जायफल के 14 अनोखे फायदे, उपयोग और नुकसान - मिश्री
जायफल के अनोखे फायदे, उपयोग और नुकसान

जायफल के 14 अनोखे फायदे, उपयोग और नुकसान

जायफल मसाला सभी की किचन में अधिकतर पाया जाता है। इसका अलग स्वाद और खुशबूदार फ्लेवर इसके फायदे बढ़ा देता है। जयफल के फायदे से जुड़ी जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

यह ऐसे मसाले से मिलता है जिसके फल से एक मसाला मिलता है और बीज के कवर से दूसरा मसाला मिलता है। क्या आप पहचान सकते हैं?

आसान शब्दों में कहा जाए तो जायफल एक बीज है जो जीनस मिरिस्टिका मसाले का ग्राउंड स्पाइस है। यह बीज रूप में होता है लेकिन यह मार्केट में पाउडर के रूप में मिलता है।  इसकी मीठी खुशबू होने के कारण इससे कई डिश बनाई जाती है। यह मलेशिया, कैरेबियन और दक्षिण भारत में पाया जाता है। इस मसाले का पेड़ ऐसा पेड़ है जिसपर दो मसाले एक साथ उगते हैं। दूसरा मसाला जावित्री होता है। यह जायफल के ऊपर वाली परत पीसकर बनाया जाता है। जावित्री और जायफल दोनों का स्वाद अलग होता है। जावित्री का फ्लेवर इलायची और काली मिर्च का मिश्रण होता है।

जायफल में कई सारे ताकतवर कंपाउंड पाए जाते हैं जो कई बीमारी से लड़ने में मदद करते हैं और स्वस्थ रहने में मदद करते हैं। इसमें विटामिन, ऑर्गेनिक कंपाउंड और मिनरल्स पाए जाते हैं। इसमें डाइट्री फाइबर, मैंगनीज, विटामिन बी 6, थायमिन, फोलेट, मैग्नीशियम और कॉपर पाया जाता है।

कैलोरी 525 किलो कैलोरी
कुल फैट 36 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल 0 मिलीग्राम
सोडियम 16 मिलीग्राम
पोटैशियम 350 मिलीग्राम
कुल कार्बोहाइड्रेट 49 ग्राम
डायट्री फाइबर 21 ग्राम
शुगर 28 ग्राम
प्रोटीन 6 ग्राम
विटामिन ए 2%
विटामिन सी 5%
विटामिन डी 0%
विटामिन बी-6 10%
कैल्शियम 18%
कोबालामिन 0%
आयरन 16%
मैगनीशियम 45%

जायफल के फायदे

1. दस्त

जायफल खाने से दस्त में आराम मिल सकता है। यह पेट में गैस नहीं बनने देता है जिससे पाचन शक्ति स्वस्थ बनी रहती है। इसे ठंडे पानी या फिर अदरक के साथ लिया जा सकता है। जायफल में दस्त में आराम देने की खूबी है जो प्रायोगिक और नैदानिक ​​फार्माकोलॉजी में विधियों और निष्कर्षों में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया है।

2. सामान्य कोलेस्ट्रॉल

जायफल खाने से खराब कोलेस्ट्रॉल लेवल कम बना रहता है। एलबिनो में किए गए अध्ययन के अनुसार जायफल से खराब कोलेस्ट्रॉल लेवल कम हो जाता है।

जायफल और ग्रेटर
जायफल के फायदे सामान्य कोलेस्ट्रॉल के लिए

3. निखरती त्वचा

काफी लंबे समय से जायफल का उपयोग पारंपरिक और हर्बल दवाईयों में सेहत और त्वचा के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसे त्वचा पर पानी या शहद के साथ पेस्ट बनाकर सीधे लगाया जा सकता है। 2016 में किए गए अध्ययन के अनुसार जायफल से कई स्किन इंफेक्शन ठीक हो सकते हैं।

एक और रिसर्च जो केई ली और उनके साथ काम करने वालों के द्वारा की गई है, जिसमें यह पाया गया है कि जायफल में बॉयोएक्टिव कंपाउंड पाया जाता है जो समय से पहले बुढ़ापा जो पराबैंगनी किरणों के कारण होता है, इसके लक्ष्ण नहीं होने देता है। जायफल से त्वचा को जरूरी आहार मिलते हैं।

4. कैंसर से बचाव

जायफल कैंसर पैदा करने वाले सेल से बचाकर रखने में मदद कर सकता है। ऐसा एक अध्ययन- कैमिको- बॉयोलोजिकल इंट्रेक्शन में पाया गया है कि जायफल में कीमोप्रवेन्टिव गुण होते हैं जो कैंसर के सेल को शरीर में पैदा नहीं होने देता है।

जायफल
जायफल के फायदे गंभीर बीमारी से बचाव के लिए

5. सामान्य ब्लड प्रेशर लेवल

जायफल में सोडियम की मात्रा कम होती है जिससे ब्लड प्रेशर सामान्य बना रहता है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान की बल्ड प्रेशर कम करने वाली गाइड में बताया गया है कि ब्लड प्रेशर सामान्य बनाए रखने के लिए जायफल का सेवन करना चाहिए। लेकिन इसके अलावा और सबूत चाहिए जिससे साबित होता है कि जायफल से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।

6. डिप्रेशन

जायफल को ऑयुर्वेद के द्वारा डिप्रेशन की दवाई के लिए इस्तेमाल किया जाता है। एलोपैथिक दवाई के मुकाबले इसके कम नुकसान हैं और इससे मूड भी अच्छा हो जाता है।

कसा हुआ जायफल
जायफल के फायदे डिप्रेशन के लिए

7. स्वस्थ लिवर

जायफल से जुड़े कई सारे मेडिकल फायदे हैं उनमें से एक है लिवर की सुरक्षा। जायफल में मैरिसलिगनन होता है जो लिवर में आई चोट से राहत देता है। इससे लिवर में फ्री रेडिकल की गतिविधियों से रोकथाम होती है।

8. स्वस्थ मुंह

जायफल में एंटी बैक्टीरियल खूबी होती है जो उन बैक्टीरिया को नष्ट करते हैं जो दातों में सड़न का कारण बनते हैं। मेथनॉलिक खूबी होती है जो दातों में सड़न और इससे जुड़ी कई बीमारी से सुरक्षा देती है। जायफल से कैविटी से भी रोकथाम मिलती है क्योंकि इसमें एंटी बैक्टीरियल एजेंट जिसे मैकेलिगन के नाम से जाना जाता है, जायफल में मौजूद होता है।

बहुत सारे जायफल
जायफल के फायदे स्वस्थ लिवर के लिए

9. सेहतमंद दिमाग

जायफल में न्यूरोप्रोटेक्टिव की खूबी होती है जो दिमाग की सेहत स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं। जायफल के तेल का इस्तेमाल करने से अल्जाइमर, पार्किंसंस और हंटिंग्टन रोग जल्दी से नहीं होते हैं।

10. स्वस्थ पाचन शक्ति

जायफल की मेडिकल खूबी होने के कारण यह डाइजेशन से जुड़ी सारी परेशानियां दूर रखने में मदद करता है जैसे कि खाना सही से ना पचना, पेट में छाले आदि। जायफल में इसकी खुशबू के कारण इसमें मेडिकल से जुड़ी खूबियां हैं।

संबंधित आर्टिकल: मखाने खाने के लाजवाब फायदे

जायफल और दालचीनी
जायफल के फायदे स्वस्थ डाइजेशन के लिए

11. अच्छी नींद

जायफल को नींद न आने की परेशानी को दूर करने के लिए लंबे समय से इस्तेमाल किया जा रहा है। यह घर का नुस्खा है। सोने से पहले दूध में एक चुटकी जायफल डालने से नींद अच्छे से आती है।

12. दर्द में राहत

जायफल को शरीर में होने वाले दर्द की जगह पर लगाने से राहत मिलती है। जायफल के तेल को दर्द वाली जगह लगाने से आराम मिलता है और साथ ही सूजन, जोड़ों के दर्द से भी राहत मिलती है। शरीर के दर्द वाली जगह पर सिर्फ हाथ लगाने से होने वाले दर्द से जायफल के तेल से राहत मिलती है।

13. कुकिंग

जायफल को मेडिकल की तरह तो इस्तेमाल किया ही जाता है इसके अलावा इसको कई डिश में डालने से आप सिंपल डिश में स्वाद और फ्लेवर ला सकते हैं। जायफल को स्टार्च वाली सब्जियां पर छिड़क सकते हैं जिससे अलग फ्लेवर आ जाए। इसको आप स्मूदी, चाय आदि में भी डाल सकते हैं।

संबंधित आर्टिकल: 19 जरूरी इंडियन मसाले

सफेद कटोरी में जायफल और मसाले
जायफल का उपयोग खाने में भी किया जा सकता है

जायफल का उपयोग

जायफल का इस्तेमाल कई तरह से किया जा सकता है। नीचे से आप इससे जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं-

  • जायफल को स्वीट डिश, डेजर्ट सॉस और डेयरी डिश में इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • जायफल को कस्टर्ड में इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • जायफल को केक, कुकीज़ के साथ गर्म मसालें जैसे कि लौंग, इलायची और दालचीनी के साथ इस्तेमाल कर बनाए जा सकते हैं।
  • जायफल को करी और नॉन वेज डिश में भी डाला जाता है।
  • जायफल का सर्दियों की सब्जी और पत्तियों वाली सब्जी के साथ अच्छा मेल है।
  • कई डिश में फ्रेश जायफल डाला जाता है। 1/8 चम्मच जायफल डालने की सलाह दी जाती है।

संबंधित आर्टिकल: अदरक के विकल्प – वही स्वाद और फ्लेवर

सफेद कटोरी में जायफल और मसाले
जायफल का उपयोग खाने में भी किया जा सकता है

कितनी मात्रा में जायफल का सेवन कर सकते हैं?

जायफल का सेवन करने इंसान की उम्र, सेहत और बाकी चीजों पर निर्भर करता है। लेकिन अभी तक ऐसा कोई अध्ययन नहीं किया गया है कि कितनी मात्रा में जायफल का सेवन करना सही रहेगा। लेकिन आपको इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि प्राकृतिक मसालों को सही मात्रा में खाने से ही इनसे फायदा मिलता है। सही मात्रा में जायफल का सेवन करते रहे और इससे होने वाले फायदों का लाभ उठाते रहें।

जायफल कैसे स्टोर करें

  • जायफल को पूरा या फिर ग्राउंड फोम में खरीदा जाता है।
  • ग्राउंड जायफल, पाउडर की फोम में मिलता है। लेकिन पाउडर जायफल अपनी खुशबू और फ्लेवर जल्दी खो देता है।
  • अगर आप ग्राउंड जायफल खरीदने की सोच रहे हैं तो कम मात्रा में ही खरीदें।
  • अधिकतर पूरे जायफल को ही इस्तेमाल किया जाता है और यह अखरोट की तरह दिखता है जिसकी शेल्फ लाइफ अनिश्चित समय तक होती है।
  • जायफल को खाने में बहुत कम मात्रा में डालना चाहिए क्योंकि इसका फ्लेवर बहुत स्ट्रोंग होता है। इसकी थोड़ी मात्रा में खाने के लिए काफी है।
  • जायफल को हवा बंद डिब्बे में धूप, नमी, रोशनी से दूर रखना चाहिए।
  • ग्राउंड जायफल को अच्छे से स्टोर करने पर इसका ताजापन 6 महीने तक रह सकता है।

जायफल के नुकसान

  • जायफल में मिरिस्टिसिन और सफ़र होते हैं जो भ्रम पैदा कर सकते है जिस कारण मांसपेशियों से कंट्रोल चला जाता है।
  • मिरिस्टिसिन में साइकोएक्टिव गुण होते हैं जो शरीर पर टोक्सिक प्रभाव पैदा कर सकते हैं।
  • जायफल से जी मिचलाना, दिल जल्दी- जल्दी धड़कना, भटकाव, उलटी, व्याकुलता जैसी चीजें हो सकती हैं। अगर जायफल को किसी और ड्रग के साथ लिया गया तो इसके परिणाम घातक हो सकते हैं।
  • अधिक मात्रा में लंबे समय के लिए जायफल खाने से शरीर का कोई अंग खराब हो सकता है, ऐसा चूहों के ऊपर किए गए प्रोयेग में साबित हुआ है। लेकिन इंसानों के ऊपर इसके असर को लेकर कोई अध्ययन नहीं हुआ है।

आखिर में

अब आपको पता चल गया है कि जायफल के कितने सारे फायदे हैं। यह बात तो सभी को पता है कि हर चीज के फायदे और नुकसान होते हैं। यह हम पर निर्भर करता है कि जायफल का सेवन कैसे करते हैं जिससे सिर्फ फायदे मिलें।

जायफल के फायदों के बारे जानने के साथ- साथ इस आर्टिकल से आपको इसके नुकसान, कैसे खरीदें, कैसे स्टोर करें और कितनी मात्रा में सेवन करे की जानकारी मिल गई है। तो अब आप किस बात का इंतजार कर रहे हैं, जायफल को सही मात्रा में अपनी डाइट में अभी शामिल करें।

आप जायफल का इस्तेमाल कैसे करते हैं? हमें कमेंट में जरूर बताएं।

FAQs

जायफल मसाले की खुशबू स्वाद अच्छा होता है जिस कारण से इसका इस्तेमाल फ्लेवर के लिए बेक्ड चीजें, पुडिंग, सॉस, तड़के आदि में किया जाता है।

अधिक मात्रा में जायफल का सेवन नहीं करना चाहिए। सब्जी, डेजर्ट, बेक्ड चीजों में सिर्फ फ्लेवर के लिए जायफल का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। एक अध्ययन में बताया गया कि 2 चम्मच जायफल से भी परेशानी हो सकती है। इसलिए जायफल का सेवन कम से कम करें।

हर तरह का त्वचा के लिए जायफल का इस्तेमाल किया जा सकता है। जायफल में एंटीइंफ्लामेट्री के गुण होते हैं जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

जायफल के फायदे वेट लॉस में भी मदद करते हैं। जायफल फाइबर से भरपूर होता है जिससे पेट लंबे के लिए भरा रहता है। लेकिन वेट लॉस के लिए सही मात्रा में ही जायफल का इस्तेमाल करें।

जायफल के फायदे कई हैं लेकिन लंबे समय के लिए जायफल का सेवन करना नुकसान दे सकता है। अगर आपको जायफल को रोजाना डाइट में शामिल करना है तो डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

खाने के फायदे से जुड़ी जरूरी बातें

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments