मूंगफली के 9 फायदे- मूंगफली को कैसे खाएं (9 Spectacular Benefits Of Peanuts)

मूंगफली का आकार मटर की तरह छोटा होता है जो बहुत सारे पोष्टिक आहार जैसे कि फाइबर और प्रोटीन से भरपूर है। इसके अलावा एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण यह आपके शरीर को अच्छे से काम करने में भी मदद करता है।

इसका नाम आपको अजीब जरुर लगेगा क्योंकि पीनट (मूंगफली) न तो मटर है और ना ही कोई नट है और आपको बता दें कि यह बिल्कुल अलग कैटेगरी की फली से तालुक रखता है। इन फली को रोस्ट या फिर नमक वाली बनाकर भी खा सकते हैं। प्रोटीन से भरपूर पीनट- बटर में मुख्य सामग्री होती है। प्रोटीन से भरपूर होने के कारण यह यह दिल और डायबटीज फ्रेंडली आइटम हैं। एंटीऑक्सींडट और फैटी एसिड होने के कारण मूंगफली को बहुत ज्यादा सेहतमंद माना जाता है।

peanuts
एंटीऑक्सींडट और फैटी एसिड होने के कारण मूंगफली को बहुत ज्यादा सेहतमंद माना जाता है।

मूंगफली क्या है?

शायद ही इस दुनिया में ऐसा कोई इंसान होगा जिसने मूंगफली को नहीं देखा होगा। मूंगफली को सबसे ज्यादा एक्सपोर्ट किया जाता है और इसके सेवन करने की मात्रा दुनिया भर में बहुत ज्यादा है। इनको ग्राउंडनट भी कहा जाता है और पूरी दुनिया में हर साल इसका करीब 44 मिलियन टन प्रोडक्शन होता है और वहीं भारत चीन के बाद दूसरे नंबर पर आता है। आइए मूंगफली से जुड़े कुछ जरुरी फायदो पर नज़र डालते हैं।

मूंगफली के फायदे (9 Spectacular Benefits Of Peanuts)

मूंगफली में प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंट और फैटी एसिड की मात्रा काफी अच्छी होती है जिस कारण यह सेहत के लिए बहुत लाभदायक है। नीचे से आप मूंगफली से जुड़े कुछ ऐसे फायदे के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे जिसके बाद आपको मूंगफली से प्यार हो जाएगा।

1. शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद

किसी भी खाने का ग्लाइसेमिक इंडेक्स यह बताएगा कि वो खाना आपके शुगर लेवल पर कितनी जल्दी असर करेगा। अच्छी बात यह है कि ग्लाइसेमिक इंडेक्स में मूंगफली का स्कोर 100 के मुकाबले सिर्फ 14 है और यह खूबी इसकी बेहद अच्छा है। अगर आपको हाई ब्लड शुगर या फिर डायबटीज है तो आप मूंगफली का सेवन कर सकते हैं और इससे आपका ग्लूकोज लेवल नहीं बढ़ेगा।

2. स्वस्थ दिल

मूंगफली के फायदे में से एक यह है कि यह सेहतमंद कोलेस्टॉल लेवल देता है जो इसमें मौजूद फैटी एसिड के कारण होता है। फोलेट, मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड और मैग्नीशियम की सही मात्रा होने के कारण यह खराब कोलेस्टॉल को कम रखने में मदद करता है। इसके अलावा यह ट्राइग्लिसराइड्स के लेवल को भी कम रखता है जो सेहतमंद दिल रखने में मदद करता है।

3. वजन कम करने में मदद

मूंगफली फाइबर से भरपूर होती है जो आपके पेट को लंबे समय के भरकर रखती है और आप दिनभर में कम कैलोरी का सेवन करते हैं। मूंगफली में फाइबर होता है जिसको पचने में काफी समय और एनर्जी लगती है जिस कारण आप बार- बार खाना नहीं खाते हैं। लंबे समय तक खाना न खाने से मैटाबोलिज्म सुधरता है और वजन कम होने में मदद मिलती है।

संबंधित आर्टिकल
वजन कम करने के उपाय (How To Lose Weight Naturally)।
इंटरमिटेंट डाइट (आईएम)- रुक- रुक कर खाने से क्या वजन कम हो सकता है?

4. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

मूंगफली में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स में से एक को रेस्वेराट्रोल कहा जाता है जो एक पॉलीफेनोलिक एंटीऑक्सिडेंट। इनका काम यह होता है कि यह एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल को सेहतमंद सेल से पहले ही इनसे मिल जाते हैं जिससे फ्री रेडिकल सेहतमंद सेल को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचा पाते हैं। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर डाइट फ्री रेडिकल के द्वारा होने वाले नुकसान से बचाव करती है। फ्री रेडिकल के नुकसान से कई बीमारी हो सकती हैं जैसे कि अल्जाइमर रोग, हृदय रोग और अपक्षयी तंत्रिका समस्याएं आदि।

peanuts
मूंगफली में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स में से एक को रेस्वेराट्रोल कहा जाता है जो एक पॉलीफेनोलिक एंटीऑक्सिडेंट।

5. ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाए रखने में मदद

मूंगफली मिनरल्स से भरपूर होती है जैसे कि कॉपर, मैंगनीज, कैल्शियम, पोटेशियम और ज़िक जो शरीर में ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं। नमक का सेवन ज्यादा करने से इसका बुरा असर रक्त वाहिकाएं पर होता है। लेकिन कॉपर इस असर को होने नहीं देता है जिससे ब्लड प्रेशर सामान्य बना रहता है।

6. प्रोटीन से भरपूर

मांसपेशियों के विकास के लिए प्रोटीन बहुत जरुरी होता है। मूंगफली में प्रोटीन भारी मात्रा में पाया जाता है जो शरीर के हर एक सेल को प्रोटीन की सही मात्रा देता है। प्रोटीन का सबसे महत्तवपूर्ण काम शरीर को एनर्जी देना, टिश्शू को सही करना और उनके जगह नए टिश्शू लेकर आना होता है।

7. विटामिन ई से भरपूर

सभी एंटीऑक्सीडेंट के मुकाबले फ्री रेडिकल से जो एंटीऑक्सीडेंट लड़ता है वो है विटामिन ई। विटामिन ई शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल के खतरे को कम करता है और त्वचा के सेल को पोषण देने में भी मदद करता है। विटामिन ई से भरपूर डाइट शरीर के हर एक सेल को पोषण से भरपूर रखता है।

8. मजबूत हड्डियां

मूंगफली कैल्शियम से भरपूर होती हैं जो हड्डियों को मजबूत करने का काम करती है। यह सभी को पता है कि कैल्शियम को हड्डियों और दातों को मजबूत बनाए रखने के लिए जाना जाता है। जब शरीर से एक्सट्रा पानी निकलता है तब कैल्शियम की कुछ मात्रा भी निकलती है। कैल्शियम से भरपूर डाइट होने के कारण आपकी हड्डियां कभी कमजोर नहीं होंगी।

9. ऑक्सीजन की कमी नहीं होती है

मूंगफली में कॉपर नाम का मिनरल होता है जो खून में ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है। कॉपर हीमोग्लोबिन प्रोड्यूज करने के लिए जाना जाता है जो खून में ऑक्सीजन को ले जाना का काम करता है। कॉपर का सेवन करने का मतलब है कि हीमोग्लोबिन का ज्यादा मात्रा में प्रोड्यूज होना जिससे शरीर में ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी। ऐसा होने से ऑक्सीजन की कमी से होने वाली बीमारी जैसे कि एनीमिया होने के भी आसार कम हो जाते हैं।

peanut
कैल्शियम से भरपूर डाइट होने के कारण आपकी हड्डियां कभी कमजोर नहीं होंगी।

मूंगफली खाने का तरीका

मूंगफली के फायदे जानने के बाद यह जानना जरुरी है कि इनका सेवन कैसे करना चाहिए। मूंगफली कई प्रकार में उपलब्ध हैं और इनको खाने का तरीका भी अलग- अलग होता है। नीचे से आप इससे जुड़ी जानकारी विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं-

1. ड्राए- रोस्टिड मूंगफली

इस तरह से मूंगफली को खाना सबसे आम तरीका है। बाहर का कवर उतारने के बाद इनको ओवन में रोस्ट किया जाता है और कभी- कभी इन पर नमक भी डाला जाता है। हालांकि इन पर नमक डालने के मना किया जाता है क्योंकि इससे मूंगफली के फायदे कम हो जाते हैं।

2. पीनट बटर

मूंगफली को खाने का दूसरा सबसे आम तरीका है पीनट बटर। इसको मूंगफली से बनाया जाता है और इसके साथ मीठा करने के लिए कुछ त्तव को डाला जाता है। आप हमारा दी बिग पीनट बटर रिव्यू यहां से पढ़ सकते हैं। बटर एक पेस्ट की तरह होता है जिसको आप ब्रेड पर लगाकर खा सकते हैं या फिर इसकी मदद से पीनट मिल्कशेक भी बना सकते हैं।

मूंगफली को खाने का दूसरा सबसे आम तरीका है पीनट बटर।

3. मूंगफली का तेल

वेजिटेबल ऑयल की जगह मूंगफली का तेल भी खाना बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसका हाई स्मोकिंग प्वाइंट होता है। अगर आपको ज्यादा तापमान पर खाना पकाना है तो आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। हाई स्मोकिंग प्वाइंट होने का मतलब है कि ज्यादा तापमान पर खाना बनाने के लिए यह अच्छा ऑप्शन है।

आखिर में

यह आपके लिए जानना जरुरी है कि मूंगफली से जुड़े फायदे के बारे में अभी भी अध्ययन जारी हैं। मूंगफली को अपनी डाइट में शामिल करने से यह आपके शरीर में प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है और कैलोरी की मात्रा को कम कर देता है। तो अब आपको किसी बात का इंतजार है? अपने शरीर के अनुसार मूंगफली को अपनी डाइट में जरुर शामिल करें।

FAQ

  1. मूंगफली के फायदे क्या हैं? (Is it good to eat peanuts everyday?)

    मूंगफली खाने के फायदे कई सारे हैं जैसे कि वजन कम करने में मदद, स्वस्थ दिल, हड्डियों को मजबूत करने में मदद, एंटीऑक्सीडेंटसे भरपूर, प्रोटीन से भरपूर, बल्ड प्रेशर सामान्य बनाए रखने में मदद आदि।

  2. क्या मूंगफली से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है? (Are peanuts responsible for increase in cholesterol?)

    आपको बता दें कि सही मात्रा में मूंगफली का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा सामान्य बनी रहती है। इसके साथ ही रोजाना सही मात्रा में मूंगफली खाने से कोलेस्ट्रॉल लेवल कुछ हद तक कम हो जाता है। मूंगफली और बादाम को एक साथ खाना बहुत लाभदायक होता है।

  3. अधिक मात्रा में मूंगफली खाने से क्या होता है? (What happens if you eat lot of peanuts?)

    अधिक मात्रा में मूंगफली खाने से पेट की कई सारी परेशानियां हो सकती हैं जैसे कि दस्त, पेट में दर्द, मितली, उलटी आदि। इसके अलावा गले में भी दिक्कत हो सकती है और कुछ लोगों को मूंगफली से एलर्जी होने के कारण त्वचा पर लाल धब्बे भी हो सकते हैं।

  4. क्या मूंगफली खाने से मोटापा बढ़ता है? (Do peanuts make you gain weight?)

    मूंगफली में भारी मात्रा में कैलोरी पाई जाती है। आपको बता दें कि 100 ग्राम मूंगफली में 567 कैलोरी होती है। अधिक मात्रा में और लंबे समय के लिए मूंगफली का सेवन करने से वजन बढ़ सकता है।

Leave a Reply on मूंगफली के 9 फायदे- मूंगफली को कैसे खाएं (9 Spectacular Benefits Of Peanuts)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*