क्विनोआ से वजन कम कैसे करें- 12 कारण क्विनोआ चावल से बेहतर क्यों है (Quinoa For Weight Loss & 12 More Spectacular Reasons To Eat Quinoa Instead Of Rice)
Quinoa For Weight Loss-mishry

क्विनोआ से वजन कम कैसे करें- 12 कारण क्विनोआ चावल से बेहतर क्यों है (Quinoa For Weight Loss & 12 More Spectacular Reasons To Eat Quinoa Instead Of Rice)

क्विनोआ, सुपर ग्रेन है जिसमें मिनरल्स, विटामिन और प्रोटीन पाया जाता है जो वजन कम करने में मदद करता है। इसके साथ ही क्विनोआ ब्लड शुगर लेवल को सामान्य बनाए रखने में भी मदद करता है।

सेहतमंद डाइट शुरु करने के लिए सबसे पहले क्विनोआ का नाम ही याद आता है। क्विनोआ किसी की भी नज़रों से बच नहीं सकता है क्योंकि क्विनोआ के फायदे ही इतने सारे हैं। क्विनोआ, ग्लूटेन फ्री अनाज है जो गेंहू और चावल से बिल्कुल अलग है। साफ तौर से कहें तो इसे अनाज नहीं कहेंगे और इसके संबंध की बात करें तो यह पालक के परिवार से रिश्ता रखता है (जी हां)। क्विनोआ के फायदे ही इतने सारे हैं कि इसको मार्किट में मिलने वाला सबसे सेहतमंद अनाज में से एक माना जाता है। चावल की तरह क्विनोआ को पानी में पकाकर खाया जाता है। यह कई पोष्टिक आहार से भरपूर है जैसे कि मिनरल्स, विटामिन, एमिनो एसिड आदि और यह सभी वजन कम करने में मदद करते हैं। जिसके बाद हम यह कह सकते हैं कि क्विनोआ वजन कन करने में मदद करता है। इससे जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप यह आर्टिकल पूरा पढ़ सकते हैं।

वीडियो- क्विनोआ के फायदे यहां से देखें (Amazing Health Benefits Of Quinoa)

https://www.youtube.com/watch?v=mzUxFRKJFZ4&feature=emb_logo

क्विनोआ के फायदे (Health Benefits Of Quinoa)

1. क्विनोआ वजन कम करने में मदद करता है (Weight Loss)

अगर आप कोई ऐसी खाने की चीज़ ढूंढ रहे हैं जो वजन कम करने में मदद कर सकती है, इसके लिए क्विनोआ एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है। चावल या गेंहू के मुकाबले क्विनोआ में हाई फाइबर होता है जो मेटाबोल्जिम को कम कर देता है। जब फाइबर का सेवन किया जाता है तब इसको पचने में ज्यादा समय और एनर्जी लगती है। ज्यादा समय से लगने से आपका पेट लंबे समय के लिए भरा रहता है और ज्यादा एनर्जी लगने से कैलोरी बर्न होती है। इन दोनों के कारण आपको वजन कम करने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें- मिश्री रिव्यू- बेस्ट क्विनोआ ब्रांड।

2. क्विनोआ प्राकृतिक रूप से एंटी- इंफ्लामेट्री है (A Natural Anti-Inflammatory)

क्विनोआ खाने के बाद जो सबसे जरुरी कंपाउंड हमारे शरीर में प्रोड्यूज होता है वो है ब्यूटिरेट। यह एक महत्तवपूर्ण फैटी एसिड है जो सेल और टिशू में होने वाली सूजन को रोकने में मदद करता है। बाकी के कंपाउंड जैसे कि सैपोनिन भी क्विनोआ खाने से प्रोड्यूज होता है जो प्राकृतिक रूप से एंटी- इंफ्लामेट्री खूबी के साथ आता है।

3. क्विनोआ डायबटीज पर असरदार है (Effectively Tackles Diabetes)

क्विनोआ फाइबर से भरपूर होता है और अगर यह डाइट में शामिल हो जाए तो ब्लड शुगर लेवल को बढ़ने नहीं देता है। फाइबर को पचने में समय लगता है जिस कारण से मेटाबोल्जिम रेट कम हो जाता है। मेटाबोल्जिम कम होने से शुगर, कार्बोहाइड्रेट, फैट के अब्जॉर्ब होने का रेट भी कम हो जाता है। ऐसा होने से बाकी अंगों को डायजेस्टिव जूस सही मात्रा में प्रोड्यूज करने का समय मिल जाता है। उदाहरण के लिए इंसूलिन, यह खून में शुगर कणों को तोड़ने में मदद करता है और ब्लड शुगर लेवल को भी कम रखने में मदद करता है। आपको पहले भी बताया है कि क्विनोआ फाइबर से भरपूर होता है जो शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध (insulin resistance) कम कर देता है जिससे ब्लड शुगर लेवल भी कम रहता है।

क्विनोआ फाइबर से भरपूर होता है और अगर यह डाइट में शामिल हो जाए
तो ब्लड शुगर लेवल को बढ़ने नहीं देता है।

4. क्विनोआ से दिल स्वस्थ रहता है (Promotes Cardiovascular Health)

लोगों के बीच में कोलेस्टॉल की समस्या बहुत चिंताजनक है खासकर उन लोगों के लिए जो मोटापे और डायबटीज के खतरे से जुड़े हुए हैं। ऐसा खाना ढूंढना थोड़ा मुश्किल हो जाता है जो आपको कोलेस्टॉल को कंट्रोल में रख सकता है। जब क्विनोआ का सेवन सही मात्रा में किया जाता है जब यह लिवर में मौजूद बाइल जूस के साथ मिल जाता है जिसके बाद जैली जैसा कंपाउंड निकलता है, यह क्या है? यह बाइल जूस और कोलेस्टॉल का मिश्रण है जो खून में मौजूद होता है। जब यह बाइल जूस लिवर से निकल जाते हैं तब लिवल ज्यादा कोलेस्टॉल लेता है जिससे और बाइल जूस बन सके जिससे कोलेस्टॉल लेवल कम रहता है और दिल भी स्वस्थ रहता है।

यह भी पढ़ें- 9 फूड स्वस्थ दिल के लिए (Top 9 Heart Friendly Foods)

5. क्विनोआ से पाचन शक्ति सेहतमंद रहती है (Increases Digestive Health)

सभी क्विनोआ के फायदे जानने के बाद इसमें कोई शक की बात नहीं है कि क्विनोआ पाचन शक्ति के लिए कितना लाभदायक है। फाइबर से भरपूर होने के कारण यह पाचन शक्ति को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। इसके अलावा विटामिन बी भी पाचन शक्ति को स्वस्थ रखने में मदद करता है। विटामिन बी का सेवन करने से हाइड्रोक्लोरिक एसिड प्रोड्यूज होता है जो एक तरह का कैमिकल है जो पेट की दीवार पर मौजूद होता है और डाइजेशन प्रोसेस को अच्छे से होने में मदद करता है।

यह भी पढ़ें- क्विनोआ बनाने की रेसिपी।

6. क्विनोआ से टिशू सही हो जाते हैं (Aids In Healing And Tissue Repair)

बाकी सभी अनाज के मुकाबले क्विनोआ की यह खूबी सबसे अलग है। क्विनोआ में लाइसिन नाम का कंपाउंड पाया जाता है जो टिशू की मरम्मत और जल्दी से ठीक करने में मदद करता है। लाइसिन एक तरह का एमिनो एसिड है जो शरीर के द्वारा प्रोड्यूज नहीं किया जाता है इसलिए इसका सेवन करना पड़ता है। सही मात्रा में लाइसिन का सेवन करने से कोलेजन प्रोड्यूज होता है जो टिशू को टीक करने में मदद करता है। इसके साथ ही क्विनोआ खाने से शरीर के सभी अंग अच्छे से काम करते हैं और ठीक भी रहते हैं।

क्विनोआ में लाइसिन नाम का कंपाउंड पाया जाता है जो
टिशू की मरम्मत और जल्दी से ठीक करने में मदद करता है।

7. क्विनोआ ऑस्टियोपोरोसिस को रोकता है (Prevents Osteoporosis)

ऑस्टियोपोरोसिस एक तरह की बीमारी हो जो बुढ़ापे से जुड़ी हुई है। इस बीमारी में हड्डियां कमजोर और नाजुक हो जाती हैं, कमर दर्द और वजन कम हो जाता है। सेहतमंद डाइट से इस बीमारी को रोका जा सकता है। क्विनोआ को डाइट में शामिल करने से हड्डियां समय से पहले कमजोर नहीं होती हैं क्योंकि क्विनोआ पोष्टिक आहार से भरपूर होता है। क्विनोआ मैग्नीशियम और प्रोटीन से भरपूर होता है जो हड्डियों को मजबूत रखने में मदद करते हैं। इसके बाद हम यह बिना किसी शक के साथ कह सकते हैं कि क्विनोआ को डाइट में शामिल करने से हड्डियां मजबूत रहेंगी।

8. क्विनोआ से एनीमिया के आसार कम हो जाते हैं (Prevents Anemia)

मैग्नीशियम के अलावा क्विनोआ में आयरन भी पाया जाता है जो एक बहुत महत्तवपूर्ण मिनरल है। आपको बता दें कि शरीर में सही मात्रा में आयरन बना रहना बहुत जरुरी है। आरयन हमारे शरीर में हीग्लोबिन को प्रोड्यूज करने में मदद करता है। हीग्लोबिन पूरे शरीर में ऑक्सीजन ले जाने में मदद करता है। शरीर के सभी अंगों में ऑक्सीजन की मात्रा सही जाने पर सभी अंग अच्छे से काम करते हैं जिससे एनीमिया जैसी बीमारी होने के आसार कम हो जाते हैं।

9. क्विनोआ में क्वेरसेटिन और केम्पफेरोल पाया जाता है (Rich In Quercetin And Kaempferol)

क्विनोआ में क्वेरसेटिन और केम्पफेरोल पाए जाते हैं जो पौधों के कंपाउंड हैं। यह दोनों कंपाउंड एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं जिस कारण से क्विनोआ में एंटीऑक्सीडेंट की खूबी है। शरीर में एंटीऑक्सीडेट होने बहुत जरुरी होते हैं जो फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करते हैं। फ्री रेडिकल शरीर में स्वस्थ सेल के साथ मिलकर उनको खराब कर देते हैं जिससे कई सारी बीमारी हो सकती है। लेकिन अगर शरीर में एंटीऑक्सीडेंट हैं तो यह फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करते हैं और शरीर को इनसे होने वाले नुकासन से बचाकर रखते हैं।

क्विनोआ में क्वेरसेटिन और केम्पफेरोल पाए जाते हैं जो पौधों के कंपाउंड हैं।

10. क्विनोआ ग्लूटेन फ्री अनाज है (A Gluten-Free Grain)

जिन लोगों को ग्लूटेन फ्री अनाज खाना है तो क्विनोआ एक बहुत अच्छा ऑप्शन है। यह मार्किट में मिलने वाले सभी प्रोसेसड ग्लूटेन फ्री अनाज से बहुत बेहतर है जो आपकी ग्लूटेन फ्री डाइट में शामिल होने के लिए तैयार है।

11. क्विनोआ से त्वचा स्वस्थ रहती है (Promotes Skin Health)

अगर आपको लग रहा है कि क्विनोआ को डाइट में शामिल करने से आपको सिर्फ सेहत के फायदे मिलेंगे तो एक बार दोबारा सोचें। क्योंकि में ऐसे कई सारे पोष्टिक आहार हैं तो त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं। क्विनोआ में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो त्वचा को फ्री रेडिकल के खतरे से बचाकर रखने में मदद करता है। और साथ ही त्वचा में नमी और पोष्टिक आहार को भी सही मात्रा में बनाए रखने में मदद करता है।

इसके साथ ही क्विनोआ में विटामिन बी पाया जाता है जो लाल धब्बे और मुंहासों को दूर करने में मदद करता है।

यह भी पढ़ें- ओट्स के फायदे और नुकसान- हैल्थ, स्किन और बालों के लिए | ओट्स रेसिपी

12. क्विनोआ के फायदे बालों के लिए (Strengthens Hair Strands)

क्विनोआ के फायदे बालों के लिए भी कई सारे हैं। आपको बता दें कि क्विनोआ को कई सारे बालों से जुड़े प्रोडक्ट में इस्तेमाल किया जाता है जो बालों के लिए लाभदायक होता है। क्विनोआ में ह्यूमेक्टेंट्स नाम का कंपाउंड पाया जाता है जो बालों को पोषण और नमी से भरपूर रखने में मदद करता है। ह्यूमेक्टेंट्स के होने से बालों में रूसी नहीं होती है जिससे बाल साफ रहते हैं।

क्विनोआ के फायदे बालों के लिए भी हैं।

क्विनोआ के नुकसान (Side-Effects Of Quinoa)

क्विनोआ के फायदे के बारे में जानकारी प्राप्त करने के साथ- साथ आपको इससे जुड़े नुकसान के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए। आपको बता दें कि क्विनोआ के नुकसान आपको तभी होंगे जब आप इसका सेवन सेवन अनियमित रूप से करेंगे। आइए क्विनोआ के नुकसान की जानकारी नीचे से प्राप्त कर लेते हैं।

1. क्विनोआ से वजन बढ़ सकता है (Weight Gain)

क्विनोआ के फायदे में हमारा सबसे पहला फायदा वजन कम करने को लेकर था। लेकिन आपको बता दें कि क्विनोआ से वजन बढ़ भी सकता है। वो कैसे? आपको पहले भी बताया है कि क्विनोआ में फाइबर पाया जाता है। अगर फाइबर का सेवन भारी मात्रा में कर लिया जाए तो यह पच नहीं पाएगा जिससे वजन बढ़ सकता है। इसलिए क्विनोआ का सेवन सही मात्रा में करना चाहिए जिससे आपको अपनी इच्छा के अनुसार परिणाम मिलें।

यह भी पढ़ें- वजन बढ़ाने के लिए डाइट- स्वस्थ वजन कैसे प्राप्त करें।

2. क्विनोआ से पथरी की परेशानी हो सकती है (Kidney Stones)

ऑक्सालिक एसिड क्विनोआ में पाया जाता है जो क्विनोआ के फायदे कम कर देता है। ऑक्सालिक एसिड कैल्शियम के साथ आसानी से मिल जाता है जिससे किडनी में पथरी बनने के आसार बढ़ जाते हैं। आपको एक बार दोबारा बता दें कि ऐसा सिर्फ भारी मात्रा में क्विनोआ का सेवन करने से ही होगा।

3. क्विनोआ से डाइजेशन में दिक्कत हो सकती है (Can Cause Digestive Problems)

क्विनोआ में फाइबर भारी मात्रा में पाया जाता है। अगर फाइबर का सेवन ज्यादा मात्रा में कर लिया जाए तो यह डाइजेशन में परेशानी दे सकता है जैसे कि पेट में गैस, दस्त, पेट में रुकावट आदि।

क्विनोआ में फाइबर भारी मात्रा में पाया जाता है।

क्या क्विनोआ को ग्लूटेन फ्री बनाता है? (What Makes Quinoa Gluten-Free?)

आइए सबसे पहले यह जानते हैं कि ग्लूटेन फ्री क्या होता है। ग्लूटेन एक तरह का आम प्रोटीन है जो कई अनाज में पाया जाता है जैसे कि गेंहू, राई, जौं आदि। हालांकि ग्लूटेन के फायदे कई सारे हैं। जिन लोगों को ग्लूटेन एलर्जी है उन लोगों के लिए ग्लूटेन का सेवन करने से डाइजेशन में परेशानी हो सकती है।

यहां पर क्विनोआ एक अहम रूप निभाता है। क्विनोआ में यह प्रोटीन नहीं पाया जाता है जिससे यह सुपर ग्लूटेन फ्री अनाज बन जाता है। इसके साथ ही इसमें कई सारे पोष्टिक आहार पाए जाते हैं जैसे कि मिनरल्स, विटामिन, एमिनो एसिड जो उन लोगों के लिए बेहतर है जो ग्लूटेन फ्री अनाज की तलाश में हैं।

क्विनोआ बेनाम चावल (Quinoa Vs Rice)

क्विनोआ और चावल में से क्या ज्यादा बेहतर है को लेकर कई सारी बातें हैं। दोनों में ही विटामिन बी पाया जाता है और दोनों ही एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं। चावल से बनने वाली डिश में चावल की जगह क्विनोआ को आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इनका टैक्शर भी लगभग एक जैसा होता है। चावल से बनी डिश जैसे कि पुलाव, बिरयानी या फिर चावल के आटे से बनी डिश जैसे कि पैनकेक को भी क्विनोआ की मदद से बना सकते हैं।

यह भी पढ़ें- क्विनोआ या चावल- इनमें अंतर क्या है और कैसे इस्तेमाल करें।

एक जैसी खूबी होने के साथ- साथ उनमें मिनरल सामग्री को लेकर अंतर है। क्विनोआ में आयरन और मैग्नीशियम पाया जाता है जो सेहतमंद सेल मेमब्रेन और हड्डियों के टिशू को सुधारने के लिए अच्छा ऑप्शन है। इसके साथ ही शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ जाती है जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन ले जाने में मदद करता है।

क्विनोआ के प्रकार (Types Of Quinoa)

यह सुपर ग्रेन कई सारे प्रकार में आता है। आपको बता दें कि क्विनोआ के अलग- अलग प्रकार में पोष्टिक आहार एक जैसे हैं लेकिन यह दिखने में अलग होते हैं। नीचे से आप क्विनोआ के प्रकार के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

1. सफेद क्विनोआ (White Quinoa)

सफेद क्विनोआ सबसे आम क्विनोआ है जो अधिकतर लोगों के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। इसका टैक्शर सबसे हल्का होता है और इसका स्वाद काफी नाजुक होता है।

सफेद क्विनोआ सबसे आम क्विनोआ है जो अधिकतर लोगों
के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है।

2. लाल क्विनोआ (Red Quinoa)

अच्छे से पकाने पर यह क्विनोआ ब्राउन रंग का हो जाता है। इसका स्वाद ज्यादा अच्छा है ऊपर वाले क्विनोआ के मुकाबले और इसको चबाना पड़ता है इसलिए इसको सलाद में टोपिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

इसको सलाद में टोपिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

3. काला क्विनोआ (Black Quinoa)

बाकी क्विनोआ के मुकाबले इसका स्वाद मीठा है। और इस गहरे रंग के क्विनोआ में देसी फ्लेवर हैं जो अधिकतर मीट से जुड़ी डिश का होता है।

बाकी क्विनोआ के मुकाबले इसका स्वाद मीठा है।

आखिर में

क्विनोआ को कई तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है। क्विनोआ अलग- अलग प्रकार में आता है जिस कारण आपको कई प्रकार के क्विनोआ खाने का मौका मिल जाता है। आपको बता दें कि क्विनोआ डाइट में शामिल होने के लिए सबसे सेहतमंद खाने की चीज़ है। लेकिन इसका सेवन सही मात्रा में ही करें क्योंकि अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से आपको इसके नुकसान भी हो सकते हैं। इसलिए क्विनोआ को डाइट में शामिल करने से पहले इस बात का खास ध्यान रखें। क्विनोआ से जुड़ी अधिकतर जानकारी प्राप्त करने के बाद आप क्या सोच रहें हैं? अभी क्विनोआ को डाइट में शामिल कर इसके लाभ उठाएं।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments