सोयाबीन के फायदे (Benefits Of Soybean In Hindi)

सोयाबीन के फायदे (Soyabean Ke Fayde) प्राप्त करने के लिए इसे डाइट में कैसे शामिल करें? सोयाबीन से क्या बनाएं और इसका इस्तेमाल किस-किस तरह से कर सकते हैं?

सोयाबीन एक तरह की फली है जिसको कई हज़ार साल से खाया जा रहा है। सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) सबसे ज्यादा प्रोटीन से भरपूर होने के कारण जाने जाते हैं। जो लोग शुद्ध शाकाहारी डाइट फोलो करते हैं उन लोगों की डाइट में आपको सोयाबीन जरुर मिलेगा। भारत में सोयाबीन को कई तरह से खाया जाता है जैसे कि पके हुए सोयाबीन, सोया दूध, सोयाबीन का तेल आदि। सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) लेने के लिए इसका सेवन किसी भी रुप में किया जा सकता है। सोयाबीन खाने के फायदे (soybean khane ke fayde) काफी पॉपुलर हो गए हैं जिस कारण से लोग इसे डाइट में शामिल करने लग गए हैं। अगर आप भी सोयाबीन अपनी डाइट में शामिल करेंगे तो आपको नीचे दिए गए सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) अवश्य मिलेंगे।

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) डाइट में क्यों शामिल करें?
विषय सूची

सोयाबीन के पौष्टिक तत्व (Soybean Nutritional Value In Hindi)

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) अपनी डाइट में शामिल करने से आपको नीचे दिए गए पौष्टिक तत्व प्राप्त होंगे। सोयाबीन के पौष्टित तत्व से जुड़ी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

पोषणमात्रा – 100 ग्राम)
कैलोरी173
प्रोटीन16.6 ग्राम
पानी63%
फैट9 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट9.9 ग्राम
डाइटरी फाइबर6 ग्राम
शुगर3 ग्राम
सेचुरेटेड1.3 ग्राम
मोनोअनसेचुरेटेड1.98 ग्राम
पॉलीअनसेचुरेटेड5.06 ग्राम
ओमेगा-30.6 ग्राम
ओमेगा-64.47 ग्राम

सोयाबीन के फायदे (Benefits Of Soybean In Hindi)

1) सोयाबीन खाने के फायदे प्रोटीन से भरपूर होते हैं (Soybean Is A Good Source Of Protein)

जैसा कि आप सभी को पता है सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) सबसे ज्यादा प्रोटीन से भरपूर होने के लिए जाने जाते हैं। आपको बता दें कि जो लोग शुद्ध शाकाहारी डाइट फोलो करते हैं उन लोगों की डाइट में आपको सोयाबीन जरुर मिलेगा। आपको बता दें कि 172 ग्राम उबले हुए सोयाबीन में 29 ग्राम प्रोटीन होता है (1)। इसको देखने के बाद यह जरुर कहा जा सकता है कि सोयाबीन खाने के फायदे (soybean khane ke fayde) प्रोटीन से भरपूर होते हैं। सही मात्रा में प्रोटीन प्राप्त करने के लिए सोयाबीन का सेवन सही मात्रा में करें।

सोयाबीन प्रोटीन प्राप्त करने का अच्छा आधार है।

2) सोयाबीन के फायदे हड्डियों के लिए (Benefits Of Soybean For Strong Bones)

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) मजबूत हड्डियों के लिए भी जाने जाते हैं। जैसा कि आप सभी को पता है बढ़ती उम्र के साथ हड्डियां कमजोर होने लगती हैं और यह दिक्कत खासकर महिलाओं में ज्यादा होती है। मासिक धर्म के रुकने के बाद महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस होने के आासार बढ़ जाते हैं और ऐसे में महिलाओं को अपनी डाइट में सोयाबीन खाने के फायदे (soybean khane ke fayde) जरुर शामिल करने चाहिए (2) (3)।

3) सोयाबीन खाने के फायदे डायबिटीज के लिए (Benefits Of Soybean In Diabetics)

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) डायबिटीज में भी बहुत लाभदायक माने जाते हैं। जिन लोगों को डायबिटीज है उन लोगों की डाइट में सोयाबीन मिल सकता है क्योंकि सोयाबीन का सेवन करने से अचानक से ब्लड शुगर लेवल बढ़ता या घटता नहीं है। सोयाबीन खाने के फायदे (soybean khane ke fayde) ब्लड शुगर लेवल को सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा अगर आपको डायबिटीज नहीं भी है तो आप सोयाबीन को डाइट में शामिल कर सकते हैं और डायबिटीज होने के खतरे से दूर रह सकते हैं।

सोयाबीन डायबिटीज में लाभदायक होती है।

4) सोयाबीन के फायदे स्वस्थ डाइजेशन के लिए (Benefits Of Soybean In Healthy Digestion)

सोयाबीन खाने के फायदे (soybean khane ke fayde) स्वस्थ डाइजेशन के लिए भी जाने जाते हैं। आपको बता दें कि हर बीमारी ती शुरुआत पेट से ही होती है। इसलिए पेट को स्वस्थ रखना बेहद जरुरी है। इसके लिए आपको अपनी डाइट में ऐसी खाने की चीजें शामिल करनी जरुरी है जो पाचन शक्ति को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं जैसे कि सोयाबीन। सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) स्वस्थ पाचन शक्ति के लिए भी मौजूद हैं क्योंकि सोयाबीन में फाइबर पाया जाता है। फाइबर का सेवन करने से पेट को फाइबर पचाने में ज्यादा मेहनत लगती है जिससे यह अच्छे से काम करता है। फाइबर का सेवन करने से कब्ज जैसी परेशानी भी होने के आसार कम हो जाते हैं। फाइबर से भरपूर होने के कारण सोयाबीन आंत को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है।

5) सोयाबीन खाने के फायदे सेहतमंद दिल के लिए (Benefits Of Soybean For Healthy Heart)

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) सेहतमंद दिल के लिए भी जाने जाते हैं। आपको बता दें कि सोयाबीन खराब कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम रखने में मदद करता है जिससे दिल की बीमारी होने के आसार कम हो जाते हैं। सोयाबीन में फैटी एसिड भी पाए जाते हैं जो दिल को सेहतमंद बनाने में मदद करते हैं। सोयाबीन को डाइट में शामिल करने से दिल को सेहतमंद रखने के लिए महत्तवपूर्ण पौष्टिक आहार मिलते हैं। अगर आपको अपने दिल को लंबे समय के लिए बीमारियों से दूर रखना है तो सोयाबीन को डाइट में शामिल करना गलत ऑप्शन नहीं होगा।

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) सेहतमंद दिल के लिए।

6) सोयाबीन के फायदे अच्छी नींद के लिए भी जाने जाते हैं (Benefits Of Soybean For Good Sleep)

अगर आपको नींद अच्छे से नहीं आती है तो सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) आपके काम आ सकते हैं। आपको बता दें कि सोयाबीन में मैग्नीशियम पाया जाता है तो अच्छी नींद लाने में मदद करता है। सोयाबीन के अलावा अच्छी नींद लाने के लिए बैलेंस डाइट, कसरत, ताज़ा खाना आदि भी जरुरी होते हैं। इसके साथ ही इस बात का भी खास ध्यान रखें कि आप सोने से पहले क्या खा या पी रहे हैं।

7) सोयाबीन खाने के फायदे मोटापा कंट्रोल करने के लिए (Benefits Of Soybean For Controlling Obesity)

चूहों पर किए गए अध्ययन में पाया गया है कि सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) मोटापा कंट्रोल करने में मदद करते हैं। 2019 के अध्ययन में बताया गया है कि सोया आइसोफ्लेवोन सप्लीमेंट्स से चूहों के बॉडी वेट पर असर पड़ा है (4)। अध्ययन में दिखाया गया है कि चूहों में फैट नहीं बना है। अध्ययन के आखिर में कहा गया है कि इस सप्लीमेंट में मोटापा कंट्रोल करनी क्षमता है।

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) मोटापा कंट्रोल करने के लिए।

8) सोयाबीन के फायदे वजन कम करने के लिए (Benefits Of Soybean For Weight Loss)

अगर आप वजन कम करने की राह पर हैं तो सोयाबीन भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। जो लोग शुद्ध शाकाहारी डाइट फोलो करते हैं उन लोगों की डाइट में आपको सोयाबीन जरुर मिल सकता है। सोयाबीन में फाइबर पाया जाता है जिसको पचने में समय और मेहनत लगती है। ज्यादा मेहनत के कारण फैट बर्न होता है जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है। सोयाबीन के अलावा बैलेंस डाइट, कसरत भी जरुरी हैं।

9) सोयाबीन खाने के फायदे कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने के लिए (Benefits Of Soybean Helps In Managing Cholesterol)

जैसा कि आपको पहले भी बताया है कि सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में मदद करते हैं। कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहने से अधिकतर दिल की बीमारी होने के आसार कम हो जाते हैं। इसके साथ ही सोयाबीन खराब कोलेस्ट्रॉल को भी कम करने में मदद करता है।

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में मदद करते हैं।

10) सोयाबीन के फायदे त्वचा के लिए (Benefits Of Soybean For Skin In Hindi)

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) सेहतमंद त्वचा के लिए भी जाने जाते हैं। आपको बता दें कि सोयाबीन एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जिस कारण से फ्री रेडिकल हमारी त्वचा को खराब नहीं कर पाते हैं। फ्री रेडिकल बाहरी रोगजनक होते हैं जो स्वस्थ सेल के साथ मिलकर उन्हें खराब कर देते हैं। यहां पर एंटीऑक्सीडेंट अपना काम करता है और फ्री रेडिकल से लड़ता है और त्वचा को सुरक्षा देता है।

11) सोयाबीन के फायदे बालों के लिए (Benefits Of Soybean For Hair In Hindi)

बालों को मजबूत बनाने के लिए सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) बहुत काम आते हैं। बालों को मजबूत बनाने के लिए विटामिन और मिनरल्स की जरुरत होती है जो सोयाबीन में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसके अलावा सोयाबीन में आरयन भी पाया जाता है जो खून के बहाव को अच्छा बनाए रखने में मदद करता है। सोयाबीन से बालों को सभी जरुरी पौष्टिक तत्व मिलते हैं।

सोयाबीन खाने के फायदे (soybean khane ke fayde) सेहतमंद त्वचा के लिए।

सोयाबीन से बनने वाली डिश (Dishes To Make With Soybean In Hindi)

सोयाबीन को कई तरह से डाइट में शामिल किया जा सकता है। सोयाबीन से कई सारी डिश बनाई जा सकती हैं जो सेहतमंद होने के साथ- साथ स्वादिष्ट भी होती हैं। सोयाबीन से बनने वाली डिश के आइडिया आप नीचे से ले सकते हैं।

1) सोयाबीन के पकौड़े (Soybean Ke Pakode)

बारिश के मौसम में आप सोयाबीन के पकौड़े भी बना सकते हैं। सोयाबीन के पकौड़े बनाने की रेसिपी बेहद सिंपल है।

सोयाबीन के पकौड़े बनाने की विधि

  • सोयाबीन रातभर के लिए पानी में भिगाकर रख दें।
  • अब सुबह मीठा सोडा डालकर प्रेशर कुकर में सोयाबीन उबाल लें क्योंकि सोयाबीन बहुत सख्त होते हैं।
  • अब प्रेशर कुकर से सोयाबीन निकाल लें और सोयाबीन में से पानी निकालकर एक बर्तन में रख दें।
  • अब सोयाबीन के ऊपर बेसन, दही, नमक, मिर्च, सूखा धनिया और अपने पसंद के अनुसार मसाले डालें।
  • अब थोड़ा पानी डालें और अच्छे से मिक्स करें।
  • कढ़ाई में तेल गर्म करें और सोयाबीन को कढ़ाई में डालें।
  • सोयाबीन को डीप फ्राई करें।
  • सोयाबीन के पकौड़े चटनी के साथ खाएं।
फोटो उदाहरण के लिए
इमेज क्रेटिड- commons.wikimedia.org

2) सोयाबीन चाट (Soybean Chaat)

अगर आप कोई डाइट फोलो कर रहे हैं तो घर में ही सोयाबीन से सेहतमंद चाट बना सकते हैं।

सोयाबीन चाट बनाने की विधि

  • सोयाबीन चाट बनाने के लिए सबसे पहले रातभर के लिए सोयाबीन पानी में भिगा लें।
  • अगले दिन प्रेशर कुकर में सोयाबीन उबाल लें।
  • पानी निकालकर सोयाबीन एक बर्तन में डालें।
  • अब इसमें बारीक कटा हुआ प्याज, टमाटर, धनिया, नींबू का रस, नमक और चाहें तो मिर्च भी डाल सकते हैं।
  • सभी अच्छे से मिक्स करें।
  • सोयाबीन चाट तैयार है।

3) सोयाबीन के कोफ्ते (Soybean Ke Khofte)

अगर आप लौकी के कोफ्ते के अलावा कुछ और ट्राई करना चाहते हैं तो सोयाबीन के कोफ्ते ट्राई कर सकते हैं।

सोयाबीन के कोफ्ते बनाने की विधि

  • सोयाबीन के कोफ्ते बनाने के लिए सबसे पहले रातभर के लिए कोफ्ते पानी में भिगा दें।
  • सुबह प्रेशर कुकर में उबाल लें।
  • अब सोयाबीन में से पानी निकालें।
  • आप चाहें तो सोयाबीन के पकौड़ो को कोफ्ते की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अब सोयाबीन की तरी बनाने के लिए पतीले में तेल डालें।
  • अब बारीक कटा हुआ प्याज, टमाटर, लहसुन पकाएं।
  • अब इसमें अपनी पसंद के अनुसार मसाला डालें और पकाएं।
  • दूसरे पतीले में तरी के लिए पानी गर्म करें।
  • तड़के वाले पतीले में पानी डालें और उबाल आने दें।
  • तरी में उबाल आने के बाद इसमें सोयाबीन के कोफ्ते डालें।
  • थोड़ी देर पकाएं।
  • सोयाबीन के कोफ्ते तैयार हैं।

4) सोयाबीन के चावल (Soybean Rice)

चावल को और भी स्वादिष्ट बनाने के लिए आप इसमें सोयाबीन डाल सकते हैं। सोयाबीन के चावल बनाने के लिए आप अपनी पसंद के मसाल इस्तेमाल कर सकते हैं।

सोयाबीन के चावल बनाने की विधि

  • सोयाबीन के चावल बनाने के लिए सबसे पहले रातभर के लिए पानी में भिगा दें। और अगली सुबह कुकर में उबाल लें।
  • अब चावल भी उबाल लें।
  • पतीले में तेल गर्म होने दें।
  • तेल में जीरा, अजवाइन, कढ़ी पत्ता, दालचीनी, बारीक कटे हुए लहसुन, हरी मिर्च डालें और पकाएं।
  • अब बारीक कटा हुआ टमाटर डालें और पकाएं।
  • अब सोयाबीन डालें और मसाले में अच्छे से पकाएं।
  • मसाला अच्छे से पकने के बाद उबले हुए चावल डालें।
  • अच्छे से मिक्स करें।
  • चावल बनने के बाद इसके ऊपर धनिया और पुदीना डाल सकते हैं।
  • पतीले का ढक्कन ढकें। 5 मिनट बाद ढक्कन हटाएं और सोयाबीन के चावल तैयार हैं।

5) सोयाबीन वेज कबाब (Soybean Veg Kabab)

सोयाबीन वेज कबाब बनान बेहद आसान है। सोयोबीन के वेज कबाब की रेसिपी की जानकारी आप नीचे से ले सकते हैं।

सोयाबीन वेज कबाब बनाने की विधि

  • सोयाबीन वेज कबाब बनाने के लिए रातभर के लिए सोयाबीन भिगा लें और अगली सुबह प्रेशर कुकर में उबाल लें।
  • सोयाबीन में से पानी निकालें और एक बर्तन में रख दें।
  • अब मिक्सर में प्याज, अदरक, लहसुन, मिर्च और धनिया डालें और ग्राइंड करें।
  • अब इसी मिक्सर में सोयाबीन डालें और मिक्स करें।
  • इस मिश्रण को बर्तन में निकाल लें और मसाले डालें।
  • मिश्रण में नमक, लाल मिर्च, सूखा धनिया आदि मसाले डालें और मिक्स करें।
  • अब सख्त और लंबी चीज लें जिसकी मदद से कबाब का आकार बनाया जाए जैसे कि पैन, पेंसिल।
  • गीले हाथों से पैन या पेंसिल पर मिश्रण लगाएं।
  • थोड़ी देर बाद पैन, पैंसिल हटा दें।
  • कढ़ाई में तेल गर्म करें और डीप फ्राई करें।
  • सोयाबीन वेज कबाब तैयार हैं।
फोटो उदाहरण के लिए
इमेज क्रेडिट- commons.wikimedia.org

सोयाबीन के प्रोडक्ट (Soybean Products)

अगर आप सोयाबीन अपनी डाइट में शामिल करना चाहते हैं तो बहुत अच्छा है। सोयाबीन के अलावा भी आप सोयाबीन से जुड़ी कई और प्रोडक्ट भी शामिल कर सकते हैं। सोयाबीन के अलावा आप नीचे दिए गए प्रोडक्ट भी शामिल कर सकते है।

  • सोया दूध
  • सोया की दही
  • सोया सॉस
  • सोया का तेल
  • विप्ड सोया टोपिंग
  • सोया चीज़
  • सोया योगर्ट
  • सोया नट बटर
  • सोया आइस्क्रीम
  • सोया मीट के ऑप्शन
  • सोया नट्स
  • सोया चना
सोया दूध डाइट में शामिल करें।
इमेज क्रेडिट- commons.wikimedia.org

सोयाबीन डाइट में कैसे शामिल करें (How To Add Soybean In Diet In Hindi)

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) डाइट में कई तरह से शामिल किए जा सकते हैं। सोयाबीन को डाइट में कैसे शामिस किया जा सकता है से जुड़ी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

  • कुकीज़ और ब्राउनीज़ में सोया नट्स शामिल कर सकते हैं।
  • सोयाबीन की सब्जी बना सकते हैं।
  • चीज़ केक में सोया चीज़ का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • सलाद में सोया नट्स खा सकते हैं।
  • डेजर्ट में सोया आइस्क्रीम खा सकते हैं।
  • स्नैक्स में सोया नट्स खा सकते हैं।
  • ब्रेकफास्ट में सोया योगर्ट या सोया दही खा सकते हैं।
  • ब्रेड पर सोया नट बटर लगाकर खा सकते हैं।
  • स्मूदी बनाने के लिए सोया दूध का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • सैंडविच में सोया चीज़ शामिल कर सकते हैं।

सोयाबीन के नुकसान (Side Effects Of Soybean In Hindi)

सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) के साथ- साथ सोयाबीन के नुकसान भी हो सकते है। वैसे तो सोयाबीन के नुकसान ज्यादा नहीं हैं लेकिन इसका सेवन सही से ना करने पर सोयाबीन के नुकसान ज्यादा हो सकते हैं। सोयाबीन के नुकसान से जुड़ी जानकारी नीचे से ले सकते हैं।

  • अधिक मात्रा में सोयाबीन का सेवन करने से थायराइड की परेशानी हो सकती है।
  • अधिक मात्रा में सोयोबीन खाने से दस्त में लग सकते हैं।
  • अगर आपको लगता है कि सोयाबीन से एलर्जी हो सकती है तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरुर लें।
  • ज्यादा मात्रा में सोयाबीन खाने से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ सकता है।

आखिर में

किसी भी खाने की चीज के फायदे जानने के साथ- साथ उसके नुकसान जानने भी जरुरी हैं। सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) कई सारे हैं जैसे कि यह प्रोटीन से भरपूर होता है, स्वस्थ डाइजेशन, मजबूत हड्डियों के लिए, स्वस्थ त्वचा और बालों के लिए। सोयाबीन का इस्तेमाल आप कई तरह से कर सकते हैं। इसके साथ ही सोयाबीन के बहुत सारे प्रोडक्ट भी आते हैं जिनको रोजाना की लाइफस्टाइल में शामिल करना बेहद आसान है। आपको बस सही समय पर सही प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना आना चाहिए। इन सभी को इस्तेमाल करते समय आपको सोयाबीन के नुकसान के बारे में भी जानकारी होनी जरुरी है। सोयाबीन का इस्तेमाल सही तरीके से करें और सोयाबीन के फायदे (soyabean ke fayde) प्राप्त करें।

FAQs

  1. सोयाबीन खाने के क्या फायदे हैं? (What are the benefits of eating soybean?)

    सोयाबीन खाने के कई फायदे हैं जैसे कि प्रोटीन से भरपूर, स्वस्थ पाचन शक्ति, कंट्रोल कोलेस्ट्रॉल, मजबूत हड्डियां, सेहतमंत बाल और त्वचा।

  2. एक दिन में कितना सोयाबीन खाना चाहिए? (How many soybean should I eat a day?)

    कई अध्ययनों के अनुसार बताया गया है कि एक दिन में 15 ग्राम सोया प्रोटीन का सेवन करना काफी होता है।

  3. क्या सोयाबीन से वजन बढ़ता है? (Does soybean increase weight?)

    कई अध्ययन में यह बताया गया है कि सोयाबीन खाने से वजन कम होने में मदद मिलती है। सोयाबीन में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, फाइबर पाया जाता है।

  4. क्या सोयाबीन रोजाना खाया जा सकता है? (Can I eat soybeans everyday?)

    रोजाना सही मात्रा में सोयाबीन का सेवन करना नुकसान नहीं देता है। पूरा सोयाबीन डाइट में शामिल करना ज्यादा सेहतमंद होता है।

  5. सोयाबीन के नुकसान क्या हैं? (What are the side effects of soybean?)

    अधिक मात्रा में सोयाबीन खाने से दस्त की परेशानी, कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना या फिर एलर्जी भी हो सकती है।

लेखक के बारे में

सुरभि शर्मा मिश्री में हिंदी लेखिका हैं। इ्न्हें सवाल पूछना बहुत पसंद है शायद इसी कारण से इनके आर्टिकल आपको विस्तार जानकारी के साथ मिलेंगे। इनका कहना है कि अपने शौक को करियर में बदलने से अच्छा और क्या हो सकता है। लिखने के साथ- साथ और भी कई शोक रहे हैं लेकिन अब इन्हें लगता है कि यह अपना पसंदीदा काम कर रही हैं। 

इस लेखक द्वारा अधिक लेख

Leave a Reply on सोयाबीन के फायदे (Benefits Of Soybean In Hindi)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*