किचन ऑफ इंडिया दाल बुखारा: #फर्स्टइंप्रेशन (Kitchens Of India’s Dal Bukhara: #FirstImpressions)
first-impressions-of-dal-bukhara

किचन ऑफ इंडिया दाल बुखारा: #फर्स्टइंप्रेशन (Kitchens Of India’s Dal Bukhara: #FirstImpressions)

रेडी-टू-ईट प्रोडक्ट को सुविधाजनक और पारंपरिक स्वाद देने के लिए जाना जाता है। आइए देखते हैं कि आईटीसी किचन ऑफ इंडिया का नया रेडी-टू-ईट प्रोडक्ट दाल बुखारा का स्वाद पारंपरिक है या नहीं।

ओपन कुकिंग की कला से बुखारा को प्राचीन काल से बनाया जा रहा है जब गुफा में रहने वाले लोग रेशम मार्ग से जाते थे। ये रेसिपी रहस्यमय है। आईटीसी मौर्य बुखारा रेस्टोरेंट ऐसी डिश को श्रद्धा देने के लिए लेकर आया है। आईटीसी ब्रांड की किचन ऑफ इंडिया ऐसी ही कुछ रेसिपी रेडी-टू-ईट प्रोडक्ट की रेंज में लेकर आएं हैं। इनको कोयले की धीमी आंच में पकाया गया है जिनमें पारंपरिक मसाले डाले गए हैं और ब्रांड इसकी मदद से आपको दावत देने का दावा कर रही है। यह एक ऐसा दावा है जिसको बिना चखे साबित नहीं किया जा सकता है। इसका स्वाद कैसा है जानने के लिए आप हमारा यह फर्स्टइंप्रेशन पढ़ सकते हैं।

किचन ऑफ इंडिया दाल बुखारा (Kitchens Of India’s Dal Bukhara) से जुड़ी जरुरी बातें

*पैकेजिंग पर दी गई जानकारी के अनुसार

  1. इसको काली दाल से कोयले की धीमी आंच पर बनाया गया है।
  2. यह डिश आईटीसी के मास्टरशेफ के द्वारा बनाई गई है।
  3. इसमें प्रेज़रवेटिव नहीं हैं।
  4. इसको 4 पाउच में सुरक्षित रखा गया है।

किचन ऑफ इंडिया दाल बुखारा, 285 ग्राम

यह पुरानी रेसिपी है जिसको नए समय में पारंपरिक मसालों के साथ बनाया गया है।

कीमत- 110/- रुपए*

*कीमत रिव्यू के समय

किचन ऑफ इंडिया दाल बुखारा बनाने की विधि

*पैकेजिंग पर दी गई जानकारी के अनुसार

पहला तरीका

पैकेट काटें, बर्तन में सामग्री को निकाले और 3 से 5 मिनट के लिए गर्म करें।

दूसरा तरीका

पैकेट काटें, सामग्री को माइक्रोवेव डिश में निकालें और हाई हीट पर 1 से 2 मिनट तक माइक्रोवेव करें।

तीसरा तरीका

पैकेट को 3 से 5 मिनट के लिए उबलते हुए पानी में डालें। इसके बाद पैकेट खोलें और खाएं।

#फर्स्टइंप्रेशन किचन ऑफ इंडिया दाल बुखारा

अगर किचन ऑफ इंडिया ने दाल बुखारा जैसी क्रीमी, मलाइदार डिश की निकल करने की कोशिश की है तो आपको बता दें कि इन्होंने इस डिश के साथ न्याय नहीं किया है।

मिश्री रिव्यू- किचन ऑफ इंडिया दाल बुखारा

हम यह पूरी तरह से मानते हैं कि दाल बुखारा के फ्लेवर को पारंपरिक तरीके से लेकर आना आसान नहीं है जो रेस्टोरेंट में ताज़ा मिलती है। लेकिन आपको बता दें कि यह उसके करीब भी नहीं है।

मिश्री रिव्यू- किचन ऑफ इंडिया दाल बुखारा

हमें यह लगा कि पैक्ड दाल बुखारा में टमाटर की घट्टापन बहुत ज्यादा है। इसके अलावा इसमें भारी मात्रा में अदरक भी है। यह दोनों मिलकर दाल बुखारा को ऐसा बना देते हैं जिसे हम फिर दोबारा नहीं खाना चाहेंगे।

यहां तक की हमारे द्वारा किया गया पारंपरिक रेडी-टू-ईट दाल मखनी रिव्यू में आईटीसी किचन ऑफ इंडिया दाल मखनी (रेडी-टू-ईट) हमारा टॉप पिक बना है। आईटीसी ने रेडी-टू-ईटऔर फ्रोजन कैटगरी में कई प्रोडक्ट लांच किए हैं। जैसे कि वडा पाव, फलाफल कबाब और यह दोनों ही स्वादिष्ट हैं और स्वाद के साथ न्याय भी करते हैं। लेकिन इस डिश ने हमें निराश किया है। जो लोग अभी तक दिल्ली के बुखारा रेस्टोरेंट में नहीं गए हैं उन लोगों को यह डिश ज्यादा पसंद नहीं आएगी। हम आपको आईटीसी की दाल मखनी खाने की सलाह देते हैं।

अगर आप हमारे रिव्यू से सेहमत हैं तो लाइक करें और अगर नहीं तो बताएं क्यों। अगर आप कोई प्रोडक्ट रिव्यू करवाना चाहते हैं तो यहां बताएं।

फूड एंड बेवरेज में रोज़ाना कुछ न कुछ नया आता रहता है। हमारे रिव्यू आपको किचन का सामान खरीदनें में मदद करेंगे। हमारे रिव्यू निष्पक्ष हैं और रिव्यू के लिए सभी प्रोडक्ट हमारे द्वारा खरीदें गए हैं। इससे जुड़ी सारी जानकारी आप यहां से पढ़ सकते हैं।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments