हिबिस्कस चाय पीने के कारण- कैसे बनाएं? (Popular Reasons To Drink Hibiscus Tea| What Makes It Beneficial?| How To Make It?)

सदियों से हिबिस्कस चाय को चिकित्सीय चमत्कार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। हिबिस्कस चाय का एक कप एंटीऑक्सीडेंट और मिनरल्स से भरपूर होता है। हिबिस्कस चाय पीने के फायदे की जानकारी आप यहां से ले सकते हैं।

लगभग 25% हिबिस्कस चाय में ओर्गेनिक एसिड पाया जाता है। इस कारण से आप हिबिस्कस चाय के फायदे के बारे में सोच सकते हैं। सदियों से हिबिस्कस चाय को चिकित्सीय चमत्कार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। हिबिस्कस चाय का एक कप एंटीऑक्सीडेंट और मिनरल्स से भरपूर होता है। शुरुआत से ही हिंदू परंपरा के अनुसार हिबिस्कस चाय ने कई सारे चिकित्सीय फायदे दिए हैं। आइए हिबिस्कस चाय से जुड़े और अधिक फायदो की जानकारी यहां से प्राप्त कर लेते हैं।

हिबिस्कस चाय का एक कप एंटीऑक्सीडेंट और मिनरल्स से भरपूर होता है।

हिबिस्कस चाय के फायदे (Health Benefits Of Hibiscus Tea)

1. वजन कम करने में मदद (Weight Loss)

हिबिस्कस चाय के फायदे में से सबसे जरुरी फायदा इसके वजन कम करने से जुड़ा हुआ है। सही मात्रा में हिबिस्कस चाय का सेवन करने से स्टार्च और ग्लूकोज को अब्जॉर्ब कम करता है (1)। यह दोनों आहार वजन बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। इन दोनों आहार को कम मात्रा में अब्जॉर्ब किया जाता है जिससे वजन सामान्य रहने में मदद मिलती है।

2. दिल की सेहत में सुधार (Improves Cardiovascular Health)

एक अध्ययन के अनुसार सही मात्रा में हिबिस्कस चाय को पीने से खराब कोलेस्टॉल की मात्रा कम बनी रहती है। जिससे दिल की सेहत अच्छी बनी रह सकती है। अगर शरीर में अच्छे कोलेस्टॉल की मात्रा बुरे कोलेस्टॉल के मुकाबले ज्यादा रहेगी तो दिल की बीमारी के आसार कम हो जाते हैं (2)।

यह भी पढ़ें- 9 फूड स्वस्थ दिल के लिए (Top 9 Heart Friendly Foods)

3. एंटी- इंफ्लामेट्री की तरह काम करता है (Works As An Anti-Inflammatory Agent)

विटामिन सी भरपूर होने के कारण हिबिस्कस चाय को पीने से फ्री रेडिकल का खतरा कम हो जाता है। विटामिन सी को फ्री रेडिकल से लड़ने के लिए जाना जाता है। फ्री रेडिकल शरीर में स्वस्थ सेल के साथ मिलकर शरीर को नुकसान देते हैं। लेकिन स्वस्थ सेल से मिलने से पहले एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल के साथ मिलकर फ्री रेडिकल को नष्ट कर देता है।

विटामिन सी भरपूर होने के कारण हिबिस्कस चाय को पीने से
फ्री रेडिकल का खतरा कम हो जाता है।

4. डिप्रेशन को दूर करता है (Works As An Anti-Depressant)

सही मात्रा में रोजाना हिबिस्कस चाय का सेवन करने से डिप्रेशन से बचाव रहता है (3)। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हिबिस्कस चाय पीने से खुशी के होर्मोन जिनको सेरोटोनिन और डोपामाइन कहा जाता है का जन्म होता है जो डिप्रेशन को दूर करने में मदद करते हैं।

5. लिवर के लिए लाभदायक (Good For Liver)

इस हर्बल चाय को पीने से कोलेस्टॉल लेवल कम रहता है और इसके साथ ही यह लिवर के लिए बहुत लाभदायक भी है। हाई कोलेस्टॉल लेवल रहने से लिवर में फैट जमा होने लगता है वहीं कम कोलेस्टॉ होने से लिवर को नुकसान नहीं होता है। इसके अलावा हिबिस्कस चाय में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट लिवर को स्वस्थ बनाए और फ्री रेडिकल से बचाव करते हैं।

यह भी पढ़ें- 5 हिबिस्कस चाय के नुकसान- हिबिस्कस चाय पीने का बेस्ट समय (5 Known Side-Effects Of Hibiscus Tea | Best Time To Have Hibiscus Tea)

6. डायबटीज निवारक के रूप में काम करता है (Works As A Diabetes Deterrant)

डायबटीज- 2 के लिए एक कप हिबिस्कस चाय सबसे सुरक्षित और आसानी से मिलने वाला इलाज है। इसको पीने से स्टार्च और ग्लूकोज का अब्जॉर्बशन कम हो जाता है। इससे ब्लड ग्लूकोज लेवल बढ़ता नहीं है जिससे इंसूलिन भी कम हो जाता है। ऐसा होने से अग्न्याशय (pancreas) को इंसूलिन बनाने का काफी समय मिल जाता है।

7. सेहतमंद पाचन शक्ति (Improves Digestive Health)

सही मात्रा में रोजाना हिबिस्कस चाय सही पीने से पाच शक्ति स्वस्थ रहती है। क्योंकि डाइजेस्टिव जूस खाने को अच्छे से पचाने में मदद करता है। इसके अलावा हिबिस्कस चाय में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जिससे सूजन का खतरा कम हो जाता है और साथ ही फ्री रेडिकल से भी लड़ने में मदद मिलती है। ऐसा होने से पेट में गैस की परेशानी भी नहीं होती है।

हिबिस्कस चाय में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं
जिससे सूजन का खतरा कम हो जाता है।

8. ब्लड प्रेशर में सुधार (Improves Blood Pressure)

हिबिस्कस चाय पीने से शरीर में धमनी (arteries) को कोलेस्टॉल से फ्री हो जाती है इसलिए यह कहना सही होगा कि हिबिस्कस चाय पीने से ब्लड वेसल्स में खून का बहाव अच्छे से होता है। इसके साथ ही शरीर में नमक की मात्रा भी सामान्य बनी रहती है। नमक की मात्रा ज्यादा होने से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। हिबिस्कस चाय को डाइट में शामिल करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।

9. एंटी- एजिंग की तरह काम करता है (Anti-Ageing Agent)

हिबिस्कस चाय में विटामिन सी पाया जाता है जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है जो एंटी- एजिंग के लिए फायदेमंद है। यह त्वचा में नमी बनाए रखता है। इसके साथ ही यह त्वचा को सभी जरुरी पोषण से भरपूर रखता है और बढ़ती उम्र के आसार को जल्दी से दिखने नहीं देता है।

यह भी पढ़ें- बेस्ट एंटी एजिंग फूड- खाने की लिस्ट।

क्या हिबिस्कस चाय को इतना फायदेमंद बनाता है? (What Makes Hibiscus Tea Beneficial?)

सबकुछ किसी कारण से होता है। ऊपर दिए गए हिबिस्कस चाय के फायदे पोषण से जुड़े हुए हैं। हिबिस्कस चाय एंटीऑक्सीडेंट , विटामिन सी, फॉस्फोरस और पोटेशियम से भरपूर है जो एक बार में ही सभी बीमारियों को दूर कर देती है।

एंथोसायनिन का एक अच्छा आधार होने के कारण यह एंटी- बैक्टीरियल खूबी के लिए जाना जाता है। इस चाय को पाचन शक्ति और मूत्र मार्ग में इंफेक्शन से जुड़ी परेशानी में आराम देने के लिए भी जाना जाता है।

हिबिस्कस चाय कैसे बनाए? (How To Make Hibiscus Tea?)

हिबिस्कस चाय को हिबिस्कस के फूलों को गर्म पानी में डालकर बनाया जाता है। हिबिस्कस चाय बनाने की विधि के बारे में जानने से पहले इसकी सामग्री के बारे में पहले जान लेते हैं।

हिबिस्कस चाय को हिबिस्कस के फूलों को गर्म पानी में डालकर बनाया जाता है।

हिबिस्कस चाय के लिए सामग्री

  1. हिबिस्कस फूल 1 से 2 चम्मच
  2. 1 कप गर्म पानी
  3. पुदीने की पत्तियां (स्वाद के लिए)

हिबिस्कस चाय बनाने की विधि

  1. पानी को अच्छे से उबाल लें।
  2. गर्म पानी में 1- 2 हिबिस्कस के फूल डालें। फूलों की मात्रा इस पर निर्भर करती है कि आप कितनी कड़क चाय पीना चाहते हैं।
  3. पुदीने की पत्तियां मिलाएं जिससे खुशबू और ताज़ापन आ जाए।
  4. पानी को अच्छे से छान लें और कप में निकाल लें।

आखिर में

हिबिस्कस चाय की जड़ें इतिहास से जुड़ी हुई हैं लेकिन अभी भी इसकी डिमांड काफी ज्यादा है। यह कैफेन- फ्री है जिस कारण हिबिस्कस चाय के फायदे ज्यादा हो जाते हैं। इसमें कोई शक की बात नहीं है कि हिबिस्कस चाय को सही मात्रा में रोजाना पीने से आपको सिर्फ फायदे मिलेंगे।

Story Tags :

Leave a Reply on हिबिस्कस चाय पीने के कारण- कैसे बनाएं? (Popular Reasons To Drink Hibiscus Tea| What Makes It Beneficial?| How To Make It?)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*