कुलथी दाल (Kulthi Dal) के फायदे, उपयोग और नुकसान (Horse Gram Benefits, Uses, Side Effects In Hindi)

benefits of kulthi dal- img.credit-commons.wikimedia.org

कुलथी दाल (Kulthi Dal) के फायदे, उपयोग और नुकसान (Horse Gram Benefits, Uses, Side Effects In Hindi)

कुलथी दाल क्या है, कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal), उपयोग, नुकसान से जुड़ी जानकारी यहां से प्राप्त करें। और साथ ही कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) डाइट में कैसे शामिल करें, यहां से जानें।

कुलथी दाल (Kulthi Dal): यह पूरी तरह मुमकिन है कि आपने कुलथी दाल का नाम पहली बार सुना होगा। चाहे आपने कुलथी दाल (Horse Gram) का नाम पहले सुना हो या नहीं लेकिन अब कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) जानने बेहद जरुरी हैं। कुलथी दाल के बारे में कहा जाता है कि यह पृथ्वी पर सबसे ज्यादा पौष्टिक दाल है। यू.एस की राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी का मानना है कि भविष्य में कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) बहुत पॉपुलर और लाभदायक हो सकते हैं (1)। कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) प्रोटीन से भरपूर हैं इसलिए इसका सेवन पूरी दुनिया में किया जाता है। इस आर्टिकल से आप कुलथी दाल क्या है, पोष्टिक तत्व, फायदे, उपयोग और नुकसान से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) डाइट में जरुर शामिल करें।
इमेज क्रेडिट –commons.wikimedia.org

कुलथी दाल क्या है? (Kulthi Dal (Horse Gram) Meaning In Hindi)

कुलथी एक मतलब चना होता है। अंग्रेज़ी में कुलथी दाल को (Horse Gram) के नाम से जाना जाता है और पहले इसका इस्तेमाल इसके नाम के अनुसार किया जाता था। कुलथी दाल का उपयोग घोड़े, भेड़, बकरी आदि के खाने के तौर पर किया जाता था। लेकिन कई अध्ययन के बाद यह पाया गया है कि कुलथी दाल प्रोटीन से भरपूर होती है जो मनुष्य के लिए भी लाभदायक है। जैसे की ऊपर भी बताया गया है कि कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) भविष्य में बहुत पॉपुलर होने वाले हैं इसलिए इस दाल का उपयोग कुपोषण को दूर करने के लिए भी किया जाता है। कुलथी दाल की पौष्टिक तत्व से जुड़ी जानकारी नीचे दी गई टेबल से ले सकते हैं।

कुलथी दाल के पौष्टिक तत्व (Kulthi Dal (Horse Gram) Nutritional Value In Hindi)

कुलथी दाल को इसके पौष्टिक तत्व के कारण सबसे ज्यादा जाना जाता है। कुलथी दाल में प्रोटीन की मात्रा सबसे ज्यादा होती है। इसके अलावा इसमें कई सारे पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जिससे जुड़ी जानकारी नीचे से ली जाती है (2)।

पोषणमात्रा – 100 ग्राम
कैलोरी321 किलो कैलोरी
फाइबर5.3%
प्रोटीन22%
कार्बोहाइड्रेट57.2%
कैल्शियम287 एमजी
फास्फोरस311 एमजी
फैट0.50%
आयरन6.77 एमजी
थियामिन0.4 एमजी
राइबोफ्लेविन0.2 एमजी
नियासिन1.5 एमजी

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram In Hindi)

कुलथी दाल के पौष्टिक तत्व जानने के बाद आप चाहेंगे कि इसे डाइट में शामिल किया जाए। लेकिन डाइट में शामिल करने से पहले कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) जरुर जान लें। कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) आपकी रोजाना की परेशानियों से राहत दिला सकता है। कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) से जुड़ी विस्तार से जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं (3)।

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) कई सारे हैं।
इमेज क्रेडिट -commons.wikimedia.org

कुलथी दाल- एक प्रकार की औषधि (Kulthi Dal/ Horse Gram- Traditional Medeicine)

कुलथी दाल का इस्तेमाल सबसे ज्यादा औषधि के रूप में किया जाता है इसलिए हो सकता है कि आपने इसका नाम कम सुना हो। कुलथी दाल का इस्तेमाल अस्थमा, पथरी, पीलिया, बुखार आदि में किया जाता है। बीमारी में कुलथी की दाल, पानी, सूप पीना लाभदायक होता है।

कुलथी दाल के फायदे वजन कम करने के लिए (Kulthi Dal Benefits For Weight Loss In Hindi)

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) सबसे ज्यादा वजन कम करने के लिए जाने जाते हैं। कुलथी दाल में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिससे पेट लंबे समय के लिए भरा रहता है। लंबे समय के लिए पेट भरा रहने से आप बार- बार खाना नहीं खाते हैं। इसके साथ ही कुलथी की दाल में कैलोरी की मात्रा कम होती है जिससे कैलोरी का सेवन कम किया जाता है। कई अध्ययन में भी यह पाया गया है कि कुलथी दाल फैटी टिश्शू पर डायरेक्ट अपना असर दिखाती है जिससे फैट कम होता है जिससे वेट लॉस होने में मदद मिलती है।

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) वजन कम करने में मदद करते हैं।

कुलथी दाल खाने के फायदे कंट्रोल कोलेस्ट्रॉल करने के लिए (Benefits Of Kulthi Dal In Controlling Cholesterol In Hindi)

कुलथी दाल में प्राकृतिक रूप से फैट बर्न करने के गुण हैं। इसके साथ ही कई अध्ययन में भी यह पाया गया है कि कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) खराब कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम और अच्छे कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ने में मदद करती है। इसलिए कहा जा सकता है कि कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) कोलेस्ट्रॉल सामान्य बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

कुलथी दाल के फायदे डायबिटीज के लिए (Horse Gram Dal Benefits In Diabetes In Hindi)

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) डायबिटीज के लिए भी बताए गए हैं। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी ने यह पाया है कि दिन में एक बार कुलथी दाल खाने से डायबिटीज से गुजर रहे लोगों को लाभ मिलता है।कुलथी दाल डाइट में शामिल करने से इंसूलिन कम रहता है जिससे शुगर लेवल अचानक से बढ़ता या कम नहीं होता है। डायबिटीज से गुजर रहे लोग कुलथी दाल डाइट में शामिल कर सकते हैं लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) डायबिटीज में लाभदायक होते हैं।

कुलथी दाल खाने के फायदे पथरी के लिए (Benefits Of Horse Gram For Kidney Stone In Hindi)

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) पथरी के इलाज के लिए लाभदायक माने जाते हैं। शरीर में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा होने से पथरी होने के आसार बढ़ जाते हैं। यहां पर कुलथी की दाल के फायदे काम आते हैं। कुलथी दाल में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कैल्शियम के जमाव को कम करने में मदद मिलती है। इसके साथ ही यह देखा गया है कि जिन लोगों को पथरी होती है वो लोग कुलथी के पानी का सेवन करते हैं जिसकी रेसिपी की जानकारी आप नीचे से ले सकते हैं। कुलथी का पानी पथरी के लिए डाइट में शामिल करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

कुलथी दाल के फायदे स्वस्थ लिवर के लिए (Kulthi Dal Benefits For Healthy Liver In Hindi)

कुलथी दाल में दो सेहतमंद कंपाउंड पाए जाते हैं- फ्लेवोनोइड्स और पॉलीफेनोल्स। यह दोनों कंपाउंड लिवर को खतरनाक केमिकल से बाचकर रखते हैं और स्वस्थ तरीके से काम करने में मदद करते हैं।

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) लिवर को केमिकल से बचाकर रखने में मदद करता है।
इमेज क्रेडिट -commons.wikimedia.org

कुलथी दाल खाने के फायदे छालों में लाभदायक (Benefits Of Kulthi Dal For Ulcers In Hindi)

जैसा कि आपको पहले भी बताया है कि कुलथी दाल में फ्लेवोनोइड्स नाम का कंपाउंड पाया जाता है जो पेट को साफ रखने में मदद करता है। पेट साफ रहने से छोले होने के आसार कम हो जाते हैं और अगर छाले हैं तो ठीक करने में मदद करते हैं।

कुलथी दाल के फायदे बुखार में (Benefits Of Horse Gram In Fever In Hindi)

सर्दी, बुखार होने पर कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) आपकी मदद कर सकते हैं। सर्दी या बुखार होने पर कुलथी दाल का सेवन किया जा सकता है। जिसके बाद कहा जा सकता है कि कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) खांसी-जुकाम के घरेलू उपाय की तरह इस्तेमाल किए जा सकता है।

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) बुखार में लाभदायक होते हैं।

कुलथी दाल खाने के फायदे स्वस्थ डाइजेशन के लिए (Kulthi Dal Benefits For Healthy Digestion In Hindi)

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) फाइबर के लिए पहले भी बताए गए हैं। स्वस्थ पाचन शक्ति रखने के लिए भी कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) काम आते हैं। पाचन शक्ति स्वस्थ रखने के लिए फाइबर का सेवन करना चाहिए और कुलथी दाल में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। कब्ज, दस्त या पेट से जुड़ी किसी भी परेशानी से राहत पाने के लिए कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) आपकी मदद कर सकते हैं।

कुलथी दाल के फायदे त्वचा के लिए (Benefits Of Horse Gram For Healthy Skin In Hindi)

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) त्वचा के लिए भी कई सारे हैं। कुलथी दाल के गुण त्वचा को साफ और पोषण से भरपूर रखने में मदद करते हैं। त्वचा के लिए कुलथी दाल का इस्तेमाल पीसकर त्वचा पर किया जा सकता है। ऐसा करने से डेड सेल निकलते हैं जिससे स्वस्थ साफ हो जाती है। इसके साथ ही सनबर्न से भी बचाव मिलता है।

कुलथी दाल के फायदे बालों के लिए (Benefits Of Kulthi Dal For Healthy Hair In Hindi)

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) बालों को मजबूत बनाने में भी मदद करते हैं। कुलथी दाल खाने से बाल मजबूत बनते हैं। कुलथी का सेवन आप दाल, सूप या पानी के रूप में कर सकते हैं। कुलथी से बालों को जरुरी पौष्टिक आहार मिलते हैं।

कुलथी दाल का उपयोग कैसे करें (Uses Of Kulthi Dal (Horse Gram) In Hindi)

कुलथी दाल का उपयोग कई तरह से किया जा सकता है। कुलथी दाल का उपयोग आप पाउडर, पानी, दाल, उबालकर भी कर सकते हैं। और इनको कैसे बनाया जाता है से जुड़ी जानकारी भी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं।

कुलथी पाउडर (Horse Gram Powder)

कुलथी पाउडर आप घर में भी बना सकते हैं। कुलथी पाउडर का इस्तेमाल आप वेट लॉस के लिए कर सकते हैं।

कुलथी पाउडर बनाने की विधि

  • कुलथी पाउडर बनाने के लिए सबसे पहले कुलथी दाल पैन में रोस्ट करें।
  • इसके बाद तिल रोस्ट करें।
  • अब सूखी लाल मिर्च, काली मिर्च और जीरा रोस्ट करें।
  • आखिर में इसमें हींग और स्वादानुसार नमक डालें।
  • सभी रोस्ट की गई सामग्री को ग्राइंडर में डालें और ग्राइंड करें।
  • कुलथी का पाउडर तैयार है।
कुलथी दाल पाउडर घर में बनाएं।
इमेज क्रेडिट –commons.wikimedia.org

कुलथी का पानी (Horse Gram Water)

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) आप कुलथी के पानी से भी ले सकते हैं। कुलथी का पानी आप आसानी से बना सकते हैं।

कुलथी पानी बनाने की रेसिपी

  • कुलथी पानी बनाने बनाने के लिए आपको कुलथी का पाउडर और पानी या लस्सी की जरुरत है।
  • एक गिलास पानी या लस्सी लें।
  • अब एक चम्मच कुलथी पाउडर अच्छे से मिक्स करें और रोज खाली पेट इसका सेवन करें। ऐसा करने से पेट से जुड़ी कई बीमारियां दूर हो सकती हैं।

अंकुरित कुलथी दाल (Sprouted Horse Gram)

कुलथी दाल को उगाकर भी खा सकते हैं। इसको भी वैसे ही उगाना है जैसे आप बाकी अनाज जैसे कि मूंग, चने उगाते हैं।

  • रातभर के लिए कुलथी दाल में पानी डालकर रखें।
  • अगली सुबह पानी निकाल दें।
  • अब इन्हें बिना पानी के रखें।
  • 2 से 3 दिन में कुलथी दाल अंकुरित हो जाएगी।
कुलथी दाल उगाकर भी खा सकते हैं।
इमेज क्रेडिट –commons.wikimedia.org

कुलथी दाल उबालकर खाएं (Boiled Horse Gram)

कुलथी दाल का सेवन उबालकर भी कर सकते हैं। अगर आपके पास सुबह समय कम होता है तो सिर्फ कुलथी दाल को उबालकर खाना भी एक सेहतमंद ऑप्शन है।

  • इसमें आपको सिर्फ कुलथी दाल को पानी में उबालना है।
  • जब तक सोफ्ट ना हो जाए तब तक उबालें।
  • उबलने के बाद नमक और काली मिर्च डालकर खाएं।

कुलथी दाल से बनने वाली डिश (Dishes To Make With Horse Gram In Hindi)

कुलथी दाल जितनी सेहतमंद है उतनी ही खाने में स्वादिष्ट भी लगती है। कुलथी दाल से आप कई सारी स्वादिष्ट डिश बना सकते हैं। कुलथी दाल से बनने वाली डिश की रेसिपी से जुड़ी जानकारी नीचे से ले सकते हैं।

कुलथी दाल (Horse Gram Dal)

कुलथी दाल बनाने की विधि बाकी दाल बनाने की तरह ही है। बस फर्क इतना है कि आपको कुलथी दाल को रातभर भिगाना और फिर प्रेशर कुकर में 8 से 9 सीटी लगानी है।

कुलथी दाल बनाने की रेसिपी

  • कुलथी दाल बनाने के लिए सबसे पहले रातभर दाल पानी में भिगाकर रखें।
  • अगले दिन, प्रेशर कुकर में तेल, हल्दी, नमक डालकर मीडियम गैस पर दाल रख दें और 8 से 9 सीटी आने दें।
  • अब कुलथी दाल के लिए तड़का तैयार करें।

कुलथी दाल का सूप (Horse Gram Soup)

अगर आपको अपने सूप को और भी ज्यादा सेहतमंद बनाना है तो इसे कुलथी की दाल से बना सकते हैं। कुलथी की दाल से सूप बनाने की रेसिपी बाकी सूप की तरह ही है।

कुलथी सूप बनाने की रेसिपी

  • कुलथी सूप बनाने के लिए 30 से 45 मिनट के लिए कुलथी दाल पानी में उबालें। या तब तक उबालें जब तक यह सोफ्ट ना हो जाए।
  • अब पैन में तेल डालें और गर्म होने दें।
  • तेल गर्म होने के बाद इसमें जीरा, लहसुन, अदरक, हरी मिर्च और प्याज डालें।
  • इन सभी को अच्छे से भुने।
  • अब कसा हुआ टमाटर डालें और पकाएं।
  • टमाटर पकने के बाद इसमें उबली हुई कुलथी दाल डालें और पकाएं।
  • कुलथी दाल पकने के बाद जैसी स्थिरता आपको सूप की चाहिए उतना पानी डालें।
  • पानी डालने के बाद सूप पकाएं।
  • पकने के बाद गैसे बंद करें और आपका कुलथी दाल का सूप तैयार है।
कुलथी दाल का सूप भी बना सकते हैं।
इमेज क्रेडिट –commons.wikimedia.org

कुलथी दाल के पराठे (Horse Gram Paratha)

कुलथी दाल के पराठे बनाने बेहद आसान हैं। इसके लिए आपको कुलथी दाल रातभर पानी में भिगाकर रखनी है।

  • रातभर भिगाई गई कुलथी दाल को ग्राइंडर में ग्राइंड कर लें।
  • लहसुन, अदरक, हरी मिर्च, नमक डालकर अलग से ग्राइंड करें।
  • जैसे आप आलू के पराठे बनाते हैं वैसे ही कुलथी के पराठे बनाए।
  • पराठे में कुलथी की दाल की फिलिंग करें और तवे में सेकें।
  • कुलथी के स्वादिष्ट पराठे तैयार हैं।

कुलथी दाल के पकोड़े (Horse Gram Pakode)

अगर आपको अपने पकोड़े में अलग स्वाद लाना है तो कुलथी की दाल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसकी रेसिपी भी आम पकोड़ो से मिलती है।

  • रातभर पानी में भिगाई गई कुलथी दाल को ग्राइंड कर लें।
  • अब ग्राइंड की दाल में बारी क कटा हुआ लहसुन, अदरक, हरी मिर्च, लाल मिर्च और स्वादानुसार नमक डालें।
  • इस मिश्रण को इक्ट्ठा करने के लिए इसमें चावल का आटा डालें और अच्छे से गूंथे।
  • अब कढ़ाई लें और तेल गर्म करें।
  • गर्म तेल में और कुलथी की दाल के पकोड़ो को डीप फ्राई करें।
  • कुलथी दाल के पकोड़ो को सॉस या लाल चटनी के साथ खा सकते हैं।

कुलथी दाल के नुकसान (Kulthi Dal Side Effects In Hindi)

कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Horse Gram) जानने के साथ- साथ जरुरी है कि आप कुलथी दाल के नुकसान (Kulthi Dal SideEffects In Hindi) से जुड़ी जानकारी भी प्राप्त कर लें। कुलथी दाल का सेवन करते समय कुलथी दाल के नुकसान (Side Effects Of Horse Gram) से जुड़ी जानकारी भी होनी जरुरी है।

  • गर्भवति महिलाएं डॉक्टर की सलाह के बाद ही कुलथी दाल का सेवन करें।
  • कुलथी दाल में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसलिए सही मात्रा में ही कुलथी दाल खाएं।
  • गैस की परेशानी से गुजर रहे लोग कुलथी दाल का सेवन ना करें।

आखिर में

आमतौर पर कुलथी दाल का सेवन नहीं किया जाता है लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए। कुलथी दाल के फायदे (Benefits Of Kulthi Dal) जानने के बाद आप चाहेंगे कि इसको डाइट में शामिल किया जाए। कुलथी दाल को डाइट में शामिल करने से आपको शरीर से जुड़े कई फायदे मिल सकते हैं। इसके साथ ही आप यहां से कुलथी दाल डाइट में शामिल करने के कई ऑप्शन प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन इसके साथ ही कुलथी दाल के नुकसान (Kulthi Dal SideEffects In Hindi) से जुड़ी जानकारी भी होनी चाहिए क्योंकि अधिक मात्रा में कुलथी दाल खाने से नुकसान भी हो सकते हैं।

FAQs

  1. क्या कुलथी दाल रोजाना खा सकते हैं? (Can we eat horse gram daily?)

    रोजाना सही मात्रा में कुलथी दाल का सेवन किया जा सकता है। वेट लॉस डाइट में कुलथी दाल को शामिल करना एक अच्छा ऑप्शन है।

  2. कुलथी दाल पथरी में लाभदायक होती है? (Is horse gram good for kidney stones?)

    अधिक मात्रा में कैल्शियम जमा होने से पथरी हो जाती है। कुलथी दाल एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है जो पथरी को कम करने में मदद करती है। लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर से सलाह जरुर लें।

  3. क्या कुलथी दाल खाने से वजन कम होने में मदद मिलती है? (Does horse gram helps in weight loss?)

    कुलथी दाल में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिससे पेट लंबे समय के लिए भरा रहता है और जिससे कम खाया जाता है। इसके साथ ही कुलथी दाल में कैलोरी कम होती है जिससे वेट लॉस में मदद मिलती है।

  4. कुलथी दाल के फायदे बालों के लिए किस प्रकार हैं? (Is horse gram good for hair?)

    कुलथी दाल का पानी पीने से कई सारे पौष्टिक तत्व प्राप्त होते हैं जिससे बाल में सेहतमंद और मजबूत बनते हैं।

लेखक के बारे में

सुरभि शर्मा मिश्री में हिंदी लेखिका हैं। इ्न्हें सवाल पूछना बहुत पसंद है शायद इसी कारण से इनके आर्टिकल आपको विस्तार जानकारी के साथ मिलेंगे। इनका कहना है कि अपने शौक को करियर में बदलने से अच्छा और क्या हो सकता है। लिखने के साथ- साथ और भी कई शोक रहे हैं लेकिन अब इन्हें लगता है कि यह अपना पसंदीदा काम कर रही हैं। 

इस लेखक द्वारा अधिक लेख

सुरभि शर्मा

मेरा नाम सुरभि शर्मा है। मिश्री में मैं हिंदी लेखक के तौर पर काम करती हूं। मुझे दो काम बहुत पसंद हैं- लिखना और खाना और ताजुब की बात है कि मेरा काम भी इसी से जुड़ा हुआ है। खाने से जुड़ी सही और सटीक जानकारी लोगों को देने मैं अपनी जिम्मेदारी समझती हूं जिससे लोगों को हमेशा बेस्ट के बारे में पता चले। मेरी कोशिश हमेशा अपने रीडर्स को सही जानकारी देने की रहेगी।

Comment (1)

  • Kailash Chhetri Reply

    मरी अपरेशन हुआ है। टाका है क्या में यह दाल का सेवन क। सकता हुँ ?

    February 3, 2021 at 9:44 am

Leave a Reply on कुलथी दाल (Kulthi Dal) के फायदे, उपयोग और नुकसान (Horse Gram Benefits, Uses, Side Effects In Hindi)

Your email address will not be published. Required fields are marked *