सूरजमुखी तेल (सनफ्लावर ऑयल) के 12 फायदे और नुकसान

सूरजमुखी तेल के फायदे और नुकसान के बारे में आप यहां से पढ़ सकते हैं। सूरजमुखी तेल खाने के फायदे अधिक है जिसकी पूरी जानकारी यहां से ले सकते हैं।

सूरजमुखी तेल (Sunflower Oil) को 3000 बी.सी से उगाया जा रहा है। सूरजमुखी तेल के फायदे और नुकसान दोनों हैं। सूरजमुखी तेल को अपनी डाइट में शामिल करने से हमारी बैलेंस डाइट अच्छी बनी रहती है। भारतीय कुकिंग में यह एक सबसे जरुरी चीज़ है। एंटी बैक्टीरियल की खूबी होने के कारण यह हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाए रखता है। इसके अलावा एंटी इंफ्लामेट्री होने के कारण यह जोड़ो के दर्द से आराम देता है। जिन लोगों को जोड़ो में दर्द रहता है उनको सूरजमुखी के तेल से मालिश करनी चाहिए। इसके अलावा और भी बहुत सारे सूरजमुखी तेल खाने के फायदे हैं जिसकी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

सूरजमुखी तेल (सनफ्लावर ऑयल) के 12 फायदे

1. प्राकृतिक एंटी इंफ्लामेट्री

सूरजमुखी तेल प्राकृतिक रुप से एंटी इंफ्लामेट्री होता है जिस कारण से यह हमें कई बीमारियों से बचाकर रखता है। यह अस्थमा जैसी खतरनाक बीमारी से भी बचाकर रखता है। डॉ. माइकल जेम्स द्वारा की गई स्टडी के अनुसार यह पता चला है कि सूरजमुखी के बीज के तेल का पोषण ऐसी बीमारियों के खिलाफ फायदेमंद हो सकता है जो मुख्य रूप से शरीर के इंफ्लामेट्री टिशू की सूजन का कारण होती है। इसलिए सूरजमुखी तेल को अपनी डाइट में अवश्य शामिल करें।

2. गठिया के लिए एक प्राकृतिक उपचार

सूरजमुखी तेल का प्राकृतिक रुप से एंटी इंफ्लामेट्री होने के कारण यह गठिया जैसी बीमारी से लड़ने में मदद करता है। गठिया की बीमारी तब होती है जब जोड़ो में जलन और दर्द होने लगता है। सूरजमुखी तेल की खूबी के कारण यह जोड़ो के दर्द में आराम देता है।

sunflower-oil-mishry

सूरजमुखी तेल का प्राकृतिक रुप से एंटी इंफ्लामेट्री होता है
जो गठिया से लड़ने में मदद करता है।

3. एनर्जी देता है

सूरजमुखी तेल में फैटी एसिड होने के कारण यह हमारे शरीर को एनर्जी देता है क्योंकि वो प्रोटीन में टूट जाते हैं। यह काम सिर्फ एक चम्मच सूरजमुखी का तेल कर सकता है।

4. इम्युनिटी का बढ़ना

एंटी इंफ्लामेट्री होने के साथ साथ यह एंटी बैक्टीरियल भी होता है जो हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। यह बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचाने में मदद करता है। लेकिन इसका फायदा तभी होगा जब आप इसका सेवन सही मात्रा में करेंगे। अगर आप सूरजमुखी तेल को अपनी डाइट में शामिल करना चाहते हैं तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरुर लें।

5. स्वस्थ दिल

एथेरोस्क्लेरोसिस एक ऐसी बीमारी है जो खराब कोलेस्ट्रॉल होने के कारण होती है। यह आपकी खून बहने की नली को बंद कर सकता है और ब्लड प्रेशर को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार है। कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा होने से दिल से जुड़ी कई बीमारी हो सकती है। पॉलीअनसेचुरेटेड फैट और मोनोअनसैचुरेटेड फैट जैसे कोलाइन और अन्य प्रकार के केमिकल होने के कारण सूरजमुखी तेल एनर्जी को बढ़ावा देने और खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है।

6. दातों के लिए अच्छा होता है

सी एल्बिकंस एक ऐसा बैक्टीरिया है जो लगभग 40% लोगों में मौजूद होता है और यह दातों की बीमारियों के मुख्य कारणों में से एक है। लेकिन सूरजमुखी तेल का सेवन करने से आप इन सभी बीमारी से बच सकते हैं।

सेहत के साथ साथ सूरजमुखी तेल त्वचा के लिए भी बुहत लाभदायक है। इसमें विटामिन ई होता है जो स्किन सेल को मजबूत करता है। अगर आप त्वचा को स्वस्थ रखने के फायदो के बारे में जानने चाहते हैं तो आप नीचे से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

7. हैल्थी स्किन

जैसा कि आपको पहले ही बता दिया गया है कि सूरजमुखी तेल में विटामिन ई होता है जो त्वचा को जरुरी पोषण देता है। विटामिन ई एंटीऑक्सीडेंट प्राप्त करने का एक अच्छा माध्यम है जो मुक्त कणों (फ्री सेल) के द्वारा किए जाने वाली हानि से लड़ता है। साथ ही यह आपकी स्किन को जवान भी रखता है।

8. मुँहासे से बचाता है

सूरजमुखी तेल के एंटी इंफ्लामेट्री होने के कई सारे फायदे हैं। जब इसको त्वचा पर लगाया जाता है तब यह बाहर के बैक्टीरिया से लड़ता है और हमारी त्वचा की सुरक्षा करता है। साथ ही इसमें विटामिन ई होता है, इसका सही मात्रा में सेवन करने से यह त्वचा को फायदे देता है जिससे हमारी त्वचा स्वस्थ रहती है।

sunflower oil and skin-mishry

त्वचा पर लगाने से त्वचा स्वस्थ रहती है।

9. एक्जिमा के लिए  प्राकृतिक उपचार

एक्जिमा एक प्रकार का रोग है जिसमें त्वचा पर कुछ पैच लाल, खुजली, सूजन और खुरदरे हो जाते हैं और कुछ मामलों में छाले एक सामान्य लक्षण बन जाता है। एक स्टडी के अनुसार विटामिन ई एक अच्छा एंटीऑक्सीडेंट है जो त्वचा से जुड़ी बीमारी से लड़ने में मदद कर सकता है। सूरजमुखी तेल विटामिन ई से भरपूर होता है जो एक्जिमा के लक्ष्णों से लड़ने में मदद भी करता है।

10. एंटी एजिंग

अभी तक तो हमें यह पता चल गया है कि सूरजमुखी तेल एंटीऑक्सीडेंट का एक बहुत अच्छा आधार है। इससे हमारी त्वचा के सेल मजबूत रहते हैं और बुरे सेल से लड़ने में मदद करते हैं। एंटीऑक्सीडेंट के कारण बुरे सेल हमारी स्किन में नहीं आ पाते हैं जिससे हमारी त्वचा लंबे समय के लिए जवान रहती है।

11. त्वचा को ड्राई होने से बचाता है

सूरजमुखी तेल को त्वचा पर लगाने के बाद स्किन कोमल और पोषण से भरपूर हो जाती है। जब यह तेल त्वचा पर लगाया जाता है तब आसपास की नमी आपकी त्वचा में आ जाती है जिससे त्वचा कोमल और स्वस्थ हो जाती है। सूरजमुखी तेल स्किन पर लगाने के बाद मालिश करें जिसके बाद आपको अपनी त्वचा फ्रैश, कोमल और स्वस्थ लगेगी।

12. घाव को भरने में मदद

सूरजमुखी में ओमेगा-6 नाम का एसिड होता है जो घाव भरने का काम करता है। इस एसिड की मदद से हमारे शरीर में नए सेल जन्म लेते हैं जिससे घाव जल्दी और आसानी से भर जाते हैं। इसलिए चोट लगने पर घाव जल्दी भर जाता है।

सूरजमुखी तेल के नुकसान

किसी भी चीज़ को सही मात्रा में न लेने से उसका नुकसान भुगतना पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हमारे शरीर को सही मात्रा में अलग अलग आहार की जरुरत होती है। अगर कोई एक आहार भी मात्रा से ज्यादा या फिर कम हो जाता है तो उसका नुकसान हो जाता है। इसलिए बैलेंस डाइट का होना बहुत जरुरी है। सूरजमुखी तेल से होने वाले नुकसान की जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

1. केलोरी में बढ़ोतरी

एक चम्मच सूरजमुखी तेल में 40 कैलोरी होती है। जो लोग अपने वज़न पर कंट्रोल रखते हैं उन लोगों के लिए यह बात जानना जरुरी है, क्योंकि 1 चम्मच तेल से आपके वज़न पर फर्क पड़ सकता है। सूरजमुखी तेल का सेवन करने से पहले इस बात का जरुर ध्यान रखें।

2. हाई फैट

सूरजमुखी तेल से खराब कोलेस्ट्रॉल और दिल की बीमारी से बचाव रहता है। लेकिन आपको यह भी पता होना चाहिए कि 100 ग्रॅाम सूरजमुखी तेल में 13 ग्राम फैट होता है जो आपको फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि आपको कितनी मात्रा में तेल का सेवन करना है। अधिक मात्रा में सेवन करने से खून में खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ सकती है।

3. किडनी के लिए खराब

सूरजमुखी का तेल फास्फोरस का एक अच्छा माध्यम है इसलिए बड़ी मात्रा में सेवन करने से आपकी किडनी के ऊपर एक फास्फोरस की परत बनने लगती है। जिसके कारण आपकी किडनी में पथरी की शिकायत हो सकती है। इसके लिए आपको सूरजमुखी तेल का सेवन सही मात्रा में करना होगा।

आखिर में

आखिर में यह कहा जा सकता है कि हर चीज़ का सेवन सही मात्रा में करने से ही उसका फायदा मिलता है। सही से सेवन करने से आपको कई फायदे प्राप्त हो सकते हैं। जैसे कि सही मात्रा में सूरजमुखी तेल का सेवन करने से आपका कोलेस्ट्रॉल और दिल स्वस्थ रहता हैं। वहीं अधिक मात्रा में सेवन करने से खराब कोलेस्ट्रॉल और किडनी की बीमारी हो सकती है। तो आप किस चीज़ का इंतज़ार कर रहे हैं एक अच्छे दिल और बेहतर इम्युनिटी के लिए सूरजमुखी तेल से ज्यादा प्राकृतिक और फायदेमंद कुछ नहीं हो सकता है।

Story Tags :

Leave a Reply on सूरजमुखी तेल (सनफ्लावर ऑयल) के 12 फायदे और नुकसान

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*