हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी रिव्यू (Harvest Gold Halka Phulka Review)

harvest gold ready to cook review

हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी रिव्यू (Harvest Gold Halka Phulka Review)

हार्वेस्ट गोल्ड रेडी-टू-कुक हल्का फुल्का (Harvest Gold Halka Phulka) से आपको कुछ सेकेंड में होम स्टाइल रोटी मिल सकती है। इस रिव्यू में आप सामग्री, पकाने का तरीका और बाकी जरूरी चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

मिश्री रेटिंग

स्वाद
4 / 5
4
टैक्शर
4 / 5
4
सुविधा
4 / 5
4
4
SUPERB!

Quick Review Summary

हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का (Harvest Gold Halka Phulka) पैक में फ्रोजन रोटियां हैं जिनमें ज़ीरो प्रेजरवेटिव है। यह ट्रेवल और लंच के लिए अच्छा ऑप्शन है क्योंकि कुछ घंटे बाद भी रोटियां ताज़ी रहती हैं। रोटी का सॉफ्ट टैक्शर और ताज़ा स्वाद हमें बेहद पसंद आया है।

हम आपकी परेशानी समझते हैं। सबसे पहले आटा लगाओ जिसकी स्थिरता परफेक्ट होनी चाहिए, फिर गोल रोटी बनाओ और फिर तवा पर एक- एक कर सेंको। हिंदुस्तानी घर में गेहूं की रोटी आमतौर पर रोजाना खाई जाती है। हालांकि रोटी बनाने के लिए आटा रोजाना लगाया जाता है लेकिन कई बार रोटी बनाने का काम थका देने वाला लगता है। हमने हार्वेस्ट गोल्ड की रेडी-टू-कुक रोटी ट्राई की हैं जो सुबह की भागदौड़ के लिए सुविधाजनक ऑप्शन है। हार्वेस्ट गोल्ड रेडी-टू-कुक हल्का फुल्का रिव्यू से जुड़ी सारी जानकारी आप यहां से ले सकते हैं।

क्विक रिव्यू

Harvest-Gold-Halka-Phulka

हार्वेस्ट गोल्ड रेडी-टू-कुक हल्का फुल्का सुविधा के साथ आता है और रोटियां ठंडी होने के बाद भी इनमें सॉफ्टनेस बरकरार रहती है।

कीमत – 30/- रुपए*

मात्रा – 200 ग्राम

रोटियों की संख्या – 5

*कीमत रिव्यू के समय

*पैक पर दी गई जानकारी के अनुसार

  • 1 पैक में 5 रोटियां आती हैं।
  • यह 100% आटा और गाय के घी से बनाई गई हैं।
  • सभी सामग्री 100% शाकाहारी हैं।
  • इस प्रोडक्ट के 100 ग्राम में 246 किलो कैलोरी एनर्जी हैं।

होल वीट आटा (58%), गाय का घी (1.2%), रिफाइंड सोयाबीन तेल, नमक, क्लास II प्रेजरवेटिव, एसिडिटी रेगुलेटर।

हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी का क्विक रिव्यू

कीमत और पैकेजिंग – हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी दोबारा बंद न होने वाले नारंगी और सफेद पैक में आती हैं। एक पैक में 5 रोटियां हैं जिसकी कीमत 30/- रुपए है। पैक पर निर्माण तिथि के बारे में जानकारी नहीं दी गई है लेकिन किस तिथि से पहले इस्तेमाल करना है के बारे में जानकारी दी गई है। इसलिए हमें यह नहीं पता कि रोटियां कब पैक की गई हैं। पैक पर सलाह दी गई है कि अगर आप रोटियों को आप लंबे समय के ट्रेवल के लिए लेकर जा रहे हैं तो रोटियों की शेल्फ लाइफ बढ़ाने के लिए इन्हें फ्रिजर में रखें।

हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी - पैकेजिंग
हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी - पैकेजिंग

कैसे पकाएं – 

  • तवा को 220 डिग्री पर गर्म करें।
  • रोटी को एक तरफ 20 सेकेंड के लिए पकाएं और फिर दूसरी तरफ 15 सेकेंड के लिए पकाएं। 
  • तवा से रोटी हटाएं और सीधे गैस पर सेकें।
  • रोटी फूलकर फुल्का बन जाएगी।

देखने में – पैक से निकालते समय रोटियां का आकार और रंग घर में बनाई गई रोटी की तरह लग रहा था। रेडी टू कुक रोटी को अच्छे से पकाने के बाद इन पर ब्राउन रंग आ गया था जैसा घर में रोटी बनाते समय आ जाता है। रोटियों की स्थिरता एक जैसी थी। हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी घर में बनाई रोटी के मुकाबले मोटी थी।

हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी पकाते समय
हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी पकाते समय

टैक्शर और स्वाद – रोटी में लचीलापन कैसे आता है? ग्लूटेन। ग्लूटेन दो प्रोटीन का मिश्रण है – प्रोलिमिन्स और ग्लूटेनिन, जो आटे में पानी डालने के बाद बनते हैं। ग्लूटेन के कारण रोटी में लचीलापन आता है जिससे रोटियां सॉफ्ट बनती हैं।

हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी में घर में बने फुल्के जैसा टैक्शर है। रोटियां सॉफ्ट हैं और वैसी हैं जैसी अच्छे से गुथे आटे से बनी रोटियां होती हैं। इसके साथ ही आटा गूथते समय गाय के घी और सोयाबीन के तेल का इस्तेमाल किया गया है जिससे रोटियों में लचीलापन आ रहा है। 

हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी
हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी

घी की सिग्नेचर खुशबू है और स्वाद को नज़रअंदाज नहीं किया जा सकता है। इसमें मुख्य सामग्री गाय का घी है। लेकिन जब हमने सिर्फ रोटी को टेस्ट किया तब गाय के घी का स्वाद नहीं आ रहा था।

रेडी-टू-कुक रोटी बहुत सॉफ्ट हैं। इसके साथ ही रोटियां ठंडी होने के बाद पापड़ की तरह नहीं बनती हैं। प्रेजरवेटिव न होने के कारण कहा जा सकता है कि फ्रोजन रोटियों की शेल्फ लाइफ कम है।

हार्वेस्ट गोल्ड रोटी ठंडी होने के बाद पापड़ की तरह नहीं होती हैं
हार्वेस्ट गोल्ड रोटी ठंडी होने के बाद पापड़ की तरह नहीं होती हैं

फ्रोजन रोटियां पकाने के लिए आपको सिर्फ गर्म तवा चाहिए। न तेल, न आटा गूथना। अगर आप छात्र हैं, अकेले रहते हैं और घर के खाने की याद आ रही है या फिर खाना बनाने का मन नहीं है तो आप इस प्रोडक्ट को ट्राई कर सकते हैं। इसकी कीमत के कारण आप इन्हें रोजाना नहीं खा सकते हैं लेकिन सुविधाजनक होने के कारण इन्हें तब खा सकते हैं तब आपका खाना बनाने का मन नहीं कर रहा है।

क्या आपने इससे पहले रेडी-टू-ईट रोटी ट्राई की हैं? हमें कमेंट में जरूर बताएं।

*अगर आप हमारे रिव्यू से सेहमत हैं तो लाइक करें और अगर नहीं तो बताएं क्यों।

*अगर आप कोई प्रोडक्ट रिव्यू करवाना चाहते हैं तो यहां बताएं।

*फूड एंड बेवरेज में रोज़ाना कुछ न कुछ नया आता रहता है। हमारे रिव्यू आपको किचन का सामान खरीदनें में मदद करेंगे।

*हमारे रिव्यू निष्पक्ष हैं और रिव्यू के लिए सभी प्रोडक्ट हमारे द्वारा खरीदें गए हैं। इससे जुड़ी सारी जानकारी आप यहां से पढ़ सकते हैं।

*इस रिव्यू के लिए किसी भी ब्रांड ने स्पान्सर नहीं किया है। सभी खर्चा हमारे द्वारा किया गया है।

टीम मिश्री

Leave a Reply on हार्वेस्ट गोल्ड हल्का फुल्का रेडी-टू-कुक रोटी रिव्यू (Harvest Gold Halka Phulka Review)

Your email address will not be published. Required fields are marked *