एलोवेरा के फायदे, उपयोग और नुकसान- (Aloe Vera (Ghritkumari) Benefits, Uses & Side Effects)

एलोवेरा के फायदे (Aloe Vera Benefits) की जानकारी कई सदियों से लोगों के पास है। प्राकृतिक इलाज के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल (Uses Of Aloe Vera) सबसे पॉपुलर हैं। एलोवेरा के फायदे से जुड़ी पूरी जानकारी यहां से ले सकते हैं।

एलोवेरा के फायदे 6000 साल से ज्यादा समय से इस्तेमाल किए जा रहे हैं। प्राचीन मिस्र (इजिप्ट) में इसको त्वचा और सुंदरता के लिए इस्तेमाल किया जाता था और जखमी जवानों की चोट का इलाज करने के लिए एलोवेरा इस्तेमाल किया जाता था क्योंकि यह एंटी- इंफ्लामेट्री गुण से भरपूर है। इसके साथ ही एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट के कारण भी हैं जो रोजाना होने वाली दिक्कतों से लड़ने में मदद करता है। इसमें गज़ब की मॉइस्चराइजिंग खूबी है जिस कारण एलोवेरा ब्यूटी इंडस्ट्री के लिए महत्तवूपर्ण माना जाता है।

एलोवेरा पौधे की बात की जाए तो इसके परिवार में 500 से ज्यादा रसीले पौधों की प्रजाति हैं। सौंदर्य की दृष्टि से देखा जाए तो यह सजावट का पौधा है जिसको अंदर या फिर बाहर अच्छे से उगाया जा सकता है। इसकी त्रिकोण रसीली पत्तियों में जेल जैसा लिक्विड होता है जिसको इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है। एलोवेरा को अरब प्रायद्वीप से उत्पन्न किया जाता है, एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) कई सारे हैं जिस कारण से एलोवेरा के प्रोडक्ट ग्राहकों को उपलब्ध करवाए जाते हैं। एलोवेरा प्रोडक्ट को सबसे मुनाफा देने वाले प्रोडक्ट के रूप में जाना जाता है और आपको बता दें कि इसपर सबसे ज्यादा अध्ययन भी किए जाते हैं। इतने सारे फायदे होने के साथ- साथ कई जगह इसको पूजा के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। किन कारण से पिछले कुछ सदियों से एलोवेरा इतना पॉपुलर हो रहा है? आइए पता लगाते हैं।

विषय सूची

वीडियो- एलोवेरा के फायदे

एलोवेरा क्या है? (What is Aloe Vera in Hindi?)

आयुर्वेद में एलोवेरा को घृतकुमारी के नाम से भी जाना जाता है। एलोवेरा के पौधे में कई सारे पत्ते होते हैं जिनमें जेल होता है। इस जेल का इस्तेमाल सबससेे ज्यादा किया जाता है। एलोवेरी ने अपनी जगह औषधि के रूप में भी बनाई हुई है। आपको बता दें कि एलोवेरा की लगभग 200 जातियां हैं जिसमें से इंसान के उपयोग के लिए एलोवेरी की 5 जातियां ही हैं।

इस आर्टिकल से आप एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits), एलोवेरा का उपयोग (aloe vera uses), एलोवेरा जूस बनाने की विधि, एलोवेरा के नुकसान से जुड़ी सारी जानकारी विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं।

एलोवेरा कहां मिलता है? (Where To Find Aloe Vera?)

एलोवेरा, जीनस एलो प्रजाति का पौधा है। एलोवेरा ट्रोपिकल मौसम में पूरी दुनिया में उगाया जाता है और इसको खासतौर से मेडिकल और कृषि (खेती- बाड़ी) के इस्तेमाल के लिए उगाया जाता है। एलोवेरा कम प्राकृतिक बारिश वाली जगह पर भी उगाया जा सकता है। लेकिन यह वहां नहीं उग सकता है जहां बर्फ और फ्रोस्ट होती है।

एलोवेरा को आप बेवरेज की तरह पी सकते हैं या फिर त्वचा के लिए स्किन लोशन, मलहम की तरह सनबर्न के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

एलोवेरा की खेती ट्रोपिकल मौसम में की जाती है।

एलोवेरा के पोष्टिक तत्व (Nutritional Value in Aloe Vera in Hindi)

पोष्टिक आहारमात्रा
कैलोरी19 किलो कैलोरी
कार्बोहाइड्रेट5 ग्राम
प्रोटीन1 ग्राम
फैट1 ग्राम
सैचुरेटेड फैट1 ग्राम
सोडियम73 एमजी
शुगर1 ग्राम
विटामिन5.8 एमजी
कैल्शियम160 एमजी

एलोवेरा के फायदे (Benefits of Aloe Vera in Hindi)

एलोवेरा के फायदे कई सारे हैं। आपको बता दें कि एलोवेरा के फायदे सेहत (health benefits of aloe vera) से लेकर त्वचा के लिए कई सारे हैं। एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) ब्लड शुगर सामान्य बनाए रखने से लेकर इम्यून सिस्टम स्ट्रोंग बनाने तक हैं। सबसे पहले बात करते हैं एलोवेरा के फायदे सेहत के लिए (health benefits of aloe vera)।

एलोवेरा के फायदे स्वास्थ्य के लिए (Health Benefits Of Aloe Vera in Hindi)

1. एलोवेरा के फायदे दर्द में राहत देते हैं (Aloe Vera Benefits For Pain Relieves)

एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) कई सारे हैं और आमतौर से एलोवेरा को सदियों से दर्द में राहत देने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। छोटा कट या फिर त्वचा के जलने पर ताज़ा एलोवेरा को दर्द से राहत पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। एंटी- इंफ्लामेट्री खूबी होने के कारण होने के कारण एलोवेरा जल दर्द से राहत देता है। भारी मात्रा में एंटीऑक्सीडटें होने के कारण इसमें एंटी- इंफ्लामेट्री के गुण हैं।

2. एलोवेरा के फायदे ब्लड शुगर लेवल सामान्य बनाए रखते हैं (Aloe Vera Benefits in Hindi For Regulating Blood Sugar Level)

एलोवेरा सबसे पुरानी और प्राकृतिक नुस्खा है जो ब्लड ग्लूकोज लेवल सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। जो लोग डायबटीज- 2 से गुजर रहे हैं उन लोगों के लिए यह फायदेमंद है। जिन लोगों में प्री- डायबटीज के लक्षण दिख रहे हैं जिसमें ब्लड ग्लूकोज लेवल सामान्य से ज्यादा होता है लेकिन टाइप-2 डायबटीज नहीं है, उन लोगों को भी अपनी डाइट में एलोवेरा शामिल करने की सलाह दी जाती है। अनियमित रूप से एलोवेरा का सेवन करने से एलोवेरा के नुकसान भी हो सकते हैं।

एलोवेरा के फायदे ब्लड शुगर लेवल सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं।

3. एलोवेरा के लाभ स्वस्थ इम्यून सिस्टम के लिए (Aloe Vera Uses For Immune Disorders)

एलोवेरा को अपनी डाइट में शामिल करने के कई सारे बेहतर कारण हैं। जो लोग इम्यून सिस्टम से जुड़ी परेशानी से गुजर रहे हैं उन लोगों के लिए एलोवेरा जूस बहुत लाभदायक है क्योंकि यह आपके शरीर को बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में मदद करता है। इम्यून सिस्टम में दिक्कत होने के कारण यह कमजोर हो जाता है जिससे बीमार होने के आसार बढ़ जाते हैं। इम्यून सिस्टम का पीएफ, मैक्रोफेज, यह वायरस से लड़ने में मदद करता है जो अपने आप कमजोर हो जाता है। एलोवेरा जूस मैक्रोफेज को मजबूत बनाए रखने में मदद करता है।

4. एलोवेरा के फायदे स्वस्थ मुंह के लिए (Aloe Vera Uses Helps in Maintaining Oral Health)

एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) कई सारे हैं जिसमें मुंह से जुड़े फायदे भी शामिल हैं। एंटी- इंफ्लामेट्री खूबी होने के कारण यह मुंह को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

5. एलोवेरा के फायदे पेट के लिए (Aloe Vera Benefits For Constipation)

कब्ज़ और पेट में दर्द पेट के परेशानी के दो सबसे आम दिक्कतें हैं। एलोवेरा में एंटी- इंफ्लामेट्री खूबी के कारण जब इसका सेवन किया जाता है तो यह अपच से आराम देने में मदद करता है। एलोवेरा की पत्तियों में मौजूद एलोवेरी लेटेक्स डाइजेशन को कुशल तरीके से होने में मदद करता है लेकिन इसकी अधिक मात्रा आपको नुकसान भी दे सकती है।

एलोवेरा के लाभ पेट की परेशानियों को दूर रखने में मदद करते हैं।

6. एलोवेरा के लाभ सेहतमंद डाइजेशन के लिए (Aloe Vera Benefits Helps in Healthy Digestion)

पेट की परेशानी से दूर करने के साथ- साथ एलोवेरा के फायदे डाइजेशन में मदद करते हैं। एलोवेरा फैट और शुगर को तोड़ने में मदद करते हैं जिससे खाना पचने में मिलती है।

7. एलोवेरा के फायदे वजन कम करने के लिए (Benefits Of Aloe Vera For Weight Loss)

जब भी बात वजन कम करने की आती है तो लोगों की अलग-अलग सलाह आने लगती है। लेकिन सही बात यह है कि वजन कम करना एक चीज पर निर्भर नहीं होना चाहिए। वजन कम करने के दौरान बैलेंस डाइट का होना सबसे ज्यादा जरुरी है। इसमें आप एलोवेरा को एलोवेरा जूस के रूप में शामिल कर सकते हैं। एलोवेरा में एंटी-इंफ्लामेट्री गुण होते हैं जो वजन कम करने में मदद करते हैं। एलोवेरा जूस पीने से शरीर में एनर्जी आती है जिससे फैट बर्न होने में मदद मिलती है।

एलोवेरा के फायदे वजन कम करने में मदद करते हैं।

एलोवेरा के फायदे त्वचा के लिए (Benefits Of Aloe Vera For Skin)

जैसे एलोवेरा के फायदे सेहत के लिए (health benefits of aloe vera) हैं वैसे ही एलोवेरा के लाभ आपको त्वचा के लिए भी मिल सकते हैं। आपको बता दें कि एलोवेरा को अधिकतर ब्यूटी प्रोडक्ट में इस्तेमाल किया जाता है। एलोवेरा के फायदे त्वचा के लिए (aloe vera benefits for skin) से जुड़ी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

7. एलोवेरा के फायदे छोटे कट और त्वचा पर जलन के लिए (Aloe Vera Benefits Helps in Minor Cuts And Rashes)

छोटे घाव के लिए एलोवेरा को कई सदियों से इस्तेमाल किया जा रहा है। एलोवेरे के फायदे इसमें मौजूद एंटी- बैक्टीरियल और एंटी- इंफ्लामेट्री के कारण हैं। एलोवेरा जेल त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद करता है और साथ ही फाइब्रोब्लास्ट सेल को जन्म को बढ़ाता है जो खराब टिश्शू को नए में बदलने में मदद करता है। एनसीबीआई के अनुसार, एलोवेरा से कई त्वचा से जुड़ी बीमारी का इलाज किया जाता है और यह कई क्लिनिकल परीक्षण की मदद से साबित भी किया गया है।

8. एलोवेरा के लाभ प्राकृतिक मॉइस्चराइजर की तरह काम करते हैं (Aloe Vera Benefits as a Natural Moisturizer)

एलोवेरा में प्राकृतिक मॉइस्चराइजर की खूबी होने के कारण इसको कई स्किन केयर प्रोडक्ट में इस्तेमाल किया जाता है। जिनकी त्वचा तेलिए और मुंहासों के खतरे में रहती है उनके लिए एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) कई सारे उपलब्ध हैं। एलोवेरा जेल को सीधे त्वचा पर लगाया जा सकता है और यह प्राकृतिक आहार से भरपूर होता है। एलोवेरा जेल को त्वचा पर लगाने के बाद मालिश करनी चाहिए जो बचे हुए एलोवेरा को ठंडी जगह पर रखना चाहिए।

एलोवेरा में प्राकृतिक मॉइस्चराइजर की खूबी होती है।

9. एलोवेरा के फायदे सनबर्न के लिए (Benefits of Aloe Vera Helps in Sunburns)

एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) सबसे ज्यादा इसमें मौजूद एंटी- इंफ्लामेट्री के कारण हैं। बाकी फायदो के साथ- साथ एलोवेरा सनबर्न का इलाज करने में भी मदद करता है। सनबर्न त्वचा पर एलोवेरा लगाने से जलन में आराम मिलता है।

एलोवेरा के फायदे बालों के लिए (Aloe Vera Benefits For Hair)

एलोवेरा के फायदे सेहत (health benefits of aloe vera) और त्वचा के साथ-साथ बालों के लिए भी कई सारे हैं। बालों की जड़ों को मजबूत बनाने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल (aloe vera uses) किया जा सकता है। अगर आप रूसी से परेशान हैं एलोवेरा का इस्तेमाल (aloe vera uses) कर सकते हैं। एलोवेरा के फायदे बालों के लिए से जुड़ी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

10. एलोवेरा के फायदे बालों के लिए (Aloe Vera Benefits For Hair Growth)

एलोवेरा के फायदे सेहत (health benefits of aloe vera), त्वचा के साथ- साथ बालों के लिए भी हैं। एलोवेरा जेल पोषण से भरपूर होता है जो बालों को मजबूत बनाने में मदद करता है जिससे बालों का गिरना कम हो जाता है। एलोवेरा जेल से बालों की मालिश करने से डेड़ सेल निकल जाते हैं जिससे सेहतमंद बाल उगते हैं।

11. एलोवेरा के फायदे रूसी कम करने के लिए (Benefits of Aloe Vera Helps in Controlling Dandruff)

तेलिए और सूखी, दोनें तरह की जडों में रूसी होती है। एलोवेरा के फायदे बालों के लिए इसमें मौजूद एंटी- फंगल खूबी के कारण होते हैं। यह साबित किया गया है कि एलोवेरा को बालों में लगाने से रूसी कम हो जाती है। इसके साथ ही यह जडों को आराम देती है।

एलोवेरा के महत्तवूपर्ण फायदे (Other Important Benefits Of Aloe Vera)

एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) ऊपर दिए फायदो के अलावा भी कई सारे हैं। एलोवेरा के फायदे इसमें मौजूद एंटी- इंफ्लामेट्री और एंटी- फंगल के कारण हैं। एलोवेरा के और महत्तनपूर्ण फायदो की जानकारी आप नीचे से ले सकते हैं।

12. कीड़े के काटने पर इलाज में मदद (Treatment for insect bites)

13. दोषों से छुटकारा पाने में मदद (Helps in getting rid of the blemishes)

14. खिंचाव के निशान को हल्का करने में मदद ( Lightening stretch marks)

15. बालों को कंडीशन करने में मदद (Hair conditioning)

एलोवेरा का उपयोग कैसे करें (Aloe Vera Uses in Hindi)

एलोवेरा का उपयोग (aloe vera uses) कई तरीको से किया जा सकता है। एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) जानने के लिए यह जरुरी है कि एलोवेरा का उपयोग (aloe vera uses) कैसे किया जाए। एलोवेरा का उपयोग कई तरीको से किया जा सकता है जिसकी पूरी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

1. एलोवेरा के फायदे जलन में आराम देते हैं (Aloe Vera Gives Relief During Inflammation)

एलोवेरा को इसकी कूलिंग खूबी के लिए भी जाना जाता है जिस कारण से एलोवेरा का उपयोग (aloe vera uses) जलन से राहत पाने के लिए किया जा सकता है। एक अध्ययन में यह पाया गया है कि जली हुई जगह पर एलोवेरा लगाने से जलन में राहत मिलती है। इसके साथ ही एलोवेरा को आप घर में उगा सकते हैं। अगर आपके घर में एलोवेरा है तो आप एलोवेरा जेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। अध्ययनों में भी यह बताया गया है कि जले हुए पर एलोवेरा जेल का इस्तेमाल करने से भी राहत मिलती है। सनबर्न होने पर त्वचा पर एलोवेरा जेल लगाने से आराम मिलता है।

2. मुंहासों के लिए एलोवेरा (Aloe Vera Uses For Face)

ताज़ा एलोवेरा का इस्तेमाल (aloe vera uses) त्वचा के लिए करने से त्वचा स्वस्थ रहती है। एलोवेरा के फायदे त्वचा के लिए (aloe vera benefits for skin) कई सारे हैं जैसे कि मुंहासों से छुटकारा, साफ त्वचा आदि। मार्किट में अधिकतर स्किन केयर प्रोडक्ट एलोवेरा के इस्तेमाल से बनाए जाते हैं। अगर आपके घर में एलोवेरा है तो आप एलोवेरा जेल निकालकर त्वचा पर सीधे एलोवेरा जेल की हल्की मालिश कर सकते हैं। त्वचा पर एलोवेरा इस्तेमाल करने के बाद आपको त्वचा ताज़ा नज़र आने लगेगी।

एलोवेरा का इस्तेमाल (aloe vera uses) त्वचा को साफ करने के लिए कर सकते हैं।

3. स्वस्थ पाचन शक्ति (Aloe Vera Uses For Healthy Stomach)

जैसे एलोवेरा को त्वचा की जलन में राहत पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है वैसे ही पेट की जलन के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। एक अध्ययन में यह बताया गया है कि एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) पेट के लिए भी हैं। पेट में जलन होने पर एलोवेरा जूस का सेवन करने से राहत मिल सकती है।

4. एलोवेरा के फायदे स्वस्थ मुंह के लिए (Aloe Vera Uses For Mouth)

2017 में किए गए अध्ययन में यह साबित हुआ है कि जिन लोगों के टूथ पेस्ट में एलोवेरा है उनमें मुंह से जुड़ी परेशानी कम होने का आसार दिखाई दिए हैं। एक अध्ययन में 40 लोगों को शामिल किया गया जिसको दो ग्रुप में बांटा गया है। पहले ग्रुप मे एलोवेरा वाली टूथपेस्ट का इस्तेमाल किया वहीं दूसरे ग्रूप ने पारंपरिक टूथपेस्ट का इस्तेमाल किया है। 30 दिन बाद यह देखा गया कि एलोवेरा टूथपेस्ट इस्तेमाल करने वाले लोगों में कैंडिडा, पट्टिका और मसूड़े की सूजन का लेवल कम हुआ है।

एलोवेरा जेल का उपयोग (Aloe Vera Gel Uses)

एलोवेरा जेल का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है। अगर आपके घर में एलोवेरा का पौधा है तो आप उसमें से एलोवेरा जेल रोजाना निकालकर इस्तेमाल कर सकते हैं। एलोवेरा जेल का इस्तेमाल कई तरीके से किया जा सकता है जैसे कि सेहत, त्वचा आदि के लिए। एलोवेरा जेल के उपयोग से जुड़ी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

एलोवेरा जेल के फायदे सेहत के लिए (Aloe Vera Gel Uses For Health)

एलोवेरा की मोटी पत्तियों में गाढ़ा जेल मौजूद होता है जो आपको कई सारे फायदे दे सकता है। एलोवेरा जेल पानी से बना होता है जिसको बाकी आहार के साथ एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर करने के लिए मिलाया जाता है। एलोवेरा में एंटी- फंगल और एंटी- बैक्टीरियल खूबी होती है जिस कारण से इसको सेहत के साथ- साथ सुंदरता के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। प्राकृतिक एलोवेरा जेल में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई और विटामिन बी12 पाया जाता है।

एलोवेरा जेल पानी से बना होता है जिसको बाकी आहार के साथ
एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर बनाने के लिए मिलाया जाता है।

एलोवेरा जेल को जलने और छोटे कट के लिए कैसे इस्तेमाल करें (How To Use Fresh Aloe Vera Gel For Minor Cuts And Burns)

एलोवेरा जेल को दर्द से राहत पाने के लिए इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले एलोवेरा पत्तियों में से जेल को निकालें और फिर अच्छे से धो लें। एलोवेरा जेल लगाने से पहले इसमें पानी डालें और अच्छे से मिक्स कर लें।

एलोवेरा जूस के फायदे (Aloe Vera Juice Benefits)

एलोवेरा का सेवन आप कई तरीके से कर सकते हैं जिनमें से एक है एलोवेरा जूस। अगर आपके घर में एलोवेरा का पौधा है तो आप पौधे का इस्तेमाल एलोवेरा जूस बनाकर भी कर सकते हैं। नीचे से आप एलोवेरा जूस और एलोवेरा जूस बनाने की विधि से जुड़ी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

एलोवेरा जूस बनाने की विधि (How To Make Aloe Vera Juice)

यह बात सभी को अच्छे से पता है कि घर में बनाई गई खाने की चीज से बेहतर कुछ नहीं हो सकता है। अगर आप एलोवेरा को अपनी डाइट में शामिल करना चाहते हैं तो बहुत अच्छी बात है। लेकिन इससे भी अच्छी बात यह होगी आप घर में बनाया गया एलोवेरा जूस का इस्तेमाल कर रहे हैं।

एलोवेरा जूस घर में आसानी से बना सकते हैं।

सामग्री

एलोवेरा जूस बनाने के लिए आपको इन चीजों की जरुरत है-

  • एलोवेरा के पत्ते
  • पानी
  • नींबू/ अदरक/ जूस (स्वाद के अनुसार)

एलोवेरा जूस बनाने की विधि

  • घर में लगे एलोवेरा में से एक पत्ता काट लें।
  • घर में एलोवेरा जूस बनाते समय आपको बहुत सावधानी रखनी जरुरी है। सबसे पहले एलोवेरा की ऊपर का छिलका छीलें। छिलका उतारते समय इस बात का ध्यान रखें कि पीले रंग की परत अच्छे से निकल जाए।
  • पीले रंग की परत को लैटेक्स कहा जाता है जो हानिकारक होती है। इसलिए पीली परत का इस्तेमाल जूस में बिल्कुल भी ना करें।
  • एलोवेरा का छिलका और पीली परत हटाने के बाद इसमें से एलोवेरा जेल चम्मच की मदद से निकाल लें।
  • एलोवेरा जेल गिलास में निकाल लें और फिर इसमें पानी डालें।
  • अब एलोवेरा जेल और पानी को अच्छे से मिक्स करें।
  • अगर आप बिना कुछ मिलाएं एलोवेरा जूस का सेवन करना चाहते हैं तो कर सकते हैं।
  • इसके अलावा स्वाद के लिए एलोवेरा जूस में नींबू या अदरक या एलोवेरा जूस को आप किसी और जूस में मिला सकते हैं।
  • इसके बाद एलोवेरा जूस का सेवन करें।

एलोवेरा प्रोडक्ट के पॉपुलर फायदे (Popular Aloe Vera Products)

एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) एलोवेरा से बने प्रोडक्ट में पाए जाते हैं जो हमारी सेहत, त्वचा और बालों के लिए लाभदायक होते हैं। ऐसी कई प्रोडक्ट हैं जिनमें एलोवेरा को मुख्य सामग्री के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे कुछ प्रोडक्ट की जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

1. एलोवेरा जूस (Aloe Vera Juice)

सभी प्रोडक्ट में से एलोवेरा जूस का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है। एलोवेरा जूस के फायदे लेने के लिए जरुरी है कि इसका इस्तेमाल सही तरीके से करें। मार्किट में कई सारे ब्रांड के एलोवेरा जूस मौजूद हैं लेकिन एलोवेरा जूस का घर में भी बना सकते हैं। यहां से आप एलोवेरा जूस बनाने की विधि की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

2. एलोवेरा मॉइस्चराइजिंग क्रीम (Aloe Vera Based Moisturizing Cream)

एलोवेरी में तेलिए त्वचा, निशानों को हल्का करने में मदद और मुंहासों से बचाव करने के गुण हैं। इसलिए एलोवेरा को स्किन केयर प्रोडक्ट के मॉइस्चराइजिंग क्रीम और सिरम में इस्तेमाल किया जाता है।

ब्यूटी प्रोडक्ट में एलोवेरा का इस्तेमाल अधिकतर किया जाता है।

3. एलोवेरा शैम्पू (Aloe Vera Based Shampoo)

एलोवेरा के फायदे त्वचा के लिए (aloe vera benefits for skin) होने के साथ- साथ बालों के लिए भी हैं। एलोवेरा में एंटी- माइक्रोबियल और एंटी- इंफ्लामेट्री के गुण होते हैं जो बालों को बढ़ने में मदद करते हैं। मार्किट में आपको एलोवेरा के शैम्पू कई सारे आसानी से मिल जाएंगे।

4. एलोवेरा पाउडर (Aloe Vera Powder)

कई लोगों के पास एलोवेरा का पौधा उगाने का समय नहीम होता है, यह लोग प्राकृतिक एलोवेरा पाउडर का पैकेट खरीद सकते हैं। इस पाउडर को बालों, त्वचा और यहां तक की खाने में भी मिलाया जा सकता है। एलोवेरा पाउडर का सेवन करने से पहले उसमें इस्तेमाल किए गए सभी पदार्थ की जांच अच्छे से कर लें, उसके बाद ही सेवन करें।

एलोवेरा के प्रोडक्ट कई प्रकार और साइज में उपलब्ध हैं। इन प्रोडक्ट ने एलोवेरा के इस्तेमाल को बढ़ा दिया है।

एलोवेरा पौधे को कैसे उगाएं (Maintaining An Aloe Vera Plant)

एलोवेरा का पौधा अच्छे से नमीदार मिट्टी में उगता है, एलोवेरा सबसे ज्यादा ट्रोपिकल मौसम में उगता है। इसके अलावा पौधे को सूरज की किरणें चाहिए होती हैं। पौधे को गमले में रखने से पत्तियां खराब हो सकती हैं अगर गमले से पानी सही मात्रा में नहीं निकाला गया। एलोवेरा की लंबाई कम होती है इसलिए इसको घर के अंदर भी उगाया जा सकता है और सजावट के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। एलोवेरा को अंदर उगाने पर ध्यान देना जरुरी है क्योंकि इसको सूरज की किरणें और नमीदार मिट्टी चाहिए जिससे से पोषण से भरपूर उग सके।

एलोवेरा के नुकसान (Side-Effects Of Aloe Vera)

कोई भी दवाई चाहे वो प्राकृतिक है या फिर सिंथेटिक, अनियमित रूप से खाने पर नुकसान दे सकती है। ऐसे ही एलोवेरा का सेवन असामान्य रूप से करने पर इससे नुकसान हो सकते हैं। एलोवेरा के नुकसान की जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

एलोवेरा का इस्तेमाल अधिक मात्रा में करने से एलोवेरा के नुकसान हो सकते हैं।

1. ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है (Lowering Blood Sugar Level)

एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) में से एक है कि यह ब्लड शुगर लेवल को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। आपको बता दें कि लंबे समय तक एलोवेरा का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल कम भी हो सकता है जो शरीर को नुकसान दे सकता है।

2. अपच (Indigestion)

अधिक मात्रा में एलोवेरा जूस का सेवन करने से पाचन शक्ति में परेशानी हो सकती है। एलोवेरा कब्ज़ में आराम देती है लेकिन अगर इसका सेवन अधिक मात्रा में कर लिया जाए तो पेट में जलन के साथ- साथ अपच भी हो सकती है।

3. टोक्सिक लिवर (Toxic Liver)

एलोवेरा में बायो- एक्टिव कंपाउंड होते हैं, अधिक मात्रा में इनका सेवन करने पर यह लिवर को टोक्सिक बना सकते हैं। हालांकि यह लिवर को टोक्सिक बनाने से सीधा नहीं जुड़ा हुआ है लेकिन यह लिवर के डीटोक्सीफिकेशन प्रोसेस को कम कर देता है।

आखिर में

अब हम यह कह सकते हैं कि एलोवेरा के फायदे (aloe vera benefits) के मुकाबले एलोवेरा के नुकसान कम हैं। अगर आपको एलोवेरा के फायदे लेने हैं तो इसका सेवन सही मात्रा में करें। इसके साथ ही ताज़ा एलोवेरा इस्तेमाल करने से आपको इसके फायदे सीधा मिलते हैं। एलोवेरा आपकी सेहत, त्वचा और बालों के लिए लाभदायक है। लगभग पूरे शरीर के लिए फायदेमंद होने के कारण एलोवेरा को सदियों से इस्तेमाल किया जा रहा है।

संदर्भ

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK92765/

https://www.medicalnewstoday.com/articles/265800#research

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4488101/

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4253296/

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK92765/

FAQs

  1. एलोवेरा चेहरे पर कैसे लगाया जाता है? (How can I use aloe vera on my face?)

    एलोवेरा जेल पत्ती काटे और एलोवेरा जेल चेहरे पर लगाएं। या फिर एलोवेरा के साथ शहद मिलाकर भी चेहरे पर लगा सकते हैं। या फिर एलोवेरा जेल में गुलाब जल मिलाकर भी लगा सकते हैं।

  2. एलोवेरा में कौन सा विटामिन होता है? (Which nutrients are found in aloe vera?)

    एलोवेरा में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, फोलिक एसिड, कोलीन, बी1, बी2, बी3 और बी6 पाएं जाते हैं।

  3. एलोवेरा के फायदे क्या हैं? (What are the benefits of aloe vera?)

    एलोवेरा एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जिससे त्वचा की दिक्कतें दूर रहती हैं जैसे कि मुंहासें, काले धब्बे, आदि। एलोवेरा में एंटी- माइक्रोबियल गुण होता है जो त्वचा को साफ रखने में मदद करता है।
    इसके अलावा एलोवेरा का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल सामान्य रहता है, पेट साफ रहता है, इम्युन सिस्टम मजबूत बनता है, डाइजेशन सही तरीके से होता है आदि।

  4. एलोवेरा किसके लिए अच्छा है? (What is aloe vera good for?)

    एलोवेरा को पेट के लिए अच्छा माना जाता है। सही मात्रा में और सही तरीके से एलोवेरा का सेवन करने से कब्ज की परेशानी दूर रहने में मदद मिलती है। इसके साथ ही एलोवेरा को ब्यूटी प्रोडक्ट में भी इस्तेमाल किया जाता है।

  5. एलोवेरा का प्रयोग कैसे करें? (How to use aloe vera?)

    एलोवेरा पौधे से एक पत्ता काट लें और इसमें से एलोवेरा जेल निकाल लें। एलोवेरा जेल चेहरे पर लगभग 10 मिनट तक लागकर रखें। एलोवेरा जेल लगाने से ठंडक महसूस होती है। इसके बाद चेहरा धो लें।

  6. एलोवेरा जेल कब त्वचा पर कब लगाना चाहिए? (When you can apply aloe vera gel?)

    एलोवेरा जेल त्वचा पर सीधा लगा सकते हैं। एलोवेरा जेल का इस्तेमाल सनबर्न होने पर किया जा सकता है, त्वचा को साफ करने के लिए एलोवेरा जेल में गुलाब जल डालकर इस्तेमाल कर सकते हैं, मुंहासे होने पर भी एलोवेरा का इस्तेमाल किया जा सकता है।

लेखक के बारे में

सुरभि शर्मा मिश्री में हिंदी लेखिका हैं। इ्न्हें सवाल पूछना बहुत पसंद है शायद इसी कारण से इनके आर्टिकल आपको विस्तार जानकारी के साथ मिलेंगे। इनका कहना है कि अपने शौक को करियर में बदलने से अच्छा और क्या हो सकता है। लिखने के साथ- साथ और भी कई शोक रहे हैं लेकिन अब इन्हें लगता है कि यह अपना पसंदीदा काम कर रही हैं। 

इस लेखक द्वारा अधिक लेख

Leave a Reply on एलोवेरा के फायदे, उपयोग और नुकसान- (Aloe Vera (Ghritkumari) Benefits, Uses & Side Effects)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*