हल्दीराम नवरात्रि थाली 2021 रिव्यू (Haldiram’s Navratri Thali 2021 Review)

haldiram navratri thali review

हल्दीराम नवरात्रि थाली 2021 रिव्यू (Haldiram’s Navratri Thali 2021 Review)

हल्दीराम नवरात्रि थाली (Haldiram’s Navratri Thali) में हर किसी के लिए कुछ न कुछ है। इस रिव्यू से पता लगाए कि हल्दीराम नवरात्रि थाली में क्या- क्या है और हमें सबसे ज्यादा क्या पसंद आया है।

मिश्री रेटिंग

फ्लेवर
3 / 5
3
विभिन्नता
3 / 5
3
किफायती
3 / 5
3
3

Quick Review Summary

हल्दीराम नवरात्रि थाली पोषण से भरपूर है। इसमें कई सारे सुपरफूड हैं जैसे कि पनीर, साबूदाना, आलू, खीरा, कुट्टू आदि जिनकी मदद से पूरा दिन एनर्जी से भरपूर रहता है।

हल्दीराम, पॉपुलर इंडियन रेस्टोरेंट है जिसकी स्थापना 1937 में बीकानेर, राजस्थान में हुई थी। इसका मुख्यालय नागपुर में है। रेगुलर मेन्यू के अलावा हल्दीराम नवरात्रि के लिए स्पेशल थाली लेकर आता है जो बिना प्याज और लहसुन के इस्तेमाल से बनाई जाती है। खासतौर पर यह उन लोगों के लिए होती है जो नवरात्रि के व्रत रखते हैं।

हल्दीराम नवरात्रि थाली इन नौ दिनों में मिलती है। कुछ डिश सिर्फ इस समय में मिलती हैं जैसे कि फलाहारी चाट, पकोड़े, डेजर्ट और बेवरेज जिनका सेवन व्रत में किया जा सकता है।

विषय सूची

हल्दीराम नवरात्रि व्रत थाली – इसमें क्या- क्या है?

हल्दीराम नवरात्रि थाली
हल्दीराम नवरात्रि थाली

जो लोग पूरे दिन व्रत रखते हैं उन लोगों के लिए थाली में जरूरी पोषण होते हैं जिनका सेवन व्रत के अनुसार किया जा सकता है।

अगर आप नवरात्रि थाली को ध्यान से देखें तो आपको पता चलेगा कि इसमें सेहतमंद डिश हैं। एक थाली में अलग- अलग फ्लेवर हैं जिससे व्रत में खाना खाने का अनुभव अच्छा हो सकता है।

व्रत के खाने में कुट्टू का आटा, साबूदाना, अमरनाथ का इस्तेमाल किया जाता है वहीं डेयरी प्रोडक्ट में पनीर और दही का उपयोग किया जाता है। करी बनाने के लिए मौसम अनुसार कद्दू और घीया का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं स्वादिष्ट टिक्की बनाने के लिए कच्चे केले, आलू और शकरकंद का इस्तेमाल किया जाता है। इससे यह देखा जा सकता है कि व्रत का खाना कितनी अच्छे, नए और दिलचस्प तरीके से बनाया जा सकता है।

हल्दीराम नवरात्रि व्रत थाली में 1-2 लोगों के लिए खाना है और यह आपकी डाइट पर भी निर्भर करता है। इस आर्टिकल से आप हल्दीराम नवरात्रि थाली की सामग्री, स्वाद, फ्लेवर और हल्दीराम नवरात्रि थाली 2021 खाने के अनुभव के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

1. कीमत

हल्दीराम नवरात्रि थाली हमने ऑनलाइन माध्यम ज़ोमेटो से खरीदी है। हल्दीराम नवरात्रि थाली की कीमत 390/- रुपए है। टैक्स और डिलीवरी का भुगतान अलग से किया गया है।

2. मेन्यू

हल्दीराम नवरात्रि थाली में 9 डिश थी।

  1. साबूदाना टिक्की x 1 पीस – साबूदाना व्रत के लिए सबसे जरूरी होता है और साबूदाना टिक्की अधिकतर सभी को पसंद आती है।
  2. आलू पापड़ x 4 पीस – आलू पापड़ को फ्राई किया गया था।
  3. सलाद में 4 पीस खीरा के थे – जिनके ऊपर किसी तरह का मसाला नहीं था। खीरा ताज़ा थी और स्वाद अच्छा था।
  4. पनीर मखनी – व्रत के समय पनीर बेहद पसंद किया जाता है क्योंकि यह दूध से बना होता है और साथ ही प्रोटीन की जरूरत पूरी करने में मदद करता है।
  5. अरबी मसाला – नवरात्रि थाली का स्वाद बढ़ाने के लिए अरबी मसाला शामिल किया गया है।
  6. सामक पुलाव – सामक चावल परफेक्ट तरीके से पकाए गए थे।
  7. वेजिटेबल रायता – टमाटर, खीरा और ताज़ा धनिया से रायते का स्वाद दोगुना हो गया था।
  8. कुट्टू का पराठा x 2 पीस – नवरात्रि थाली में कुट्टू की पूरी और पराठा होना जरूरी है। इस थाली में आपको सही साइज के 2 पराठे मिलते हैं।
  9. गुलाब जामुन – नवरात्रि थाली मिठाई के बिना अधूरी लगती है। और खाने के बाद गुलाब जामुन खाने से बेहतर और क्या हो सकता है।

3. उपलब्धता

महामारी की स्थिति को देखते हुए आप हल्दीराम नवरात्रि थाली ऑनलाइन फूड पोर्टल से ऑर्डर कर सकते हैं जिससे आपको गर्म और ताज़ा थाली आपके घर पर मिल सकता है। जिन्हें बाहर जाकर खाना है तो आप अपनी नज़दीकी ब्रांच में जाकर नवरात्रि थाली खाने का मज़ा ले सकते हैं।

हल्दीराम अपने सभी आउटलेट मेन्यू और कीमत में समानता रखते हैं और ऐसा ही नवरात्रि थाली मेन्यू के साथ भी है। हमारे नवरात्रि थाली रिव्यू से आप जान सकते हैं कि हल्दीराम के अधिकतर आउटलेट में नवरात्रि थाली में क्या मिल सकता है। 

4. ऑर्डर की जानकारी

नवरात्रि थाली लाने के लिए हम रेस्टोरेंट में नहीं गए। हमने ऑनलाइन फूड पोर्टल ज़ोमाटो से हल्दीराम नवरात्रि थाली ऑर्डर की थी। फूड डिलीवरी एजेंट ने मास्क पहन रखा था। ऑर्डर लेने से पहले हमने अच्छे से सेनेटाइज किया और बाहर वाला बैग फेंक दिया था।

ऑर्डर प्रोसेस स्मूथ था। हमने ऑनलाइन भुगतान कर दिया था और ऑर्डर हमारे पास समय पर आ गया था। जब खाना हमारे पास आया था तब गर्म था।

5. पैकेजिंग

नवरात्रि थाली अच्छे क्वालिटी के डिस्पोसेबल बॉक्स में अच्छे से पैक की गई थी। कुट्टू का पराठा अलग से फॉयल में पैक किया गया था और अलग बैग में आया था।

प्लास्टिक बॉक्स के कवर पर नीले रंग की स्लिप थी जिस पर ब्रांड का नाम लिखा था, हल्दीराम। खाना कहीं से लीक नहीं हो रहा था।

डिलीवरी तक डिश का तापमान सही रखा गया था। नवरात्रि थाली अच्छे और सुरक्षित तरीके से पैक की गई थी। इसके साथ चम्मच और पेपर नैपकिन भी आया था।  

6. फर्स्टइंप्रेशन 

जैसे ही हमने पैक खोला तो थाली देखने में स्वादिष्ट लग रही थी। पनीर की सब्जी प्लेट के दो हिस्सों में थी। बाकी हिस्सों में अरबी मसाला, खीरा, वेजिटेबल रायता, आलू पापड़ और गुलाब जामुन था। सबसे बड़े हिस्से में सामक के पुलाव थे।

आलू पापड़ गीला लग रहा था। कुट्टू पराठा थोड़ा सख्त हो गया था। शायद ऐसा तब न हो जब आप रेस्टोरेंट में जाकर तुरंत खाएं। 

लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि स्वाद के मामले में किसी तरह की कमी आई थी। इसका स्वाद बहुत अच्छा था।

7. मात्रा

आमतौर पर एक थाली में एक समय का पेट भरने के लिए खाना होता है।

हल्दीराम नवरात्रि थाली में एक बड़े इंसान और एक छोटे बच्चे के लिए सही मात्रा में खाना था।

कुट्टू पराठे का साइज बड़ा था। सामक पुलाव की मात्रा में अच्छी थी। पनीर की सब्जी दो छोटे हिस्सों में थी। गुलाब जामुन आपको बांटना पड़ सकता है क्योंकि थाली में सिर्फ 1 गुलाब जामुन था।

8. थाली में विभिन्नता

हल्दीराम नवरात्रि थाली उन लोगों के लिए है जो नवरात्रि के व्रत के दौरान कई प्रकार की शाकाहारी डिश का मज़ा लेना चाहते हैं। 

हल्दीराम नवरात्रि मेन्यू के बारे में जानकारी ऑनलाइन और ऑफलाइन पर विस्तार रूप से दी गई है। अगर आपकी भूख कम है तब भी हल्दीराम से छोटी साइज वाली नवरात्रि थाली ऑर्डर कर सकते हैं जिसे बिना प्याज और लहसुन के इस्तेमाल से बनाया जाता है।

सामक चावल के साथ वेजिटेबल रायता और मिर्च का अचार 246/- रुपए में उपलब्ध है।

सामक चावल पसंद नहीं है?

हल्दीराम की एक और छोटी थाली है जिसमें नवरात्रि सिंघाड़ा पराठा 2 + आलू की सब्जी + रायता है जिसकी कीमत 252/- रुपए है।

अगर आपको आलू पसंद नहीं है तो आपके लिए बिना आलू वाली थाली उपलब्ध है जिसकी कीमत 296/- रुपए है। इस थाली में नवरात्रि सिंघाड़ा पराठा 2 और पनीर की सब्जी है।

नवरात्रि सिंघाड़ा पराठा 2 + अरबी मसाला + सलाद + रायता + मिर्च का अचार 265/- रुपए में उपलब्ध है।

अगर आप व्रत करने के साथ व्रत के लिए स्नैक्स ढूंढ रहे हैं या प्रोटीन डाइट फॉलो कर रहे हैं तो आप नवरात्रि पनीर टिक्का खरीद सकते हैं जिसकी कीमत 270/- रुपए है। या फिर पीनट कटलेट जिसकी कीमत 50/- रुपए है।

अगर आपको चाट खाने का मन है तो आप हल्दीराम नवरात्रि पापड़ी चाट खरीद सकते हैं जिसकी कीमत 120/- रुपए है। वहीं नवरात्रि तवा आलू चाट की कीमत 92/- रुपए है।

अगर आप अला कार्टे खरीदना चाहते हैं तो नवरात्रि मेन्यू में नवरात्रि अरबी मसाला 205/- रुपए का है, सामक चावल – 300 ग्राम 225/- रुपए, दो लोगों के लिए 300 ग्राम आलू सब्जी 90/- रुपए, दो लोगों के लिए 300 ग्राम पनीर सब्जी 280/- रुपए, 110 ग्राम वेजिटेबल रायता 60/- रुपए और 1 व्रत का पराठा 85/- रुपए का है।

ऊपर दी गई हर डिश की कीमत में टैक्स नहीं जोड़ा गया है। अगर आप ऑनलाइन ऑर्डर करते हैं तो जगह के अनुसार डिलीवरी भुगतान भी करना होगा।

9. विभिन्नता में अंतर (रेगुलर, स्पेशल और डीलक्स थाली)

पूरे देश में नवरात्रि के व्रत रखे जाते हैं और हर किसी का व्रत रखने का तरीका और इसके नियम अलग होते हैं। कुछ लोग व्रत में कुछ भी नहीं खाते हैं वहीं कुछ लोग सिर्फ फलों का सेवन करते हैं। वहीं कुछ लोग खाने में शुगर का सेवन करते हैं लेकिन नमक का सेवन बिल्कुल बंद कर देते हैं। वहीं कुछ लोग रेस्टोरेंट में जाकर भी खाना खाते हैं जिसके साथ नवरात्रि व्रत के नियमों का पालन किया जा सके।

इस विभिन्नता के कारण आजकल रेस्टोरेंट में ग्राहक के अनुसार अलग- अलग साइज में थाली आसानी से उपलब्ध हैं।

कीमत

हल्दीराम नवरात्रि थाली की कीमत 390/- रुपए है। टैक्स और डिलीवरी का भुगतान अलग से किया गया था।

मेन्यू में विभिन्नता

  • रेगुलर हल्दीराम थाली में दो सब्जी होती है जिसमें लहसुन और प्याज का इस्तेमाल किया जाता है। सलाद में प्याज, नान, लच्छा पराठा, जीरा राइस, दाल मखनी, बूंदी रायता और मिठाई होती है।
  • हल्दीराम नवरात्रि थाली में खास बात यह है कि इसे बिना लहसुन और प्याज के इस्तेमाल से बनाया जाता है। और इसके साथ ही आयोडाइज्ड नमक की जगह सेंधा नमक का उपयोग किया जाता है क्योंकि आयोडाइज्ड नमक का सेवन व्रत में नहीं किया जाता है।
  • इसमें रेगुलर गेहूं के आटे की रोटी, पराठा या पूरी नहीं होती है। रेगुलर चावल की जगह सामक के चावल का इस्तेमाल किया जाता है। नवरात्रि थाली सुपरफूड से भरपूर होती है।
  • बूंदी के रायते की जगह वेजिटेबल रायता बनाया जाता है जिसमें खीरा, टमाटर का इस्तेमाल किया जाता है।
  • नवरात्रि के व्रत में दाल का सेवन नहीं किया जाता है।
  • नवरात्रि थाली में पनीर की सब्जी भी होती है लेकिन इसे बिना प्याज और लहसुन के इस्तेमाल से बनाया जाता है।
  • नवरात्रि थाली की डिश घी में बनाई जाती है।

10. हल्दीराम की खासियत

हल्दीराम शुद्ध शाकाहारी आउटलेट है। हल्दीराम में कई चीजें उपलब्ध हैं जैसे कि नमकीन, चिप्स, पापड़, अचार, सिरप, श्रीखंड, मिठाई, स्नैक्स, बेवरेज।

हल्दीराम रेस्टोरेंट में ताज़ा स्नैक्स, स्टार्टर, बेवरेज, मील्स, मिठाई और बिना अंडे वाला केक भी मिलता है। हर प्रोडक्ट को इसके स्वाद, क्वालिटी और कीमत के कारण पसंद किया जाता है।

हल्दीराम में स्नैक्स जैसे कि छोले भटूरे, पाव भाजी, कुलचा मटर, ढोकला और विभिन्न चाट बहुत पॉपुलर है। सर्दियों में क्रिस्पी जलेबी, मालपुआ, गाजर का हलवा और मूंग दाल का हलवा पॉपुलर होते हैं।

गर्मियों के बेवरेज जैसे कि लस्सी, कोल्ड कॉफी, खस खस सिरप आदि भी मिलते हैं।

जरूरी बातें

हल्दीराम नवरात्रि थाली

कीमत

390/- रुपए (बिना टैक्स भुगतान)

मात्रा

1-2 लोगों के लिए

पैकेजिंग

 

बॉक्स पैकेजिंग

  • कुट्टू का पराठा अलग से फॉयल में पैक किया गया था।
  • खाना लीक नहीं हुआ था।

उपलब्धता

 

  • ज़ोमाटो या स्विगी से ऑर्डर कर सकते हैं।
  • हल्दीराम से खुद लेकर जा सकते हैं।
  • हल्दीराम में बैठकर खा सकते हैं।

मेन्यू

  • पापड़ – 4
  • खीरा के स्लाइस – 4 
  • साबूदाना टिक्की – 1 
  • वेजिटेबल रायता
  • कुट्टू पराठा – 2
  • सामक पुलाव
  • पनीर की सब्जी
  • अरबी मसाला
  • गुलाब जामुन – 1
हल्दीराम नवरात्रि थाली रिव्यू
हल्दीराम नवरात्रि थाली रिव्यू

हल्दीराम नवरात्रि थाली मेन्यू की विस्तार से जानकारी

1. सलाद

थाली में सलाद के रूप में चार खीरा के स्लाइस थे। खीरा पर किसी तरह का मसाला नहीं था। खीरा ताज़ा थी और कड़वी नहीं थी। इनके ऊपर नींबू का रस नहीं था। यह प्लेन खीरा के स्लाइस थे।

प्रकार – सलाद

मुख्य सामग्री –

चार खीरा के स्लाइस

खीरा को सलाद के रूप में अच्छे से काटा गया था। 

स्लाइस का आकार एक जैसा था। यह ताज़ा था और इस पर किसी तरह का मसाला नहीं था।

स्वाद/ रिव्यू

खीरा का स्वाद ताज़ा था और यह कड़वी नहीं थी। खीरा का तापमान सामान्य था। यह स्वादिष्ट थी और खीरा खाते समय खीरा में पानी की मौजूदगी का एहसास हो रहा था।

2. साइड्स

थाली में साइड डिश के रूप में पापड़ दिया गया था। कई लोगों को खाने के साथ या बाद में क्रंच पसंद है जिसकी कमी पापड़ पूरी कर सकता है।

प्रकार – स्टार्टर

मुख्य सामग्री –

आलू पापड़

थाली के एक हिस्से में 4 आलू पापड़ थे। पापड़ डीप फ्राई किया गया था।

स्वाद/ रिव्यू

पापड़ का स्वाद ठीक- ठीक था क्योंकि जब तक पापड़ हमारे पास आया था तब तक यह गीला हो गया था। नमकीन पापड़ स्पाइसी नहीं थे और इन पर काली मिर्च और लाल मिर्च नहीं दिख रही थी। यह प्लेन पापड़ थे। इन्हें गर्म खाने के साथ पैक किया गया था जिस वजह से पापड़ की क्रिस्पीनेस चली गई थी।

3. दही

थाली में दही रायते के रूप में थी।

वेजिटेबल रायता थाली के एक हिस्से में था।

दही पानी की तरह पतली नहीं थी। दही ताज़ा और थोड़ी खट्टी थी जैसा कि रायता आमतौर पर होता है। घी से बनाई गई बाकी डिश के साथ अच्छी क्वालिटी की दही होने से स्वाद बढ़ जाता है।

प्रकार – रायता

मुख्य सामग्री – 

रायता में बारीक कटे हुए टमाटर, खीरा और ताज़ा धनिया था। कटी हुई सब्जी में रायता से अच्छी बाइट मिल रही थी और यह स्वादिष्ट था।

स्वाद/ रिव्यू

दही में ताज़ापन था और रायता फ्लेवर से भरपूर था जिसमें सेंधा नमक और भुना हुआ जीरा पाउडर था। रायते का स्वाद घर में बने ताज़े रायते जैसा था।

रायते में जीरा सही मात्रा में इस्तेमाल किया गया था जिस वजह से रायते का स्वाद अच्छा था।

4. साबूदाना टिक्की

थाली में गोल, फूली हुई साबूदाना की टिक्की थी। रिव्यू में टेस्ट करते समय टिक्की गर्म थी। टिक्की में फ्लेवर बरकरार था। साबूदाना की टिक्की चपटी हुई नहीं थी।

प्रकार – स्टार्टर

मुख्य सामग्री – 

साबूदाना, आलू, मूंगफली, हरी मिर्च, नमक, जीरा, करी पत्ता और ताज़ा धनिया।

व्रत के समय साबूदाना अहम होता है। आलू से कार्बोहाइड्रेट की जरूरत पूरी होती है वही मूंगफली से एनर्जी मिलती है और हरी मिर्च से गर्माहट मिलती है। व्रत के खाने में ज्यादा मसालों का उपयोग नहीं किया जाता है इसलिए फ्लेवर के लिए जीरे का इस्तेमाल किया जाता है। करी पत्ता और धनिया से ताज़ापन और फ्लेवर मिलता है।

स्वाद/ रिव्यू

साबूदाना और मूंगफली की वजह से टिक्की बाहर से क्रिस्पी थी। टिक्की में इस्तेमाल किए गए आलू में जीरा, ताज़ा हर्ब, करी पत्ता और ताज़ा धनिया का फ्लेवर था।

नमक बैलेंस था और हरी मिर्च का हल्का तीखापन महसूस हो रहा था लेकिन टिक्की स्पाइसी नहीं थी। टिक्की का स्वाद औसत था।

5. पनीर की सब्जी

पनीर की सब्जी मखनी स्टाइल डिश जैसी थी जिसकी ग्रेवी बटर पनीर की तरह थी। बटर पनीर ग्रेवी की तरह नारंगी रंग और स्वाद मीठा था।

हम हैरानी हुई कि इसे दो हिस्सों में दिया गया था। 

प्रकार – मैन कोर्स

मुख्य सामग्री – 

पनीर और टमाटर।

पनीर की सब्जी का रंग चमकीला नारंगी था। बटर पनीर ग्रेवी की तरह यह मीठी थी। पनीर के टुकड़े साफ तरीके से त्रिकोण आकार में काटे गए थे जो ताज़ा, सॉफ्ट और हल्के मीठे थे। ग्रेवी का फ्लेवर नटी था और स्थिरता मीडियम गाढ़ी थी। पनीर के टुकड़े सही मात्रा में थे जिससे हमें पनीर ढूंढने की जरूरत नहीं थी।

पनीर और ग्रेवी का अनुपात सही था। ग्रेवी टमाटर से बनाई गई है लेकिन ग्रेवी खट्टी नहीं थी। बल्कि बटर पनीर की तरह मीठा फ्लेवर था।

6. अरबी मसाला

अरबी, एक प्रकार की जड़ वाली सब्जी है जिसे नवरात्रि में खाया जाता है। टमाटर की ग्रेवी में बनाने पर इसका स्वाद खट्टा होता है। अरबी की सब्जी में खट्टास लाने वाले एजेंट की जरूरत होती है जैसे कि अमचूर या नींबू का रस। खट्टास मिक्स करने के बाद अरबी खाने से जीभ या गले में खराश नहीं होती है। अरबी और टमाटर एक साथ अच्छे से आए थे।

प्रकार – मैन कोर्स

मुख्य सामग्री –

अरबी और टमाटर

अरबी मसाला की ग्रेवी लथपथ थी जो गाढ़ी और खड़े मसालों से बनाई गई थी। देखने में यह डिश मसालेदार लग रही थी और इसका रंग गहरा भूरा था। अरबी अच्छे से पकी थी और मसाले की मोटी कोटिंग थी। ऐसा लग रहा था कि अरबी को उबालकर, काटकर फिर ग्रेवी में मिक्स किया गया था।

स्वाद/ रिव्यू

इसका स्वाद हल्का खट्टा था और मसाले की मात्रा मीडियम से ज्यादा थी। गले में मसाले लग रहे थे। अरबी से खराश नहीं आ रही थी। अरबी मसाला थोड़ी बहुत ऑयली थी। साबूदाने की टिक्की के साथ अरबी मसाला अच्छी लग रही थी।

7. कुट्टू पराठा

कुट्टू पराठे का साइज बड़ा था। जब हमारे पास ऑर्डर आया तब तक यह थोड़े सख्त हो गए थे। कुट्टू पराठे का टैक्शर सख्त था क्योंकि घी के उपयोग से बनाई गई चीजें अकसर ठंडी होने पर सख्त हो जाती हैं। इसलिए हो सकता है कि कुट्टू के पराठे में घी डालने से ठंडा होने के बाद पराठे सख्त हो गए थे।

प्रकार – ब्रेड

मुख्य सामग्री – 

कुट्टू, आलू।

व्रत के लिए कुट्टू और आलू की जोड़ी बेस्ट है। व्रत के समय इन से एनर्जी और कार्बोहाइड्रेट मिलता है। व्रत में इस्तेमाल होने वाले सेंधा नमक का उपयोग कुट्टू के पराठे में फ्लेवर लाने के लिए किया गया होगा। हमें महसूस हो रहा था कि पराठे घी में बनाए गए थे।

स्वाद/ रिव्यू

कुट्टू के पराठे घी में बनाए गए थे। पराठे का स्वाद अच्छा था लेकिन टैक्शर सख्त था। जैसे- जैसे पराठे ठंडे हो रहे थे इन्हें चबाने में समय लग रहा था। पराठे में नमक सही मात्रा में था। कुट्टू पराठे में खाते समय आलू के टुकड़े महसूस हो रहे थे। सिर्फ कुट्टू से डिश नहीं बनाई जा सकती है इसके लिए किसी और माध्यम की जरूरत होती है। कुट्टू का पराठा बनाने के लिए आलू से बेहतर और क्या हो सकता है।

8. सामक पुलाव

सामक पुलाव के रूप में थे। व्रत में चावल का सेवन नहीं किया जाता है लेकिन अगर आपको चावल खाने हैं तो सामक के चावल खा सकते हैं। सामक पुलाव में घी और जीरे का तड़का लगाया गया है और साथ में आलू मिक्स किए गए हैं। नमक सही मात्रा में है।

प्रकार – मैन कोर्स

मुख्य सामग्री – 

सामक चावल, आलू।

सामक चावल छोटे आकार के होते हैं। आमतौर पर इनका सेवन व्रत में किया जाता है जो पेट के लिए हल्के होते हैं। यह अच्छे से पके थे। अधिकतर चावल एक दूसरे से चिपके हुए नहीं थे। लेकिन थोड़े बहुत चिपके हुए थे लेकिन ज्यादातर चावल खिले खिले थे। सामक पुलाव का रंग हल्का लाल था।

स्वाद/ रिव्यू

सामक पुलाव में घी और जीरे का फ्लेवर था और साथ ही करी पत्ता, पूरी काली मिर्च थी जिससे डिश में स्वाद और फ्लेवर लाने में मदद मिली थी।

9. डेजर्ट

थाली में डेजर्ट के रूप में गुलाब जामुन था। गुलाब जामुन का आकार गोल था और हमारे पास आने तक तापमान सामान्य था। इसका स्वाद आमतौर पर मिलने वाले गुलाब जामुन की तरह था। यह डेजर्ट नवरात्रि स्पेशल थाली में आया है तो हमें लगता है कि हल्दीराम के द्वारा गुलाब जामुन बनाने के लिए मैदा की जगह सिंघाड़ा या कुट्टू का इस्तेमाल किया होगा…

प्रकार – डेजर्ट

मुख्य सामग्री – 

गुलाब जामुन में हम पिस्ता और केसर देख सकते थे। मुख्य सामग्री (किस प्रकार के आटे का उपयोग किया गया है) का पता नहीं चल रहा था।

स्वाद/ रिव्यू

मिठास का लेवल और स्वाद ठीक था। थाली में गुलाब जामुन के हिस्से में एक्स्ट्रा गुलाब जामुन की चाशनी नहीं थी। लेकिन गुलाब जामुन नमी से भरपूर था।

हल्दीराम नवरात्रि थाली की सामग्री
हल्दीराम नवरात्रि थाली की सामग्री

5 कारण से हम हल्दीराम थाली की सलाह नवरात्रि व्रत 2021 के लिए देते हैं

1. पर्याप्त मात्रा

हल्दीराम नवरात्रि थाली में खाने की मात्रा पर्याप्त थी। थाली में खाने की मात्रा एक बड़े इंसान और एक बच्चे के लिए काफी है। एक थाली में एक बड़े इंसान और छोटे बच्चे का पेट आराम से भर सकता है।

2. विभिन्नता

हल्दीराम थाली में कुल 9 डिश थी। हमें लगता है कि थाली में अच्छी भिन्नता थी लेकिन हम सोच रहे थे कि पनीर की सब्जी दो हिस्सों में क्यों दी गई थी।

3. क्विक डिलीवरी 

थाली ऑर्डर करने का प्रोसेस आसान था और हमारे ऑफिस में थाली की डिलीवरी जल्दी हो गई थी।

4. पौष्टिक भोजन

नवरात्रि थाली में सभी कुछ है जिसे पौष्टिक खाना कह सकते हैं। यह बैलेंस खाना है जिससे दिनभर एनर्जी बनी रहती है, खासकर व्रत के समय में जब आप दिन में सिर्फ एक बार खाना खाते हैं।

दही का ताज़ापन, सुपरफूड अनाज, पनीर से प्रोटीन, साबूदाना से कार्ब्स, खीरा से पानी जिससे मेटाबोलिज्म बढ़ता है और एनर्जी मिलने में मदद मिलती है।

5. आकर्षित पैकेजिंग

हल्दीराम नवरात्रि थाली आकर्षित पैकेजिंग में आती है जिससे आपको घर की प्लेट में खाना डालने की जरूरत नहीं है।

आखिर में

नवरात्रि के समय में लोगों के द्वारा सच्ची भावना के साथ व्रत रखें जाते हैं। इस समय नौ दिनों तक शुद्ध शाकाहारी खाना खाया जाता है। इस समय कुछ लोग हल्दीराम थाली का मज़ा ले सकते हैं वहीं कुछ कम खाते हैं तो ऑल कार्टे हल्दीराम नवरात्रि मेन्यू से खरीद सकते हैं। छोटी- छोटी भूख के लिए हल्दीराम में फलाहारी ट्रीट्स भी उपलब्ध हैं।

इस नवरात्रि क्या आप हल्दीराम नवरात्रि स्पेशल थाली ट्राई करना चाहेंगे?

*अगर आप हमारे रिव्यू से सेहमत हैं तो लाइक करें और अगर नहीं तो बताएं क्यों।

*अगर आप कोई प्रोडक्ट रिव्यू करवाना चाहते हैं तो यहां बताएं।

*फूड एंड बेवरेज में रोज़ाना कुछ न कुछ नया आता रहता है। हमारे रिव्यू आपको किचन का सामान खरीदनें में मदद करेंगे।

*हमारे रिव्यू निष्पक्ष हैं और रिव्यू के लिए सभी प्रोडक्ट हमारे द्वारा खरीदें गए हैं। इससे जुड़ी सारी जानकारी आप यहां से पढ़ सकते हैं।

*इस रिव्यू के लिए किसी भी ब्रांड ने स्पान्सर नहीं किया है। सभी खर्चा हमारे द्वारा किया गया है।

टीम मिश्री

Leave a Reply on हल्दीराम नवरात्रि थाली 2021 रिव्यू (Haldiram’s Navratri Thali 2021 Review)

Your email address will not be published. Required fields are marked *