सत्तू के फायदे और स्वादिष्ट डिश (Benefits Of Sattu in Hindi)

सत्तू एक देसी ड्रिंक है और सत्तू के फायदे (Sattu Benefits) जानने के बाद हर कोई इसे अपनी डाइट में शामिल करना चाहता है। सत्तू के फायदे (Sattu Ke Fayde) लू और गर्मी से बचाव करते हैं। सत्तू खाने के फायदे (Sattu Khane Ke Fayde) से जुड़ी सारी जानकारी इस आर्टिकल से प्राप्त कर सकते हैं।

सत्तू क्या है? सत्तू को आप देसी ड्रिंक कह सकते हैं। आमतौर पर अनाज जैसे कि जौ, चने को पीसकर सत्तू बनाया जाता है। सत्तू का सेवन शरबत की तरह किया जाता है। सत्तू के फायदे (sattu benefits) गर्मियों में कई सारे होते हैं। लू भरे दिन में सत्तू का सेवन करने से लू लगने के आसार कम हो जाते हैं और साथ ही गर्मी सहन करने में मदद करते हैं। सत्तू में ऐसे कई सारे पौष्टिक तत्व होते हैं जो गर्मियों में मददगार साबित होते हैं। इससे पहले सत्तू का सेवन गांव में ज्यादा किया जाता था लेकिन हाल ही में सत्तू के फायदे (sattu benefits) हर जगह पॉपुलर हो गए हैं और इस देसी ड्रिंक का सेवन अधिकतर सभी जगह किया जाने लगा है। अगर आपको सत्तू के फायदे (sattu ke fayde) ज्यादा से ज्यादा लेने हैं तो इसको घर में ही बनाएं। वो कैसे? सत्तू खाने के फायदे (sattu khane ke fayde), घर में सत्तू कैसे बनाएं से जुड़ी विस्तार से जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

सत्तू के फायदे गर्मी, लू से बचाते हैं।
विषय सूची

सत्तू के पौष्टिक तत्व (Sattu Nutritional Value in Hindi)

सत्तू के फायदे (sattu benefits) इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व के कारण होते हैं। गर्मियों में सत्तू का सेवन करने से गर्मियां भी अच्छी लगने लगती हैं। सत्तू का सेवन करने से आपको कई सारे पौष्टिक तत्व मिलते हैं जिनकी जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

पोषणमात्रा – 100 ग्राम
कैलोरी406
प्रोटीन20.6%
फैट7.2%
कार्बोहाइड्रेट65.2%
डाइटरी फाइबर1.35%
नमी2.95%

सत्तू के फायदे (Benefits Of Sattu in Hindi)

गर्मियों में सत्तू का सेवन अपनी डाइट में शामिल करना बहुत अच्छा ऑप्शन है। जब से सत्तू के फायदे (sattu benefits) पॉपुलर हुए हैं तब से लोगों ने गर्मियों की डाइट में सत्तू को शामिल कर लिया है। अगर आपके लिए सत्तू नया है तो कोई बात नहीं। सत्तू के फायदे (sattu ke fayde) से जुड़ी सारी जानकारी आप यहां से विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं।

1) गर्मियों की देसी ड्रिंक है सत्तू (Sattu Is A Traditional Summer Drink)

जैसा कि आपको आर्टिकल की शुरुआत में बताया है कि सबसे पहले सत्तू का सेवन सिर्फ गांव में किया जाता था। लेकिन अब सत्तू के फायदे (sattu benefits) इतने पॉपलुर हो गए हैं कि इस देसी ड्रिंक का सेवन हर कोई गर्मी और लू से बचने के लिए करता है। गर्मियों में आपको अधिकतर सड़क के किनारे सत्तू के शरबत की रेढ़ी जरुर मिलेगी। सत्तू का शरबत पीने से शरीर का तापमान सामान्य रहता है और गर्मी, लू सहन करने की क्षमता बढ़ जाती है। सत्तू का सेवन करने से शरीर ठंडा रहता है जिससे गर्मी लगने के आसार कम हो जाते हैं।

नींबू पानी पीने के फायदे।

गर्मियों में सत्तू शरबत- देसी ड्रिंक का सेवन करें।

2) सत्तू के फायदे पोषण से भरपूर (Benefits Of Sattu Are Full Of Nutrients)

क्या आपने सोचा है कि सत्तू के फायदे (sattu ke fayde) इतने सारे किन कारणों से हैं? सत्तू के फायदे (sattu benefits) इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व के कारण हैं और इससे जुड़ी सारी जानकारी आप ऊपर दी गई टेबल से ले सकते हैं। सत्तू में कई सारे पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि प्रोटीन, फाइबर, आयरन आदि। यह सभी पौष्टिक तत्व हमें सेहतमंद रखने में मदद करते हैं जैसे कि फाइबर पाचन शक्ति स्वस्थ रखने में मदद करता है, आयरन खून का बहाव सामान्य रखता है और प्रोटीन शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

नारियल पानी पीने के फायदे।

3) सत्तू खाने के फायदे वजन कम करने में मदद (Sattu For Weight Loss)

सत्तू के फायदे (sattu ke fayde) वजन कम करने में भी मदद करते हैं। आपको बता दें कि सत्तू में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो पेट को लंबे समय के लिए भरा रखता है। फाइबर का सेवन करने के बाद इसको पचने में समय लगता है। फाइबर को पचने में ज्यादा समय लगता है और इसी कारण से भूख कम लगती है। भूख कम लगने के कारण आप कम खाते हैं जिससे वजन कम होने में मदद मिलती है। दिन में एक गिलास सत्तू का शरबत पीने से वजन कम होने में मदद मिल सकती है।

सत्तू में फाइबर होता है जो वजन कम करने में मदद करता है।

4) सत्तू के फायदे स्वस्थ पाचन शक्ति के लिए (Benefits Of Sattu For Healthy Digestion)

सत्तू के फायदे (sattu benefits) फाइबर के कारण कई सारे हैं जैसे कि वजन कम करने में मदद और साथ ही स्वस्थ पाचन शक्ति रखने में मदद। फाइबर खाने से पाचन शक्ति अच्छे से काम करती है और पेट साफ रखने में मदद मिलती है। सही मात्रा में डाइट में फाइबर शामिल करने से पेट से जुड़ी बीमारियां होने के आसार बहुत कम हो जाते हैं। सत्तू खाने के फायदे (sattu khane ke fayde) से कब्ज, गैस आदि परेशानियों से राहत मिलने में मदद मिलती है।

5) सत्तू खाने के फायदे सेहतमंद लिवर के लिए (Benefits Of Sattu For Healthy Liver)

सत्तू के फायदे (sattu ke fayde) प्रोटीन से भरपूर भी होते हैं। आपको बता दें कि सत्तू में भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। गर्मियों में सत्तू प्रोटीन लेने का सेहतमंद माध्यम है। आपको बता दें कि सही मात्रा में प्रोटीन का सेवन करने से पेट से परेशानियां दूर रहने में मदद तो मिलती ही हैं इसके साथ ही प्रोटीन का सेवन करने लिवर सेहतमंद रहता है। प्रोटीन खाने से कब्ज, गैस जैसी परेशानी कम होती हैं।

गाजर के फायदे, डिश, नुकसान।

6) सत्तू के फायदे एनर्जी देने में मदद करते हैं (Sattu Drink Benefits For Energy)

गर्मियों में एनर्जी से भरपूर रहना बेहद जरुरी है नहीं तो आपको गर्मी या लू लगने के आसार बढ़ जाते हैं। एनर्जी से भरपूर रहने के लिए आप सत्तू का शरबत डाइट में शामिल कर सकते हैं। रोज सुबह या फिर ब्रंच में सत्तू के शरबत का सेवन कर सकते हैं। रोजाना सत्तू का शरबत पीने से शरीर एनर्जी से भरपूर रहता है। सत्तू का शरबत घर में भी आसानी से बनाया जा सकता है जिससे जुड़ी रेसिपी की जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

सत्तू का सेवन शरबत के रूप में कर सकते हैं।

7) सत्तू खाने के फायदे डायबिटीज में लाभदायक (Benefits Of Sattu In Diabetes)

कहा जाता कि सत्तू का शरबत डायबिटीज से गुजर रहे लोगों के लिए लाभदायक होता है। डायबिटीज से गुजर रहे लोगों को रोजाना सत्तू का शरबत पीने की सलाह दी जाती है। सत्तू को पानी में मिलाकर इसका सेवन करें। लेकिन फिर भी सत्तू का शरबत पीने से पहले डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

8) सत्तू के फायदे सामान्य ब्लड प्रेशर के लिए (Sattu Drink Benefits For Regulating Blood Pressure)

गर्मियों में शरीर में एनर्जी, पानी की कमी होने के कारण कई परेशानी हो सकती हैं। गर्मियों में ब्लड प्रेशर कम या ज्यादा होने के आसार बढ़ जाते हैं। सत्तू का शरबत पीने से ब्लड प्रेशर सामान्य बनाए रखने में मदद मिलती है। सत्तू के शरबत का सेवन रोजाना किया जा सकता है।

खीरा खाने के फायदे, डिश, नुकसान।

9) सत्तू खाने के फायदे एनीमिया में लाभदायक (Benefits Of Sattu In Anemia)

सत्तू के फायदे (sattu benefits) एनीमिया में भी लाभदायक होते हैं। एनीमिया में रेड ब्लड सेल की कमी हो जाती है जो शरीर में ऑक्सीजन लेकर जाते हैं। सत्तू में कैल्शियम और आयरन पाया जाता है और यह दोनों ही रेड ब्लड सेल को बढ़ाते हैं और शरीर में ऑक्सीजन के बहाव को सामान्य बनाए रखने में मदद करते हैं। अगर आपको एनीमिया है तो सत्तू का सेवन कर सकते हैं। लेकिन इससे पहले डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

10) सत्तू के फायदे त्वचा और बालों के लिए (Benefits Of Sattu For Skin And Hair)

सत्तू के फायदे (sattu ke fayde) सेहत के साथ- साथ त्वचा और बालों के लिए भी जाने जाते हैं। आपको बता दें कि सत्तू में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व त्वचा और बालों के लिए बहुत लाभदायक होते हैं। सत्तू में कई नमी भी पाई जाती है जो त्वचा में नमी बनाएं रखने में मदद मिलती है जिससे त्वचा निखती है। इसके अलावा सत्तू के फायदे (sattu benefits) बालों के लिए भी हैं। सत्तू में मौजूद विटामिन और मिनरल्स बालों की जड़ों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। त्वचा और बालों को सेहतमंद बनाए रखने के लिए सत्तू का सेवन शरबत के रूप में रोजाना किया जाना चाहिए।

सत्तू से बनने वाली डिश (Dishes To Make With Sattu)

सत्तू के फायदे (sattu ke fayde) कई तरह से लिए जा सकते हैं। अगर गर्मियों में आप सत्तू खाने के फायदे (sattu khane ke fayde) डाइट में शामिल करना चाहते हैं तो कई तरीको से कर सकते हैं। सत्तू की मदद से कई सारी डिश बनाई जा सकती हैं। सत्तू से बनने वाली डिश के आइडिया नीचे से ले सकते हैं।

1) घर में सत्तू कैसे बनाएं (How To Make Sattu At Home)

सत्तू से जुड़ी कोई भी डिश बनाने से पहले यह जान ले कि सत्तू कैसे बनाया जाता है। सत्तू बनाना बेहद आसान हैं। सत्तू का पाउडर बनाने के लिए यह स्टेप्स फोलो करें।

सत्तू पाउडर कैसे बनाएं

  • सत्तू पाउडर बनाने के लिए काले चने लें जिनके ऊपर छिलका आता है।
  • अब इनको रोस्ट कर लें।
  • अब रोस्ट किए गए काले चने को ग्राइंड कर लें।
  • ग्राइंड करने के बाद सत्तू को एयर टाइट डिब्बे में रख लें और अलग- अलग डिश बनाएं।

2) सत्तू का नमकीन शरबत (Sattu Ka Namkeen Sharbat)

सत्तू के फायदे (sattu benefits) आमतौर पर सत्तू के शरबत के रूप में लिए जाते हैं। सत्तू का शरबत आपको गर्मियों में सड़क के किनारे रेढ़ी पर आसानी से मिल जाएगा। लेकिन अगर आप घर क सुविधा में सत्तू का शरबत बनाना चाहते हैं तो यह बेहद आसान है। सत्तू का नमकीन शरबत डायबिटीज से गुजर रहे लोगों के लिए अच्छा ऑप्शन होता है।

सत्तू का नमकीन शरबत कैसे बनाएं

  • सबसे पहले सत्तू का पाउडर ले और बर्तन में डाल लें।
  • अब इसमें अपनी पसंद की स्थिरता के अनुसार पानी डालें।
  • सत्तू और पानी अच्छे से मिलाएं और गांठ ना बनने दें।
  • अगर आपको पतला सत्तू चाहिए है तो और पानी डालें।
  • अब इस मिश्रण में नमक, काला नमक, नींबू का रस, भुना हुआ जीरा डालें।
  • अब मिश्रण अच्छे से मिलाएं।
  • मिश्रण गिलास में निकाल लें और चाहें तो पुदीने के पत्ते भी डाल सकते हैं।
  • नमकीन सत्तू का शरबत तैयार है।

3) सत्तू का मीठा शरबत (Sattu Ka Meetha Sharbat)

अगर आपको सत्तू का नमकीन स्वाद कम पसंद है तो सत्तू का मीठा शरबत भी बना सकते हैं। सत्तू का मीठा शरबत बनाने की विधि भी सत्तू के नमकीन शरबत बनाने जैसी है। इससे जुड़ी सारी जानकारी नीचे से प्राप्त करें।

सत्तू का मीठी शरबत कैसे बनाएं

  • सबसे पहले सत्तू का पाउडर ले और बर्तन में डाल लें।
  • अब इसमें अपनी पसंद की स्थिरता के अनुसार पानी डालें।
  • सत्तू और पानी अच्छे से मिलाएं और गांठ ना बनने दें।
  • अगर आपको पतला सत्तू चाहिए है तो और पानी डालें।
  • अब इस मिश्रण में काला नमक मिलाएं और अपने स्वाद के अनुसार चीनी या खांड मिलाएं।
  • सत्तू के मीठे शरबत को गिलास में निकाल लें। चाहें तो नींबू का रस भी डाल सकते हैं।
  • मीठा सत्तू का शरबत तैयार है।

4) सत्तू का भरवा पराठा (Sattu Stuffed Paratha)

सत्तू का भरवा पराठा आपके घर के सभी लोगों को जरुर पसंद आएगा। सत्तू का पराठा बनाने की विधि बेहद आसान है।

सत्तू का पराठा कैसा बनाएं

  • सत्तू का भरवा पराठा बनाने के लिए सबसे पहले सामान्य गेंहू का आटा लगा लें।
  • अब सत्तू के पराठे के लिए फिलिंग तैयार करें।
  • एक प्लेट में सत्तू लें और इसमें अपनी पसंद के अनुसार मसाले डालें जैसे कि नमक, नींबू का रस, भुना हुआ जीरा, कलौंजी, बारीक कटी हुई हरी मिर्च।
  • अब इस मिश्रण में सरसों का तेल डालें और अच्छे से मिक्स करें।
  • सत्तू के भरवे पराठे के लिए फिलिंग तैयार है।
  • अब जैसे आप आलू के पराठे बनाते हैं वैसे ही सत्तू के पराठे बनाएं।
  • सत्तू के पराठे घी या तेल में सेक सकते हैं।
सत्तू का भरवा पराठा घर में ही बनाएं।
फोटो उदाहरण के लिए

5) सत्तू की कचौड़ी (Sattu Ki Kachori)

सत्तू की मदद से स्वादिष्ट कचौड़ी भी बनाई जा सकती हैं। सत्तू की कचौड़ी बनाने के लिए आपको सिंपल स्टेप्स फोलो करने हैं।

सत्तू की कचौड़ी कैसे बनाएं

  • सत्तू की कचौड़ी बनाने के लिए सबसे पहले गेंहू का आटा लें और इसमें नमक और अजवाइन डालकर रिफाइंड तेल से आटा लगा लें। यह आटा 10-15 मिनट के लिए रख दें।
  • अब सत्तू का आटा लें और इसमें रिफाइंड तेल, अजवाइन, बारीक कटी हुई हरी मिर्च डालें और अच्छे से मिक्स कर लें।
  • अब गेंहू के आटे से कचौड़ी बनाएं और कचौड़ी में सत्तू से बनी फिलिंग डालें।
  • सत्तू की फिलिंग डालने के बाद कचौड़ी को डीप फ्राई कर लें।
  • कचौड़ी को आप हरा धनिया या मीठी चटनी के साथ खा सकते हैं।

सत्तू से जुड़ी जरुरी बातें (Important Things Related With Sattu)

ऊप दी गई सभी जानकारी के अलावा ऐसी सत्तू से जुड़ी और भी बातें हैं जिनके बारे में आपको जरुर पता होना चाहिए।

  • सत्तू का सेवन सही मात्रा में करने से ही सत्तू के फायदे (sattu benefits) मिलते हैं। सत्तू के फायदे (sattu ke fayde) लेने के लिए इसका सेवन दिन में दो बार करना काफी रहता है।
  • अगर आपको पथरी की परेशानी है तो सत्तू का सेवन ना करें क्योंकि इसमें कैल्शियम होता है। लेकिन इसके बावजदू डॉक्टर से सलाह जरुर लें।
  • सड़क किनारे सत्तू का शरबत पीने से अच्छा है घर में सेहतमंद तरीके से सत्तू का सेवन करें।
  • सत्तू का सेवन करने के कुछ समय बाद पानी का सेवन करें।
  • सत्तू कई अनाज से बनाया जा सकता है। चने के साथ जौ को भी शामिल कर सकते हैं।

आखिर में

सत्तू के फायदे (sattu ke fayde) के बारे में बहुत कम लोग जानते होंगे लेकिन इस सेहतमंद खाने की चीज़ के बारे में सभी लोगों को पता होना जरुरी है। क्योंकि हम नहीं चाहते कि आप किसी भी सेहतमंद चीज़ से दूर रहें। सत्तू के फायदे (sattu benefits) गर्मियों में अवश्य लेने चाहिए। सत्तू का शरबत पीने से आपका दिन एनर्जी से भरपूर बन सकता है। लेकिन सत्तू का सेवन सही मात्रा में ही करें क्योंकि सत्तू में फाइबर पाया जाता है, इसका सेवन अधिक मात्रा में करने से पेट की परेशानी बढ़ सकती हैं। सत्तू का सेवन गर्मियों में जरुर करें।

FAQs

  1. सत्तू का सेवन कब करना चाहिए? (When should I drink sattu?)

    सत्तू का सेवन सुबह या दोपहर भी किया जा सकता है जिससे पूरे दिन शरीर में एनर्जी बनी रहे। सत्तू का सेवन शरबत के रूप में आसानी से कर सकते हैं क्योंकि इसको पचने में आसानी होती है। रात में सत्तू नहीं खाने की सलाह दी जाती है लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

  2. क्या सत्तू में प्रोटीन ज्यादा पाया जाता है? (Is sattu high in protein?)

    जी हां, सत्तू में प्रोटीन पाया जाता है। इसके अलावा सत्तू में फाइबर, आयरन, कैल्शियम आदि पौष्टिक तत्व भी पाए जाते हैं जो पेट को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

  3. एक दिन में किनी मात्रा में सत्तू का सेवन करना चाहिए? (How much sattu is enough in a day?)

    एक दिन में दो चम्मच सत्तू का सेवन करने की सलाह दी जाती है। सत्तू का सेवन अधिकतर शरबत के रूप में किया जाता है।

  4. क्या सत्तू का सेवन कसरत के बाद किया जा सकता है? (Is sattu good for after workout?)

    सत्तू एक देसी ड्रिंक है जिसके कई सारे फायदे हैं। सत्तू में प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीज, मैग्नीशियम पाया जाता है जिनका सेवन कसरत के बाद करना लाभदायक होता है।

  5. क्या सत्तू का सेवन रात में किया जा सकता है? (Can sattu be taken at night?)

    सत्तू का सेवन रात में करने से पेट की परेशानी हो सकती है। इसलिए सत्तू का सेवन सुबह या दोपहर में कर सकते हैं।

लेखक के बारे में

सुरभि शर्मा मिश्री में हिंदी लेखिका हैं। इ्न्हें सवाल पूछना बहुत पसंद है शायद इसी कारण से इनके आर्टिकल आपको विस्तार जानकारी के साथ मिलेंगे। इनका कहना है कि अपने शौक को करियर में बदलने से अच्छा और क्या हो सकता है। लिखने के साथ- साथ और भी कई शोक रहे हैं लेकिन अब इन्हें लगता है कि यह अपना पसंदीदा काम कर रही हैं। 

इस लेखक द्वारा अधिक लेख

Leave a Reply on सत्तू के फायदे और स्वादिष्ट डिश (Benefits Of Sattu in Hindi)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*