सीताफल के 9 अभिरम्य फायदे और इससे जुड़ी बातें - मिश्री
सीताफल के अभिरम्य फायदे और इससे जुड़ी बातें

सीताफल के 9 अभिरम्य फायदे और इससे जुड़ी बातें

सीताफल एक शानदार फल है जो पौष्टिक आहार से भरपूर है। डाइजेस्टिव सिस्टम स्वस्थ बनाए रखने के साथ- साथ यह शुगर लेवल सामान्य बनाए रखने में मदद करता है।

सीताफल ज्यादा पॉपुलर नहीं है लेकिन जब बात सीताफल के फायदे की आती है तो इसके कई सारे फायदे हैं। यह पोष्टिक आहार से भरपूर है। इसमें फाइबर, मिनरल्स और विटामिन मौजूद हैं जो एंटीऑक्सीडेंट और एंटी- इंफ्लामेट्री की खूबी अपने साथ लेकर आते हैं और सेहतमंद जिंदगी देने में मदद करते हैं। चाहे वो ब्लड प्रेशर हो या फिर ब्लड शुगर, यह आपको हर पौष्टिक आहार देने में मदद करता है।

यह फल वेस्ट इंडीज, मध्य अमेरिका, पेरू और मैक्सिको का मूल फल है जिसको दुनिया भर में अलग- अलग नामों से जाना जाता है। सीताफल के फायदे इन हिंदी में जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

सीताफल के फायदे से जुड़ी जानकारी विस्तार से यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

सीताफल के फायदे

सीताफल के फायदे डाइट में बेहद आसानी के साथ शामिल किए जा सकते है। इसे डाइट में शामिल करने से पहले सीताफल के फायदे से जुड़ी जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. सामान्य ब्लड शुगर लेवल

सीताफल शरीर में ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद करता है। सीताफल को इसकी एंटी- डायबिटिक खूबी के लिए जाना जाता है। सीताफल खाने के फायदे कई सारे हैं। इसको खाने से शरीर में इंसूलिन ज्यादा बनता है। इसमें भारी मात्रा में फाइबर पाया जाता है जिससे डाइजेस्टिव सिस्टम धीमी हो जाता है जिससे शुगर का अब्जॉर्बशन भी धीरे हो जाता है। ऐसा होने से अग्न्याशय (pancreas) को इंसूलिन बनाने का समय मिल जाता है।

2. सामान्य ब्लड प्रेशर

सीताफल के फायदे इसमें मौजूद मिनरल्स जैसे कि पोटेशियम और मैग्नीशियम से आते हैं जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है। नमक का सेवन ज्यादा करने से ब्लड वेसल्स पर परत जम जाती है जो ब्लड प्रेशर बढ़ सकत है। नमक का सेवन ज्यादा होने से पोटेशियम और मैग्नीशियम इसके बुरे असर को होने से रोकते हैं। यह ब्लड प्रेशर को बढ़ने नहीं देता है जिससे खून का बहाव सामान्य बना रहता है।

संबंधित आर्टिकल: फल खाने के लाजवाब फायदे

सीताफल डिश
सीताफल के फायदे सामान्य ब्लड प्रेशर के लिए

3. सामान्य कोलेस्ट्रॉल लेवल

पोटेशियम और मैग्नीशियम के अलावा सीताफल के फायदे इसमें मौजूद सोडियम के कारण भी हैं। सही मात्रा में पोटेशियम और सोडियम के होने से सामान्य ब्लड प्रेशर बने रहने में मदद मिलती है। वहीं दूसरी तरफ मैग्नीशियम दिल की मांसपेशियों को मुलायम बनाए रखता है जिससे दिल का दौरा और स्ट्रोक होने के आसार कम हो जाते हैं। इसके साथ ही सीताफल में फाइबर के साथ नियासिन नाम का कंपाउंड पाया जाता है जिससे खराब कोलेस्ट्रॉल कम होता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है।

4. सामान्य ऑक्सीजन लेवल

सीताफल के फायदे कई सारे हैं जैसे कि इसमें मिनरल्स भरपूर मात्रा में होने के साथ- साथ यह आयरन लेने का भी अच्छा आधार है। आयरन को हीमोग्लोबिन प्रोड्यूज करने के लिए जाना जाता है। यह पूरे शरीर में ऑक्सीजन ले जाने में मदद करता है। आयरन का सेवन करने से शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा सामान्य बनी रहती है और शरीर में ऑक्सीजन की कमी के आसार भी कम हो जाते हैं। साथ ही ऐसा होने से एनीमिया जैसी बीमारी होने के आसार बहुत कम हो जाते हैं।

बहुत सारे सीताफल
सीताफल खाने के फायदे ऑक्सीजन की कमी नहीं होने देते हैं

5. स्वस्थ डाइजेशन

पाचन शक्ति से जुड़ी परेशानी से लड़ने के लिए सीताफल के फायदे आपको कई सारे हो सकते हैं। यह एक ऐसा फ्लेवर से भरपूर फल है जो आपको पेट की परेशानी को दूर करने में मदद करता है। फाइबर से भरपूर होने के कारण यह आपके शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालता है और इंटेस्टाइन को स्वच्छ और सेहतमंद बनाए रखने में मदद करता है। एंटासिड की खूबी होने के कारण यह पेट की तकलीफ जैसे कि हार्टबर्न और एसिडिटी से छुटकारा पाने में मदद करता है। एक सीताफल खाने से आपको 6 ग्राम डायट्री फाइबर मिलता है जो पूरे दिन की 90% की जरुरत को पूरा करता है। इससे हम बिना किसी शक के साथ कह सकते हैं कि सीताफल के फायदे पाचन शक्ति के लिए हैं।

6. गठिया में राहत

आपको पहले भी बताया है कि मैग्नीशियम होने से सीताफल के फायदे कई सारे हैं। सीताफल खाने से शरीर में पानी का संतुलन बना रहता है जिससे जोडों में मौजूद एसिड निकल जाता है। ऐसा होने से गठिया जैसी बीमारी होने के आसार कम हो जाते हैं। इसके अलावा मैग्नीशियम से भरे सीताफल खाने से मांसपेशिया कमजोर नहीं होती हैं क्योंकि इसमें कैल्शियम मौजूद होता है जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

संबंधित आर्टिकल: फ्रूट जूस या फ्रूट- क्या ज्यादा सेहतमंद है?

टहनी पर सीताफल
सीताफल के फायदे गठिया से राहत के लिए

7. स्ट्रांग इम्यूनिटी

सीताफल के फायदे इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट के कारण भी होते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट जैसे कि विटामिन सी एंटी- इंफ्लामेट्री और इम्यूनिटी को स्ट्रोंग करने में मदद करते हैं। इसके एंटीऑक्सीडेंट इतने मजबूत होते हैं कि एक चम्मच सीताफल खाने से बाहरी रोगजनक से लड़ने में मददगार है। इसके अलावा यह फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करते हैं जो कई बीमारी के मुख्य कारण होते हैं।

8. स्वस्थ त्वचा

सीताफल का रोजाना सेवन करने से कोलेजन का प्रोडक्शन होने लगता है जो एक तरह का मरम्मत टिशू (repair tissue) है जो झुर्रियाँ और निशान को कम करने में मदद करता है। इसके साथ ही कोलेजन त्वचा में खिंचाव भी नहीं आने देता है। सीताफल में मौजूद विटामिन सी, फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करता है जिससे त्वचा से जुड़ी बीमारी होने के आसार कम हो जाते हैं। एंटीऑक्सीडेंट का सेवन करने से बढ़ती उम्र के आसार, धब्बे आदि देरी से आते हैं।

संबंधित आर्टिकल: आम के लाजवाब फायदे

9. मजबूत बाल

सीताफल का पेस्ट बालों में लगाने से या फिर सीताफल का सेवन करने से बालों का झड़ना कम हो जाता है। इससे बाल पौष्टिक आहार को अच्छे से अब्जॉर्ब कर लेते हैं। सीताफल में आयरन पाया जाता है जिससे बालों की जडों में खून का बहाव अच्छा रहता है और बाल सेहतमंद तरीके से बढ़ते हैं।

टेबल पर सीताफल
सीताफल के फायदे सेहतमंद बालों के लिए

आखिर में

सीताफल के फायदे कई सारे हैं अगर इसका सेवन रोजाना किया जाए। यह जानना आपके लिए जरूरी है कि क्या सीताफल डाइट में शामिल होने के लिए सही है। अगर आपने सीताफल को अपनी डाइट में शामिल करने का फैसला कर लिया है तो इसको खाने की मात्रा का खास ध्यान रखें।

आप किस तरह से सीताफल डाइट में शामिल करते हैं?

FAQs

सीताफल के फायदे से जुड़े दिलचस्प सवालों के जवाब यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. क्या सीताफल सेहतमंद है?

सीताफल के कई फायदे हैं जैसे कि स्ट्रांग इम्यूनिटी, सेहतमंत बाल, स्वस्थ त्वचा, गठिया होने के कम आसार, स्वस्थ डाइजेशन, सामान्य ऑक्सीजन लेवल आदि।

2. क्या सीताफल वेट लॉस में मदद करता है?

वेट लॉस डाइट में कैलोरी की मात्रा का खास ध्यान रखना पड़ता है और आपको बता दें कि सीताफल में ना के बराबर कैलोरी होती है जिससे यह वेट लॉस डाइट में आसानी से शामिल किया जा सकता है।

3. सीताफल खाने के बाद पानी पी सकते हैं?

कोई भी फल या खाना खाने के बाद पानी नहीं पीना चाहिए क्योंकि पानी पीने से डाइजेशन में रुकावट आ जाती है जिससे डाइजेशन प्रोसेस धीरे हो जाता है और खाना पचने में परेशानी आती है।

4. सीताफल के नुकसान क्या हैं?

अधिक मात्रा में सीताफल खाने से नुकसान भी हो सकते हैं जैसे कि दस्त, चक्कर आना, जोड़ों में दर्द आदि। इसलिए सीताफल का सेवन सही मात्रा में ही करें।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments