तुलसी के 10 फायदे, नुकसान और कैसे करें इस्तेमाल- मिश्री
तुलसी के फायदे, नुकसान और कैसे करें इस्तेमाल

तुलसी के 10 फायदे, नुकसान और कैसे करें इस्तेमाल

कई सदियों से तुलसी के पत्तियों को दवाई की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। तुलसी के फायदे कई सारे हैं जैसे कि ब्लड शुगर लेवल को कम करने से लेकर कोलेस्टॉल को सामान्य बनाए रखना आदि। तुलसी के फायदे इन हिंदी में जानकारी आप यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

सदियों से तुलसी के फायदे से कई औषधी के रूप में लिए जा रहे हैं। पुराने जमाने से तुलसी को डाइट और मेडिकल गतिविधियों के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है जिससे हमें इसके फायदे को लेकर कोई शक नहीं है। इसकी मीठी और तीखी खुशबू से हर कोई वाकिफ़ है और इसका उपयोग खाने में भी किया जाता।

क्या आपको पता है तुलसी में विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन के भारी मात्रा में पाया जाता है जो एंटीऑक्सीडेंट के लिए प्रोटीन की तरह काम करता है। इसके अलावा यह मिनरल्स से भी भरपूर है जैसे कि मैग्नीशियम, आयरन, पोटेशियम और कैल्शियम जो तुलसी के फायदे को बढ़ा देता है। हिंदुस्तानी में तुलसी की पूजी भी की जाती है।

तुलसी के फायदे इन हिंदी में जानकारी आप इस आर्टिकल से प्राप्त कर सकते हैं।

तुलसी का उपयोग कई तरह से किया जा सकता है। तुलसी के फायदे कई सारे हैं जिन्हें आसानी से दिनचर्या में शामिल किया जा सकता है। तुलसी के फायदे से जुड़ी विस्तार से जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. एंटी इंफ्लामेट्री

तुलसी के पत्ते के फायदे में सबसे पहला फायदा यह है कि यह एंटी- इंफ्लामेट्री गुणों से भरपूर है। तुलसे के पत्तों में जरूरी ऑयल मौजूद होते हैं जैसे कि सिट्रोनेलोल, यूजेनॉल और लिनालूल जिन्हें सूजन में आराम देने में मदद कर सकते हैं।

2. एंटीऑक्सीडेंट

तुलसे के पत्ते एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं इसलिए इनका सेवन करने से शरीर में फ्री रेडिकल की गतिविधि कम हो जाती है। फ्री रेडिकल अस्वस्थ सेल होते हैं जो स्वस्थ सेल के साथ मिलकर इन्हें खराब कर देते हैं। लेकिन अगर शरीर में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद हैं तो यह फ्री रेडिकल को स्वस्थ सेल से मिलने नहीं देते हैं जिससे बीमारी से बचाव रहता है।

गमले में तुलसी
तुलसी के फायदे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

3. सामान्य ब्लड ग्लूकोज लेवल

ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होने के कारण यह डायबिटीज से गुजर रहे लोगों के लिए लाभदायक है क्योंकि यह शुगर को कम अब्जॉर्ब करता है। तुलसी के फायदे इसमें मौजूद जरूरी ऑयल डायबिटीज के लक्षण खत्म करने में मदद करते हैं।

4. गंभीर बीमारी से बचाव

तुलसी के पत्ते के फायदे यह हैं कि इनमें जरूरी ऑयल मौजूद होते हैं जो अस्वस्थ सेल को शरीर में आने नहीं देता है। जब सेल पुराने हो जाते हैं तो इनकी जगह नए सेल आ जाते हैं। लेकिन आनुवंशिक परिवर्तन (genetic change) के दौरान यह सेल बिना किसी कंट्रोल के बढ़ने लगते हैं जो बाद में ट्यूमर बन जाता है। इस जगह पर तुलसी के फायदे नज़र आते हैं क्योंकि यह ट्यूमर को बनने नहीं देता है।

हरी तुलसी
तुलसी के फायदे गंभीर बीमारी से बचाव के लिए

5. प्राकृतिक एडाप्टोजेन

एडाप्टोजेन (Adaptogens) मेडिकल गतिविधि का एक आम भाग है। यह शरीर के फिजिकल और कैमिकल प्रोसेस का सेहतमंद तरीके से बैलेंस बनाकर रखने में मदद करता है। 7 एडाप्टोजेन (Adaptogens) में से तुलसी एक ऐसा हर्ब है जो स्ट्रेस, त्वचा और जिगर से जुड़ी बीमारी को दूर रखने में मदद करता है।

6. स्वस्थ पाचन शक्ति

तुलसी के पत्तों में यूजेनॉल नाम का कंपाउंड होता है जो डायजेस्टिव सिस्टम को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह शरीर में मौजूद बैक्टीरिया जैसे कि साल्मोनेला और लिस्टेरिया को खत्म करने का काम करता है। इसके अलावा यह बाकी के डायजेस्टिव सिस्टम से जुड़ी परेशानी जैसे कि दस्त, पेट दर्द, सूजन, मतली और ऐंठन को दूर रखने में भी मदद करता है।

टेबल पर तुलसी के पत्ते
तुलसी के फायदे स्वस्थ पाचन शक्ति के लिए

7. स्वस्थ दिमाग

एडाप्टोजेन (Adaptogens) हर्ब होने के कारण यह स्ट्रेस और चिंता को झेलने की ताकत देता है। इसके अलावा तुलसी के पत्ते के फायदे से दिमाग की हालत स्वस्थ बनी रहती है।

8. एंटी- बैक्टीरियल

तुलसी के फायदे में से एक यह है कि यह हानिकारक बैक्टीरिया से बचाव करता है। इसको साबित करने के लिए एक अध्ययन भी किया गया है। यह अध्ययन उन लोगों पर किया गया है जिन लोगों को ई. कोलाई और अन्य बैक्टीरिया के कारण इंफेक्शन हुआ है। तुलसी के पत्ते इस इंफेक्शन पर असरदार साबित हुए हैं।

हरी तुलसी के पत्ते
तुलसी के फायदे एंटी- बैक्टीरियल खूबियों से भरपूर

9. सेहतमंद दिल

तुलसी के फायदे से दिल भी स्वस्थ रहता है। इसकी एंटीऑक्सीडेंट और एंटी- इंफ्लामेट्री खूबी के कारण यह दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह दिल में खून ले जाने में मदद करते हैं जिससे दिल में खून की मात्रा सामान्य बनी रहती है। इससे बल्ड प्रेशर सामान्य बना रहता है और खराब कोलेस्टॉल भी कम रहता है।

10. घाव भरना

तुलसी के पत्ते के फायदे आयुर्वेद में कई सदियों से इस्तेमाल किए जा रहे हैं। आयुर्वेद में तुलसी के पत्तों को जख्म ठीक और भरने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह चोट को जल्दी से ठीक करने में मदद करते हैं और क्लोटिंग में भी मदद करते हैं।

गमले में हरी तुलसी
तुलसी के फायदे घाव भरने के लिए

तुलसी के पत्तों का उपयोग

अब जब हमने तुलसी के पत्ते के फायदे के बारे में जानकारी प्राप्त कर ली है तो यह जानना भी जरुरी है कि इसको इस्तेमाल कैसे किया जाता है। तुलसी के फायदे आप घर में ही ले सकते हैं जिससे आप सेहतमंद जीवन जीना शुरु कर दें। नीचे से आप तुलसी के पत्ते को कैसे इस्तेमाल करने की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं-

1. औषधी

तुलसी के फायदे में से यह सबसे पॉपुलर फायदा है। सदियों से तुलसी के पत्ते के फायदे मेडिकल इस्तेमाल के लिए किए जाते हैं। इसको डायजेशन, इंफेक्शन, मेंटल और शारीरिक सेहत का परफेक्ट बैंलेस बनाने के लिए जाना जाता है।

2. खाने में

तुलसी के फायदे सेहत के साथ- साथ खाने में भी स्वाद बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। इसकी मीठी और तीखी खुशबू खाने के स्वाद को बढ़ा देती है। इसके अलावा तुलसी के पत्तों को सलाद में सजाना के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। सूखी तुलसी को अधिकतर सभी खाने में फ्लेवर को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

तुलसी
तुलसी का उपयोग कैसे करें

तुलसी के पत्ते के नुकसान

तुलसी के पत्ते के फायदे कई सारे हैं लेकिन इसके नुकसान भी हैं। बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए इसको सुरक्षित नहीं माना जाता है। क्योंकि इसमें मौजूद ऑयल को लेकर सावधानी लेनी पड़ती है। तुलसी के पत्ते के नुकसान हो सकते हैं जैसे कि लो ब्लड शुगर, गाढ़ा खून आदि। इसके अलावा तुलसी का सेवन नियमित रुप से होना चाहिए तभी आपको इसके लाभ मिलेंगे।

आखिर में

ऊपर दी गई सारी जानकारी से यह सामने आता है कि तुलसी के पत्ते के फायदे कितने सारे हैं। लेकिन हर बार की तरह इस बार भी हम यही कहेंगे कि किसी भी चीज के फायदे लेने के लिए उसका सेवन नियमित रूप से करना चाहिए।

आप किस तरह से तुलसी का उपयोग करते हैं?

FAQs

तुलसी के पत्ते के फायदे से जुड़े दिलचस्प सवालों के जवाब यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. सुबह तुलसी के पत्ते खाने के फायदे क्या हैं?

तुलसी के पत्तों का उपयोग सर्दी, खांसी, जुकाम के लिए आमतौर पर किया जाता है। गले में दर्द होने पर तुलसी की चाय या पानी पीने से आराम मिलता है। इसके साथ तुलसी के पत्ते खाने पाचन शक्ति स्वस्थ रहती है। तुलसी में एंटी-बैक्टीरिया गुण होते हैं। सुबह खाली पेट तुलसी के पत्तों का सेवन करने से बीमारियों से दूर रहने में मदद मिलती है।

2. क्या तुलसी के पत्ते रोजाना खा सकते हैं?

तुलसी के पत्ते सुबह खा सकते हैं। आपको बता दें कि तुलसी के पत्तों में ऐसे मिनरल पाए जाते हैं जो दांत खराब कर सकते हैं इसलिए इसका सेवन नियमित रूप से करें। चाय में तुलसी के पत्ते डाल सकते हैं जिससे आपको दिलचस्प स्वाद और सेहत भी मिलती है।

3. तुलसी के पत्तों के नुकसान क्या हैं?

अधिक मात्रा में तुलसी के पत्तों का सेवन करने से नुकसान भी हो सकते हैं। अधिक मात्रा में इसका सेवन करने दांत और लिवर खराब हो सकता है। अगर आप खून पतला करने की दवा ले रहे हैं तो तुलसी का सेवन ना करें। इसके अलावा गर्भवति महिलाओं को तुलसी का सेवन नहीं करना चाहिए लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

4. क्या तुलसी त्वचा के लिए अच्छी होती है?

तुलसी में एंटी-इंफ्लामेट्री गुण होते हैं। त्वचा पर जलन होने से तुलसी के पत्ते लगा सकते हैं जिससे कुछ हद तक आराम मिल सकता है।

Subscribe to our Newsletter

0 0 votes
User Rating
Notify of
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments