गिलोय के 11 मुल्यवान फायदे, उपयोग और नुकसान - मिश्री
गिलोय के मूल्यवान फायदे, उपयोग और नुकसान

गिलोय के 11 मूल्यवान फायदे, उपयोग और नुकसान

गिलोय के फायदे इम्यूनिटी स्ट्रांग करने के अलावा कई सारे हैं। गिलोय का उपयोग कैसे करें और इसका काढ़ा कैसे बनाएं. यहां से जानें।

गिलोय – आजकल इसका नाम हर कोई जानता है। गिलोय के फायदे किस प्रकार लिए जा सकते हैं?

गिलोय के फायदे औषधीय गुण के लिए खासतौर पर जाने जाते हैं। गिलोय को अमृता के नाम से भी जाना जाता है। गिलोय के फायदे कई तरह से लिए जा सकते हैं जैसे कि गिलोय का काढ़ा, गिलोय का जूस, गिलोय पाउडर, गिलोय कैप्सूल। गिलोय के गुण विटामिन, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। इसके औषधीय गुण होने के साथ- साथ त्वचा के लिए भी कई फायदे मौजूद हैं। यह कार्बोहाइड्रेट, स्टेरॉयड, फ्लेवोनोइड्स, लिग्नन्स और एल्कलॉइड्स से भरपूर है। गिलोय के फायदे में सबसे पॉपुलर फायदा इम्यूनिटी बढ़ाने का है। यहां तक की जिन लोगों की इम्यूनिटी कमजोर होती है उन लोगों को गिलोय के जूस के फायदे लेने के लिए कहा जाता है।

गिलोय को गुडुची के नाम से भी जाना जाता है। यह एफडीए प्रमाणित हर्ब है जिसे भारतीय आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में उपयोग किया जाता है। गिलोय का वैज्ञानिक नाम ‘टिनोस्पोरा कॉर्डिफोलिया’ है। आपको बता दें कि गिलोय की टहनी के महत्त्वपूर्ण फायदे हैं और इसके साथ ही गिलोय की जड़ के भी अपने अनेक फायदे हैं।

आजकल इम्यूनिटी बढ़ाने पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है क्योंकि इम्यूनिटी ही सुरक्षा कवच है। इम्यूनिटी बढ़ाने वाली चीजों के बारे में बात करते समय गिलोय के फायदे जरूर शामिल होते हैं। गिलोय के फायदे डाइट में शामिल करने बेहद आसान हैं। गिलोय के औषधीय गुण के बारे में जानने के लिए आप नीचे से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

1. स्ट्रांग इम्यूनिटी

गिलोय के फायदे इम्यूनिटी स्ट्रांग करने के लिए जाने जाते हैं। गिलोय के लाभ स्ट्रांग इम्यूनिटी के लिए इसलिए जाने जाते हैं क्योकि इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो शरीर को फ्री रेडिकल के खतरे से बचाकर रखने में मदद करते हैं। फ्री रेडिकल ऐसे रोगजनक तत्व है जो बीमार करने के मुख्य कारण है। यह फ्री रेडिकल स्वस्थ सेल के साथ मिल जाते हैं और इन्हें खराब कर देते हैं। लेकिन अगर आपका शरीर एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है तो एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल के साथ मिल जाते हैं और इन्हें नष्ट करने में मदद करते हैं। इसलिए आपके शरीर में एंटीऑक्सीडेंट होने बेहद जरुरी हैं।

2. सांस की बीमारी

गिलोय के फायदे सांस की बीमारी से राहत दिलाने में भी मदद कर सकते हैं। सांस लेने में होने वाली परेशानी जैसे कि खांसी-जुकाम आदि में गिलोय के गुण मददगार साबित हो सकते हैं।

गिलोय का पत्ता
गिलोय के लाभ सांस की बीमारी के लिए

3. स्वस्थ डाइजेशन

अगर आपको डाइजेशन से जुड़ी परेशानी है तो गिलोय के फायदे आपके काम आ सकते हैं। गिलोय का उपयोग पाचन शक्ति स्वस्थ बनाने के लिए हमेशा से किया जाता आ रहा है। ऐसा कहा जाता है कि गिलोय पाउडर को आंवला के साथ खाने से डाइजेशन से जुड़ी परेशानी से राहत मिलने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा गिलोय जूस का सेवन लस्सी के साथ भी कर सकते हैं। कब्ज से राहत पाने के लिए गिलोय पाउडर का सेवन गुड़ के साथ कर सकते हैं। यह एक तरह का घरेलू उपाय है।

संबंधित आर्टिकल: त्रिफला चूर्ण के फायदे

4. बुखार

गिलोय के फायदे बुखार कम करने में भी मदद कर सकते हैं। मलेरिया, डेंगू, स्वाइन फ्लू आदि के बुखान में गिलोय के लाभ आपके काम आ सकते हैं।

गिलोय की पत्ती पर पानी की बूंदे
गिलोय के फायदे बुखार के समय

5. स्ट्रेस

गिलोय के फायदे दिमाग की सेहत अच्छी बनाए रखने के लिए जाने जाते हैं। गिलोय के गुण चिंता कम करने में मदद करते हैं और शांती बनाए रखने में लाभदायक होते हैं। गिलोय के लाभ और अधिक लेने के लिए गिलोय का सेवन किसी जड़ी-बूटी के साथ कर सकते हैं। दिमाग की सेहत बनाए रखने के लिए गिलोय का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

6. गठिया

बढ़ती उम्र के साथ गठिया और जड़ों के दर्द बढ़ जाते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, गिलोय के फायदे घी के साथ लेने से गठिया में आराम मिल सकता है। गिलोय के गुण सूजन कम करने में मदद कर सकते हैं जिससे गठिया में आराम और आसार कम होने में मदद मिल सकती है।

गठिया के दर्द से राहत पाने के लिए गिलोय और अदरक का सेवन किया जा सकता है। गिलोय और अदरक का सेवन करने से गठिया होने के आसार कम हो सकते हैं। गिलोय की जड़ दूध में उबालकर पीने से गठिया के दर्द में आराम मिल सकता है। गिलोय को घरेलू उपाय के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

घुटने की मालिश करते हुए
गिलोय के लाभ गठिया के आसार कम करने में मदद

7. स्वस्थ आंखें

गिलोय के फायदे आंखों को स्वस्थ रखने में भी मदद करते हैं। गिलोय के लाभ आंखों की रोशनी को बेहतर करने में मदद करती है। गिलोय का उपयोग आंखों के लिए गिलोय पानी में उबालें और पलकों पर रातभर के लिए लगा सकते हैं। अगर आप आंखों के लिए रोजाना गिलोय के फायदे लेना चाहते हैं तो डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

8. डायबिटीज

गिलोय के फायदे डायबिटीज के लिए पॉपुलर हैं। डायबिटीज से गुजर रहे लोगों की डाइट में गिलोय मिल सकता है। गिलोय के लाभ ब्लड शुगर लेवल सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं। डायबिटीज से गुजर रहे लोग रोजाना गिलोय का सेवन कर सकते हैं लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

मशीन से ब्लड शुगर लेवल नापते हुए
गिलोय के फायदे डायबिटीज में लाभदायक

9. अस्थमा

अस्थमा में सांस लेने में दिक्कत होती है। गिलोय के फायदे अस्थमा होने वाले आसार से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। गिलोय के लाभ लेने के लिए आप इसे डाइट में आसानी से शामिल कर सकते हैं। गिलोय खाने से कई बीमारी होने के कम होने में मदद मिलती है।

10. एंटी- एजिंग

गिलोय के फायदे एंटी- एजिंग के लक्षण कम करने में मदद करते हैं। गिलोय का उपयोग करने से काले धब्बे, फाइन लाइन्स, झुर्रियां आदि कम करने में मदद करता है। गिलोय के लाभ त्वचा कोमल, मुलायम और स्वस्थ बनाने में मदद करता है। गिलोय का उपयोग त्वचा के लिए कई तरीके से कर सकते हैं जिसकी जानकारी आप नीचे से ले सकते हैं।

गिलोय के गुण एंटी- एजिंग के आसार में लाभदायक

11. डेंगू और मलेरिया

गिलोय के फायदे डेंगू और मलेरिया में लाभदायक साबित हो सकते हैं। गिलोय के औषधीय गुण के कारण डेंगू और मलेरिया में मदद मिल सकती है। इस बात की अभी पुष्टि नहीं हुई है लेकिन आयुर्वेद में गिलोय का उपयोग बुखार से राहत पाने के लिए किया जाता है। डेंगू और मलेरिया में गिलोय का जूस और पाउडर का इस्तेमाल किया जाता है।

गिलोय का उपयोग कैसे करें

गिलोय के फायदे जानने के बाद जरूरी है कि आप यह जाने कि गिलोय का उपयोग कैसे किया जाता है। गिलोय का उपयोग सही तरीके से करने से ही गिलोय के लाभ मिल सकते हैं। आपको बता दें कि गिलोय को डाइट में शामिल करना बेहद आसान है। गिलोय का उपयोग आप बहुत आसानी से कई तरीकों से कर सकते हैं। गिलोय का उपयोग से जुड़ी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

1. गिलोय चूर्ण

आधा चम्मच गिलोय चूर्ण पानी में डालकर पी सकते हैं।

2. गिलोय का जूस

अगर आप मार्केट से गिलोय जूस ला रहे हैं तो एक गिलास पानी में 2-3 चम्मच गिलोय जूस मिलाएं और सेवन करें।

3. गिलोय का काढ़ा

गिलोय की जड़ का जूस बनाने के लिए जड़ को पानी में उबालें और पानी सामान्य होने के बाद सेवन कर लें।

4. गिलोय कैप्सूल

डॉक्टर की सलाह लेने के बाद आप गिलोय की कैप्सूल का भी सेवन कर सकते हैं।

घर में गिलोय का काढ़ा कैसे बनाएं

गिलोय के फायदे खासतौर पर इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। और आज के समय में इम्यूनिटी स्ट्रांग बनाने पर खास ध्यान दिया जा रहा है। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल करना बेहतर होता है। इसलिए यहां से आप गिलोय के लाभ गिलोय के काढ़े से ले सकते हैं। गिलोय से काढ़ा बनाने की रेसिपी से जुड़ी जानकारी आप नीचे से ले सकते हैं।

रेसिपी 1

गिलोय का काढ़ा बनाने की यह रेसिपी सबसे सिंपल और आसान है।

  • सबसे पहले गिलोय की जड़ लें और इनको बीच में से काट लें लेकिन अलग ना करें।
  • अब 2 कप पानी लें और गिलोय की जड़ें डाल दें।
  • पानी को उबलने दें। जब 1 कप पानी बच जाए तब गैस बंद कर दें।
  • 1 कप पानी बचने के बाद पानी छान लें।
  • गिलोय का काढ़ा सामान्य होने के बाद इसका सेवन कर लें।
  • आप दिन में 1-2 बार गिलोय का काढ़ा पी सकते हैं।

रेसिपी 2

अगर आपको अपने काढ़ें में और भी चीजें मिलानी हैं तो यह रेसिपी इस्तेमाल कर सकते हैं। इस रेसिपी आप इम्यूनिटी स्ट्रांग करने वाली अधिकतर सामग्री का इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • सबसे पहले बर्तन में पानी उबालें और इसमें गिलोय, हल्दी, काली मिर्च डालें।
  • एक उबाल आने के बाद इसमें दालचीनी, पुदीना, शहद, अदरक आदि डालें और उबलने दें।
  • अच्छे से उबलने के बाद छाने लें और सामान्य होने के बाद सेवन कर लें।
  • फ्लेवर से भरपूर गिलोय का काढ़ा तैयार है।

संबंधित आर्टिकल: भारत में बेस्ट च्यवनप्राश ब्रांड

गिलोय के नुकसान

गिलोय के फायदे लेने के लिए इसका उपयोग सही तरीके से करना जरुरी है। सही तरीके से गिलोय का उपयोग ना करने से गिलोय के नुकसान भी हो सकते हैं।

1. पाचन शक्ति

गिलोय को स्वस्थ पाचन शक्ति रखने के लिए जाना जाता है लेकिन आपको बता दें कि अधिक मात्रा में गिलोय का सेवन करने से पाचन शक्ति में दिक्कत हो सकती है जैसे कि कब्ज, पाचन शक्ति में परेशानी आदि। इसलिए गिलोय का सेवन सही मात्रा में ही करें।

2. लो ब्लड शुगर लेवल

गिलोय के फायदे ब्लड शुगर लेवल सामान्य बनाए रखते हैं इसलिए डायबिटीज से गुजर रहे लोगों की डाइट में आपको गिलोय मिल सकता है। लेकिन गिलोय के लाभ लेने के लिए इसका सेवन सही मात्रा में करना जरुरी है। अधिक मात्रा में गिलोय का सेवन करने से अचानक ब्लड शुगर लेवल कम हो सकता है जिससे दिक्कत हो सकती है।

3. इम्यूनिटी

गिलोय के फायदे इम्यूनिटी स्ट्रांग करने के लिए सबसे ज्यादा पॉपुलर हैं। लेकिन आपको बता दें कि अधिक मात्रा में गिलोय का सेवन करने से गठिया जैसा बीमारी में दिक्कतें बढ़ सकती हैं।

दवाई के रूप में किसी भी चीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरुर लें। खुद से किसी भी दवाई को लेना अच्छा नहीं है और सेहत पर हमेशा ध्यान देना चाहिए।

आखिर में

गिलोय के फायदे लेने के लिए जरूरी है कि आप इसका सेवन सही तरीके से करें। गिलोय के फायदे स्वस्थ पाचन शक्ति और इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए खासतौर पर जाने जाते हैं। इसलिए गिलोय के लाभ इतने पॉपुलर हैं। गिलोय के फायदे कई तरह से लिए जा सकते हैं जैसे कि गिलोय का जूस, चूर्ण, टेबलेट, कैप्सूल, गिलोय का अर्क। गिलोय को डाइट में शामिल करना बेहद आसान है।

इसके साथ ही गिलोय के औषधीय गुण भी कॉफी पॉपुलर हैं। गिलोय का उपयोग कब्ज से राहत पाने के लिए घरेलू उपाय के तौर पर कई समय से किया जा रहा है। गिलोय के नुकसान भी हो सकते हैं अगर इसका सेवन अधिक मात्रा में किया जाए। इसलिए गिलोय के फायदे लेने के लिए इसका उपयोग सही तरीके से ही करें।

आप गिलोय का उपयोग कैसे करते हैं? हमें कमेंट में जरूर बताएं।

FAQs

गिलोय के फायदे से जुड़े दिलचस्प सवालों के जवाब यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. क्या गिलोय का सेवन रोजाना कर सकते हैं?

गिलोय के फायदे लेने के लिए इसका सेवन रोजाना सही मात्रा में किया जा सकता है। आमतौर पर गिलोय के फायदे स्वस्थ डाइजेशन और इम्यूनिटी स्ट्रांग करने के लिए सेवन किया जाता है।

2. गिलोय का सेवन किस तरह से कर सकते हैं?

गिलोय का सेवन कई तरीके से किया जा सकता है जैसे कि गिलोय जूस, गिलोय चूर्ण, गिलोय टेबलेट, गिलोय कैप्सूल, गिलोय का अर्क आदि। आपके लिए यह जानना जरूरी है कि आपके लिए गिलोय का कौन- सा तरीका बेस्ट है।

3. क्या गिलोय से वजन कम होता है?

गिलोय के औषधीय गुण वजन कम करने में मदद कर सकते हैं। गिलोय के जूस के फायदे वेट लॉस के लिए पॉपुलर हैं जो फैट बर्न करने में मददगार साबित हो सकते हैं।

4. गिलोय का सेवन किस समय करना चाहिए?

गिलोय के फायदे बुखार, स्वस्थ डाइजेशन, स्ट्रांग इम्यूनिटी के लिए सुबह खाली पेट ले सकते हैं। गिलोय का जूस सुबह खाली पेट पीना लाभदायक हो सकता है। अगर आप गिलोय का सेवन रोजाना करना चाहते हैं तो डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

5. गिलोय का जूस दिन में कितनी बार पीना चाहिए?

एक दिन में एक कप गिलोय का जूस पीना काफी है। गिलोय के फायदे लेने के लिए जरूरी है कि आप इसका सेवन सही तरीके और सही मात्रा में ही करें। अधिक मात्रा में गिलोय का सेवन करने से नुकसान हो सकता है।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
8 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments