भारत में बेस्ट रेडी टू ईट गुलाब जामुन (Best Ready To Eat Gulab Jamun Brands in India: Soft & Scrumptious)

भारत में बेस्ट रेडी टू ईट गुलाब जामुन (Best Ready To Eat Gulab Jamun Brands in India: Soft & Scrumptious)

best-ready-to-eat-gulab-jamun-brands

भारत में बेस्ट रेडी टू ईट गुलाब जामुन (Best Ready To Eat Gulab Jamun Brands in India: Soft & Scrumptious)

सॉफ्ट गुलाब जामुन की मुलायम बाइट के साथ प्यारा इलायची का फ्लेवर। हमारे रिव्यू के अनुसार हल्दीराम के बेस्ट रेडी टू ईट गुलाब जामुन (Best Ready To Eat Gulab Jamun) हैं।

चाशनी में डूबे हुए आटे के बॉल्स- क्या इसी को लाजलाब डेजर्ट कहते हैं? एक डेजर्ट जो हमारी पूरी टीम की कमज़ोरी है वो है स्वादिष्ट गुलाब जामुन। गर्म, ठंडा या सामान्य तापमान, यह हर रूप में स्वादिष्ट लगते हैं।

त्योहारों का हफ्ता शुरु करने के लिए हमने इससे पहले इंस्टेंट गुलाब जामुन मिक्स के छह ब्रांड का रिव्यू किया था। अगर आप उन लोगों में से हैं जिन्हें गुलाब जामुन बनाने से ज्यादा खाने पसंद हैं तो यह बेस्ट रेडी टू ईट गुलाब जामुन रिव्यू आपके लिए है। पांच ब्रांड और कई बार टेस्ट के बाद हमने हल्दीराम गुलाब जामुन को विजेता चुना है। हम मदर डेयरी गुलाब जामुन की भी सलाह देते हैं। क्यों? यहां से जानें।

विषय सूची

रेडी टू ईट गुलाब जामुन – दावेदार

रेडी टू ईट गुलाब जामुन से जुड़ी जरूरी बातें

इस सेक्शन से आप रेडी टू ईट गुलाब जामुन की पैकेजिंग, स्वाद, टैक्शर और एक टिन में कितने पीस आते हैं से जुड़ी जानकारी विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं।

1. उपलब्ध साइज

रेडी टू ईट गुलाब जामुन आमतौर पर 1 किलो टिन में आते हैं। हाल ही में हमारे द्वारा रिव्यू की गई एक ब्रांड ने 100 ग्राम कप भी लांच किए हैं।

2. पैकेजिंग का प्रकार

गुलाब जामुन और रसगुल्ले जैसे डेजर्ट चाशनी के साथ सर्व किए जाते हैं। इसलिए पैकेजिंग मजबूत और लीक- प्रूफ होनी चाहिए। इस बात का ध्यान रखते हुए अधिकतर ब्रांड टिन पैक में डेजर्ट देते हैं। इसके बाद टिन कैन कार्टून में पैक की जाती है।

3. शेल्फ लाइफ

रेडी टू ईट गुलाब जामुन की शेल्फ लाइफ आमतौर पर छह से बारहा महीने होती है।

4. कीमत

सभी 1 किलो गुलाब जामुन टिन की कीमत 195/- रुपए से 240/- रुपए के बीच है।

रेडी टू ईट गुलाब जामुन ब्रांड रिव्यू करते समय किन बातों का ध्यान रखा गया

आमतौर पर पैक्ड गुलाब जामुन को हद से ज्यादा मीठे फ्लेवर के साथ जोड़ा जाता है जो इस शानदार मिठाई के साथ न्याय नहीं होता है। रेडी टू ईट गुलाब जामुन रिव्यू दो तरीके से किया गया है।

जैसा कि आपको पहले ही पता है कि गुलाब जामुन का सेवन दो तरीके से किया जा सकता है- ठंडा और गर्म। इसलिए हम गुलाब जामुन का सेवन दोनों तरीके से करना चाहते थे। हमारी टीम ने सभी ब्रांड के गुलाब जामुन गर्म किए और टेस्ट किए और फिर ठंडे भी टेस्ट किए। इससे हमें यह अंतर जानने में मदद मिली की चाशनी कितनी अच्छी तरह से अब्जॉर्ब हुई है। इसके साथ ही क्या फैट और शुगर सॉलिड हो जाते हैं।

हमारे रिव्यू फैक्टर के रिजल्ट कुछ इस प्रकार हैं-

1. पैकेजिंग

चाहे आप गुलाब जामुन गिफ्ट के तौर पर खरीद रहे हैं या फिर खुद खाने के लिए खरीद रहे हैं, पैकेजिंग बेहद महत्वपूर्ण होती है। हम मजबूत टिन कैन ढक्कन के साथ ढूंढ रहे थे। और फिर कैन कार्टून में भी पैक हो तो ज्यादा बेहतर है।

2. स्वाद

गुलाब जामुन मीठे आटे की बॉल्स होती हैं। चाशनी, मिल्कीनेस और खुशबू (इलायची/ केसर) सभी सही मात्रा में मौजूद होनी चाहिए। यहां पर चाशनी महत्वपूर्ण रूप निभाती है। बहुत ज्यादा मीठा या कच्चा गुलाब जामुन खाना कोई पसंद नहीं करेगा।

क्या किसी भी ब्रांड का आर्टिफिशियल आफ्टर टेस्ट है? क्या इसका औद्योगिक या बासी स्वाद है?

3. टैक्शर

गुलाब जामुन का टैक्शर सही होना बेहद जरूरी है। सॉफ्ट इतना कि चम्मच से आसानी से कट जाए और सख्त इतना की इसका आकार बरकरार रहे। इसके लिए गुलाब जामुन का आटा अच्छे से गुथा होना चाहिए और साथ ही लाजवाब तरीके से फ्राई होना चाहिए। इसके साथ ही गुलाब जामुन बीच से अच्छे से पके होने चाहिए जिससे हर बाइट लाजवाब लगे। क्या चाशनी अच्छी और पतली है? यह सख्त है?

4. खुशबू

इंडियन डेजर्ट लाजवाब बनाने के लिए फ्लेवर एजेंट/ खुशबू जैसे कि इलायची, केसर, दालचीनी, नट्स आदि का इस्तेमाल किया जाता है। इस रिव्यू में हमने यह पता लगाने की कोशिश की है कि किस ब्रांड के गुलाब जामुन में खुशबूदार फ्लेवर और मिठास के बीच परफेक्ट बैलेंस है।

क्या गुलाब जामुन में किसी प्रकार की खुशबू है जैसे कि इलायची? अगर हां, तो फ्लेवर कितना स्ट्रांग है?

5. कीमत

1 किलो गुलाब जामुन टिन की कीमत 200/- रुपए से 250/- रुपए के बीच है। गुलाब जामुन की कीमत क्या है? क्या इसकी कीमत बाकी दावेदार से ज्यादा है? अगर हां, तो क्या सामग्री लिस्ट और फ्लेवर को देखते हुए कीमत जायज़ है?

रेडी टू ईट गुलाब जामुन रिव्यू

भारत में बेस्ट रेडी टू ईट गुलाब जामुन - दावेदार
भारत में बेस्ट रेडी टू ईट गुलाब जामुन - दावेदार
ब्रांड शेल्फ लाइफ मुख्य सामग्री (टॉप 4) संख्या कीमत
हल्दीराम 12 महीने रिफाइंड चीनी, मिल्क सॉलिड, ताड़ का तेल, मैदा। 16 195/-रुपए
मदर डेयरी 6 महीने चाशनी, मिल्क सॉलिड (11%), घी, पनीर (2.18%) 12 220/-रुपए
गिट्स 8 महीने चीनी, मिल्क सॉलिड , गेहूं का आटा, मकई का आटा। 16 220/-रुपए
एमटीआर 12 महीने चीनी, पानी, खोया, मैदा, खाद्य वनस्पति तेल 18 240/-रुपए
बिकानो 6 महीने चाशनी, मिल्क सॉलिड, ताड़ का तेल, मिल्क पाउडर। 12 220/-रुपए

1. हल्दीराम नागपुर गुलाब जामुन – मिश्री टॉप पिक

हल्दीराम नागपुर गुलाब जामुन के पैक का रंग मोर जैसे नीला है। इसमें ढक्कन नहीं आता है और पैक खोलने के बाद दूसरे कंटेनर में डालें और 24 घंटे के अंदर सेवन करें। 1 किलो कैन की कीमत 195/- रुपए है।

परफेक्ट मिठास और टैक्शर के कारण, हल्दीराम गुलाब जामुन हमारा टॉप पिक बना है। लोकल मिठाई के पारंपरिक गुलाब जामुन की तरह इसमें मुलायम फ्लेवर और इलायची की खुशबू है। गुलाब जामुन ने सही मात्रा में चाशनी अब्जॉर्ब की थी जिससे मिठास बैलेंस थी जिससे गुलाब जामुन टूटे भी नहीं थे।

हल्दीराम नागपुर गुलाब जामुन - मिश्री टॉप पिक
हल्दीराम नागपुर गुलाब जामुन - मिश्री टॉप पिक
हल्दीराम गुलाब जामुन का एक पीस लगभग 25 ग्राम का है
हल्दीराम गुलाब जामुन का एक पीस लगभग 25 ग्राम का है
हल्दीराम गुलाब जामुन अंदर से अच्छे से पके हैं
हल्दीराम गुलाब जामुन अंदर से अच्छे से पके हैं

विशेषताएं

  • एक कैन में 16 पीस हैं।
  • 1 किलो कैन की कीमत 195/- रुपए है।
  • शेल्फ लाइफ – 12 महीने।
  • इसमें मैदा और सूजी के मिश्रण का इस्तेमाल किया गया है।

पसंद

  • गुलाब जामुन को परफेक्ट तरीके से फ्राई किया गया है।
  • मिठाई ने बहुत ज्यादा चाशनी अब्जॉर्ब नहीं की है जिससे मिठास बैलेंस है।
  • इलायची की खुशबू और फ्लेवर मुलायम है और आर्टिफिशियल नहीं लगती है।
  • गर्म करने पर इनका आकार बरकरार रहता है।

नापसंद

  • ढक्कन खोलना बड़ा काम लग रहा था।

किसके लिए बेस्ट है

सॉफ्ट, मीठा और हल्का फ्लेवर- इस त्योहार आपको हल्दीराम गुलाब जामुन जरूर ट्राई करने चाहिए।

2. मदर डेयरी गुलाब जामुन – रनरअप

दो ब्रांड में से गुलाब जामुन एक ऐसी ब्रांड है जिसके गुलाब जामुन कार्टून में पैक होकर आते हैं। कार्टून पर पकड़ने वाला हैंडल भी है लेकिन कैन के ऊपर ढक्कन नहीं है। कार्टून और कैन पर गहरे रंग के गुलाब जामुन की तस्वीर बनी है जिससे त्योहार का एहसास होता है।

पैक पर दी गई तस्वीर के मुकाबले गुलाब जामुन का रंग हल्का था। कटोरी में गुलाब जामुन रखने के बाद प्यारी खुशबू आ रही थी। हमें लगता है यह खुशबू गुलाब और केवड़ा के मिश्रण की थी। मदर डेयरी गुलाब जामुन परफेक्ट तरीके से फ्राई किए गए थे। हम इनकी सलाह इसलिए देते हैं क्योंकि यह सॉफ्ट और बहुत ज्यादा मीठे नहीं हैं।

मदर डेयरी गुलाब जामुन - रनरअप
मदर डेयरी गुलाब जामुन - रनरअप
मदर डेयरी गुलाब जामुन आकार एक जैसा है
मदर डेयरी गुलाब जामुन आकार एक जैसा है
मदर डेयरी गुलाब जामुन सुपर सॉफ्ट और रसीले हैं
मदर डेयरी गुलाब जामुन सुपर सॉफ्ट और रसीले हैं

विशेषताएं

  • 1 किलो टिन में 12 पीस हैं।
  • पैक खोलने से पहले, शेल्फ लाइफ छह महीने है।
  • चाशनी, मिल्क सॉल्ड (11%), घी, पनीर (2.18%), मैदा और इलायची का उपयोग किया गया है।

पसंद

  • कोई भी पीस टूटा हुआ नहीं था।
  • चाशनी की स्थिरता पतली थी।
  • सही मात्रा में चाशनी अब्जॉर्ब की गई थी।
  • टैक्शर के मामले में बाइट सॉफ्ट थी।

नापसंद

  • साइज एक जैसा नहीं था। कुछ छोटे, कुछ बड़े थे।

किसके लिए बेस्ट है

अगर आप गुलाब की खुशबू के साथ गुलाब जामुन पसंद हैं तो यह आपके लिए हैं!

3. गिट्स ओपन एंड ईट गुलाब जामुन

गिट्स ओपन एंड ईट गुलाब जामुन मजबूत कैन में आते हैं। कैन पर सील के अलावा इस पर पारदर्शी प्लास्टिक ढक्कन आता है। यह सुविधाजनक स्टोर करने का ऑप्शन है। 1 किलो टिन की कीमत 220/- रुपए है।

रिव्यू में शामिल की गई सभी पांच ब्रांड में से गिट्स सबसे छोटा था। बेहतर जानने के लिए, यह अंगूरी गुलाब जामुन से थोड़े से बड़े थे। गुलाब जामुन का गहरी और भूरी सतह थी। हमारे टॉप पिक के मुकाबले, यह थोड़े से ज्यादा सॉफ्ट थे। टैक्शर और बाइट में हम पूरे नंबर देते हैं।

हालांकि फ्लेवर ने हमें निराश किया गया है। हमें मुश्किल से इलायची की खुशबू आ रही थी। पूरी तरह से कहा जाए तो इसका स्वाद खास नहीं था।

गिट्स ओपन एंड ईट गुलाब जामुन
गिट्स ओपन एंड ईट गुलाब जामुन
गिट्स गुलाब जामुन की सतह स्मूथ है
गिट्स गुलाब जामुन की सतह स्मूथ है
गिट्स गुलाब जामुन
गिट्स गुलाब जामुन

विशेषताएं

  • गिट्स गुलाब जामुन में सील के अलावा प्लास्टिक का ढक्कन भी आता है।
  • शेल्फ लाइफ – 8 महीने।
  • एक बार खोलने के बाद, फ्रिज में रखें और सात दिन के अंदर सेवन करें।
  • यह गुलाब जामुन शुद्ध गाय के घी से बने हैं।
  • इनमें प्रेज़रवेटिव, आर्टिफिशियल फ्लेवर और रंग का इस्तेमाल नहीं किया गया है।
  • बेस के लिए गेहूं और मक्के के आटे का उपयोग किया गया है।

पसंद

  • हमें पैकेजिंग पसंद आई है।
  • गुलाब जामुन बहुत ज्यादा सॉफ्ट हैं।
  • गुलाब जामुन टूटे नहीं थे और आकार एक जैसा था।

नापसंद

  • इसका स्वाद हमारी उम्मीद के अनुसार नहीं था।
  • हमें इलायची के सिग्नेचर फ्लेवर की कमी लगी।

4. एमटीआर गुलाब जामुन

एमटीआर गुलाब जामुन लाल रंग की टिन में ढक्कन के साथ आता है। 1 किलो टिन पैक की कीमत 240/- रुपए है जिसमें 18 पीस आते हैं। गुलाब जामुन का साइज मीडियम है। हमें एमटीआर गुलाब जामुन की कई चीजें पसंद नहीं आई हैं। गुलाब जामुन हद से ज्यादा सॉफ्ट हैं, टैक्शर और प्यारे फ्लेवर में कमी है।

एमटीआर गुलाब जामुन
एमटीआर गुलाब जामुन
एमटीआर गुलाब जामुन का साइज मीडियम है
एमटीआर गुलाब जामुन का साइज मीडियम है
एमटीआर गुलाब जामुन रिव्यू
एमटीआर गुलाब जामुन रिव्यू

विशेषताएं

  • 1 किलो पैक की कीमत 240 /- रुपए है। पैक में 18 पीस है।
  • पैक खोलने के बाद फ्रिज में सात दिन तक रख सकते हैं।
  • शेल्फ लाइफ – 12 महीने (बिना पैक खोले)
  • सामग्री – चीनी, पानी, खोया (सूखा हुआ दूध), मैदा , खाद्य तेल, रेजिंग एजेंट, सोडियम बाइकार्ब और इलायची।

नापसंद

  • गुलाब जामुन का टैक्शर हद से ज्यादा सॉफ्ट है।
  • बाइट की कमी है।
  • गुलाब जामुन बहुत ज्यादा चाशनी अब्जॉर्ब करते हैं।
  • गुलाब जामुन का स्वाद ताज़ा नहीं है और फ्लेवर भी खास नहीं है।

5. बिकानो गुलाब जामुन

बिकानो गुलाब जामुन ईज़ी-टू-ओपन टिन में आते हैं जो मजबूत बॉक्स में आता है। 1 किलो टिन की कीमत 220/- रुपए है। बिकानो गुलाब जामुन की बाइट सॉफ्ट है। बिना किसी शक के साथ यह स्वादिष्ट हैं लेकिन यह टॉप 2 का स्थान इसलिए नहीं हासिल कर पाए क्योंकि हमारे विजेता से यह फ्लेवर के मामले में थोड़े कम थे। मिठास बैलेंस है और गुलाब जामुन ने सही मात्रा में चाशनी अब्जॉर्ब की थी। हमें कोई खुशबू नहीं मिली।

बिकानो गुलाब जामुन
बिकानो गुलाब जामुन
बिकानो गुलाब जामुन रिव्यू
बिकानो गुलाब जामुन रिव्यू
बिकानो गुलाब जामुन का टैक्शर बरकरार था
बिकानो गुलाब जामुन का टैक्शर बरकरार था

विशेषताएं

  • 1 किलो पैक की कीमत 220/- रुपए है। एक पैक में 12 पीस हैं।
  • पैक खोलने के बाद 24 घंटे में सेवन करें।
  • शेल्फ लाइफ – 6 महीने (बिना पैक खोले)
  • सामग्री – चीनी की चाशनी, मिल्क सॉलिड, ताड़ का तेल, दूध पाउडर, पनीर (छेना), स्पष्ट मक्खन, मैदा, मकई स्टार्च, इलायची।

पसंद

  • गुलाब ने परफेक्ट मात्रा में चाशनी अब्जॉर्ब की थी जिससे सॉफ्ट टैक्शर बरकरार था।

नापसंद

  • इलायची और गुलाब की खुशबू से स्वाद बेहतर हो सकता था।

हमारे टॉप पिक और सलाह

किन कारण से हल्दीकाम गुलाब जामुन हमारा टॉप पिक बना है? हम मदर डेयरी गुलाब जामुन की सलाह क्यों देते हैं?

त्योहार, गिफ्ट और स्वादिष्ट मिठाई!

गुलाब जामुन, ठंडे या गर्म, इनमें सॉफ्ट बाइट होनी चाहिए। आमतौर पर इलायची और गुलाब की खुशबू होनी चाहिए। यह त्योहार के लिए बेस्ट होते हैं।

हल्दीराम गुलाब जामुन ने सभी रिव्यू फैक्टर में अच्छा प्रदर्शन किया है – फ्लेवर और टैक्शर।

मदर डेयरी ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है। दोनों ब्रांड के गुलाब जामुन ने सही मात्रा में चाशनी अब्जॉर्ब की थी और गर्म करने पर टूटे नहीं थे।

आखिर में

गुलाब जामुन को कोई मना नहीं करता है! रेडी टू ईट ऑप्शन सराहना के काबिल है। सिर्फ पैक खोलें और खाएं।

हमने पांच पॉपुलर गुलाब जामुन ब्रांज को टेस्ट किया है और हल्दीराम हमारा टॉप पिक बना है। हम मदर डेयरी गुलाब जामुन की भी सलाह देते हैं। दोनों ब्रांड के गुलाब जामुन, ठंडे या गर्म, का टैक्शर और फ्लेवर परफेक्ट था।

त्योहार के मौसम में आपकी पसंदीदा मिठाई कौन- सी है? हमें कमेंट में जरूर बताएं।

FAQs

रेडी टू ईट गुलाब जामुन ब्रांड से जुड़े दिलचस्प सवालों के जवाब यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

1. इन पैक में गुलाब जामुन के कितने पैक उपलब्ध हैं? (How many pieces of gulab jamun will be available in these packs?)

1 किलो टिन पैक में लगभग 12-18 पीस आते हैं। गुलाब जामुन की संख्या हर ब्रांड की अलग हो सकती है।

2. क्या डायबिटीज के मरीज गुलाब जामुन का सेवन कर सकते हैं? (Can these gulab jamuns be consumed by diabetic patients?)

गुलाब जामुन शुगर से भरपूर होते हैं इसलिए रोजाना इनका सेवन ना करें। सही मात्रा में सेवन करें। डायबिटीज के मरीज नीचे दी गई टिप्स फॉलो कर सकते हैं-

  • बाकी खाना फाइबर और प्रोटीन से भरपूर होना चाहिए।
  • स्नैक की तरह सेवन करें, खाने के बाद नहीं।
  • 10-15 मिनट घूमें।

3. गुलाब जामुन का रंग अंदर से कैसा होता है? (What is the colour of the core of these gulab jamuns?)

गुलाब जामुन का रंग अंदर से हल्का भूरा होता है।

4. बिना पैक खोले कितनी दिन तक गुलाब जामुन ताज़ा रह सकते हैं। (For how many days do these gulab jamuns stay fresh after unpacking?)

यह हर ब्रांड का अलग होता है। पैक खोलने के बाद, 24 घंटे से लेकर एक हफ्ता या 10 दिन के अंदर सेवन करें।

*अगर आप हमारे रिव्यू से सेहमत हैं तो लाइक करें और अगर नहीं तो बताएं क्यों।

*अगर आप कोई प्रोडक्ट रिव्यू करवाना चाहते हैं तो यहां बताएं

*फूड एंड बेवरेज में रोज़ाना कुछ न कुछ नया आता रहता है। हमारे रिव्यू आपको किचन का सामान खरीदनें में मदद करेंगे।

*हमारे रिव्यू निष्पक्ष हैं और रिव्यू के लिए सभी प्रोडक्ट हमारे द्वारा खरीदें गए हैं। इससे जुड़ी सारी जानकारी आप यहां से पढ़ सकते हैं

*इस रिव्यू के लिए किसी भी ब्रांड ने स्पान्सर नहीं किया है। सभी खर्चा हमारे द्वारा किया गया है।

टीम मिश्री

टीम मिश्री शोधकर्ता, समीक्षक, डिजिटल कंटेंट प्रोड्यूसर और लेखकों की टीम है जो टेस्ट किचन में हर रिव्यू का हिस्सा होते हैं। यह सभी प्रोडक्ट की रिव्यू, टेस्ट करते हैं और रिजल्ट पर पहुंचने से पहले उस प्रोडक्ट की विशेषताएं, अच्छी और बुरी बातों के बारे में विस्तार से चर्चा, विचार-विमर्श करते हैं। सभी रिव्यू में टीम के सदस्यों से महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त किए गए हैं और जहां से बाइलाइन पूरी टीम से संबंधित है - टीम मिश्री!

Leave a Reply on भारत में बेस्ट रेडी टू ईट गुलाब जामुन (Best Ready To Eat Gulab Jamun Brands in India: Soft & Scrumptious)

Your email address will not be published. Required fields are marked *