कोकम के फायदे, उपयोग और नुकसान
कोकम के फायदे

कोकम के फायदे- स्नैक्स का एक स्वस्थ विकल्प

कोकम ऐसा फल है जिसको फल, जूस, मसाले और दवाई के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। आयुर्वेद के समय से कोकम के फायदे प्राप्त किए जा रहे हैं।

कोकम की खासियत यह है कि इसका उपयोग कई तरह से किया जा सकता है। यह ऐसा फल है जिसका उपयोग खाने से लेकर दवाई तक के लिए किया जा सकता है।

कोकम क्या है? (what is kokum in hindi) आयुर्वेद में कोकम को वृक्षाम्ला के नाम से जाना जाता है। सुंदर बैंगनी रंग के फल का स्वाद खट्टा होता है। क्या आप जानते हैं कोकम फल (kokum fruit in hindi) का इस्तेमाल कई तरीके से किया जा सकता है जैसे कि खाना बनाने में, मसाले के तौर पर, दवाई के रूप में, तेल निकालने के रूप में और कोकम फल (kokum fruit in hindi) का जूस भी बेहद स्वादिष्ट होता है। जिस फल का इस्तेमाल इतने सारे तरीके से किया जा सकता है जरा सोचिए कोकम के फायदे (kokum benefits) कितने सारे होंगे। कोकम के फायदे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर, वजन कम करने के साथ- साथ और भी कई सारे हैं।

इस आर्टिकल से आप कोकम के फायदे (kokum benefits), कोकम का मतलब (kokum meaning in hindi), कोकम का उपयोग, कोकम से स्वादिष्ट डिश बनाने की रेसिपी और कोकम के नुकसान से जुड़ी जानकारी विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन इससे पहले आइए कोकम के पौष्टिक तत्व के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

कोकम फल
कोकम फल

कोकम के फायदे (kokum benefits) कई सारे हैं और कोकोम फल का सेवन करने से पहले यह जरूर पता होना चाहिए है कि कोकम के फायदे क्या हैं। कोकम फल (kokum fruit in hindi) में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व कई तरह से सेहत से जुड़े फायदे देने में मदद करते हैं। कोकम के पौष्टिक तत्व से जुड़ी विस्तार से जानकारी नीचे दी गई टेबल से प्राप्त कर सकते हैं।

पोषण मात्रा – 100 ग्राम
कैलोरी 60
फाइबर 1.8 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट 14.3 ग्राम
फैट 0.1 ग्राम
प्रोटीन 0.5 ग्राम

कोकम के फायदे

फल प्रकृति की देन है और इनका सही इस्तेमाल करने से फायदे लेना हमारे लिए लाभदायक है। कोकम क्या है? कोकम एक प्रकार का फल है जिसे बहुत आसानी से साथ डाइट में शामिल किया जा सकता है। आपको बता दें कि इसे कई रूप में डाइट में शामिल किया जा सकता है जैसे कि फल, मसाला, तेल, जूस आदि। आपको किस तरह से कोकम का सेवन करना पसंद है सिर्फ यह पता लगाना बाकी है। कोकम के फायदे (kokum benefits) की जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

कोकम खाने के फायदे
कोकम खाने के फायदे

1. स्ट्रांग इम्यूनिटी 

जी हां, कोकम के फायदे (kokum benefits) इम्यूनिटी स्ट्रांग करने में मदद कर सकता है। अगर आप अकसर बीमारी होते रहते हैं तो हो सकता है कि आपकी इम्यूनिटी कमज़ोर हो। इसके लिए डाइट में कोकम के फायदे (kokum benefits) कई रूप में शामिल कर सकते हैं जैसे कि फल, जूस आदि। कोकम के फायदे एंटी-बैक्टीरियल, एंटी- इंफ्लामेट्री से भरपूर हैं। कोकम खाने से आपको यह दोनों गुण भी मिलते हैं जो आपको बीमारी से बचाकर रखते हैं। कोकम से इम्यूनिटी स्ट्रांग होने में मदद मिलती है जिससे बीमार होने के आसार कम हो जाते हैं।

2. स्वस्थ डाइजेशन 

भाग- दौड़ भरी ज़िदगी में खान- पान भिगड़ गया है जिस कारण से गैस, कब्ज आदि जैसी पेट की परेशानियां होना आम बात हो गई है। लेकिन पेट से जुड़ी किसी भी बीमारी को नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए क्योंकि अधिकतर बीमारियां पेट से शुरू होती हैं। पेट स्वस्थ रखने के लिए कोकम के फायदे (kokum benefits) आपकी मदद कर सकते हैं। कोकम के गुण पेट की जलन, बदहज़मी, पेट में रुकावट आदि से राहत दे सकते हैं। ऐसे में कोकम जूस के फायदे (kokum juice benefits) आपकी मदद कर सकते हैं। ताज़ा कोकम जूस का सेवन करें। अधिक परेशानी होने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

संबंधित आर्टिकल: फलों के फायदे डाइट में जरूर शामिल करें।

एक पेड़ में कोकम फल
एक पेड़ में कोकम फल

3. पेट में छाले 

कोकम में एंटी-इंफ्लामेट्री गुण होते हैं जो पेट की जलन कम करने में मदद करते हैं। पेट के छाले होने पर कोकम जूस (kokum juice benefits) पीने से पेट के छालों से राहत मिलती है। डाइट में कोकम जूस शामिल करने से पेट में छाले होने के आसार कम हो जाते हैं। कोकम जूस से पेट में ठंडक और राहत मिलती है। अगर पेट में जलन ज्यादा है तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें। कोकम जूस (kokum juice benefits) से जुड़ी विस्तार से जानकारी यहां से प्राप्त करें।

Buy Kokum Syrup Online

4. एंटीऑक्सीडेंट 

अगर बीमारियों से दूर रहना है तो डाइट में ज्यादा से ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट शामिल करें। एंटीऑक्सीडेंट क्या होते हैं? एंटीऑक्सीडेंट ऐसे तत्व हैं जो बीमारी पैदा करने वाले तत्व से बचाकर रखते हैं। फ्री रेडिकल बीमारी पैदा करते हैं जो स्वस्थ सेल के साथ मिलकर इन्हें खराब कर देते हैं। लेकिन एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल के साथ मिल जाते हैं इन्हीं को खत्म करने में मदद करते हैं जिससे बीमारियों से बचाव मिलता है। इसलिए कहा जाता है कि डाइट में एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर फल शामिल करें। ऐसे में कोकम के फायदे (kokum benefits) डाइट में आसानी से शामिल किए जा सकते हैं।

5. सेहतमंद दिल 

दिल सेहतमंद बनाए रखने के लिए कई सारी चीजें मायने रखती हैं जैसे कि ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल लेवल, वजन आदि। कोकम के फायदे (kokum benefits) इन सभी चीजों का ध्यान रखने में मदद करते हैं। कोकम में कैलोरी कम होती है और इसके साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल लेवल भी सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं जिससे दिल की सेहत स्वस्थ बनी रहती है। और दिल से जुड़ी बीमारी होने के आसार कम हो जाते हैं।

संबंधित आर्टिकल: अंगूर के लाजवाब फायदे

6. वेट लॉस

जी हां, इस स्वादिष्ट फल को वेट लॉस डाइट में भी शामिल किया जा सकता है। कोकम के फायदे वजन कम करने में कई तरह से मदद करते हैं। सबसे पहले कोकम खाने से मेटाबोलिज्म बढ़ता है। इसके साथ ही कोकम में हाइड्रोक्सी साइट्रिक एसिड नाम का तत्व पाया जाता है जो फैट बर्न करने में मदद करता है। कोकम में कैलोरी की मात्रा कम होती है और इन सभी की मदद से कोकम के फायदे (kokum benefits) वजन कम करने में मदद करते हैं।

किताब, सेब, कलम, मापने वाली टैप
कोकम के फायदे वेट लॉस के लिए

7. स्वस्थ लिवर

कोकम का सेवन सबसे ज्यादा जूस के रूप में पसंद किया जाता है। कोकम जूस के फायदे (kokum juice benefits) कई सारे हैं जैसे कि कोकम जूस का सेवन करने से लिवर स्वस्थ रहता है। कई बार खाने में ऐसे केमिकल या हानिकारक तत्व होते हैं जो लिवर में परेशानी पैदा कर सकते हैं। ऐसे में कोकम जूस (kokum juice benefits) डाइट में शामिल करने से लिवर का बचाव इन केमिकल से रहता है।

Buy Kokum Dry Fruit Online

8. सामान्य ब्लड शुगर लेवल 

कोकम के फायदे (kokum benefits) ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रखने के लिए भी जाने जाते हैं। ब्लड शुगर लेवल सामान्य रखने के लिए कोकम जूस (kokum juice benefits) का सेवन किया जा सकता है। कहा जाता है कि कोकम जूस का सेवन करने से डायबिटीज में होने वाले तकलीफ से राहत मिलती है। लेकिन इसके बावजूद जिन लोगों को डायबिटीज है वो लोग कोकम जूस डाइट में शामिल करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

डायबिटीज मापने के लिए मशीन
कोकम के फायदे डायबिटीज के लिए

9. फटी एड़ियां 

क्या आप पैरों पर ध्यान कम देते हैं? और ध्यान भी तभी दिया जाता है जब एड़ियां फट जाती हैं और दर्द होने लग जाता है। मार्किट से महंगे- महंगे प्रोडक्ट लाने से अच्छा है कि आप घरेलू उपाय अपनाएं। इसमें कोकम के फायदे (kokum benefits) आपके काम आ सकते हैं। एक कटोरी में कोकम पाउडर लें और इसमें आपके पास उपलब्ध तेल डालें और पेस्ट बनाएं। सोने से पहले फटी एड़ियों पर यह पेस्ट लगाएं। कुछ दिनों में फटी एड़ियां मुलायम और सही हो जाएंगी।

10. सेहतमंद त्वचा और बाल

कोकम के फायदे (kokum benefits) सेहत के साथ- साथ त्वचा और बालों के लिए भी जाने जाते हैं। त्वचा और बालों के लिए कोकम का इस्तेमाल सीधा फल के रूप में भी किया जा सकता है या फिर कोकम पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। कोकम का इस्तेमाल त्वचा, बाल, होठ, एड़ियों पर किया जा सकता है।

संबंधित आर्टिकल: फ्रूट जूस या फल: क्या है ज्यादा सेहतमंद?

अच्छे कोकम की पहचान कैसे करें 

कोकम के फायदे (kokum benefits) इतने सारे हैं कि आप इसे डाइट में शामिल करने की सोच रहे होंगे। अगर आप कोकम खरीदने की सोच रहे हैं तो आपके लिए जानना जरूरी है कि अच्छा कोकम कैसा होता है और दिखने में कैसा होता है।

  • कोकम खरीदते समय यह देखें कि कोकम का रंग कैसा है। अच्छे कोकम का रंग गहरा बैंगनी होता है।
  • दाग लगा हुआ कोकम ना खरीदें।
  • अगर हो सके तो कोकम को सूंगकर देखें। खराब महक है तो मतलब कोकम खराब है।
कोकम फल का आंतरिक भाग
कोकम फल का आंतरिक भाग

कोकम का उपयोग 

कोकम के फायदे (kokum benefits) जानने के बाद यह जानना जरुरी है कि कोकम का उपयोग कैसे किया जाता है। आपको बता दें कि कोकम का उपयोग कई तरह से किया जा सकता है। इन सभी तरीकों में से आप कुछ भी ट्राई कर सकते हैं या फिर कोकम का उपयोग मज़ेदार बनाने के लिए कोकम को हर तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं।

1. कोकम फल

सबसे आसान तरीके से कोकम का उपयोग करने के लिए यह जैसा है वैसे ही रूप में किया जा सकता है- कोकम फल (kokum fruit in hindi)। कोकम फल का रंग बैंगनी होता है और खाने में इसका स्वाद खट्टा होता है। कोकम फल खाने के लिए इसका छिलका उतारना पड़ता है।

2. कोकम मसाला

कोकम फल खाने के लिए जो छिलका उतारा जाता है उसी से कोकम मसाला बनाया जाता है। छिलका उतारने के बाद इनको धूप में अच्छे से सुखाया जाता है और सुखाने के बाद छिलके को पीसकर मसाला बनाया जाता है। कोकम मसाला कई भारतीय डिश में इस्तेमाल भी किया जाता है।

3. कोकम बटर

कोकम बटर का इस्तेमाल ब्यूटी प्रोडक्ट में किया जाता है। कोकम साबुन, लिप बाम आदि प्रोडक्ट बनाने में काम आता है। कोकम के फायदे (kokum benefits) त्वचा के लिए भी कई सारे मौजूद हैं।

4. कोकम जूस

कोकम जूस पेट से जुड़ी परेशानी के लिए खासतौर पर जाना जाता है। कोकम जूस (kokum juice benefits) घर में आसानी से बनाया जा सकता है और डाइट में भी शामिल कर सकते हैं।

कोकम डिश 

कोकम के उपयोग से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने के बाद कोकम से कई सारी डिश भी बनाई जा सकती हैं। कोकम को फल, मसाला, जूस की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है इसलिए कोकम से बनने वाली डिश में आप कोकम का कोई भी रूप इस्तेमाल कर स्वादिष्ट डिश बना सकते हैं। कोकम से बनने वाली डिश के आइडिया आप नीचे से ले सकते हैं।

1. कोकम शरबत

कोकम शरबत को बनाने में थोड़ा समय लगता है लेकिन इसका रिजल्ट बेहद स्वादिष्ट निकलता है। कोकम शरबत बनाने के लिए आप नीचे दी गई रेसिपी फोलो कर सकते हैं।

कोकम शरबत बनाने की रेसिपी

  • कोकम शरबत बनाने के लिए सबसे पहले कोकम लें और इन्हें गर्म पानी में लगभग 2.5 घंटे से लेकर 3 घंटे के लिए भिगा दें।
  • लगभग 3 घंटे बाद भिगाए गए कोकम को ब्लेंडर में डालें और पेस्ट बना लें।
  • अब पैन में कोकम पेस्ट और स्वदानुसार चीनी डालें और उबालें।
  • उबलने के बाद इसमें भुना हुआ जीरा, काली मिर्च, स्वादानुसार नमक डालें और चम्मच से मिक्स करें।
  • गाढ़ा होने के बाद कोकम पेस्ट छान लें और ठंडा होने के लिए रख दें।
  • अब एक गिलास में एक चम्मच कोकम सिरप और पानी डालें।
  • अच्छे से मिक्स करें। कोकम शरबत तैयार है।
कांच के गिलास में कोकम जूस
कोकम से स्वादिष्ट डिश बनाएं

2. कोकम चटनी

अगर आपके पास सब्जी बनाने का समय नहीं है तो कोकम चटनी बना सकते हैं। इस बात का खास ध्यान रखें कि कोकम से बनने वाली हर डिश के लिए कोकम को गर्म पानी में 2 से 3 घंटे के लिए भिगाएं। इसके बाद ही कोकम से कोई भी डिश बनाई जा सकती है।

सिंपल कोकम चटनी बनाने की रेसिपी

  • सिंपल कोकम चटनी बनाने के लिए सबसे पहले भिगाएं गए कोकम लें और ब्लेंडर में डालें।
  • अब इसमें भुना हुआ जीरा, स्वादानुसार नमक, लाल मिर्च, चीनी डालें।
  • अच्छे से ब्लेंड करें और चटनी की स्थिरता अपनी पसंद के अनुसार रखें।
  • कोकम चटनी तैयार है। कोकम चटनी को रोटी, पराठा, डोसा आदि के साथ खा सकते हैं।

3. कोकम कढ़ी

कोकम कढ़ी बनाने की रेसिपी लगभग सामान्य कढ़ी बनाने की रेसिपी की तरह है। लेकिन इसमें अलग क्या कोकम कढ़ी रेसिपी से पता लगाएं।

कोकम कढ़ी बनाने की रेसिपी

  • कोकम कढ़ी बनाने के लिए हर बार की तरह कोकम गर्म पानी भिगाएं।
  • अब भिगाई गई कोकम का पानी छान लें। और इस बार इसमें मुख्य सामग्री कोकम का पानी है।
  • अब पैन में तेल गर्म करें और सामान्य तड़के के लिए मसाला डालें जैसे कि जीरा, हींग, कढ़ी पत्ता, लाल मिर्च, हरी मिर्च, लहसुन आदि।
  • मसाला अच्छे से पकाएं और फिर कोकम का पानी डालें।
  • कोकम कढ़ी अच्छे से उबालें और स्वादानुसार नमक डालें।
  • इसमें आप चीनी या गुड़ में से कुछ भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • कोकम कढ़ी तैयार है।

कोकम के नुकसान

कोकम के फायदे (kokum benefits) जितने हैं उससे कम नुकसान हैं लेकिन इनको नज़रअंदाज नहीं किया जा सकता है। कोकम के नुकसान कोकम का सेवन अधिक मात्रा में करने से हो सकते हैं। इसलिए कोकम डाइट में शामिल करने से पहले इसकी सही मात्रा जान लें और फिर शामिल करें। कोकम के नुकसान से जुड़ी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

  • अगर आप ब्लड प्रेशर की दवाई ले रहे हैं तो कोकम फल का सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करें।
  • अगर आपकी त्वचा पर आसानी से एलर्जी हो जाती है तो पहले हाथ पर कोकम का इस्तेमाल करें। सही लगने पर ही चेहरे पर इस्तेमाल करें।
  • अधिक मात्रा में कोकम का सेवन करने से पेट में परेशानी हो सकती है।
  • गर्भवति महिलाएं डॉक्टर की सलाह के बाद ही कोकम का सेवन करें।
  • दूध के साथ कोकम का सेवन ना करें। दोनों का सेवन एक साथ करने पर आंत पर बुरा असर पड़ सकता है।

FAQs

कोकम के फायदे से जुड़े दिलचस्प सवालों के जवाब यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

कोकम शरबत सेहतमंद है क्योंकि इसे पीने से पेट में ठंडक मिलती है। एंटी-इंफ्लामेट्री गुण के कारण पेट में जलन से राहत मिलती है। गर्मियों में कोकम शरबत के फायदे बढ़ जाते हैं।

कोकम का जूस पीने से पेट में ठंडक मिलती है। कोकम शरबत में ज्यादा चीनी डालने से गैस बन सकती है इसलिए चीनी की मात्रा कम ही डालें।

कोकम का उपयोग त्वचा पर कर सकते हैं। कोकम बटर का इस्तेमाल ब्यूटी प्रोडक्ट में किया जाता है जिससे त्वचा में नमी बनी रहती है। इसके साथ ही कोकम एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है जिससे त्वचा से जुड़ी बीमारी होने के आसार कम हो जाते हैं।

कोकम वेट लॉस में मदद करता है क्योंकि इसका सेवन करने से मेटाबोलिज्म बढ़ता है जिससे फैट बर्न होने में मदद मिलती है।

कोकम एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। इसके साथ ही कोकम के फायदे ब्लड शुगर लेवल सामान्य बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। लेकिन इसके बावजूद डायबिटीज होने पर कोकम डाइट में शामिल करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

आखिर में

कोकम के फायदे कई सारे हैं जिन्हें आसानी से लिया जा सकता है। कोकम के फायदे स्ट्रांग इम्यूनिटी, स्वस्थ डाइजेशन, स्वस्थ पेट से लेकर एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है। आपको बता दें कि कोकम का सेवन कई तरीके से किया जा सकता है जैसे कि फल के रूप में, जूस, मसाला, बटर आदि। कोकम का सेवन नियमित रूप से करने पर कई बीमारियों से बचाव मिल सकता है।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
26 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments