त्रिफला चूर्ण के फायदे, उपयोग और नुकसान- (Triphala Churna Benefits Uses and Side Effects in Hindi)

त्रिफला आयुर्वेद की पारंपरिक दवाई का अहम भाग है। त्रिफला को तीन आयुर्वेद फल से बनाया जाता है जिससे सेहत से जुड़े कई सारे फायदे हैं। त्रिफला चूर्ण के फायदे (Triphala Churna Benefits in Hindi) की जानकारी इस आर्टिकल से ले सकते हैं।

त्रिफला को आयुर्वेद की रीढ़ की हड्डी कहा जाता है। त्रिफला चूर्ण को तीन अहम सामग्री से बनाया जाता है इसलिए इसका नाम त्रिफला है, जिनको सूखाकर, पाउडर बनाकर और फिर बनाया जाता है। यह सामग्री हैं- आंवला, बहेड़ा और हरड़। इन तीनों को एक साथ मिलाने से यह सेहत से जुड़े फायदे देते हैं जिसके बाद इस मिश्रण को त्रिफला कहा जाता है। त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) कई हैं जैसे कि इसको कई सारी बीमारी के दौरान इस्तेमाल किया जाता है। आपको बता दें कि त्रिफला का सेवन कई तरीके से किया जा सकता है लेकिन सबसे ज्यादा फायदे त्रिफला का सेवन प्राकृतिक रूप से करने पर मिलते हैं।

आज के समय में लोगों को त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna ke fayde) के बारे में पता चल रहा है। इस आर्टिकल से आप त्रिफला चूर्ण को उपयोग कैसे किया जाता है से जुड़ी जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैं। त्रिफला चूर्ण के फायदे, त्रिफला चूर्ण का उपयोग, त्रिफला कैसे इस्तेमाल करें, त्रिफला चूर्ण के नुकसान से जुड़ी सारी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

विषय सूची
त्रिफला चूर्ण के फायदे (Triphala Churna Benefits In Hindi)
त्रिफला चूर्ण के फायदे सेहत के लिए (Health Benefits of Triphala Churna For Health In Hindi)

त्रिफला चूर्ण क्या है? (What is triphala churna in hindi?)

त्रिफला का संबंध आयुर्वेद से है। त्रिफला का अर्थ तीन फल है। इसका नाम त्रिफला इसलिए है क्योंकि इसको 3 फलों के गुणों से बनाया जाता है। वो तीन फल हैं- आंवला, बहेड़ा और हरड़। इन तीनों के बीजों को निकाल कर एक जैसी मात्रा में चूर्ण बनाया जाता है। त्रिफला चूर्ण को कई सारी बीमारियों के दौरान लिया जाता है लेकिन खासतौर पर त्रिफला को पेट से जुड़ी दिक्कतों के दौरान लिया जाता है। आपको बता दें कि त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) इसमें मौजूद तीन फलों के कारण हैं। त्रिफला के फायदे सेहत, त्वचा और बालों से जुड़े हुए हैं जिससे जुड़ी सारी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

त्रिफला चूर्ण के फायदे
त्रिफला चूर्ण तीन फलों से बनाया गया है- आंवला, बहेड़ा और हरड़।

त्रिफला चूर्ण के फायदे (Triphala Churna Benefits In Hindi)

त्रिफला में फायदे इसमें मौजूद तून फलों के कारण हैं। इन तीन फलों के कारण त्रिफला के गुण बढ़ जाते हैं। त्रिफला के लाभ शरीर के साथ-साथ त्वचा और बालों को भी प्राप्त होते हैं। त्रिफला चूर्ण का उपयोग आप कैसे कर सकते हैं से भी जुड़ी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं। आइए सबसे पहले बात करते हैं त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna ke fayde) सेहत के लिए।

त्रिफला चूर्ण के फायदे सेहत के लिए (Health Benefits of Triphala Churna For Health In Hindi)

त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) आयुर्वेद के ज़माने से इस्तेमाल में लिए जा रहे हैं। आपको बता दें कि त्रिफला चूर्ण के गुण आप आसानी से ले सकते हैं। त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) जानने के बाद आप इसका सेवन करना चाहेंगे। लेकिन इससे पहले त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna ke fayde) सेहत के लिए जुड़ी सारी जानकारी नीचे से प्राप्त कर लें।

1. त्रिफला चूर्ण से इम्यूनिटी मजबूत होती है (Triphala Helps Strengthens Immunity in Hindi)

त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna ke fayde) इसमें मौजूद तीन सामग्री के कारण है। यह सामग्री है- आंवला, बहेड़ा और हरड़। इन तीनों का मिश्रण इम्युनिटी मजबूत बनाने में मदद करते हैं। इसमें आंवला के फायदे कई सारे हैं क्योंकि यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है जिस कारण यह फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करता है। साथ ही एंटीऑक्सीडेंट इम्युनिटी को मजबूत बनाकर फ्री रेडिकल से बचाव करते हैं। वहीं दूसरी तरफ हरितकी को सफेद ब्लड सेल प्रोड्यूज करने के लिए जाना जाता है जो बाहर से होनी वाली बीमारी से बचाव करता है। विभिताकी, शरीर में से बैक्टीरिया निकालने का काम करता है।

2. त्रिफला चूर्ण मूत्र पथ के संक्रमण रोकता है (Triphala Churna Prevents Urinary Tract Infections)

कई बैक्टीरिया ऐसे होते हैं जिन पर दवाई का असर भी नहीं होता है और आखिर में इंसान को बीमार कर देते हैं। मूत्र पथ के इंफेक्शन ऐसे बैक्टीरिया के कारण ही होते हैं जिससे ब्लैडर में सूजन हो जाती है। इस स्थिति में त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) आपकी मदद कर सकते हैं। इसका सेवन करने से ऐसे बैक्टीरिया ता जन्म नहीं हो पाता है और यह बैक्टीरिया मर जाते हैं।

3. त्रिफला चूर्ण के फायदे दर्द में आराम देते हैं (Triphala Churna Act as Pain-Relief)

त्रिफला में मौजूद हरितकी का सेवन करने से सूजन में आराम मिलता है। जोडों और मांसपेशियों में सूजन में आराम देता है और शरीर में से यूरिक एसिड को बाहर निकालने में मदद करता है। त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde), त्रिफला को पानी में मिलाकर पीने से गठिया, जोडों में दर्द में आराम देता है।

4. त्रिफला पाउडर से ब्लड प्रेशर सामान्य रहता है (Triphala Churna Regulates Blood Pressure)

जैसा कि पहले भी बताया गया है कि त्रिफला खाने से सूजन में आराम मिलता है। इसका मतलब है ब्लड वेसल्स जो नमक के संपर्क में रहती हैं वो ज्यादातर सीकुड़ जाती है जिससे खून का बहाव बढ़ जाता है। ऐसा होने पर त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) सूजन कम करने में मदद करते हैं और ब्लड प्रेशर को बी सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं।

त्रिफला चूर्ण के फायदे
त्रिफला चूर्ण सूजन कम करने में मदद करता है।

5. त्रिफला के लाभ पाचन शक्ति स्वस्थ रखने में मदद करते हैं (Triphala Churna Helps In Healthy Digestion)

सदियों के त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) स्वस्थ पाचन शक्ति के लिए इस्तेमाल किए जा रहे हैं। यह गैस्ट्रिक जूस को प्रोड्यूज करते हैं जिससे खाना अच्छे से पचता है। इसके रेचक गुण आंत्र को सही से काम करने में मदद करते हैं जिससे बिना पचा हुआ खाना बाहर निकल जाता है। त्रिफला खाने से पेट साफ रहता है और पाचन शक्ति को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।

6. त्रिफला स्वस्थ दिल के लिए लाभदायक है (Triphala Churna Boosts Cardiovascular Health)

अभी तक यह आपको पता चल गया होगा कि त्रिफला का सेवन करने से खून का बहाव सामान्य बना रहता है। इसके अलावा भी त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) कई सारे हैं जैसे कि हाइपर टेंशन को कंट्रोल, कोलेस्टॉल लेवल को बढ़ने से रोकना और साथ ही फैट को जमा ना होने देना। इन सभी को रोकने से दिल में खून का बहाव सही बना रहता है जिससे दिल सेहतमंद रहता है

7. त्रिफला चूर्ण के गुण गैस्ट्रिक छालों में आराम देते हैं (Triphala Churnna Treats Gastric Ulcers)

जब पेट में एसिड वातावरण खराब हो जाता है और पेट के अंदर जलन होने लग जाती है तब गैस्ट्रिक छालें हो जाते हैं। त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) यहां काम आते हैं। त्रिफला में मौजूद तीन सामग्री पेट के एंजाइम को सुधारती है और श्लेष्मा झिल्ली (mucous membrane) को मजबूत बनाने में मदद करती है।

8. त्रिफला के फायदे आंखों के लिए (Triphalaa Churna is Vital For Eye Health)

त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna ke fayde) आंखों से भी जुड़े हुए हैं। त्रिफला का सही मात्रा में सेवन करने से नेत्रश्लेष्मलाशोथ (conjunctivitis), मोतियाबिंद (cataract) आदि से बचाव रहता है। त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) आंखों के लिए भी हैं, इससे आंखें धो सकते हैं। रातभर त्रिफला को पानी में भिगाकर रख दें और सुबह इस पानी से आंखों को धो लें। इसके अलावा एक अध्ययन में यह दावा किया गया है कि त्रिफला चूर्ण कई तरह के कंप्यूटर आई सिड्रोम के खिलाफ काफी असरदार है।

9. त्रिफला पाउडर से ब्लड शुगर लेवल सामान्य बना रहता है (Triphala Churna Manages Blood Sugar Level)

त्रिफाल में मौजूद हर सामग्री हाइपरग्लाइकेमिया के खिलाफ लड़ने में मदद करता है। यह एक स्थिती है जिसमें ब्लड प्लाज़मा में बहुत अधिक मात्रा में ब्लड ग्लूकोज लेवल बहता है। आपको पहले भी बताया है कि त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) इसमें मौजूद सामग्री के कारण है जो ब्लड ग्लूकोज लेवल को सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं।

त्रिफला चूर्ण के फायदे
त्रिफला के फायदे ब्लड शुगर लेवल सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं।

10. त्रिफला चूर्ण के गुण स्वस्थ मुंह के लिए (Triphhala Churna is Good For Oral Hygiene)

एंटी- माइक्रोबियल खूबी होने के कारण त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) मुंह के लिए बढ़ जाते हैं। मुंह में सड़न, छालें के आसार कम हो जाते हैं। मसूडों में होने वाली दिक्कत के समय त्रिफला चूर्ण एक तरह का टूथ पेस्ट की तरह काम कर सकता है।

सारांश

त्रिफला चूर्ण का उपयोग सेहत के लिए करने से कई सारे फायदे मिलते हैं। त्रिफला चूर्ण का सेवन सही मात्रा में करने से सेहत से जुड़े कई सारे फायदे मिल सकते हैं। अधिकतर लोग त्रिफला चूर्ण का सेवन पेट की परेशानी दूर करने के लिए खाते हैं। त्रिफला चूर्ण से खाना अच्छे से पचने में मदद मिलती है। इसके साथ ही यह ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर लेवल सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं। इसके साथ ही त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से इम्युनिटी भी स्ट्रोंग बनी रहती है। त्रिफला चूर्ण खाने से मुंह भी स्वस्थ रहता है।

त्रिफला के फायदे त्वचा के लिए (Triphala Churna Benefits For Skin)

त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) त्वचा के लिए भी कई सारे हैं। त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) त्वचा के लिए इस्तेमाल करने के लिए आपको त्रिफला का उपयोग भी करना आना चाहिए। आजकल की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में त्वचा का ध्यान रखना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। त्रिफला के लाभ जानने के बाद आप अवश्य ही त्रिफला को त्वचा के लिए इस्तेमाल करना शुरु कर देंगे।

11. त्रिफला चूर्ण के फायदे डार्क सर्कल्स के लिए (Triphala Churna For Dark Circles in Hindi)

त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna ke fayde) डार्क सर्कल्स के लिए भी हैं। व्यस्त जिंदगी होने के कारण आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स आ जाते हैं और पूरे चेहरे को छुपा देते हैं। त्रिफला चूर्ण का सेवन या फिर त्रिफला चूर्ण का उपयोग करने से कई हद तक काले धब्बे कम हो सकते हैं। त्रिफला चूर्ण में एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण यह त्वचा को साफ रखने में मदद करता है। लेकिन इस बात का खास ध्यान रखें कि सही मात्रा में ही त्रिफला चूर्ण का इस्तेमाल करें।

12. त्रिफला चूर्ण के गुण त्वचा को ताज़ा रखने में मदद करते हैं (Triphala Churna For Fresh Skin in Hindi)

त्रिफला चूर्ण त्वचा को ताज़ा रखने में मदद करता है। ऐसा इसमें मौजूद पोष्टिक आहार के कारण है। त्रिफला चूर्ण के गुण त्वचा को कई बीमारी से बचाकर रखते हैं जिससे त्वचा की सेल स्वस्थ रहती हैं। त्रिफला चूर्ण का उपयोग सही तरीके से करने पर यह त्वचा को फ्रेश बनाए रखने में मदद करता है।

13. त्रिफला के फायदे त्वचा को पोषण से भरपूर रखते हैं (Triphala Churna Helps in Skin Rejuvenation)

त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) बालों के साथ- साथ त्वचा के लिए भी हैं। यह त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद करते हैं। त्रिफला का सेवन करने से बढ़ती उम्र के आसार जैसे कि झुर्रियां जल्दी से दिखाई नहीं देती हैं।

सारांश

त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna ke fayde) सेहत के साथ-साथ त्वचा के लिए भी कई सारे हैं। त्रिफला चूर्ण की मदद से आप स्क्रब बना सकते हैं या फिर पेस्ट भी बना सकते हैं। त्रिफला चूर्ण के पेस्ट या स्क्रब की मदद से आप त्वचा को ताज़ा, पोषण से भरपूर बना सकते हैं।

त्रिफला के फायदे बालों के लिए (Triphala Churna Benefits For Hair)

त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) सेहत और त्वचा के बाद अब बात करते हैं त्रिफला के फायदे बालों के लिए। धूल-मिट्टी के कारण बाल कमज़ोर और रूखे हो जाते हैं। ज्यादा कैमिकल इस्तेमाल करने से बाल खराब हो जाते हैं इसलिए ज्यादा से ज्यादा आप प्रकृतिक चीजों का इस्तेमाल करने की कोशिश करें।

14. त्रिफला के फायदे स्वस्थ बालों के लिए (Triphala Benefits For Healthy Hair in Hindi)

त्रिफला बालों की जड़ों को नमी और पोषण से भरपूर रखता है जिससे बाल सूखे नहीं होते हैं। अगर बालों के लिए कुछ प्राकृतिक चीज़ ढूंढ रहे हैं तो त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) आपको मिलता सकते हैं। बालों को पोषण देने के लिए त्रिफला बहुत अच्छा ऑप्शन है।

15. त्रिफला चूर्ण के लाभ डैंड्रफ के लिए (Triphala Churna For Reducing Dandruff in Hindi)

जब बालों की जड़ों में पोषण की कमी हो जाती है और बाल सूखे हो जाते हैं तब डैंड्रफ हो जाता है। डैंड्रफ होने से बाल कमज़ोर हो जाते हैं जिससे झड़ने लग जाते हैं। आपको बता दें कि त्रिफला का उपयोग डैंड्रफ कम करने के लिए किया जा सकता है। त्रिफला पाउडर को गुनगुने पानी में मिलाना है और फिर इस पानी से बाल धो लें।

सारांश

त्रिफला का उपयोग बालों को स्वस्थ बनाने के लिए भी किया जा सकता है। अगर आपके बालों की जड़ें कमज़ोर हैं तो आप त्रिफला के पानी में बाल धो सकते हैं। या फिर त्रिफला पाउडर में तिल का तेल मिलकार जड़ों में लगाकर रख सकते हैं। ऐसा करने से बालों की जड़ें मजबूत होती है।

त्रिफला चूर्ण बनाने की विधि (How To Make Triphala Churna)

त्रिफला चूर्ण मार्किट में आसानी से मिल जाता है। लेकिन अगर आपको त्रिफला चूर्ण घर में बनाना है तो बहुत आसानी से बना सकते हैं। त्रिफला का उपयोग रोजाना की जिंदगी में करने के लिए आप त्रिफला चूर्ण घर में भी बना सकते हैं। इसको बनाने के लिए आपको इसमें इस्तेमाल होने वाले 3 फलों को खरीदना है।

त्रिफला चूर्ण के फायदे
त्रिफला चूर्ण घर में आसानी से बनाया जा सकता है।

सामग्री

  1. हरड़- 20 ग्राम
  2. आंवला- 80 ग्राम
  3. बहेड़ा- 40 ग्राम

त्रिफला चूर्ण बनाने की विधि

  • सबसे पहले सभी सामग्री को अलग- अलग पीस लें और इतना पीसे की इनका पाउडर बन जाए।
  • सभी फलों को पीसने के बाद इनको अच्छे से छान लें।
  • सभी सामग्री पीसने के बाद हरड़, बहेड़ा, आंवला को 1:2:4 के अनुपात में एक साथ मिला दें।
  • इन तीनों सामग्री को एक साथ मिलाने के बाद आपका त्रिफला चूर्ण तैयार है।
  • इस चूर्ण को डिब्बे में डालें और त्रिफला चूर्ण उपयोग के लिए तैयार है।

त्रिफला चूर्ण का उपयोग कैसे करें? (Triphala Uses In Hindi)

त्रिफला चूर्ण का उपयोग कई तरीके से किया जा सकता है। आपको बता दें कि त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) कई तरह से लिए जा सकते हैं। इसके साथ ही त्रिफला चूर्ण को आप अलग-अलग तरीके से अपने दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं। त्रिफला चूर्ण का उपयोग से जुड़ी सारी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

1. त्रिफला चाय (Triphala Tea)

त्रिफला चूर्ण को चाय में इस्तेमाल करने का तरीका सबसे ज्यादा आम है। अधिकतर लोग त्रिफला चूर्ण चाय में मिलाकर इसका सेवन करते हैं। त्रिफला की चाय पीने से इम्युनिटी स्ट्रोंग रहती है, बाल मजबूत रहते हैं आदि।

कैसे करें इस्तेमाल

त्रिफला चूर्ण की चाय बनाने के लिए आपको पानी में त्रिफला डालकर उबालना है। त्रिफला चूर्ण के पानी को थोड़ी देर उबलने दें। स्वाद के लिए आप इसमें शहद भी डाल सकते हैं। शहद डालने से चाय का स्वाद बढ़ जाएगा।

इसके अलावा त्रिफला चाय से आप गागल भी कर सकते हैं जिससे मुंह स्वस्थ रहने में मदद मिलेगी।

त्रिफला चूर्ण के फायदे
चाय में त्रिफला चूर्ण मिलाकर सेवन करें।

2. त्रिफला और नींबू (Triphala and Lemon)

कई लोगों को त्रिफला पाउडर का स्वाद पसंद नहीं है। इसके लिए आप त्रिफला चूर्ण का स्वाद थोड़ा बदल सकते हैं जिससे इसके स्वाद में बदलाव आ जाए।

कैसे करें इस्तेमाल

त्रिफला चूर्ण के स्वाद में बदलाव लाने के लिए आपका रस बना सकते हैं। इसके लिए आपको त्रिफला चूर्ण, शहद, नींबू और चीनी की जरुरत है। त्रिफला पाउडर में आप नींबू, शहदऔर चीनी को सामान्य मात्रा में डालें और सभी सामग्री को अच्छे से मिला लें और इस रस का सेवन करें। इस बात का खास ध्यान रखें कि सभी सामग्री को सही मात्रा में ही डालें। ज्यादा मात्रा में डालने से रस ज्यादा मीठा हो जाएगा और साथ ही त्रिफाल चूर्ण के फायदे कम हो जाएंगे।

3. त्रिफला चूर्ण से बाल धोएं (Triphala Churna Can Be Used For Washing Hair)

वैसे तो त्रिफला चूर्ण का उपयोग बालों के लिए आपको हैरान कर सकता है। त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna ke fayde) बालों के लिए जानने के लिए आपकी हैरानी चली जाएगी। अगर आपके बाल सूखे, रूखे आदि हैं तो त्रिफला आपके बालों को पोषण देने में मदद कर सकता है।

कैसे करें इस्तेमाल

1 चौथाई पानी में 4 चम्मच त्रिफला पाउडर डालें और पानी को उबलने दें। अगर आपके बाल बहुत ज्यादा रूखे, सूखे हैं तो इसमें आप 1 चम्मच तिल का तेल मिलाएं। पानी को अच्छे से उबालें और फिर ठंडा होने के लिए रख दें। ठंडा होने के बाद इस पानी से बाल धो लें। अच्छे रिजल्ट के लिए बालों में त्रिफला का पानी 20-30 मिनट के लिए रहने दें। इस समय में बालों की मालिश हल्के हाथ से कर सकते हैं। इसके बाद सामान्य पानी से बाल धो लें।

नोट- त्रिफला का पानी बाल धोने के लिए छानने की जरुरत नहीं है।

4. त्रिफला चूर्ण से त्वचा साफ करें (Triphala Churna To Clean Skin)

इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में त्वचा का ध्यान रखना भी जरुरी है। त्वचा का सही से ध्यान ना रखने पर त्वचा से जुड़ी परेशानियां समय से पहले आ सकती हैं जैसे कि झर्रियां, मुंहासे, काले धब्बे आदि। त्वचा के लिए त्रिफला का उपयोग दो तरीके से कर सकते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल

पहला तरीका- त्वचा में पोषण देने के लिए आप इस तरीके का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आपको त्रिफला चूर्ण और नारियल के तेल की जरुरत है। त्रिफला चूर्ण को नारियल तेल में मिक्स कर लें और पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को त्वचा पर लगाकर स्क्रब करें। त्वचा को फ्रेश बनाने के लिए इस पेस्ट को 10 मिनट के लिए लगाकर रखें और फिर गुनगुने पानी से धो लें।

दूसरा तरीका- इसके लिए आपको त्रिफला चाय बनाने की जरुरत है। ऊपर दी गई जानकारी के अनुसार त्रिफला चाय बना लें। अब चाय छान लें और ठंडा होने के छोड़ दें। त्रिफला चाय ठंडी होने के बाद इससे अपना चेहरा धो लें। त्रिफला चाय का उपयोग तैलिए त्वचा के लिए किया जा सकता है।

5. त्रिफला से बालों की जड़ें साफ करें (Triphala Churna For Hair Roots)

रोजाना धूल-मिट्टी के संपर्क में आने बालों में गंदगी आ जाती है और इसी कारण बाल कमज़ोर हो जाते हैं। अगर बालों की जड़ें मजबूत और स्वस्थ रहेंगी। इसके लिए आप त्रिफला चूर्ण का उपयोग कर सकते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल

इसके लिए आपको 1 चम्मच त्रिफला पाउडर और 1 चम्मच नीम पाउडर की जरुरत है। इन दोनों सामग्री के साथ पानी मिलाएं। पानी उतना ही मिलाएं जिससे पेस्ट जैसी स्थिरता बन जाए। इस पेस्ट को बालों की जड़ों में लगाएं। इस पेस्ट को बालों की जड़ों में 20 मिनट तक लगाकर रखें। इसके बाद बालों को सामान्य रूप से धो लें।

6. त्रिफला पाउडर से दांत साफ करें (Triphala Churna For Teeths)

त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) दातों के लिए भी कई सारे हैं। त्रिफला चूर्ण का इस्तेमाल आप दांतों को स्वस्थ और मजबूत बनाए रखने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल

त्रिफला चूर्ण को दांतों के लिए इस्तेमाल करने के लिए आपको त्रिफला चूर्ण में गर्म पानी मिलाना है जिससे यह पेस्ट जैसा बन जाए। पानी उतनी मात्रा में ही डालें जिससे इसकी स्थिरता पेस्ट जैसी हो जाए। अब इस पेस्ट को अपने दांतों पर लगाएं।

त्रिफला का उपयोग कब और कैसे करें (When & How To Use Triphala Churna)

किसी भी खाने की चीज का सेवन मौसम देखकर किया जाता है। मौसम के अनुसार सेवन करने से ही उसके फायदे मिलते हैं। आपको बता दें कि त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) लेने के लिए आपको किसी एक मौसम का इंतजार करने की जरुरत नहीं हैं क्योंकि त्रिफला चूर्ण का उपयोग आप हर मौसम में कर सकते हैं।

त्रिफला का सेवन करने से पहले आपको इस बात की जानकारी होनी जरुरी है कि किस मौसम में किस तरह से त्रिफला का सेवन किया जाता है। मौसम के अनुसार त्रिफला का सेवन कैसे करें से जुड़ी सारी जानकारी आप नीचे से ले सकते हैं।

  • गर्मी– गर्मी के मौसम में त्रिफला का सेवन गुड़ के साथ कर सकते हैं। त्रिफला में 1/4 गुड़ मिलाकर सेवन करें।
  • वर्षा- त्रिफला चूर्ण में 1/4 सैंधा नमक मिलाकर ले सकते हैं।
  • पतझड़- त्रिफला चूर्ण को आप 1/4 खांड के साथ मिलाकर ले सकते हैं।
  • सर्दी- सर्दी के मौसम में आप त्रिफला चूर्ण को 1/4 सौंठ के साथ खा सकते हैं।
  • फाल्गुन- त्रिफला चूर्ण के साथ पीपल छोटी का चूर्ण 1/4 भाग में सेवन कर सकते हैं।

त्रिफला का सेवन करने से पहले इन बातों का ध्यान रखें (Consumption of Triphala Churna Precautions)

आपको त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) के बारे में जानकारी मिल गई है और अब आप इसका सेवन करने की सोच रहे होंगे। लेकिन इसका सेवन करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना जरुरी है।

त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna ke fayde) ब्लड ग्लूकोज लेवल को कम करने से जुड़े हुए हैं। अगर आप डायबटीज से गुजर रहे हैं तो इसका सेवन ना करें क्योंकि हर सामान्य से कई ज्यादा ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकता है।

त्रिफला का सेवन नियमित रूप से ही करें। अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से दस्त या फिर पानी की कमी की परेशानी हो सकती है।

त्रिफला चूर्ण के नुकसान (Triphala Churna Side Effects In Hindi)

त्रिफला चूर्ण के फायदे (triphala churna benefits in hindi) सेहत, त्वचा और बालों से कई सारे जुड़े हुए हैं। आपको बता दें कि त्रिफला चूर्ण के फायदे होने के साथ-साथ त्रिफला चूर्ण के नुकसान भी हैं। लेकिन यह नुकसान अधिक मात्रा में लेने के बाद ही होते हैं। किसी भी खाने की चीज़ का सेवन अधिक मात्रा में करने से नुकसान हो सकते हैं। त्रिफला चूर्ण के नुकसान से जुड़ी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

  • अधिक मात्रा में त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से पेट में परेशानी हो सकती है जैसे कि दस्त। पैकेजिंग या फिर डॉक्टर के द्वारा दी गई सलाह के अनुसार ही त्रिफला चूर्ण का सेवन करें।
  • अधिक मात्रा और लंबे के लिए त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से वजन ज्यादा मात्रा में वजन घट सकता है। वजन घटाने के लिए त्रिफला चूर्ण का सेवन सही मात्रा में और सही समय पर करें।
  • अगर आपको डायबिटीज है तो डॉक्टर की सलाह के बाद ही त्रिफला चूर्ण का सेवन करें।
  • गर्भवती महिलाएं त्रिफला चूर्ण का सेवन ना करें तो बेहतर है क्योंकि त्रिफला चूर्ण बहुत गर्म होता है जो शिशु के लिए अच्छा नहीं है।
  • अगर आपको लगता है कि त्रिफला से आपको एलर्जी हो सकती है तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरुर लें।
  • 6 साल से कम उम्र बच्चों को त्रिफला का सेवन ना कराएं।
  • त्रिफला चूर्ण का सेवन ज्यादा मात्रा में करने से नींद में भी परेशानी आ सकती है।

आखिर में

हालांकि इसका सेवन करने का कोई नियमित समय नहीं है लेकिन त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) लेने के लिए इसका सेवन खाली पेट करें और चाहें तो सोने से कुछ घंटे पहले खाएं। किसी भी खाने की चीज़ का सेवन करने से पहले उससे जुड़े फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी प्राप्त करना जरुरी है। आशा करते हैं इस आर्टिकल से आपको मदद मिली होगी।

FAQ

  1. त्रिफला खाने के फायदे क्या हैं? (What does Triphala do for the body?)

    त्रिफला के फायदे (triphala ke fayde) शरीर से लेकर त्वचा और बालों के लिए भी हैं। त्रिफला चूर्ण से पाचन शक्ति स्वस्थ रहती है जिससे पेट की दिक्कतें दूर रहती हैं। इसके साथ ही वजन कम करने के लिए भी त्रिफला चूर्ण का इस्तेमाल किया जाता है। त्रिफला चूर्ण से कोलेस्ट्रॉल सामान्य बना रहता है जिससे दिल सेहतमंद रहता है। गले में दिकक्त जैसे कि खराश होने पर भी त्रिफला के फायदे काम आते हैं।

  2. त्रिफला चूर्ण के नुकसान क्या हैं? (What are the side effects of triphala?)

    किसी भी खाने की चीज का सेवन अधिक मात्रा में करने से उसके नुकसान हो सकते हैं। वैसे ही अधिक मात्रा में त्रिफला चूर्ण का सेवन करने से पेट की परेशानियां बढ़ सकती हैं जैसे कि दस्त, कब्ज आदि। अगर आप त्रिफला चूर्ण वजन कम करने के लिए खा रहे हैं तो इसकी मात्रा अवश्य ध्यान रखें। क्योंकि अधिक मात्रा में त्रिफला चूर्ण खाने से वजन जरुरत से ज्यादा घट सकता है। डायबिटी से गुजर रहे लोगों को त्रिफला का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

  3. त्रिफला चूर्ण वजन कम करने में कैसे मदद करता है? (How triphala helps in weight loss?)

    अगर आप वजन कम करने की सोच रहे हैं तो आप त्रिफला को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। त्रिफला चूर्ण खाने से पाचन शक्ति अच्छे से काम करती है। त्रिफला चूर्ण खाने से पेट में जमा फैट बर्न होने में मदद मिलती है। फैट बर्न होने पर वजन कम होने में मदद मिलती है। वजन कन करने के लिए त्रिफला चूर्ण के साथ-साथ कसरत और बैलेंस डाइट भी बहुत जरुरी है। आपको बता दें कि सिर्फ त्रिफला चूर्ण से वजन कम होने में मदद मिलती है।

  4. क्या त्रिफला चूर्ण को राजाना लिया जा सकता है? (Can I take triphala churna everyday?)

    त्रिफला चूर्ण कई प्रकार में उपलब्ध है। अधिकतर त्रिफला चूर्ण को खाली पेट में लिया जाता है। आमतौर पर 500 एमजी से 1 ग्राम त्रिफला चूर्ण खाने की सलाह दी जाती है। हर इंसान को अपनी सेहत और जरुरत के अनुसार त्रिफला चूर्ण का सेवन करना चाहिए।

  5. त्रिफला चूर्ण बनाने की विधि क्या है? (How to make triphala churna?)

    त्रिफला चूर्ण को आप घर में आसानी से बना सकते हैं। इसके लिए आपको आंवला, बहेड़ा और हरड़ की जरुरत है। इन तीनों सामग्री को एक मात्रा में पीस लें और आपका त्रिफला चूर्ण तैयार है। इसको आप डिब्बे में रखें और इस्तेमाल करें।

संदर्भ

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5567597/

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5567597/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5567597/

https://irjponline.com/admin/php/uploads/2219_pdf.pdf

Leave a Reply on त्रिफला चूर्ण के फायदे, उपयोग और नुकसान- (Triphala Churna Benefits Uses and Side Effects in Hindi)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*