अनानास खाने के फायदे (Benefits Of Pineapple: Here’s Simply Why You Must Add This Tropical Fruit To Your Fruit Bowl)
pineapple-mishry

अनानास खाने के फायदे (Benefits Of Pineapple: Here’s Simply Why You Must Add This Tropical Fruit To Your Fruit Bowl)

अनानास एक ऐसा फल है जिसके गुणों के बारे में बहुत कम लोगों को पता है जिस कारण आप एक बहुत सेहतमंद फल को नज़रअंदाज कर रहे हैं। अनानास को आप सालद, स्मूदी, डेजर्ट, बर्गर की तरह खा सकते हैं।

इंसानों को प्रकृती से फल और सब्जी तोहफे में मिली हैं। यह कई सारे फायदो के साथ आते हैं जिनके बारे में लोगों को पता भी नहीं है। उन्हीं में से एक ट्रॉपिकल फ्रूट है अनानास जिसको पूरी दुनिया में लोगों के द्वारा पसंद किया जाता है। लेकिन कुछ ही लोगों को इसमें छिपे इसके फायदो के बारे में पता है। इसका जन्म साउथ अमेरिका में हुआ है लेकिन इसको दुनिया में अलग अलग साइज में पाया जाता है। इसका नाम अनानास (Pineapple) इसलिए रखा गया है क्योंकि यह देखने में पाइन कोर्न की तरह लगता है। यह फल इतना स्वादिष्ट है कि इसको जैसा है वैसा ही खाया जाता है साथ ही इसकी मदद से कई स्वादिष्ट डेजर्ट और डिश बनाई जाती है। जिन लोगों को अनानास के बारे में नहीं पता है कि इसके कितने सारे फायदे हैं वो लोग यह आर्टिकल पूरा पढ़ सकते हैं।

वीडियो- अनानास खाने के फायदे यहां से देखें

https://www.youtube.com/watch?v=WHEk-J2wF48

अनानास के फायदे

पोष्टिक आहार से भरपूर

अनानास को सबसे ज्यादा सेहतमंद इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह पोष्टिक आहार से भरपूर है। एक कप (लगभग 165 ग्राम) फ्रेश कटा हुआ अनानास आपको यह दे सकता है-

  • पूरे दिन का 131 विटामिन सी।
  • पूरे दिन का 76 मैंगनीज।
  • पूरे दिन का 10 कोपर, थायमिन, विटामिन बी 6, फोलेट, पोटेशियम, मैग्नीशियम, नियासिन, राइबोफ्लेविन, आयरन और पैन्थॉथिक एसिड।

हालांकि एक कप अनानास में 82 कैलोरी होती है लेकिन इसमें 22 ग्राम कॉबोहाइड्रेट, 2 ग्राम फैट और फाइबप भी पाया जाता है। इतने सारे पोष्टिक आहार होने के कारण इसको पोषण से भरपूर फूड कहा जाता है।

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

अनानास में पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड और फेनोलिक एसिड बीमारी से बचाकर रखते हैं और इम्यूनिटी को स्ट्रोंग बनाने में भी मदद करते हैं। यह फ्री रेडिकल से भी बचाकर रखते हैं जिसके चलते अनानास खाने से सूजन, क्रोनिक बीमारी से दूर रहने में मदद करते हैं।

इम्यूनिटी को बेहतर करने के लिए सबसे जरुरी विटामिन सी होता है। अनानास, विटामिन सी से भरपूर होते हैं इसलिए जब आप इसे अपनी डाइट में शामिल कर लेंगे तो आपको अपने इम्यून सिस्टम में बदलाव लगेगा। स्कूल के बच्चों पर एक अध्ययन किया गया था जिसमें अनानास और इम्यूनिटी के बीच संबंध ढूंढने की कोशिश की गई थी। कुल 98 बच्चों ने हिस्सा लिया जिनको 3 ग्रूप में बांटा गया। 9 हफ्तो के अध्ययन के लिए पहले ग्रूप के बच्चों को अनानास नहीं दिया गया। वहीं दूसरे ग्रूप के बच्चों को 140 ग्राम अनानास दिया और तीसके ग्रूप के बच्चों को 280 ग्राम अनानास दिया गया।

9 हफ्तो के अध्ययन के बाद, पहले ग्रूप के मुकाबले दूसरे और तीसरे ग्रूप के बच्चों की इम्यूनिटा वायरल के मुकाबले स्ट्रोंग मिली। इसके अलावा तीसरे ग्रूप के बच्चों में (जिनको सबसे अच्छा अनानास दिया गया) वाइट ब्लड सेल की मात्रा ज्यादा मिली जो बीमारी से लड़ने में मदद करती है।

अनानास में पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड और फेनोलिक एसिड बीमारी
से बचाकर रखते हैं और इम्यूनिटी को स्ट्रोंग बनाने में भी मदद करते हैं।

स्वस्थ डायजेशन

ब्रोमेलैन, एक एंजाइम जो अनानास में पाया जाता है इम्यूनिटी के साथ- साथ डायजेशन को भी स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह प्रोटीन को टोड़ने में मदद करते हैं। अगर आपकी अग्न्याशय (pancreas) यह एंजाइम नहीं बना पा रही है तो आपको अनानास का सेवन करना चाहिए।

कैंसर होने के कम आसार

कैंसर, सेल के खराब और इनमें सूजन होने से होता है। इसके अलावा सेल फ्री रेडिकल के कारण खराब होते हैं। अनानास में ताकतवर एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करते हैं।

कुछ टेस्ट- ट्यूब अध्ययन किए गए यह पता लगाने के लिए कि क्या अनानास कैंसर के सेल का जन्म होने से रोकते हैं। अध्ययन में यह पाया गया कि ब्रोमेलैन, एक एंजाइम जो अनानास में पाया जाता है यह स्तन कैंसर सेल, स्किन कैंसर सेल, गैस्ट्रिक कैंसर सेल और कोलोन कैंसर सेल का जन्म नहीं होने देते हैं। हालांकि इंसानों पर यह अध्ययन नहीं किया गया है।

संबंधित आर्टिकल
9 अमरूद के फायदे और इसके प्रकार।
अनार का जूस पीने के फायदे और कुछ नुकसान।
हरा सेब (ग्रीन एप्पल) के फायदे।
नारंगी संतरे (मेंडरिन संतरे) के फायदे और नुकसान।

गठिया जैसे रोगों से दर्द को कम करता है

ब्रोमेलैन, एक तरह का एंजाइम जो अनानास में पाया जाता है, इस बात का साबित किया गया है कि यह सूजन को कम करता है और इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है। गठिया जैसी बीमारी बुढ़ापे में होता है जिसमें हड्डियों में जलन होने लगती है। कई सदियों से, ब्रोमेलैन को हड्डियों की सूजन से आराम देने के लिए जाना जाता है।

पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस (osteoarthritis) वाले लोगों के दो ग्रूप बनाएं गए यह बात साबित करने के लिए। गठिया से गुजर रहे पहले ग्रूप के लोगों को ब्रोमेलैन एंजाइम दिया गया वहीं दूसरे ग्रूप को गठिया में आमतौर में दी जाने वाली दवाई डिक्लोफेनाक दी गई। अध्ययन में पाया गया कि दोनों ग्रूप के लोगों को एक जैसा आराम मिलता है। इससे यह पता चलता है कि डिक्लोफेनाक और ब्रोमेलैन दोनों ही गठिया के दर्द में आराम देते हैं।

रिकवरी प्रोसेस तेज करता है

सर्जरी और ज्यादा कसरत करने के बाद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लामैट्री रिकवरी प्रोसेस को तेज करने में मदद करती हैं। अनानास में सूजन को कम करने की खूबी है इसलिए यह रिकवरी के लिए बेस्ट माना जाता है। अनानास में ब्रोमेलैन नाम का एंजाइम पाया जाता है जो सूजन, दर्द, रिकवरी में मदद करता है।

अध्ययन के अनुसार जब लोगों को उनकी डेंटल सर्जरी से पहले ब्रोमेलैन दिया जाता है तब उन्हें कम दर्द होता है और रिकवरी भी जल्दी हो जाती है। इसके अलावा, जब लोगों को 45 मिनट के जबरदस्त ट्रेडमिल पर कसरत करने के बाद ब्रोमेलैन सप्लीमेंट दिया गया तो वो जल्दी रीकवर हो गए और मांनपेशियों के टिश्शू भी जल्दी रिकवर हो गए।

जब लोगों को उनकी डेंटल सर्जरी से पहले ब्रोमेलैन दिया जाता है
तब उन्हें कम दर्द होता है और रिकवरी भी जल्दी हो जाती है।

लाजवाब लचीलापन

अनानास सेहतमंद होने के साथ- साथ बहुत स्वादिष्ट और फ्लेवर से भरपूर होता है। आप अनानास को रोजाना खाने से कभी बोर नहीं होंगे क्योंकि इससे आप कई अलग- अलग तरह की डिश बना सकते हैं। इससे आप अपनी पसंद की डिश बना सकते हैं। अनानास को सलाद, करी, बर्गर, हेम्स, डेजर्ट, स्मूदी आदि कई तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आपको अनानास फल की तरह पसंद नहीं है तो आप इससे ऊपर दिए गए तरीके में से किसी भी तरीके से खा सकते हैं।

आखिर में

अगर आप अपने बच्चों के लिए ऐसे फल की तलाश में हैं जो उनकी इम्यूनिटी को स्ट्रोंग रखेगा और वायरल से बचाकर रखेगा तो उनको अनानास खिलाना शुरु कर दें। छोटे से ही बच्चों को अनानास खिलाने से उनकी हड्डियां मजबूत बनती हैं और इम्यून सिस्टम भी स्ट्रोंग रहता है। अगर बच्चों को अनानास फल की तरह पसंद नहीं है तो आप स्मूदी बना सकते हैं जो इन्हें जरुर पसंद आएगी।

अनानास एक ऐसा फल है जो हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद है। बुढ़ापे में हड्डियों में दर्द होने पर एक कटोरी अनानास खा लें या फिर ब्रोमेलैन का सप्लीमेंट खा लें जिससे आपको दर्द और सूजन में आराम मिलेगा। इसके कोई नुकसान नहीं है क्योंकि यह 100 प्राकृतिक दर्द फ्री टिप है। इन फलों को अपनी डाइट में शामिल करें और इनके फायदो से सेहतमंद जिंदगी की शुरुआत करें।

FAQs

  1. अनानास खाने के फायदे क्या हैं? (What are the benefits of eating pineapple?)

    अनानास खाने के कई फायदे हैं जैसे कि एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर, स्वस्थ डाइजेशन, जोड़ों के दर्द में आराम आदि।

  2. रोजाना अनानास खाने से क्या होता है? (What happens if you eat pineapple everyday?)

    रोजाना सही मात्रा में अनानास खाने के कई फायदे हैं जैसे कि पाचन शक्ति स्वस्थ रहती है, बीमारियों से बचाव करने में मदद करता है और जरुरत के जरुरी पोषण देता है।

  3. अनानास खाने के नुकसान क्या हैं? (What are the side effects of eating pine apples?)

    वैसे तो अनानास के नुकसान कम हैं लेकिन कच्चे अनानास का जूस पीने से उलटी, मितली, पेट खराब जैसा दिक्कतें हो सकती हैं।

  4. क्या अनानास से वेट लॉस होता है? (Does eating pineapple burn belly fat?)

    वेट लॉस के लिए अनानास के जूस का सेवन किया जा सकता है। अनानास के जूस के फायदे मेटाबोलिज्म बढ़ाने में मदद करते हैं जो वजन कम करने में मदद करता है।

  5. एक दिन में कितनी मात्रा में अनानास खाना चाहिए? (How much pineapple should you eat in a day?)

    जब भी आपको मिड डे स्नैक्स की भूख लगती है तो अस्वस्थ स्नैक्स से बेहतर है कि कोई फल ही खा लिया जाए। एक दिन में एक कप अनानास खाना सही है या फिर अनानास का जूस भी पी सकते हैं।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments