टॉप 7 साबूदाना डिश सेहतमंद नवरात्रि के लिए
cooking-with-sabudana

टॉप 7 साबूदाना डिश सेहतमंद नवरात्रि के लिए

साबूदाना बेस्वाद होता है लेकिन बहुमुखी है। इससे खिचड़ी बनाएं. क्विक स्नैक या खीर। इस आर्टिकल से आप नवरात्रि में बनाने के लिए साबूदाना की लाजवाब डिश से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

भारत में साबूदाना पॉपुलर सामग्री है। खासतौर पर नवरात्रि के समय पर इसका सेवन विभिन्न स्वादिष्ट डिश बनाकर किया जाता है। साबूदाना गोल और स्पंजी होते हैं जो मुख्य तौर पर स्टार्च होता है। नवरात्रि के समय पर साबूदाना अपने साथ कई फायदे भी लेकर आता है जिससे व्रत आसानी से रखा जा सके। जो लोग नवरात्रि के व्रत में साबूदाना का सेवन करते हैं, यह आर्टिकल उन लोगों के लिए है। 

हालांकि साबूदाना बेस्वाद होता है लेकिन इसमें अच्छी बात यह है कि इसे कई तरह के मसालों के साथ पसंद के अनुसार बनाया जा सकता है। 100 ग्राम साबूदाना में 83 ग्राम कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। इस बात का खास ध्यान रखें कि साबूदाना का सेवन रोजाना करने से कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बढ़ सकती है जिससे वजन भी बढ़ सकता है।

संबंधित आर्टिकल: पॉपुलर साबूदाना ब्रांड

पकाने से पहले साबूदाना कैसे तैयार करें?

सही तरह से साबूदाना ना पकाने पर यह चिपक सकता है जिससे यह खाने लायक नहीं लगता है। और आप ऐसा बिल्कुल भी नहीं चाहेंगे।

इसके लिए आपको साबूदाना सही से पकाना आना चाहिए। ऐसा क्या करें कि साबूदाना चिपचिपा ना बने? आप कुछ जरूरी बातों का ध्यान रख सकते हैं। उदाहरण के तौर, सबसे पहले साबूदाना अच्छे से धो लें और एक्सट्रा स्टार्च निकाल लें, जो चिपचिपे साबूदाना का मुख्य कारण है। इसके बाद पानी डालें और इसका लेवल साबूदाना के लेवल से ¼ इंच ज्यादा होना चाहिए।

साबूदाना अच्छे से पानी में भिगाने से क्वालिटी और समय पर भी असर पड़ता है। फल्फी साबूदाना रखने के लिए अपनी डिश में कम से कम तेल का इस्तेमाल करें। अच्छे से पानी में भिगने के लिए साबूदाना को लगभग 3-4 घंटे लगते हैं। साबूदाना सही से भीगे हैं या नहीं, साबूदाना उंगली के बीच में लेकर मसले, अगर साबूदाना अच्छे से मसल जाते हैं तो इसका मतलब है कि यह अच्छे से भीग गए हैं।

पॉपुलर साबूदाना रेसिपी

व्रत के समय स्वादिष्ट साबूदाना से बनी डिश खाना का मन कर रहा है तो आप सही जगह पर आए हैं। यहां से आप साबूदाना से बनने वाली स्वादिष्ट डिश की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

नवरात्रि में घर में खाना बनाने की जगह स्पेशल व्रत ट्राई करना चाहेंगे? हमने पॉपुलर ब्रांड की नवरात्रि थाली ट्राई की हैं, जिन्हें आप ट्राई कर सकते हैं।

1. साबूदाना खिचड़ी

कटोरी में साबूदाना खिचड़ी के ऊपर दही डालते हुए
साबूदाना खिचड़ी

सामग्री

  • साबूदाना
  • उबले हुए आलू
  • तेल या घी
  • मूंगफली
  • मसाले

बनाने का समय

  • भिगाने का समय: 3 से 4 घंटे या रातभर
  • बनाने का समय: 25 मिनट

किसके साथ खाएं

  • मीठी दही
  • नारियल की चटनी

आलू और मूंगफली के साथ साबूदाना खिचड़ी बनाई जाती है और यह नवरात्रि की पॉपुलर डिश है। तेल, मूंगफली और मसालों के साथ बनाई गई डिश स्वादिष्ट होती है और साथ ही फ्लेवर का मिश्रण होता है।

2. साबूदाना खीर

कटोरी और चम्मच में साबूदाना खीर
साबूदाना खीर

सामग्री

  • साबूदाना
  • दूध
  • घी
  • शुगर या गुड़
  • ड्राई फ्रूट
  • इलायची
  • केसर

बनाने का समय

  • भिगाने का समय: 4 से 5 घंटे या पूरी रात
  • बनाने का समय: 25 मिनट

अपने खाने में मीठा जरूर शामिल करें और साबूदाना खीर से बेहतर क्या हो सकता है। साबूदाना खीर बनाने के लिए दूध और साबूदाना का इस्तेमाल किया जाता है। इसे बनाना आसान है। साबूदाना की खीर बनाते समय इलायची पाउडर डा सकते हैं।

संबंधित आर्टिकल:

कोमोरिन नवरात्रि स्पेशल थाली

3. साबूदाना वड़ा

प्लेट में साबूदाना वडा और दो चम्मच
साबूदाना वडा

सामग्री

  • साबूदाना
  • भुनी हुई मूंगफली
  • उबले हुए आलू
  • नमक
  • मसाले
  • फ्राई करने के लिए तेल
  • आटा

बनाने का समय

  • भिगाने का समय: 5 घंटे या पूरी रात
  • बनाने का समय: 40 मिनट

किसके साथ खाएं

  • पुदीने की चटनी
  • हरी चटनी

अगर व्रत के समय डीप फ्राई और क्रंची खाने का मन कर रहा है तो साबूदाना वडा बनाकर खा सकते हैं। इन्हें आप व्रत में चटनी के साथ खा सकते हैं।

4. साबूदाना थालीपीठ

साबूदाना थालीपीठ, मिर्च, अचार और धनिया
साबूदाना थालीपीठ

सामग्री

  • साबूदाना
  • तेल
  • मल्टीग्रेन आटा जैसे कि चावल, बाजरा, ज्वार, बेसन, गेहूं का आटा।
  • उबले हुए आलू
  • मिर्च
  • जीरा
  • भुनी और पिसी हुई मूंगफली

बनाने का समय

  • भिगाने का समय: रातभर या 5 घंटे
  • बनाने का समय: 30 मिनट

किसके साथ खाएं

  • दही
  • अचार
  • चटनी

इन्हें छोटे पैनकेक कहा जाता है। यह अंदर से सॉफ्ट और बाहर से क्रिस्प होते हैं। इन्हें मूंगफली, आलू, साबूदाना और मिक्स फ्लेवर के उपयोग से बनाया जाता है। यह डिश साबूदाना वडा की तरह लगती है लेकिन इसे बनाने के लिए कम तेल का उपयोग किया जाता है।

5. साबूदाना चिवड़ा

कटोरी में साबूदाना चिवड़ा
साबूदाना चिवड़ा

सामग्री

  • साबूदाना
  • काजू
  • किशमिश
  • भुनी हुई मूंगफली
  • नमक
  • लाल मिर्च पाउडर
  • तेल

बनाने का समय

  • भिगाने का समय: 5 से 6 घंटे या रातभर

चिवड़ा मज़ेदार स्नैक है जिसमें ड्राई फ्रूट्स का मिश्रण होता है। साबूदाना चिवड़ा रेसिपी लाइट स्नैक है जो व्रत के लिए स्वादिष्ट स्नैक बन सकता है। कुछ और मसाले और हर्ब्स मिक्स करने से यह पोषण से भरपूर स्नैक भी बन सकता है।

6. साबूदाना लड्डू

प्लेट में साबूदाना लड्डू
साबूदाना लड्डू

सामग्री

  • साबूदाना
  • चीनी या गुड़
  • घी
  • नारियल
  • कसा हुआ खोया या मावा
  • ड्राई फ्रूट
  • दूध

बनाने का समय

  • भिगाने का समय: 5 घंटे
  • बनाने का समय: 40 मिनट

इस मीठी डिश को भी आप नवरात्रि व्रत के खाने में शामिल कर सकते हैं। इसे बनाने के लिए घी या बटर का उपयोग किया जाता है। इन लड्डू में विभिन्न प्रकार के ड्राई फ्रूट्स जैसे कि काजू, बादाम डाले जाते हैं। इसमें घी के अलावा नारियल के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि नारियल तेल से लड्डू का आकार परफेक्ट तरीके से नहीं बन पाएगा क्योंकि घी से लड्डू अच्छे से बन जाते हैं।

7. साबूदाना पकोड़ा

प्लेट में साबूदाना पकोड़ा
साबूदाना पकोड़ा

सामग्री

  • बेसन
  • भुने हुए मूंगफली
  • साबूदाना
  • नमक
  • तेल
  • अजवाइन

बनाने का समय

  • भिगाने का समय: रातभर या 5 घंटे
  • बनाने का समय: 20 मिनट

किसके साथ खाएं

  • हरी चटनी

साबूदाना वडा की तरह, साबूदाना पकोड़े डीप फ्राई किए जाते हैं। इनका सेवन करते समय तेल की मात्रा का खास ध्यान रखें। अधिक मात्रा में तेल का सेवन करना हानिकारक हो सकता है।

संबंधित आर्टिकल:

स्वादिष्ट नवरात्रि स्नैक जरूर शामिल करें।

FAQs

साबूदाना रेसिपी से जुड़े दिलचस्प सवालों के जवाब यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

हाई कैलोरी होने के कारण, साबूदाना से बनी डिश लंच में खाना बेहतर है जिससे एनर्जी मिले और पेट लंबे समय के लिए भरा रहे।

अधिक मात्रा में साबूदाना खाने से पेट से जुड़ी दिक्कतें हो सकती हैं जैसे कि कब्ज, पेट में रुकावट। इसलिए साबूदाना का सेवन नियमित रूप से करें।

साबूदाना में भारी मात्रा में स्टार्च और कैलोरी होती है। रोजाना साबूदाना खाने से वजन और डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है। इसके अलावा, डाइजेशन और दिल से जुड़ी बीमारियां होने के आसार बढ़ जाते हैं।

साबूदाना के कई सारे फायदे हैं। यह प्राकृतिक रूप से ग्लूटेन फ्री होते हैं और डाइजेशन सुधारने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा यह स्वस्थ दिल रखने में मदद कर सकते हैं। यह मांसपेशियां मजबूत बनाने में भी मदद करते हैं।

आखिर में

नवरात्रि साल में दो बार आते हैं और हर कोई इस त्योहार को हर्ष और उल्लास के साथ मनाता है। नवरात्रि व्रत में साबूदाना से कई स्वादिष्ट डिश बनाकर खा सकते हैं। साबूदाना की मदद से आपको स्वादिष्ट डिश के साथ विभिन्न फ्लेवर और फायदे मिलते हैं। जिस वजह से साबूदाना नवरात्रि में महत्वपूर्ण सामग्री बन जाता है।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments