकते हैं।

इमली को गर्म पानी में भिगाएं और थोड़ी देर बाद बालों पर यह मिश्रण लगाएं। मिश्रण को 30 मिनट के लिए लगाकर रखें और मालिश करें। इसके बाद पानी से बाल धो लें।

इमली से बनने वाली डिश

इमली के फायदे जानने के बाद आपको यह भी जानना जरूरी है कि इमली से क्या बनाया जा सकता है। वैसे तो इमली का इस्तेमाल किसी भी डिश के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जा सकता है। यहां से आप इमली इस्तेमाल करने के तरीके से जुड़ी आइडिया ले सकते हैं।

1. इमली की चटनी

इमली की चटनी जितनी स्वादिष्ट होती है उतना ही चटनी बनानी आसान है। इमली की चटनी का सेवन किसी भी चीज के साथ किया जा सकता है। इसके साथ ही इमली की चटनी बनाकर स्टोर भी कर सकते है।

इमली की चटनी बनाने की विधि

  • इमली की चटनी बनाने के लिए पानी गर्म करें।
  • गर्म पानी में इमली डालें।
  • इमली की गुठली को इमली के गुद्दे से अच्छे से अलग कर लें।
  • अब इमली छान लें और गुठली अलग कर लें।
  • गैस पर बर्तन रखें और उसमें छनी हुई इमली डालें।
  • इमले उबलने दें।
  • इमली उबलने के बाद इसमें गुड़, काला नमक, सौंठ, जीरा पाउडर, लाल मिर्च पाउडर डालें और अच्छे से मिलाएं। चटनी पकने दें।
  • 10 मिनट तक इमली की चटनी पकने दें।
  • इमली की चटनी तैयार है और इसे आप फ्रिज में स्टोर भी कर सकते हैं।

2. इमली का अचार

आपको बता दें कि इमली का अचार भी बनाया जा सकता है। इमली का अचार बनाना आसान है। इमली का अचार बनाने की विधि की जानकारी नीचे से ले सकते हैं।

इमली का अचार बनाने की विधि

  • इमली का अचार बनाने के लिए सबसे पहले साबुत इमली लें और इन्हें अच्छे से धो लें।
  • इमली पर थोड़ा पानी छिड़के और इन्हें साइड में रख दें।
  • अब जीरा पाउडर, धनिया पाउडर, सौंफ और लाल मिर्च लें और रोस्ट कर लें।
  • अब गैस पर बर्तन रखें और सरसों का तेल गर्म करें।
  • तेल गर्म होने के बाद इसमें सौंफ डालें।
  • अब इसमें गुड़ डालें और पिघलने दें।
  • गुड़ पिघलने के बाद इसमें इमली डालें।
  • 5 मिनट के लिए पकाएं।
  • अब नमक डालें और पकाएं।
  • अब इसमें भुना हुआ मसाला डालें और पकाएं।
  • इमली का अचार ठंडा होने दें।
  • ठंडा होने के बाद अचार तैयार है।
कटी हुई इमली
इमली से इमली का अचार बनाएं

3. इमली का पानी गोल गप्पे के लिए

अगर आपने घर में गोल गप्पे बनाए हैं तो इमली का पानी बनाना भी जरूरी है। इमली का खट्टा- मीठा पानी आसानी से बनाया जा सकता है।

इमली का पानी बनाने की विधि

  • गोल गप्पों के लिए इमली का पानी बनाने के लिए सबसे पहले गर्म पानी में इमली डालें।
  • इमली से गुद्दा और गुठली अलग कर लें।
  • इमली का पानी छान लें और गुठली अलग कर लें।
  • अब इमली के पानी में नमक, काला नमक, लाल मिर्च पाउडर, भुना हुआ जीरा पाउडर, बारीक कटा हुआ धनिया और प्याज डालें।
  • अच्छे से मिलाएं।
  • गोल गप्पों के लिए इमली का पानी तैयार है।

संबंधित आर्टिकल: मैगी इमली सॉस पिचकू Vs वीबा क्लासिक इमली सॉस

4. इमली के चावल

इमली के चावल साउथ इंडिया में ज्यादा पॉपुलर हैं। आप चाहें देश के किसी भी कोने में रहें, हर जगह का स्वाद आपकी किचन में आसानी से आ सकता है। इमली वाले चावल बनाने की विधि यहां से जानें।

इमली के चावल बनाने की विधि

  • इमली के चावल बनाने के लिए सबसे पहले इमली गर्म पानी में डालें।
  • इमली से गुठली और गुद्दे अलग कर लें और छान लें।
  • अब कढ़ाई में तेल डालें।
  • तेल गर्म होने के बाद सरसों के बीज, उड़द दाल डालें और अच्छे से पकाएं।
  • अब साबुत लाल मिर्च, हींग, हल्दी, प्याज, करी पत्ता डालें और सोते करें।
  • अब इमली का पानी और स्वाद के अनुसार नमक डालें।
  • यह मिश्रण पकने के बाद इसमें उबले हुए चावल डालें।
  • इमली वाले चावल तैयार हैं।

इमली के नुकसान

इमली के फायदे जानने के साथ- साथ यह जरूरी है कि इमली के नुकसान के बारे में जानकारी प्राप्त करें। आपको बता दें कि अधिक मात्रा में इमली का सेवन करने से इमली के नुकसान हो सकते हैं। इसलिए इमली का सेवन करते समय इस बात का खास ध्यान रखें। इमली के नुकसान से जुड़ी जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

  • डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही गर्भवति महिला इमली का सेवन करें।
  • अधिक मात्रा में इमली खाने से ब्लड शुगर लेवल कम हो सकता है।
  • अगर आप कोई सर्जरी करवाने वाले हैं तो इमली का सेवन लगभग 2 हफ्ते पहले बंद कर दें। इमली का सेवन करने से ब्लड क्लोटिंग में दिक्कत हो सकती है।
  • इमली से एलर्जी होने पर त्वचा पर खुजली, जलन आदि हो सकता है।
  • गले में दर्द, खराश होने पर इमली का सेवन ना करें।

आखिर में

इमली के फायदे कई सारे हैं जैसे कि इमली दिल को स्वस्थ रखती है, इसके साथ ही दांतों, बालों और त्वचा को भी स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं। लेकिन यह सारी फायदे तभी मिलेंगे जब आप इमली का सेवन सही मात्रा में करेंगे। गर्भवति महिलाएं इमली का सेवन ध्यानपूर्वक करें और डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

इमली से कई सारी डिश भी बनाई जा सकती हैं। इमली की चटनी बनाकर स्टोर कर सकते हैं और सिंपल रोटी या पराठा के साथ खा सकते हैं। हर चीज का सेवन सही मात्रा में करने से ही उसके फायदे मिलते हैं।

आप किस तरह से इमली का इस्तेमाल करते हैं? हमें कमेंट में जरूर बताएं।

FAQs

इमली के फायदे से जुड़े दिलचस्प सवालों के जवाब यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. इमली खाने के नुकसान क्या हैं?

अधिक मात्रा में इमली खाने से नुकसान हो सकते हैं जैसे कि कब्ज, दस्त, मितली, लिवर में दिक्कत आदि।

2. एक दिन में कितनी मात्रा में इमली खानी चाहिए?

एक दिन 100 ग्राम इमली खाने से इमली में मौजूद अधिकतर पौष्टिक तत्व मिल जाते हैं।

3. क्या इमली खाना अच्छा है?

सही मात्रा में इमली खाने के कई फायदे मिल सकते हैं जैसे कि सेहतमंद दिल, स्वस्थ दांत, मजबूत बाल, निखरती त्वचा और स्वस्थ लिवर।

4. क्या इमली से वजन कम होता है?

सही मात्रा और सही तरीके से इमली खाने से वजन कम होने में मदद मिल सकती है। इमली खाने से मेटाबोलिज्म बढ़ता है जिससे फैट बर्न होने में मदद मिलती है।

खाने के फायदे से जुड़े अन्य आर्टिकल

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments