जावित्री के फायदे, उपयोग, नुकसान (Javitri (Mace) Benefits, Uses, Side Effects in Hindi)

जावित्री एक ऐसा मसाला है जिसको मीठी और नमकीन डिश में डाला जा सकता है। जावित्री के फायदे (Javitri Ke Fayde) फाइबर और मिनरल्स से भरपूर होते हैं। जावित्री खाने के फायदे (Javitri Benefits in Hindi) से जुड़ी सारी जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

जयफल और जावित्री एक ही पौधे के दो मसाले हैं। जैसे जयफल के फायदे कई सारे हैं वैसे ही जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) भी कई सारे हैं। जावित्री के लाभ प्राप्त करने के लिए सबसे पहले जयफल के बीज का कवर हटाना पड़ता है और 10 से 14 दिनों के लिए सूखना पड़ता है। उपचारात्मक अवयव (therapeutic ingredient) के रूप में जावित्री को कई पारंपरिक मेडिकल गतिविधियों के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा जावित्री के गुण बेक्ड खाना, सब्जियां, मीट में इस्तेमाल किए जाते हैं। इसके साथ ही जावित्री का इस्तेमाल तीखा और मसालेदार फ्लेवर लाने के लिए दालचीनी और काली मिर्च के साथ इस्तेमाल किया जाता है। जावित्री के फायदे (benefits of mace) इसमें मौजूद मिनरल्स और फाइबर के कारण हैं। जावित्री खाने के फायदे ब्लड प्रेशर सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं। इसके साथ ही जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) स्वस्थ पाचन शक्ति के लिए भी जाना जाता है। अधिक जावित्री खाने के फायदे जानने के लिए यह आर्टिकल पूरा पढ़ सकते हैं।

जावित्री और जयफल, दोनों एक ही पौधे से आते हैं।
विषय सूची

जावित्री के पौष्टिक तत्व (Mace Nutritional Value In Hindi)

जावित्री में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व से जुड़ी जानकारी नीचे दी गई टेबल से प्राप्त कर सकते हैं।

पोषणमात्रा – 100 ग्राम
एनर्जी475 किलो कैलोरी
प्रोटीन6.71 ग्राम
फैट32.38 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट50.50 ग्राम
डाइटरी फाइबर20.2 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल0 एमजी
विटामिन ए800 आईयू
विटामिन सी21 एमजी
सोडियम80 एमजी
पौटेशियम463 एमजी
कैल्शियम252 एमजी
कॉपर20% (आरडीआई)
आयरन13.90 एमजी
मैग्नीशियम163 एमजी
मैग्नीज1.500 एमजी
स्रोत- यूएसडीए

जावित्री के फायदे (Javitri Benefits in Hindi)

जावित्री मसाले के कई सारे फायदे हैं अगर इसका सेवन सही मात्रा और सही तरीके से किया जाए। जावित्री के गुण सेहत से जुड़े हुए हैं जैसे कि स्वस्थ डाइजेशन, ऑक्सीजन का सही तरीके से बहाव आदि। जावित्री के फायदे (benefits of mace) से जुड़ी सारी जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1) जावित्री के फायदे स्वस्थ डाइजेशन के लिए (Javitri Benefits For Healthy Digestion)

जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) सबसे ज्यादा स्वस्थ डाइजेशन के लिए जाने जाते हैं। जावित्री में फाइबर पाया जाता है जो महत्तवपूर्ण माइक्रो आहार है। सेहतमंद फाइबर का सेवन करने से मेटाबोलिज्म मजबूत होता है और स्वस्थ तरीके से डाइजेशन होने में मदद मिलती है। सही मात्रा में फाइबर खाने से पेट में आसानी से पाचन प्रक्रिया पूरी होने में मदद मिलती है।

जावित्री के फायदे (benefits of mace) सेहतमंद डाइजेशन के लिए मौजूद होते हैं।

2) जावित्री के लाभ अच्छी नींद के लिए (Benefits Of Mace For Good Sleep)

अगर आपको नींद अच्छे से नहीं आती है तो जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) आपके काम आ सकते हैं। इससे कुछ हद तक सेडेटिव असर होता है। जावित्री में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और मैग्नीशियम न्यूरोट्रांसमीटर को रिलीज करने में मदद करता है जिससे नर्व सेल में आराम मिलता है जिससे अच्छी नींद आने में मदद मिलती है। जिन लोगों को नींद आने में परेशानी होती है उन लोगों के लिए जावित्री के गुण लाभदायक हो सकते हैं।

मेथी के फायदे डाइट में जरुर शामिल करें।

3) जावित्री के गुण बेहतर त्वचा के टैक्शर के लिए (Javitri Benefits For Better Skin Texture)

जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) त्वचा के लिए भी कई सारे हैं। जावित्री एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है जिससे फ्री रेडिकल के कम होने में मदद मिलती है। एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल के साथ मिल जाते हैं और सेहतमंद सेल के साथ मिलने से रोकते हैं। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने की वजह से त्वचा फ्री रेडिकल से दूर रहती है और त्वचा का टैक्शर अच्छा बना रहता है।

4) जावित्री खाने के फायदे सही तरीके से ऑक्सीजन के बहाव के लिए (Benefits Of Mace For Proper Circulation Of Oxygen)

जावित्री में आयरन पाया जाता है जो बहुत जरुर मिनरल है। जैसा कि आप सभी को पता है आयरन हीमोग्लोबिन प्रोड्यूज करने में मदद करता है जो ऑक्सीजन ले जाने वाले सेल हैं। इसलिए जावित्री के फायदे (benefits of mace) बढ़ जाते हैं। जावित्री के लाभ शरीर में सही मात्रा में ऑक्सीजन बनाए रखने में मदद करते हैं जिससे सभी अंग अच्छी तरह से काम करते हैं।

जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) ऑक्सीजन का बहाव सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं।

5) जावित्री के फायदे सामान्य ब्लड प्रेशर के लिए (Javitri Benefits For Regulating Blood Pressure)

जावित्री के लाभ सामान्य ब्लड प्रेशर बनाए रखने के लिए भी जाने जाते हैं। जावित्री में आयरन और मैग्नीशियम पाया जाता है जो नमक के असर को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। ज्यादा मात्रा में नमक होने से ब्लड वेसल्स सिकुड़ जाती हैं जिसस ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। जावित्री का सेवन करने से ब्लड प्रेशर सामान्य बनाए रखने में मदद मिलती है।

5 तरीके से जीरा डाइट में शामिल करें।

6) जावित्री के गुण एंटी- फंगल खूबी के कारण (Mace Has Anti- Fungal Property)

जावित्री के गुण एंटी- बैक्टीरियल होने के साथ- साथ एंटी- फंगल भी हैं। यह एक सेहतमंद मसाला है जिसको इम्युनिटी स्ट्रोंग करने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आसान शब्दों में कहा जाए तो जावित्री में कई गुण हैं जैसे कि एंटी- इंफ्लामेट्री, एंटी- बैक्टीरियल और एंटी- फंगल जो इम्युनिटी को स्ट्रोंग बनाने में मदद करते हैं।

7) जावित्री के लाभ मजबूत हड्डियों के लिए (Javitri Benefits For Strong Bones)

आयरन के अलावा जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) कैल्शियम के लिए भी जाने जाते हैं। कैल्शियम हड्डियां को मजबूत करने के लिए जाना जाता है। इसलिए जावित्री खाने के फायदे हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाने में सहायता कर सकते हैं। जावित्री का सेवन करने से हड्डियां समय से पहले कमजोर नहीं होती हैं।

जावित्री के गुण मजबूत हड्डियों के लिए भी जाने जाते हैं।

8) जावित्री खाने के फायदे स्वस्थ लिवर के लिए (Benefits Of Mace For Healthy Liver)

जयफल में पाए जाने वाला कंपाउंड मैरिसलिगनन (myrislignan) जावित्री में भी पाया जाता है। लिवर में मौजूद किसी भी तरह की चोट से यह कंपाउंड राहत पाने में मदद करता है। लिवर में फ्री रेडिकल के कारण सूजन हो सकती हैं और इस स्थिती में जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) काम आ सकते हैं।

हींग खाने के फायदे- खाने में हींग क्यों डालनी चाहिए।

9) जावित्री बहुत खुशबूदार मसाला है (Mace Is Exceptionally Aromatic)

जावित्री को स्वाद के लिए तो जाना ही जाता है इसके साथ ही जावित्री का इस्तेमाल किसी भी डिश को खुशबूदार बनाने के लिए कर सकते हैं। जावित्री एक ऐसा मसाला जिसकी मदद से स्वाद के साथ- साथ आपको सेहत भी मिलती है। इसके अलावा जावित्री के इस्तेमाल से खाना दिखने में भी अच्छा और सुंदर लगता है।

खाने में तीखापन और खुशबू लाने के लिए जावित्री का इस्तेमाल किया जाता है।

जावित्री का उपयोग (Uses Of Mace in Hindi)

जावित्री के फायदे (benefits of mace) इतने सारे हैं कि आपको इसे अवश्य ही डाइट में शामिल करना चाहिए। लेकिन इसका सेवन सही मात्रा में ही करें। सही मात्रा और सही तरीके से जावित्री का सेवन करने से आपको कई सारे फायदे आसानी से मिल सकते हैं। जावित्री का उपयोग कैसे करें से जुड़ी सारी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

  • जावित्री का इस्तेमाल सबसे पहले मसाले के रूप में किया जा सकता है। सबसे ज्यादा जावित्री का इस्तेमाल खाने में तीखा फ्लेवर और खुशबू लाने के लिए किया जाता है।
  • पहले के समय में जावित्री का इस्तेमाल पेट की परेशानियों ठीक करने के लिए भी किया जाता था।
  • जावित्री की मदद से चाय बना सकते हैं जिसको आप मसाला चाय कह सकते हैं।
  • चाय के अलावा दूध में भी जावित्री का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • जावित्री का उपयोग अचार और अपनी पसंद की सॉस, सूप बनाने के लिए भी किया जा सकता है।
जावित्री का इस्तेमाल मसाला चाय बनाने के लिए कर सकते हैं।

जावित्री के नुकसान (Side Effects Of Mace)

खाने का स्वाद और सेहतमंद फायदे बढ़ाने के लिए जावित्री का इस्तेमाल खाने में सही मात्रा में करना चाहिए। अधिक मात्रा में जावित्री के इस्तेमाल से जावित्री के नुकसान हो सकते हैं। सेहत के लिए हानिकारक होने के साथ- साथ यह खाने का भी स्वाद बिगढ़ सकता है। अधिक मात्रा में जावित्री का सेवन करने से यह नुकसान हो सकते हैं।

1) जलन और अपच (Irritation And Indigestion)

फाइबर का सेवन करने के लिए जावित्री बहुत अच्छा ऑप्शन है। फाइबर का सेवन करने से मेटाबोलिज्म अच्छा रहता है और वजन कम होने में भी मदद करता है। हालांकि फाइबर जल्दी से पचता नहीं है इसलिए इसका सेवन सही मात्रा में करना चाहिए। अधिक मात्रा में फाइबर का सेवन करने से अपच हो सकती है।

2) लो बल्ड प्रेशर (Low Blood Pressure)

जावित्री को ब्लड प्रेशर सामान्य बनाए रखने के लिए जाना जाता है लेकिन आपको बता दें कि अधिक मात्रा में जावित्री का सेवन करने से ब्लड प्रेशर हाई भी हो सकता है। ब्लड प्रेशर हाई होने से दिल की बीमारी होने के आसार बढ़ सकते हैं।

आखिर में

जावित्री और जयफल, दोनों ही एक पौधे से आते हैं जिस कारण यह दोनों मसाले बेहद लाभदायक हैं। जावित्री का इस्तेमाल खाने में भी किया जा सकता है। अगर आपको अपने खाने में तीखा स्वाद और खुशबू चाहिए है तो जावित्री एक अच्छा ऑप्शन है। जावित्री के इस्तेमाल से खाने में स्वाद के साथ- साथ सेहत भी मिलती है। जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) अवश्य लें लेकिन इसका सेवन सही मात्रा में ही करें। सही मात्रा में हर चीज़ का सेवन करने से आपको उसके फायदे अवश्य ही प्राप्त होंगे।

FAQs

  1. जावित्री का इस्तेमाल किस प्रकार किया जा सकता है? (What is the use of mace?)

    जावित्री का इस्तेमाल कई तरीके से किया जा सकता है जैसे कि खाने में तीखा स्वाद और खुशबू लाने के लिए, नमकीन डिश में, सॉस बनाने के लिए, सूप में, पेट की परेशानी के लिए आदि।

  2. जावित्री हर्ब है या मसाला? (Is mace a herb or spice?)

    जावित्री का स्वाद तीखा होता है और यह गर्म भी होता है। इसको खाने में खुशबू के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। यह जयफल से मिलता- झुलता है।

  3. जावित्री का फ्लेवर कैसा है? (What is the flavor of mace?)

    आमतौर पर जावित्री का फ्लेवर दालचीनी और काली मिर्च जैसा होता है। जयफल का तीखा फ्लेवर जयफल से मिलता- झुलता है।

  4. जावित्री के फायदे क्या हैं? (What are the benefits of mace?)

    जावित्री के फायदे (javitri ke fayde) कई हैं जैसे कि स्वस्थ डाइजेशन, अच्छी नींद, सेहतमंद लिवर, अच्छी त्वचा, मजबूत हड्डियां आदि।

लेखक के बारे में

सुरभि शर्मा मिश्री में हिंदी लेखिका हैं। इ्न्हें सवाल पूछना बहुत पसंद है शायद इसी कारण से इनके आर्टिकल आपको विस्तार जानकारी के साथ मिलेंगे। इनका कहना है कि अपने शौक को करियर में बदलने से अच्छा और क्या हो सकता है। लिखने के साथ- साथ और भी कई शोक रहे हैं लेकिन अब इन्हें लगता है कि यह अपना पसंदीदा काम कर रही हैं। 

इस लेखक द्वारा अधिक लेख
Story Tags :

Leave a Reply on जावित्री के फायदे, उपयोग, नुकसान (Javitri (Mace) Benefits, Uses, Side Effects in Hindi)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*