कसूरी मेथी के पत्तों के फायदे और नुकसान- कोलेस्टॉल और डायबटीज के लिए लाभदायक

कसूरी मेथी की पत्तियों में विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट और डायट्री फाइबर से भरपूर होती है जो सेहतमंद जिंदगी जीने के लिए लाभदायक है। कसूरी मेथी के पत्तों के फायदे इन हिंदी में जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

भारत में कसूरी मेथी पॉपुलर हरी सब्जी है। इसका सेवन बहुत बड़ी मात्रा में किया जाता है और भारतीय परंपरा में इसके फायदो पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है। भारत में मेथी की सब्जी, मेथी पुलाव और मेथी चिकन को मज़े से खाया जाता है। सूखी मेथी की पत्तियों को दाल तड़का में एक्स्ट्रा फ्लेवर लाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। कड़वी- मीठी स्वाद वाली मेथी स्वाद के साथ- साथ कई सारे सेहत से जुड़े फायदे भी देती है। कसूरी मेथी के पत्तों के फायदे से जुड़ी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें- मिश्री रिव्यू- बेस्ट कसूरी मेथी रिव्यू यहां से पढ़ सकते हैं।

कसूरी मेथी को देशभर में अलग- अलग खाने में इस्तेमाल किया जाता है। यह एक लेटन शब्द है जिसका मतलब है ग्रीक है जो जानवरों के लिए एक सुविधाजनक खाना है। पत्तियों के साथ- साथ मेथी के दाने को भारतीय मसालों में इस्तेमाल किया जाता है।

वीडियो- कसूरी मेथी के पत्तों के फायदे

कसूरी मेथी के पत्तियों के फायदे

1.ब्लड शुगर लेवल को सामान्य बनाए रखने में मदद

100 ग्राम मेथी के पत्तियों में 25 ग्राम डायट्री फाइबर होता है जो डायबटीज के लिए बहुत लाभदायक है। क्यों? इसमें फाइबर पाया जाता है जिसको पचने में काफी समय लगता है और इसके साथ ही इसको पचाने में ज्यादा एनर्जी लगती है जिससे शरीर का मैटाबोलिज्म सुधरने में मदद मिलती है। इससे इंसूलिन प्रोड्यूज होने में मदद मिलती है जो शुगर मोलिक्यूल को तोड़ने में मदद करते हैं।

2. स्वस्थ कोलेस्टॉल

यह सही है कि मेथी के पत्ते का सेवन करने से स्वस्थ कोलेस्टॉल बना रहता है। हाई फाइबर होने के कारण कोलेस्टॉल को कम अब्जॉर्ब किया जाता है। इसके बाद यह फैटी एसिड को रिलीज करते हैं जो लिवर में कोलेस्टॉल को कम करने में मदद करते हैं। पॉलीसेकेराइड कंपाउंड जिससे स्टेरॉयडल सैपोनिन्स कहा जाता है बाइल सोल्ट के साथ मिलकर बड़े मोलिक्यूलस बनाते हैं जो कोलेस्टॉल को खत्म करने में मदद करते हैं।

3. पाचन शक्ति की परेशानी से दूर

प्राकृतिक तौर से ठंडा होने पर मेथी के पत्ते पेट में छाले नहीं होने देते हैं। इसके साथ ही इसमें मौजूद फाइबर अपच खाने को शरीर में बाहर करने में मदद करता है। मेथी के पत्तियों का सेवन करने से यह पेट के चारों तरफ परत बना देते हैं जो पेट में गैस की दिक्कत, छालें, जलन और एसिड रीफेल्क से आराम देने में मदद करते हैं।

fenugreek
प्राकृतिक तौर से ठंडा होने पर मेथी के पत्ते पेट में छाले नहीं होने देते हैं।

संबंधित आर्टिकल
मेथी के दाने (Methi Dana) से स्वास्थ्य, त्वचा और बालों से जुड़े फायदे।

4. दिल को स्वस्थ रखने में मदद

मेथी के पत्तियों का रोजाना सेवन करने से ब्लड लिपिड लेवल स्वस्थ बना रहता है। यह खराब कोलेस्टॉल को कम करने में भी मदद करता है।

5. वजन कम करने में मदद

इसमें कोई शक की बात नहीं है कि फाइबर से भरपूर डाइट से वजन कम जरुर होता है। इसका सही उदाहरण मेथी के पत्ते हैं। फाइबर से भरपूर खाने को पचने में समय लगता है जिससे आप बार- बार खाना नहीं खाते हैं। साथ ही फाइबर को पचने में ज्यादा कैलोरी और एनर्जी बर्न होती है जिससे वजन कम होने में मदद मिलती है।

6. त्वचा से जुड़ी परेशानी का हल

विटामिन बी और बाकी के एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण यह त्वचा के सेल को सेहतमंद बनाए रखने में मदद करते हैं। विटामिन से त्वचा में पानी का स्तर बना रहता है जिससे त्वचा में नमी बनी रहती है। एंटीऑक्सीडेंट त्वचा में फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करता है और बढ़ती उम्र के आसार जल्दी से नहीं दिखाई देते हैं। मेथी के पत्तों का पेस्ट बाहर त्वचा पर लगाने से खतरनाक बैक्टीरिया त्वचा पर नहीं आते हैं जिससे त्वचा स्वस्थ बनी रहती है।

मेथी के पत्तों से नुकसान

हर आर्टिकल में हम आपको यह जरुर बताते हैं कि जिस चीज़ के फायदे होते हैं उस चीज़ के नुकसान भी होते हैं। वैसे ही मेथी के पत्तों का सेवन करने से जितने फायदे हैं उससे कम इसके नुकसान हैं। आइए इससे जुड़े कुछ नुकसान के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेते हैं-

खून पतला करने की खूबी मेथी के पत्तों में होती है जिससे दिल की बीमारी जैसे कि स्ट्रोक और दिल का दौरा पड़ने के आसार कम हो जाते हैं।

1. वजन बढ़ना

मेथी के पत्तें फाइबर से भरपूर होते हैं। इसलिए इनका सेवन नियमित रुप से ही होना चाहिए। फाइबर को पचने में ज्यादा समय लगता है अगर इसका सेवन अधिक मात्रा में कर लिया जाए तो वजन भी बढ़ सकता है। और वजन बढ़ाने के लिए आपको हमेशा सही तरीके का ही चुनाव करना चाहिए।

2. खून पतला करने के प्रभाव

खून पतला करने की खूबी मेथी के पत्तों में होती है जिससे दिल की बीमारी जैसे कि स्ट्रोक और दिल का दौरा पड़ने के आसार कम हो जाते हैं। अधिक मात्रा में मेथी के पत्तों का सेवन करने से खून ज्यादा मात्रा में पतला हो सकता है जिससे शरीर के अंगर ब्लीडिंग ज्यादा हो सकती है।

3. एलर्जी

मेथी के पत्तों से एलर्जी के केस बहुत ही कम हैं लेकिन यह कहा नहीं जा सकता है कि वो आप भी हो सकते हैं। इसलिए अपनी डाइट में मेथी के पत्तों को शामिल करने से पहले अपने डॉकटर से सलाह जरुर लें। एलर्जी के समय त्वचा पर छालें, सांस लेने में दिक्कत, त्वचा और गले में सूजन हो सकती है।

आखिर में

मेथी के पत्तों से नुकसान अकसर ही होते हैं लेकिन इनके बारे में भी जानना जरुरी है। इतने सारे फायदे जानने के बाद अब आप मेथी के पत्तों को अपनी डाइट में शामिल करना जरुर चाहेंगे। अपनी सेहत और शरीर के अनुसार मेथी के पत्तों के फायदे लेने के लिए इनको अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

Story Tags :

Leave a Reply on कसूरी मेथी के पत्तों के फायदे और नुकसान- कोलेस्टॉल और डायबटीज के लिए लाभदायक

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*