नोनी जूस के फायदे और नुकसान- कैसे बनाएं नोनी जूस

नोनी जूस के फायदे और नोनी जूस के नुकसान की पूरी जानकारी आप यहां से ले सकते हैं। इसके साथ ही नोनी जूस को बनाने की विधि के बारे में भी यहां से देख सकते हैं।

नोनी जूस भारत में जितना पॉपुलर है उतने ही पॉपुलर नोनी जूस के फायदे भी हैं। नोनी जूस को पारंपरिक इलाज के लिए बहुत अच्छा माना जाता है क्योंकि यह विटामिन सी से भरपूर होता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार पारंपारिक दवाओं के बारे में कहा गया है कि अलग अलग संस्कृतियों के स्वदेशी, ज्ञान और अनुभवों के आधार का कुल योग है। अब चाहे वह स्वास्थ्य के लिए उपयोग में लिए जाएं या नहीं लेकिन यह शारीरिक और मानसिक बीमारी को रोकने, सुधार और इलाज के लिए काम आते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लामेट्री के कारण होता है। इसका सेवन रोज़ाना करने से इम्यूनिटी, दिल और ब्लड शुगर का लेवल सही बना रहता है। इस आर्टिकल से आप नोनी जूस के फायदे, नोनी जूस साइड इफेक्ट्स और इसको कैसे बनाया जाता है की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। नोनी जूस के फायदे हिंदी में यहां से देखें।

वीडियो- नोनी जूस के फायदे यहां से देखें

नोनी जूस के फायदे-

1. एंटी एजिंग

नोनी जूस विटामिन सी से भरपूर होता है जिसको सही मात्रा में रोज़ाना लेने से हमारे खून में मुक्त कणों की मात्रा को कम होती है। नोनी जूस में जो एंटीऑक्सीडेंट होते हैं वो मुक्त कणों से स्वस्थ सेल के जुड़ने से पहले उनके साथ जुड़ जाते हैं। ताकि स्वस्थ सेल मुक्त कणों के साथ न जुड़ पाएं। मुक्त कण हमारे शरीर में मौजूद सेल को घराब करती है और बढ़ती उम्र के सेल को जल्दी पैदा करती है। एंटीऑक्सीडेंट इन सेल को पैदा न होने में मदद करता है। इसलिए रोज़ाना जूस पीने से आप बढ़ती उम्र के लक्ष्ण से बच सकते हैं और नोनी जूस के फायदे प्राप्त कर सकते हैं।

2. स्वस्थ इम्यूनिटी

रोज़ाना नोनी जूस पीने से हमारी इम्यूनिटी स्ट्रोंग होती है। नोनी जूस में एंटी इंफ्लामेट्री, एंटी बैक्टीरियल, एंटीमुटाजेनिक, एंटिफंगल और एंटी-हिस्टामाइन के गुण पाए जाते हैं। इन सभी कारणों से नोनी जूस इम्यूनिटी स्ट्रोंगे करने के लिए एक अच्छा ऑप्शन है। इसमें में पॉलीसैकराइड मौजूद होता है जो बाहर से होने वाले इंफेक्शन से हमें बचाकर रखता है। पॉलीसैकराइड हमारे शरीर में सफ़ेद सेल को जन्म देने में मदद करता है जो हमारे इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखता है।

3. सुरक्षित लिवर

नोनी जूस में हैप्टो सुरक्षात्मक (लिवर को सुरक्षा देने में मदद) का गुण होता है। यह हमारे लिवर को लेड जैसे खतरनाक केमिक्ल से बचाकर रखता है जो हमारे लिवर को हानि पहुंचा सकता है।

4. दिल को स्वस्थ रखने में मदद

नोनी जूस का रोज़ाना सेवन करने से यह हमारे दिल को स्वस्थ रखता है। इसका एंटी इंफ्लामेट्री होने के कारण यह हमारे शरीर में खून के बहाव को अच्छा रखता है साथ ही बल्ड प्रेशर का लेवल भी बना रहता है।

noni fruit-mishry

नोनी जूस में एंटी इंफ्लामेट्री, एंटी बैक्टीरियल, एंटीमुटाजेनिक,
एंटिफंगल
और एंटी-हिस्टामाइन के गुण पाए जाते हैं।

5. ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल

रोज़ाना नोनी जूस का सेवन करने से हमारे शरीर में इंसूलिन की मात्रा बढ़ जाती है जो हमारे शरीर में शुगर को ब्रैकडाउन करने का काम करता है। एक बार इंसूलिन की मात्रा हमारे शरीर में अच्छी हो जाती है इसके बाद हमारा ब्लड शुगर भी कंट्रोल में हो जाता है। नोनी जूस उन लोगों को खासकर पीना चाहिए जिन लोगों को डायबिटीज है।

6. गैस की दिक्कत से दूर

फाइटोकेमिकल्स पौधों के द्वारा प्रोड्यीज़ किया जाता है जो नोनी जूस में पाया जाता है। यह गैस्ट्रिक शून्यता को कम करने में काफी मदद कर सकते हैं जिसके कारण पाचन प्रक्रिया धीमी हो जाती है। यह हमारी पाचव शक्ति को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

7. जल्दी घाव भरना

कोलेजन टिश्शू हमारे शरीर में पाया जाता है जो हमारे घाव भरने में मदद करता है। नोनी जूस पीने से भी हमारे शरीर में घाव जल्द भर जाते हैं। इसके साथ ही यह हमारे ब्लड शुगर लेवल को भी सामान्य बनाएं रखने में मदद करता है जिससे खून का बहाव सही मात्रा में बना रहता है। जिससे घाव को जल्दी भरने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें – विटामिन सी के फायदे और नुकसान, यहां से पढ़ें।

8. प्राकृतिक मॉइस्चराइजर

नोनी जूस में एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण यह हमारे शरीर में पानी का बहाव बनाकर रखने में मदद करता है। जो तव्चा की सेल के लिए लाभदायक होता है और हमारी त्वचा मॉइस्चराइज रहती है। साथ ही त्वचा पर एजिंग के असर भी जल्दी से नहीं दिखते हैं।

9. स्वस्थ दिमाग

नोनी जूस पीने से बाकी शरीर के साथ साथ हमारा दिमाग भी स्वस्थ रहता है जिससे हमारी सोचने की क्षमता भी बढ़ती है। एक स्टडी के अनुसार नोनी जूस के सेवन से दिमाग से कमज़ोर होने पर इसका प्रभाव दिखा है हालांकि परीक्षण के विषय चूहों थे और अभी आगे की रिसर्च जारी है। नोनी जूस में एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण यह हमें भूलने की बीमारी से बचाकर रखता है।

noni fruit-mishry

नोनी जूस पीने से दिमाग भी स्वस्थ रहता है।

नोनी जूस के नुकसान-

हर चीज़ का अधिक मात्रा में सेवन करने से उसका नुकसान भी होता है। ऐसे ही नोनी जूस के नुकसान होते हैं। नोनी जूस का अधिक मात्रा में सेवन करने से हमारी किड़नी पर बुरा असर पड़ता है।

नोनी जूस में पोटैशियम पाया जाता है। अगर पोटैशियम का सेवन अधिक मात्रा में होता है तो यह हमारे शरीर से पानी की अधिक मात्रा को बाहर निकालता है जिससे हमारा ब्लड प्रेशर कम हो सकता है। इसके अलावा पोटैशियम का अधिक मात्रा में सेवन करने से किड़नी में पत्थरी की बीमारी भी हो सकती है।

शरीर में पोटैशियम की मात्रा बढ़ने से मतली और दिल का असामान्य रुप से धड़कने की दिक्कत हो सकती है। इसलिए किसी भी बेवरेज को लेने से पहले डॉक्टर से पत्थरी के बारे में जांच और सलाह ले लें।

एक दिन में आप लगभग 30 एमएल से 750 एमएल नोनी जूस का सेवन कर सकते हैं। जूस पीने से पहले यह अवश्य जांच लें कि फल ताज़ा होने चाहिए।

घर में नोनी जूस कैसे बनाएं

नोनी जूस के फायदे इतने सारे हैं तो इसका सेवन रोज़ाना करना चाहिए। आपको बता दें कि नोनी जूस को घर में आसानी से बनाया जा सकता है। इसके लिए आपको सिर्फ दो चीज़ो की जरुरत है- एक ग्लास पानी और नोनी फल। नोनी जूस को बनाने की पूरी प्रक्रिया की जानकारी आप नीचे से देख सकते हैं।

  1. सबसे पहले ब्लेंडर में पानी डालें और नोनी फल को काट कर डालें ताकि ब्लेंडर में यह अच्छ से ब्लेंड हो जाए।
  2. इसके बाद दोनों को ब्लेंड कर लें और तब तक करें जितना पतला आपको जूस चाहिए।
  3. इसका स्वाद आपको अज़ीब जरुर लगेगा लेकिन आप इसमें और फल भी डाल सकते हैं जैसे कि संतरा।

इसके बाद आप इसमें मीठा भी डाल सकते हैं। लेकिन मीठा डालने से पहले आप यह जान लें कि इसकी केलोरी ज्यादा हो जाएगी।

यह भी पढ़ें – नारंगी संतरे (मेंडरेन संतरे) के फायदे और नुकसान, यहां से पढ़ें।

किस समय नोनी जूस का सेवन बेस्ट है

नोनी जूस के फायदे लेने हैं तो इसका सही समय पर सेवन करना जरुरी है। अगर इसको खाली पेट पीया जाए तो सबसे अच्छा है क्योंकि जो आप खाना खाने वाले हैं वो खाना जल्दी और आसानी से पच जाएगा।

खाना खाने से आधा घंटा पहले इसको पीना चाहिए। और रात के समय तो बिल्कुल भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि नोनी जूस पीने से एनर्जी मिलती है जो आपकी नींद खराब कर सकती है।

अगर आप नोनी जूस को अपनी डाइट में शामिल करना चाहते हैं तो बहुत अच्छी बात है। लेकिन उससे पहले इसके सभी फायदे और नुकसान की जानकारी प्राप्त कर लें। और इस बात का खास ध्यान रखें कि आपके शरीर को कितनी मात्रा में नोनी जूस चाहिए। इसके लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं। साथ ही सबसे अच्छा यह होगा कि आप घर में बने हुए जूस का ही सेवन करें।

Story Tags :

Leave a Reply on नोनी जूस के फायदे और नुकसान- कैसे बनाएं नोनी जूस

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*